चीखने-चिल्लाने के मामले में एंकर अमीश देवगन का देसी वर्जन मिल गया… देखें वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब शेयर हो रहा है जिसमें एक पत्रकार कुछ ग्रामीणों से उनकी पीड़ा के बारे में बात कर रहा है. पहले तो शुरुआत में ही बिना जाने यह पत्रकार ऐलान कर देता है कि यह जो स्त्री खड़ी है, उसका पति मर गया है. तब गांव वाले करेक्ट करते हैं कि मरा नहीं है इसका पति. उसके बाद चीख चीख कर पत्रकार ग्रामीणों की समस्या के बारे में बताता है.

वीडियो के आखिर में ये पत्रकार माकानाका टाइप गालियां देते हुए सभी से ये वीडियो शेयर करने की बात करता है और सत्ता शीर्ष पर बैठे लोगों को गरियाता है. इस पत्रकार के चीखने-चिल्लाने को देखकर कई लोगों ने इसे अमीश देवगन का देसी वर्जन कहना शुरू कर दिया है.

बताया जा रहा है कि इस वीडियो में जो पत्रकार चीख चिल्ला रहा है, उसका नाम है राजीव सिंह तलवार. ये आजमगढ़ के हैं और एक स्कूल के प्रबंधक हैं. ये फेसबुक पर उल्लू tv नाम से एक पेज भी चलाते हैं. साथ ही इसी नाम से इनका एक पोर्टल भी है. कहा जाता है कि आजमगढ़ के dm और sp सब इनसे पनाह मांगते हैं.

जब जिले मे कोई vip आता है तो पूरी फोर्स यह ध्यान रखती है कि कहीं राजीव सिंह ना आ जाएं. यह अपने इस तरह के कारनामों के लिए कुख्यात हैं. बताया जाता है कि ये अपने स्कूल मे बच्चों को गाली भी सिखाते हैं. इनकी एक क्लास होती है. एक बार तो ये सारे बच्चो को लेकर एसएसपी ऑफिस पहुंच गए और गाली की क्लास एसएसपी ऑफिस के कैम्पस में ही शुरू कर दी. इनका मानना है कि गाली भी जीवन के लिए आवश्यक है. नीचे जो वीडियो दिखाया जा रहा है, उसमें जहां से गाली शुरू होती है, वही से वीडियो का अंत कर दिया गया है.

देखें वीडियो…

वैसे राजीव तलवार की गालियों को माइनस कर दें तो इनके तीखे तेवर के आजमगढ़ में बहुत सारे लोग फैन हैं… जैसे इन दो लोगों के फेसबुक कमेंट्स देखें…

Islahuddin Ansari : राजीव तलवार नाम है इनका. उल्लू टीवी आजमगढ़ के कर्ताधर्ता हैं. आज इनकी एक रिपोर्टिंग वायरल हुई है जहाँ ये आवेश में आकर गालियाँ देते हुए नज़र आ रहे हैं. पर उन गलियों को दरकिनार करिये और इनकी फेसबुक प्रोफाइल और इनके उल्लू टीवी के पेज का एक फेरा लगा कर आईये. गोदी मीडिया और सत्ता के चाटुकार एंकरों के इस दौर में राजीव तलवार की पत्रकारिता की जीवटता देखकर आपको इनके मुंह से निकलने वाली गालियाँ भी प्रासंगिक ना लगने लग जाएं तो कहियेगा. गोदी मीडिया की इस भांड पत्रकारिता के दौर में जब एक आम आदमी के भीतर का पत्रकार जागता है तब वो सत्ता, सियासत और ब्यूरोक्रेसी को ललकारता हुआ कहता है कि हाँ मैं उल्लू टीवी से राजीव तलवार बोल रहा हूँ, क्या हमारे सवालों का कोई जवाब है आपके पास? और यकीनन बेशर्म चेहरे चुप्पी ओढ़ कर आगे को बढ़ जाते हैं। गोया कि उनसे सवाल करने वाला कोई बावला और सिरफिरा है जबकि ऐसा कतई नहीं है। वो तो बस सिस्टम सत्ता और सियासत पीड़ित एक आम आदमी भर हैं।

Kashif Azmi बड़े भाई ये आज़मगढ़ के एक स्कूल के मालिक है और ये कई साल तो सिर्फ़ एक बैनर ले कर ही अपना विरोध कर कर रहे थे… लोग आज़मगढ़ में इनको पागल भी कहते थे.. तो इन्होंने अब बैनर के साथ बोलना भी शुरू कर दिया.. इससे सरकार के जो चमचे हैं वो इनसे दस हाथ की दूरी ही बनाए रखते हैं कि पता नहीं Rajiv कौन सा सवाल कर दे…

ये भी पढ़ें…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *