IFWJ की प्रेस रिलीज में मजीठिया, परमानंद पांडेय, आगरा पत्रकार लाठीचार्ज का कोई जिक्र नहीं

जब पत्रकार संगठन पूरी तरह दलाली की तरफ अग्रसर हो जाते हैं तो मूल मुद्दों का जिक्र तक नहीं करते. यही हाल आईएफडब्लूजे का है. इनके राष्ट्रीय अधिवेशन की आफिसियल प्रेस रिलीज में मजीठिया वेज बोर्ड से लेकर आगरा में पत्रकारों पर लाठीचार्ज के मुद्दों का कहीं कोई जिक्र तक नहीं है. प्रेस रिलीज में संगठन के महासचिव परमानंद पांडेय तक का नाम नहीं है. सूत्रों ने बताया कि परमानंद पांडेय ने शिवपाल यादव के सामने मजीठिया वेज बोर्ड मामले में यूपी सरकार की बेरुखी का मुद्दा उठाया. लेकिन इस प्रकरण का प्रेस रिलीज में कोई जिक्र नहीं है. पढ़िए आप भी प्रेस रिलीज, ताकि जान सकें कि इसमें जिक्र किस बात का है. -एडिटर, भड़ास4मीडिया

आईएफडब्लूजे के 65वें राष्ट्रीय अधिवेशन को शिवपाल सिंह यादव ने संबोधित किया

पत्रकारिता, संगीत और कला तब तक रहेगी जब तक सृष्टि रहेगी

मथुरा। देश के चैथे स्तम्भ ने देश को हर मुश्किल समय में दिशा प्रदान करने का कार्य किया है। उक्त विचार इण्डियन फैडरेशन आॅफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स (आईएफडब्लूजे) के 65वें राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन समारोह में उत्तर प्रदेश के कबीना मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने व्यक्त किये। उन्होने इस मौके पर कहा कि पुरातन कालों में भी मीडिया का महत्व बना रहा है चाहे वह द्वापरयुग में भगवान श्री कृष्ण हो अथवा महाभारत के संजय आदि सभी ने मीडिया का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता, संगीत और कला तब तक रहेगी जब तक सृष्टि रहेगी। मैं अगर राजनीति में न होता तो साधु सन्तो के सानिध्य में रहता। पत्रकारिता भ्रष्टाचार और राजनीति से परे होनी चाहिये। आज टैक्नोलाॅजी के दौर में सोशल मीडिया बहुत प्रचलित है लेकिन प्रिन्ट मीडिया अखबार का महत्व जो पहले कभी हुआ करता था वो आज भी उतना ही है।

इस अधिवेशन की अध्यक्षता करते हुए आईएफडब्लूजे के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री के0 विक्रम राव जी ने कहा कि बदलते परिवेश में पत्रकारों को चरित्र निर्माण के लिये अपना मूल्यांकन करने की बहुत आवश्यकता है। उन्होंने मंत्री शिवपाल सिंह यादव का धन्यवाद दिया कि खराब मौसम होने के बावजूद वे कार्यक्रम में शिरकत करने आये। उन्होंने कहा कि जब भी बिहार का इतिहास लिखा जायेगा तो महागठबन्धन की संरचना में शिवपाल सिंह यादव की भूमिका का ही वर्णन आयेगा।

उन्होंने दक्षिण एशिया के पत्रकारों का सार्क पत्रकार महासंघ स्थापना की प्रतिबद्धता दोहरायी। इस दो दिवसीय अधिवेशन में 27 राज्यों एवं देश के केन्द्र शासित प्रदेशों के 590 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इससे पूर्व रविवार को आईएफडब्लूजे की कार्यकारिणी बैठक में कई महत्वपूर्ण विषयों पर निर्णय लिये गये। मध्य प्रदेश के अध्यक्ष सलमान खान द्वारा उठाये गये मुददे पर राष्ट्रीय अध्यक्ष ने राजस्थान के जगदीश नारायण जैमन, केरला के सी0आर0 रामचंद्रन एवं आंध्र प्रदेश के वीरभद्र राव छत्तीसगढ एवं अन्य मामलों की जांच करेंगे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आईएफडब्लूजे के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्याम बाबू शर्मा, सचिव (विदेश मामले) मदन गौड़ा, डा0 उपेन्द्र पाधि, सीआरओ डा0 देवाशीष बोस, मध्य प्रदेश के अध्यक्ष सलमान खान, उ0प्र0 के अध्यक्ष हसीब सिददकी, गीतिका ताल्लुकदार, के0 विश्वदेव राव ने देश भर से जुटे पत्रकारों को पत्रकारिता में चरित्र की चुनौतियों को इंगित करते हुए इसे सतत संघर्ष बताया।

तमिलनाडु के सज्ञाराज और चन्द्रिका ने जून में आयोजित होने वाले संगठन के राष्ट्रीय अधिवेशन की घोषणा की है। वहीं अन्तर्राष्ट्रीय मामलों के सचिव श्री मदन गौड़ा ने आगामी फरवरी में होने वाले कर्नाटक अधिवेशन के लिये कबीना मंत्री श्री यादव को भी वहां आने के लिये आमंत्रित किया। इस दौरान राष्ट्रीय कार्यकारिणी में दिल्ली मुख्यालय के सचिव के रूप में वरिष्ट पत्रकार विपिन धूलिया को मनोनीत किया है।

के0डी0 डेन्टल काॅलेज के विशाल सभागार में आज सोमवार को आयोजित इस कार्यक्रमें मथुरा के जिलाधिकारी श्री राजेश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा0 राकेश कुमार, मथुरा वृन्दावन विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष चन्द्रप्रकाश सिंह, सचिव एसबी सिंह आदि जनपद भर के अधिकारियों के अलावा वरिष्ठ पत्रकार देशभक्त बाजपेयी जी, उपाध्यक्ष सत्या पारिक, सुल्तान शहरयार खान, श्याम जोशी, रामदत्त त्रिपाठी, मुदित माथुर, अरविन्द अवस्थी, एन0 राजू, विनोद चैधरी, प्रवेश चतुर्वेदी, संजय द्विवेदी, अमित भार्गव, सुरेश सैनी, हरिओम पाण्डेय, विकास शर्मा, फैजल कुरैशी, अनिल सारस्वत, वकील खान, मधुसूदन शर्मा आदि ने शिरकत की। इस कार्यक्रम के मुख्य संयोजक श्री सन्तोष चतुर्वेदी ने अन्त में सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *