मध्यप्रदेश में टीवी पत्रकारिता को सूंघ गया सांप

लगातार टेलीविजन न्यूज़ देखने पर लगा कि मध्यप्रदेश में न्यूज़ 24 के गोविन्द गुर्जर और न्यूज़ नेशन के नीरज श्रीवास्तव एक बेहतरीन पत्रकार के रूप में उभर के सामने आये हैं। पिछले एक बरस से मध्यप्रदेश की टेलीविजन पत्रकारिता को सांप सूंघा हुआ लगता है। खबर के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति इसे धीरे धीरे छत्तीसगढ़ की राह पर ले जा रही है। हालात ऐसे ही रहे तो हो सकता है एमपी में 2018 के चुनाव के बाद दिल्ली में बैठे एडिटर मध्यप्रदेश को भी छतीसगढ़ की तर्ज पर ख़बरों के नजरिये से ड्राय स्टेट मान लें।

मध्य प्रदेश सरकार ने छल वेबसाइटों को 4 साल में दिए 14 करोड़ के सरकारी विज्ञापन, इंडियन एक्सप्रेस ने प्रकाशित की रिपोर्ट

वरिष्ठ पत्रकार श्याम लाल यादव की रिपोर्ट में खुलासा, पत्रकारों और उनके रिश्तेदारों की ओर से संचालित की जा रही हैं वेबसाइट, 10 हजार रूपए से लेकर 21 लाख 70 हजार रुपए तक विज्ञापन दिए गए, कांग्रेसी विधायक बाला बच्चन ने विधानसभा में उठाया था सवाल

-दीपक खोखर-

भोपाल, 10 मई। मध्य प्रदेश में 4 साल के दौरान 244 छल वेबसाइटों को 14 करोड़ रूपए के सरकारी विज्ञापन दिए गए। इनमें से ज्यादातर वेबसाइट पत्रकारों और उनके रिश्तेदारों की ओर से संचालित की जा रही हैं। इन वेबसाइट को वर्ष 2012 से वर्ष 2015 के बीच 10 हजार रूपए से लेकर 21 लाख 70 हजार रूपए के विज्ञापन दिए गए। इंडियन एक्सप्रेस ने इस बारे में सोमवार 9 मई के अंक में विस्तृत रिपोर्ट प्रकाशित की है। वरिष्ठ पत्रकार श्याम लाल यादव की रिपोर्ट में यह तमाम खुलासे हुए हैं। दरअसल कांग्रेस विधायक बाला बच्चन ने विधानसभा में सवाल उठाया था। जिसके बाद उन्हें दिए गए जवाब में तमाम जानकारी हासिल हुई।

पिछलग्गू बने एमपी के प्रमुख हिंदी अखबारों ने इस मुद्दे पर कलम चलाने का दुस्साहस नहीं दिखाया

नए मंत्रालय की घोषणा कर खुशियों का दिवास्वप्न दिखाते मुख्यमंत्री शिवराज….मान गए.. क्या नायाब तरीका खोज निकाला है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपनी रिआया को खुशहाल बनाने का.. खुशियाँ बांटने के लिए हैप्पीनेस मंत्रालय खोलने की घोषणा कर डाली। इसे घोषणा वीरता के लिए बदनाम मुख्यमंत्री का गरीब जनता के साथ एक और क्रूर मज़ाक नहीं तो क्या कहें..? यह तो हो नहीं सकता कि मुख्यमंत्री को यह इल्म न हो कि महज मंत्रालय खोल देने से खुशहाली लाना मुमकिन नहीं..! यदि यही खुशहाली लाने का रामबाण होता तो उनसे ज्यादा सयाने नेता प्रधानमंत्री मोदी मुख्यमंत्री रहते कम से कम गुजरात मे तो इसे आजमा ही चुके होते..!

इस प्रकार का महिमामंडन अफसरों का दिमाग खराब कर अहंकारी बनाने में भरपूर योगदान देता है

भोपाल नगर निगम में जबसे तेजस्वी नायक के बाद छवि भारद्वाज के आयुक्त बनने की खबर आई है भोपाल के मीडिया का फोकस उन पर आ गया है। उनकी तैनाती की खबर फोटो के साथ छपी और अगले दिन फोन पर लिया गया मिनी इंटरव्यू फोटो के साथ छपा। इसके अगले दिन उनके कार्यभार ग्रहण करने के दिन की सूचना देने वाली खबर फिर फोटो के साथ छपी और फिर कार्यभार संभालने की खबर भी फोटो.

रवीन्द्र जैन, प्रदीप जोशी, उपमिता वाजपेयी, अनिल माथुर, संगीता प्रणवेन्द्र को श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार

बांसवाडा (राजस्थान)। पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य और समर्पित योगदान के लिए ‘अग्निबाण’ भोपाल के संपादक रवीन्द्र जैन, प्रदीप जोशी, उपमिता वाजपेयी, संगीता प्रणवेन्द्र, अनिल माथुर को प्रतिष्ठित श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार 2015 देने की घोषणा हुई है। यह पुरस्कार पूज्य मुनि श्री पूज्यसागर महाराज की प्रेरणा से धार्मिक श्रीफल परिवार ट्रस्ट द्वारा प्रति वर्ष प्रदान किया जाता है। 

पुष्पेन्द्र पाल के माखनलाल विश्वविद्यालय से जाने से छात्रों में गहरी टीस, वीसी से नफरत

पुष्पेन्द्र पाल  सिंह  के बच्चों  की दुनिया  और  क्लास रूम से दूर चले जाने को सिर्फ वही  समझ सकता है, जो उनसे पढ़ा हो या जो उनको करीब से जानता हो। रवीश कुमार जब अपने लेख ‘कभी रवीश कुमार मत  बनना’ में मीडिया और कम्युनिकेशन शिक्षा के दुर्गति की बात करते हैं तो अनायास ही आँखों के सामने अपना माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय घूमने लगता है। कैसे एक कुलपति (कुलनाशपति) किसी अच्छे शैक्षणिक संस्थान को बर्बाद करता है, इसको हम लोगों ने बड़े क़रीब से देखा है। 

आडियो टेप से खुला प्रभु झिंगरन की भर्ती का राज, बैकडेट में दिया इस्तीफा

भोपाल/लखनऊ : अपराध करने के बाद सरकारी अफसर किस तरह से अपनी पीठ थप-थपाते हैं, यदि यह जानना है तो केंद्रीय व्यावसायिक शिक्षा संस्थान के संयुक्त निदेशक आरबी शिवगुड़े की बातचीत का आडियो टेप सुनना होगा। इस आडियो टेप से पता चलता है कि डेढ़ साल पहले उन्होंने किस तरह से रिश्वत लेने के मामले में आरोपी को संस्थान में नियुक्त कर दिया था। जब इस बात की पोल खुली तो उन्होंने बैकडेट में इस्तीफा लेकर मामले को दबा दिया। डेढ़ साल बाद अपनी पीठ थप-थपा रहे अधिकारी का आडियो टेप हाथ लगा है।

मजीठिया को लेकर वन-टू-वन चर्चा करेगा मध्य प्रदेश श्रम विभाग

भोपाल : सुप्रीम कोर्ट के 28 अप्रैल के आदेश के बाद मध्यप्रदेश श्रम विभाग मजीठिया को लेकर रिपोर्ट तैयार करने में लगा हुआ है। 

सीएम शिवराज ने किया ‘सुबह सवेरे’ के नव-कलेवर अंक का विमोचन

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को भोपाल में दैनिक ‘सुबह सवेरे’ के नव-कलेवर अंक का विमोचन किया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कुछ सनसनीखेज बनाने की होड़ में रचनात्मक और सकारात्मक पत्रकारिता कहीं पीछे छूट गई है। जबकि रचनात्‍मक और सकारात्‍मक पत्रकारिता के माध्यम से ही देश, प्रदेश और समाज की सेवा की जा सकती है।

‘सुबह सवेरे’ के नव-कलेवर अंक का विमोचन करते मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह एवं अन्य

नई शैली का नया अखबार ‘सुबह सवेरे’ जल्द ही भोपाल से

अपनी तरह की नई शैली की पत्रकारिता वाले हिंदी अख़बार ‘सुबह सवेरे’ की भोपाल में री-लॉन्चिंग की तैयारी है। 2003 से भोपाल से प्रकाशित हो रहे इस अख़बार को अब जाने-माने पत्रकार उमेश त्रिवेदी अपने बैनर पर पाठकों के सामने ला रहे हैं। 

भोपाल हरिभूमि के संपादक बने प्रमोद भारद्वाज

भोपाल : शाम के लीडिंग अग्निबाण समाचार पत्र समूह में इंदौर के संपादक प्रमोद भारद्वाज ने चार साल की लंबी पारी के बाद इस्तीफा दे दिया है। वे चार महीने पहले ही पूरे ग्रुप की कमान संभालने के लिए भोपाल से इंदौर कॉरपोरेट आफिस भेजे गए थे। पर उनका मन नहीं रमा। वे सुबह के अखबार में वापसी चाहते थे। अग्निबाण को उन्होंने ही भोपाल में एक ब्रांड के रूप में स्थापित किया था।

भोपाल के सांध्य दैनिक ‘प्रदेश टुडे’ के मालिक दीक्षित बंधुओं में दरार !

भोपाल : आर्थिक संकट से जूझ रहे यहां के सांध्य दैनिक ‘प्रदेश टुडे’ में इन दिनों मालिक भाइयों अवधेश दिक्षित और हृदेश दीक्षित के बीच दरार पड़ने की खबर है। पता चला है कि इसके पीछे अखबार के सर्वेसर्वा सतीश पिंपले हैं। पिंपले की अखबार में हर जगह दखल है। मन-मर्जी के अलावा पिंपले खुद की कमाई का कोई मौका भी नहीं छोड़ता! 

सप्रे संग्रहालय को महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान

भोपाल : माधवराव सप्रे स्मृति समाचारपत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान, भोपाल को ’महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान’ से सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है। संस्कृति विभाग, मध्यप्रदेश शासन ने शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठतम उपलब्धियों एवं योगदान को सम्मानित करने के उद्देश्य से यह सम्मान स्थापित किया है। महर्षि वेदव्यास राष्ट्रीय सम्मान के अंतर्गत दो लाख रुपये सम्मान निधि, प्रशस्ति एवं सम्मान पट्टिका प्रदान की जाती है। संस्कृति विभाग की संचालक सुश्री रेनू तिवारी ने वर्ष 2012-13 के सम्मान के लिए सप्रे संग्रहालय के चयन की सूचना दी है। 

मजीठिया वेतनमान : भोपाल के पत्रकार भी बुलंदी से उतरे मैदान में

भोपाल में आज मजीठिया इम्प्लीमेंटेशन समिति की मीटिंग आयोजित की गई, जिसमें पत्रिका, दैनिक भास्कर और नवदुनिया के कर्मचारियों ने सैकड़ों की संख्या में भागीदारी की। मीटिंग में याचिकाकर्ताओं के साथ साथ ही उन कर्मचारियों ने भी हिस्सा लिया जिन्होंने माननीय सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर नहीं की है। 

वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के कार्यालय में तोडफ़ोड़

भोपाल : वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के कार्यालय एफ-88/19, तुलसी नगर, सेकेण्ड स्टॉप में कुछ अज्ञात बदमाशों ने रात्रि साढ़े 10 बजे घुसकर तोड़फ़ोड़ की। 

स्थायी कर्मचारियों को परेशान कर रहा दूरदर्शन न्यूज भोपाल

Bhopal : I want to inform you that the contractual employees at Doordarshan News Bhopal are being harassed and exploited by Permanent staff, Employees say. They are repeatedly threatened to be sacked and are being given mental torture.

28वीं राष्ट्रीय समकालीन कला प्रदर्शनी 17 से भारत भवन भोपाल में

भोपाल : भारत भवन में शुक्रवार, 17 से 26 अप्रैल तक भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के ‘दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र, नागपुर की 28वीं राष्ट्रीय समकालीन कला प्रदर्शनी शुरू होने जा रही है। 

प्रदर्शनी की आयोजन सूचना प्रसारित करते केआर सुबन्ना, पियूष कुमर और मनोज श्रीवास्तव

पत्रकार मदनमोहन जोशी और श्यामलाल यादव को ‘गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान’

भोपाल : माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्व विद्यालय में गत दिनो आयोजित एक समारोह में वर्ष 2012 का ‘गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान’ वरिष्ठ पत्रकार मदन मोहन जोशी को एवं वर्ष 2013 का सम्मान युवा पत्रकार श्यामलाल यादव को प्रदान किया गया। साथ ही, सांस्कृतिक एवं खेलकूद प्रतिभा-2015 का पुरस्कार वितरण भी किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं मंचासीन अतिथियों ने साकेत दुबे की पुस्तक ‘डॉ.धर्मवीर भारती: पत्रकारिता के सिद्धान्त’ एवं मनोज चतुर्वेदी की पुस्तक ‘महात्मा गांधी और संवाद कला’ का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारिता लोकतंत्र के लिए अनिवार्य है। उसने देश की राजनीति को नई दिशा दी है। पत्रकारिता नहीं होती तो आज देश की राजनीति की दिशा-दशा कुछ और होती। दादा माखनलाल चतुर्वेदी का जीवन हमारे लिए आज भी प्रकाश पुंज है। 

पत्रकार मदनमोहन जोशी और श्यामलाल यादव को सम्मानित करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मीडिया विमर्श : माखनलाल जयंती पर ‘मैं भारत हूं’ का प्रकाशनोत्सव

भोपाल : अपने देश को हमें हीन भावना से प्रस्तुत नहीं करना चाहिए। अपने लेखन में भारतीय वाग्ंमय और भारतीय उदाहरणों को प्रस्तुत करना चाहिए। ताकि प्रत्येक भारतवासी को अपने देश पर गौरव हो और दुनिया भी जाने की भारत एक महान देश है। यह पुरानी कहावत है कि साहित्य समाज का दर्पण होता है। लेकिन, धन और बाजारवाद का प्रभाव बढ़ रहा है, जिससे ये दर्पण कुछ दरक गया है। इस कारण बिम्ब कुछ धुंधले बन रहे हैं। साहित्यकारों को भारत के उजले पक्ष को दिखाना चाहिए। ये विचार प्रख्यात कवि और वरिष्ठ पत्रकार महेश श्रीवास्तव ने व्यक्त किए। 

व्यापमं घोटाले में नाम आने के बाद सीएम शिवराज ने मीडिया से दूरी बनाई

भोपाल : अपना और अपने परिजनों का नाम व्यापमं घोटाले में आने के बाद से ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से दूरी बना ली है। अब यूएनआई, पीटीआई और एएलआई के माध्यम से उनकी सूचनाएं मीडिया तक पहुंच रही हैं। 

हरिभूमि भोपाल में आंतरिक बदलाव

भोपाल (म.प्र.) : हरिभूमि के मैनेजिंग एडिटर डॉ.हिमांशु द्विवेदी ने अखबार के भोपाल संस्करण में आंतरिक बदलाव किए हैं। अब तक अखबार में डिप्टी न्यूज एडिटर का दायित्व निभा रहे भोजराज उच्चसरे को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए सेंट्ल डेस्क इंचार्ज बना दिया गया है। वह बतौर रिजनल इंचार्ज का भी दायित्व निभाते रहेंगे।  कृपया हमें …

कलेक्टर ने निरस्त की भोपाल पत्रकार भवन की लीज

भोपाल : जिला कलेक्टर निशान्त बरवडे ने पत्रकार भवन समिति की शिकायत पर ‘पत्रकार भवन, भोपाल’ की लीज निरस्त कर दी है। इससे पूर्व कलेक्टर ने पत्रकार भवन में संदिग्ध गतिविधियों को लेकर पत्रकार भवन प्रबंधन को एक नोटिस दिया था।

‘दैनिक नवजीवन’ संपत्ति चोरी प्रकरण : पुलिस की खात्मा रिपोर्ट खारिज, केस नये सिरे से शुरू, नामजद आरोपियों के खिलाफ वारंट

Sanjay Chaturvedi : ‘नेशनल हेराल्ड’ के हिंदी संस्करण ‘दैनिक नवजीवन’ की संपत्ति चोरी हो जाने के मामले में भोपाल कोर्ट ने पुलिस की खात्मा रिपोर्ट को खारिज कर केस को नये सिरे से शुरू कर नामजद आरोपी एनके मित्तल और महेन्द्र सिंह बग्गा के खिलाफ पांच पांच हजार रूपये के जमानती वारण्ट जारी किए हैं। मामले की अगली सुनवाई 18 अक्टूबर को होगी। नवजीवन की मशीन और अन्य सामान चोरी जाने की घटना 18-19 नवम्बर 2007 में हुई थी एमपी नगर थाना पुलिस ने काफी दवाब के बाद 9 जनवरी 2008 को धारा 380 के तहत नामजद प्रकरण दर्ज किया।

ब्रजेश राजपूत को मिला यशवंत अरगरे हिंदी पत्रकारिता पुरस्कार

भोपाल। मध्यप्रदेश के राज्यपाल रामनरेश यादव ने एबीपी न्यूज के विषेप संवाददाता ब्रजेश राजपूत को ‘यशवंत अरगरे हिंदी पत्रकारिता पुरस्कार’ से सम्मानित किया। मध्यप्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की ओर से हिन्दी भवन में हुये सम्मान समारोह में ये पुरस्कार प्रदान किया गया।

brajesh rajput

अजय वर्मा पिटाई प्रकरण में भोपाल के कथित वरिष्ठ पत्रकारों की घटिया भूमिका

Ashish Maharishi : पुलि‍स के गुंडे भोपाल में एक युवा पत्रकार अजय वर्मा को जमकर पी‍टते हैं। अजय की गलती बस इतनी थी कि वह पुलि‍सि‍या अकड़ के आगे झुकने को तैयार नहीं थे। अजय अभी अस्‍पताल में भर्ती हैं। अजय के कुछ चुनिंदा साथी उससे मि‍लने कभी कभार अस्‍पताल पहुंच जाते हैं। अजय अपनी लड़ाई अकेला ही लड़ रहा है।