कुलिश पत्रकारिता पुरस्कार (मेरिट) पाने वालों की लिस्ट में पत्रकार शिवा अवस्थी का भी नाम!

  • कानपुर में रहकर 23 वर्षों से कर रहे हिंदी पत्रकारिता, खोजी खबरों के लिए खास पहचान

कानपुर : दैनिक जागरण कानपुर के वरिष्ठ उपसंपादक और ढाई साल तक बुंदेलखंड के चित्रकूट में दैनिक जागरण के जिला प्रभारी रहे वरिष्ठ पत्रकार शिव स्वरूप अवस्थी शिवा को राजस्थान पत्रिका की ओर से दिया जाने वाला केसी कुलिश इंटरनेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म (मेरिट कैटेगरी, वर्ष 2018) देने की घोषणा हुई है।

दैनिक जागरण में चित्रकूट धाम बुंदेलखंड प्रभारी रहते हुए शिवा अवस्थी ने वर्ष 2018 में 15 जुलाई से 22 अगस्त तक बदहाली पाठा की के नाम से लगातार 38 दिन का समाचारीय अभियान चलाया था। इसमें बुंदेलखंड में मिनी चंबल घाटी के रूप में पहचान रखने वाले मानिकपुर व मऊ तहसील के पाठा इलाके में लाखों के इनामी डकैतों के खौफ के बावजूद चुनौतीपूर्ण रिपोर्टिंग करते हुए उन्होंने करीब 110 ग्राम पंचायतों में रहने वाले पौने दो लाख कोल आदिवासियों की समस्याएं उठाई थीं। उन्हें धमकियां मिलीं पर वह डिगे नहीं। लगातार पहाड़ों और बियाबान जंगलों के बीच घूमकर उनकी कलम चलती रही।

उनकी रिपोर्टिंग के बाद केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार ने वहां अरबों रुपये से विकास कार्य कराए। तमाम सड़कें बनीं, काफी हद तक पेयजल संकट दूर हुआ। पाठा क्षेत्र का मप्र और उप्र में सात लाख से अधिक का इनामी अंतिम डकैत बबुली कोल भी मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया। उसके गैंग का भी सफाया हो गया। शिवा की पत्रकारिता से विकास की नई राह खुली। शिवा को उस समय 2019 में प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया ने विकासपरक पत्रकारिता की श्रेणी में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया था।

कानपुर नगर की घाटमपुर तहसील के गांव हथेई में जन्में शिव स्वरूप अवस्थी शिवा ने यह सिद्व कर दिया कि प्रतिभा को ज्यादा दिन तक बांधकर रखा नही जा सकता। इ़त्र की खुशबू तो फैलेगी ही। कानपुर से कन्नौज व फिर चित्रकूट आए शिवा। चित्रकूट को उन्होंने अपनी आंखों से अपने तरीके से देखा। फिर क्या जंगल, पहाड़ों की वादियों में घूमकर अपनी प्रस्तुतियों के जरिए स्थानीय लोगों के दिलों में जगह बनाई।

शिवा अवस्थी ने कहा कि भविष्य में भी ऐसे ही कीर्तिमान गढ़ने व सभी का स्नेह पाने की कोशिश करता रहूंगा। युवा पत्रकार कुछ अलग करने की सोच रखकर कदम आगे बढ़ाएं। किसी तरह की समस्या व कठिनाई पर रिएक्शन के बजाय एक्शन मोड में आकर और बेहतर करें। बदलाव तय है। इससे कुछ दिन में आप खुद को स्थापित कर सकेंगे।

प्रोफाइल

नाम – शिव स्वरूप अवस्थी उर्फ़ शिवा अवस्थी

संप्रति – वरिष्ठ उप संपादक, दैनिक जागरण कानपुर संस्करण।

पत्रकारिता अनुभव – 23 वर्ष।

जन्म स्थल – ग्राम व पोस्ट हथेई, घाटमपुर कानपुर नगर।

अब तक मिले अवार्ड

-2019 प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (भारतीय प्रेस परिषद) की ओर से विकासपरक पत्रकारिता श्रेणी में नेशनल अवार्ड्स फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म(राष्ट्रीय उत्कृष्ट पत्रकारिता पुरस्कार) से उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू व केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के हाथों पुरस्कृत।

-प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्रीराम नाईक के हाथों से संस्कार रत्न अवार्ड।

-दो बार यूपी के लोकायुक्त से निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए पुरस्कृत।

-पॉलीथिन के खिलाफ समाचारीय अभियान पर कानपुर जिला प्रशासन की ओर से पर्यावरण मित्र सम्मान।

-कानपुर प्रेस क्लब की ओर से सोहन वर्मा स्मृति सर्वश्रेष्ठ रिपोर्टिंग सम्मान।

-कन्नौज में डॉ अनुभव तिवारी स्मृति पत्रकारिता पीठ की ओर से सर्वश्रेष्ठ रिपोर्टर सम्मान।

-जयपुर में इंद्रप्रस्थ एजुकेशन रिसर्च एंड चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से इंडियन ग्लोरी अवार्ड-2019

-समय-समय पर तमाम समाजसेवी संस्थाओं की ओर से पुरस्कृत।

कार्यवृत

–2004 से 2009 तक दैनिक जागरण में संवाददाता, कानपुर दक्षिण व रामादेवी कार्यालय प्रभारी।

–वर्ष 2011 से जून 2013 तक जनसंदेश टाइम्स में कानपुर सिटी इंचार्ज।

–2013 से दैनिक जागरण में कानपुर सिटी में सीनियर रिपोर्टर।

–2016 से 2018 जून तक दैनिक जागरण कन्नौज संस्करण में जिला प्रभारी।

–2018 जून से अब तक दैनिक जागरण चित्रकूटधाम बुंदेलखंड में प्रभारी।

इसके साथ जनसत्ता एक्सप्रेस, नगर छाया, खोजी नारद, लोकभारती समेत कई अखबारों में 2004 से पहले काम किया।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *