‘हिंदुस्तान’ अखबार की ये हेडिंग सही है?

कानपुर के जाने माने सोशल एक्टिविस्ट रॉबी शर्मा ने फेसबुक पर हिंदुस्तान अखबार के फ्रंट पेज को पोस्ट करते हुए लिखा है कि अखबार ने 90 प्रतिशत जली लड़की को जलाने की कोशिश बताया है. इस पोस्ट पर कई लोगों के कमेंट आए हैं. देखें कुछ-

Nitin Jauhari सर दोनों तथ्य अखबार ने दिये है। पीड़िता को ये नहीं बता सकते कि जिंदा जला दिया। अभी सांसे चल रही और बयान दे सकती, जो उसने दिया है। इसलिए मारने की कोशिश। 307 ज्यादा खतरनाक होता 302 से।

Robby Sharma जलाने की कोशिश लिखा है जबकि वास्तव मे जला दी गयी है तो कोशिश शब्द क्यों लिखा। और रही बात मरने की तो भारत मे 90 percent जली लङकी को बचाने में ज्यादा तर अस्पताल नाकाम ही रहते हैं।

Nitin Jauhari देखना है, अब कितने यू.पी. वाले आंदोलन करते है, हैदराबाद की तरह न्याय दिलाने के लिए।

Ravishanker Gupta बिके हुए लोग… हस्तिनापुर काल से आज तक जिंदा हैं

Karm Kasauti जलाया लिख देते तो आलोचना नहीं होती

Sanjay Pandey मूर्ख तो आप हैं। मुझे पता है कि आप कब किसे और कैसे मूर्ख कह सकते हैं

Avanish Dixit क्या रोबी शर्मा जैसे समाज के कथित ठेकेदारों से पूछ कर अखबार छपेगा। क्या छपना है क्या नही ये तय करना संपादक का काम है। ना कि इन जेसे लोगो का।

Amit Gupta Yeah Hindustan hai

Nirved Goyal aise hi dalali karne walon ki wajah se desh ki yeh halat hai

Anil Laroiya Ye baat jyada important h ki khaber ko impotance diya Unnao ki khaber ko front page ki main heading m jagah dee jagran hindustan ki same h

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *