लाइव इंडिया चैनल के वाइस प्रेसीडेंट संदीप कात्याल और एक्स सीईओ राजेश शर्मा के खिलाफ एफआईआर

बंद हो चुके चैनल लाइव इंडिया के अंदरखाने की खबरें भड़ास के पास आने का क्रम अब भी जारी है. पता चला है कि चैनल के वाइस प्रेज़िडेंट संदीप कत्याल को चैनल के ख़िलाफ़ धोखाधड़ी में बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. साथ ही उनके और एक्स सीईओ राजेश शर्मा के ख़िलाफ़ धोखाधड़ी में दिल्ली के मंदिर मार्ग थाने में एफआइआर दर्ज करायी गयी है. कहा जा रहा है कि दोनों की गिरफ़्तारी जल्द सम्भव है. बुरे दौर से गुज़र रहे इस चैनल के सामान को बिना किसी को बताए बाहर किराए पर देने और इससे मोटी रक़म बनाने का आरोप है.

इसी क्रम में इन्होंने राजेश शर्मा के साथ मिलकर एक साज़िश रची. चैनल के वाइस प्रेज़िडेंट संदीप कत्याल पर आरोप है कि उन्होंने भाजपा नेता राकेश तिवारी के इशारे पर चैनल के एक्स सीईओ राजेश शर्मा को नक़ली काग़ज़ात द्वारा रातोंरात फिर से चैनल का सीईओ बनाने की साज़िश रची. मकसद था कि वो और राजेश शर्मा दोबारा से चैनल पर क़ाबिज़ होकर अपनी मनमानी कर सकें. राजेश शर्मा ने मई 2016 में चैनल के सीईओ का पद बिना किसी बोर्ड मीटिंग और डायरेक्टर्स के रिजोल्यून के सिर्फ़ एचआर के मेल पर सम्भाला था. आरोप है कि तब से दिसम्बर 2016 तक संदीप कत्याल के साथ मिलकर इन दोनों ने चैनल को करोड़ों रुपए का चूना लगाया. राजेश शर्मा ने अपनी सेलरी 90 हज़ार से 7 लाख और अपने वज़ीर कत्याल की सेलरी एक लाख चालीस हज़ार से सीधे ढाई लाख रुपए की. उन्हीं दिनों चैनल में बाकी कर्मचारी भूखे मर रहे थे.

दोनों ने बतौर एडवांस भी लाखों रुपए अंदर कर लिए. साथ ही अपने गुर्गों और चाटुकारों की भी बिनाबात वेतन तिगुना दुगना कर दिया. ये सब तब हो रहा था जब चैनल अपने बुरे दौर से गुज़र रहा था और वेतन के अभाव में दो तीन लोगों की जान तक चली गयी. राजेश शर्मा ने चैनल के नाम पर करोड़ों रुपए का उधार उठाया. बाद में राकेश तिवारी के साथ मिलकर चैनल के ही दो अन्य सीनियर लोगों ने चैनल के बिकने के नाम पर तिवारी से 15 लाख रुपए डकार लिए. अपनी मनमानी करते हुए कई कर्मचारियों को अपनी निजी पसंद नापसंद के आधार पर नौकरी से निकाल दिया.

ये भी पढ़ें…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “लाइव इंडिया चैनल के वाइस प्रेसीडेंट संदीप कात्याल और एक्स सीईओ राजेश शर्मा के खिलाफ एफआईआर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *