विज्ञापन न मिला तो मुस्लिम ग्राम प्रधान के विरुद्ध गोवंश-मांस खाने की फ़र्ज़ी ख़बर छाप दी, पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज

ईद उल फितर के मौके पर विज्ञापन ना मिलने से नाराज दैनिक “आज” अखबार के तहसील संवाददाता व फोटोजर्नलिस्ट को नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान के विरुद्ध गोवंश की हत्या की खबर छापना महंगा पड़ गया। ग्राम प्रधान ने प्रकाशित समाचार को अपने विरुद्ध प्रतिद्वंद्वियों से मिलकर षड्यंत्र रचा जाना करार देते हुए कोतवाली में तहरीर देकर दैनिक “आज” अखबार के तहसील संवाददाता व फ़ोटो जर्नलिस्ट समेत पांच लोगों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

बरेली से प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र में 17 मई को ग्राम प्रधान के विरुद्ध छपी खबर।

मामला उत्तर प्रदेश के जनपद पीलीभीत की तहसील पूरनपुर का है। ग्राम जादोंपुर गहलुइया निवासी नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान इमरान खां पुत्र हाफिज सितारुद्दीन खां ने पूरनपुर (पीलीभीत) कोतवाली में दी तहरीर में कहा कि उसने नेशनल एमसीए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (NIMCET) में आल इंडिया 184 रैंक हासिल की है और यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद से मास्टर आफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (MCA) कर रहा हूं। कोविड-19 के कारण कैंपस बंद है और मैं एक साल से घर पर हूं और इंटर्नशिप भी नहीं हो पाई।

इस बीच उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू हो गई। तब हमारे गांव वालों ने मुझे प्रधानी का चुनाव लड़ने को प्रेरित किया। गांव वालों के हौसले पर मैं प्रधान पद का उम्मीदवार बना। हमारे गांव के तत्कालीन प्रधान हनीसुर्रहमान पुत्र अब्दुल रहमान खां और ताज मोहम्मद पुत्र गुलाम मोहम्मद खां (पूर्व ग्राम प्रधान) पंचायत चुनाव के मजबूत दावेदार थे, जिन्होंने गांव में सरकारी योजनाओं का लाभ अपात्रों को दिया। गांव का सरकारी अस्पताल भी नहीं बनवाया, वह धर्मापुर गांव चला गया। ग्रामीणों को सबसे ज्यादा अस्पताल निर्माण न कराए जाने की तकलीफ थी। दूसरे विकास कार्य भी नहीं कराए, इसीलिए गांव वालों ने मुझे हिम्मत दी कि आप चुनाव लड़िये। आप पढ़े लिखे, युवा हो। गांव के लिए अच्छा काम करोगे।

इस नाते मैंने प्रधानी का चुनाव लड़ने का इरादा कर लिया और नामांकन कराया, जिस दिन से मैंने नामांकन कराया, उस दिन से यह लोग मुझे जान से मारने की धमकी देते रहे लेकिन मैंने कभी इस बात को गंभीरता से नहीं लिया। शांति और धैर्य के साथ चुनाव लड़ा, जिसमें मुझे 348 वोटों से जीत मिली। जीतने के बाद भी इन्होंने मुझे धमकी दी कि तुमने हमारी बात नहीं मानी और चुनाव लड़ा, इसका अंजाम तुम्हें भुगतना पड़ेगा।

मैं इसे नजरअंदाज कर कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए गांव को सैनिटाइज कराने, स्वच्छ भारत मिशन में जुट गया। चुनाव जीतने के बाद कई पत्रकारों के विज्ञापन के लिए फोन आए। मैंने सब को कहा कि बाद में विज्ञापन देंगे लेकिन ईद से दो दिन पूर्व दिनांक- 12/05/2021 को पूरनपुर के “आज” अखबार के कथित पत्रकार ने मेरे फोन नंबर पर ईद का विज्ञापन निकालने के लिए 5000 रुपये की मांग की। मैंने इनसे कहा कि अभी पैसे नहीं है, महामारी फैली है। मेरी प्राथमिकता गांव को सैनिटाइज करा कर अपने गांव वालों को बचाने की है। हालात ठीक होंगे, तब विज्ञापन दे देंगे।

यह फोन “आज” अखबार के कथित पत्रकार शादाब अली के सहयोगी फूलबाबू की तरफ से आया था। विज्ञापन के इनकार से फूल बाबू काफी नाराज हुए और मुझे धमकाते हुए कहा कि तुमको 5000 रुपये विज्ञापन के लिए देने ही पड़ेंगे और काफी भला बुरा कहा। बोले- शादाब भाई तुम्हारा ऐसा नुकसान करेंगे कि तुम कहीं मुंह दिखाने के लायक नहीं रहोगे। यह हालत होगी कि आत्महत्या करने पर मजबूर होगे।

मैंने समझाया कि भाई इतना नाराज होने की जरूरत नहीं है। अभी मेरे पास पैसे नहीं है लेकिन फिर भी इनके तेवर ठंडे नहीं पड़े और खामियाजा भुगतने की धमकी देकर फोन काट दिया। इस बीच हमारे पड़ोस के गांव सबलपुर से कुछ आवारा गोवंश में से एक गाय हमारे गांव आ गई, जिसको मैंने अपने घर पर बांध लिया। इसकी सूचना मैंने दिनांक- 05/05/2021 को थाना पूरनपुर में दे दी। यह गाय आज भी मेरे पास सुरक्षित है। गोवंश का फोटो तहरीर के साथ संलग्न है।

इन पत्रकारों के पूर्व प्रधान हनीसुर्रहमान और ताज मोहम्मद से अच्छे संबंध है, जोकि दोनों पंचायत चुनाव के प्रत्याशी थे। हनीसुर्रहमान के एक साथी साजिद बेग पुत्र भूरा बेग इन तीनों के इशारे पर कथित पत्रकार शादाब अली ने मेरे खिलाफ एक आपराधिक षड्यंत्र रचा और दिनांक- 16/05/ 2021 को “आज” अखबार में यह खबर प्रकाशित की, जिसका शीर्षक है – “चुनाव जीतने की खुशी में समर्थकों व ग्रामीणों को दावत में प्रधान ने खिलाया गोवंश के पशुओं का मांस”। समाज में वैमनस्य पैदा करने वाली यह खबर तथ्यहीन और बुनियाद है, जिसने मुझे मानसिक आघात दिया और समाज में मेरे खिलाफ एक वर्ग के बीच नफरत का भाव पैदा किया है।

तहरीर में ग्राम प्रधान ने कहा कि इस षड्यंत्र में शामिल लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। ग्राम प्रधान ने तहरीर के साथ “आज” अखबार में प्रकाशित खबर की छाया प्रति। घर में सुरक्षित गाय की फोटो की छाया प्रति। कथित पत्रकार के सहयोगी की ओर से आए फोन कॉल के स्क्रीनशॉट की छाया प्रति, भी पुलिस को सौंपी है।

पुलिस ने दैनिक ‘आज’ के छायाकार फूल बाबू, तहसील संवाददाता शादाब अली, पूरनपुर कोतवाली अंतर्गत ग्राम जादोंपुर गहलुइया निवासी हनीसुर्रहमान, ताज मोहम्मद व साजिद बेग के खिलाफ भादवि की धारा 153-ए, 504, 384, 120-बी, 506 के तहत अभियोग दर्ज किया है।

पूरनपुर कोतवाली में दर्ज एफआईआर की छाया प्रति।


अपडेट- इस बीच पता चला है कि पत्रकारों की ओर से पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र भेजा गया है। पढ़िए इस प्रार्थना पत्र में पत्रकारों की तरफ़ से क्या कहा गया है-

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *