ट्रेन हादसे में ‘लल्नटाप’ के पत्रकार अनिरुद्ध यादव की मौत

कानपुर से एक दुखद खबर आ रही है. कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन से ठीक पहले आउटर पर स्थित गोविंदपुरी स्टेशन पर धीमी हुई ट्रेन से उतरते वक्त पत्रकार अनिरुद्ध यादव का पैर फिसलने से निधन हो गया. अनिरुद्ध दिल्ली से कानपुर के बर्रा स्थित अपने घर लौट रहे थे.

वे आई-नेक्स्ट, कानपुर समेत कई अखबारों और न्यूज चैनलों में काम कर चुके हैं. इन दिनों वे आजतक समूह के लल्लनटाप वेबसाइट में कार्यरत थे. अनिरुद्ध की उम्र 45 साल के आसपास थी. घर में उनके एक बिटिया और एक बेटा है. अनिरुद्ध कानपुर स्थित अपने गांव के प्रधान भी थे.

ट्रेन हादसे को लेकर कई बातें सामने आ रही हैं. उनका बैग गायब है. इससे यह भी आशंका है कि किसी ने उन्हें उतरते वक्त धक्का तो नहीं दे दिया और बैग लेकर भाग गया. अनिरुद्ध सुबह तीन चार बजे के बीच गोविंदपुरी स्टेशन पर उतर रहे थे. सिर में चोट आने से उनका काफी खून बहा और वो बेहोश पड़े रहे. जब घर से उनकी बिटिया ने फोन किया तो जीआरपी के लोगों ने फोन अटेंड कर दुर्घटना की सूचना दी. अनिरुद्ध के असमय चले जाने से उनके जानने वाले सदमें में हैं.

अनिरुद्ध के निधन के बाद स्थानीय अखबार में छपी खबर देखें जिसमें बताया गया है कि वे अपने गांव के प्रधान भी थे…

अनिरुद्ध के निधन पर भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि दी. इस मुश्किल वक्त में परिवार को धैर्य देने की प्रार्थना ईश्वर से की. यशवंत ने फेसबुक पर लिखा- ”कभी कभी जल्दबाजी और छोटी सी असावधानी से जीवन का साथ छूट जाता है. श्रद्धांजलि अनिरुद्ध! यूं अचानक चले जाओगे, किसी ने नहीं सोचा था. आई-नेक्स्ट कानपुर की लांचिंग के दौरान अपनी टीम में अनिरुद्ध को रिक्रूट किया था. देसज और मेहनती अनिरुद्ध ने लगातार सीखा और खुद को अपग्रेड करते गए. पर हम सबको यूं छोड़कर चले गए कि कोई कुछ कह सुन न सका.”

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “ट्रेन हादसे में ‘लल्नटाप’ के पत्रकार अनिरुद्ध यादव की मौत”

  • मनीष दुबे says:

    अनिरुद्ध मेरे भाई बहुत गलत हुआ ये तुम्हारे इस तरह चले जाने की खबर अभी मुझे यकीन नहीं दिला पा रही है.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *