खुद को आईपीएस और तांत्रिक बताने वाले इस ठग से सावधान रहिये!

हम लोग ठगी के शिकार हो गये है। 35 दिन बाद भी देवरिया पुलिस और गाजीपुर सहयोग नहीं कर रही है। मैंने गाजीपुर के एसएसपी को जो चिट्ठी लिखी है, पढ़ लीजिए…

एस. एस. पी. महोदय,
जिला गाजीपुर
उत्तर प्रदेश

नमस्कार,

विषय: -मुझ एक बधिर दिव्यांग को आपकी की मदद की बहुत ज़रूरत है।

बेल्थरा रोड उत्तर प्रदेश के 6 साल पुराने फेसबुक मित्र और कथित तांत्रिक अरविंद पांडेय ( मोबाइल नंबर 09415144352, 09839074877, 07400701818) ने मेरे बधिर दिव्यांग होने और मेरे जीवन की कुछ परेशानियों का गलत फायदा उठा लिया। उसने मेरे माता पिता जी को बताया कि मेरे गाँव के घर में 5 आत्माएं हैं। किसी के द्वारा तंत्र क्रिया करवाना पड़ेगा। तभी इन पांच आत्माओं को जमीन में गाड़ा जा सकेगा। किसी के द्वारा तांत्रिक क्रिया करवाने के लिए 30,000/- की ठगी की।

अरविंद पांडेय पैसे न देने पर पिता जी को डांट भी रहा था। अरविंद पंडित के कहने पर उसके यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के बैंक खाता में ( A/c 572802010003222 UNION BANK OF INDIA, TULSI SAGAR, NEAR SICHAI VIBHAG CHAURAHA, GHAZIPUR) में 20,000/-और 3400/-जमा करवाया हूँ। अलग से उनको 600/- का नया vip नंबर का सिम कार्ड 7400701818 भी ख़रीदकर दिया। इसके लिये 2 बार गाड़ी बुक किया। इससे 2500/-का भी चूना लग गया था। 2 बार AC3 का टिकट बनवाकर दिया था। इसमें भी 2000/- खर्च हो गए।

एक तरह से उसने मेरे विश्वास और भलमनसाहत का गलत फायदा उठा लिया है। 3 दिन पहले मैंने पुलिस में लिखित शिकायत की है। इस पर कार्यवाही करके 30,000/-की वापसी करवाया जाये। मैं आप का आभारी रहूंगा। अरविंद पांडेय ने मेरे जैसे बधिर दिव्यांग के साथ भावना का खेल करके मेरे पैसे से अपना शौक पूरा किया है। वो बेरोजगार है। उसके पास अपने शौक पूरा करने का कोई साधन नहीं है। दिनांक 04 सितम्बर 2018 रात 8 बजे को up police के हवलदार का इस मोबाइल नंबर 8052483001 पर कॉल आया था। पिता जी ने बात किया था। उसने आधार कार्ड के बाद भी उसका निवास और थाना का नाम पूछकर मोबाइल रख दिया था। कोई कार्यवाही नहीं होने की बात साफ साफ नहीं बताया है।

कुंवर मानवेन्द्र सिंह
s/o श्री विजय पाल सिंह (retd ias)
मंगला रोड, बिलासपुर
छत्तीसगढ़ 09589701600

पुनश्च : मुझे facebook में उसके लोकल दोस्तों से जानकारी मिली कि अरविंद पांडेय बेरोजगार है और उसके पास ठगों का पूरा गिरोह है। यह ठगी के जरिए ही अपनी दालरोटी चलाता है। कहा जाता है कि इसने पुलिस में अच्छी खासी सेटिंग कर रखी है। अरविंद पांडेय कभी खुद को आईपीस बताता है तो कभी तांत्रिक होने का दंभ भरता है। उसके पास 4 फोन नंबर हैं। इससे उसे ट्रैक कर उसकी लोकेशन पुलिस जान सकती है। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में ऐसे ठगों और नकली तांत्रिकों को उनके मोबाइल नंबर से ट्रैक कर पुलिस पकड़ लेती है। अभी मैंने अरविंद पांडेय को उसके ह्वाट्सअप पर ये संदेश भेजा है-

अरविंद पांडेय, बेल्थरा रोड के ठग राजा साहब (बेल्थरा रोड रेलवे स्टेशन से 4 KM आगे उसका गाँव इशरू है, यहीं पर उसका घर और खेत है), “तंत्रमंत्र” के नाम पर लोगो को लूटना और ठगना बंद कर दीजिये। आप एक्स आईपीएस नहीं हैं। जब आप बिलासपुर आये थे, तब आपकी आंखें लाल थी। मतलब साफ है आप शराब पीकर आये थे और लहसुन प्याज वाला खाना खाते हैं। हम लोगों को पूरी तरह से धोखा देने से आपको शर्म नहीं आयी थी। आप के कहने पर विश्वास करके आप के खाते में तुरंत पैसा जमा किया था। आप भी तुरंत ईमानदारी से मेरे खाते में मम्मी पापा का सब पैसा वापस कीजिये। मैं अपना खाता नंबर दे रहा हूँ।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *