समाजवादी पार्टी की हार, मेरा इंतजार…

दोस्तों, मैं आपसे ये नहीं कहूंगा कि इस पोस्ट पर ज्यादा-से-ज्यादा कमेंट या लाइक करें। बस आपसे एक छोटी सी गुजारिश करूँगा कि आप इस पोस्ट को ज्यादा-से-ज्यादा SHARE करें और इतना share करें कि ये messege Samajwadi Party तक पहुँच जाये, ताकि उन मायूस बच्चों को आपकी मदद से लैपटॉप मिल सके और शायद उनकी जुबान से निकलती बद्दुआएं, दुआयों में बदल जाये।

अगर 2017 में फिर अखिलेश सरकार बन गयी और उन छात्रों को लैपटॉप नहीं मिला तो आने वाले पांच साल तक वो छात्र प्रदेश सरकार को कोसते रहेंगे। अगर सरकार नहीं बनी तो उन छात्रों को कम-से-कम ये सुकून तो रहेगा कि जिस सरकार ने लैपटॉप बाँटे थे अब तो वो रही नहीं, तो किससे मांगे लैपटॉप। चलो अच्छा हुआ सरकार भी नहीं रही और हमारा इंतज़ार भी। दोस्तों लगभग 4 साल पहले लिखी रचना आज आपके साथ साँझा कर रहा हूँ। इसे रचना कहेंगे या मायूस छात्रों की दास्ताँ, पता नहीं। आप इसे पढ़ने के बाद फैसला कीजिएगा।

पूरे होते वादे रह गए अधूरे… न लैपटॉप मिला न तसल्ली। मैं देव मोहन पैरा मेडिकल महाविद्यालय का विधार्थी हूँ। जोकि सादाबाद के निकट लालगढ़ी गाँव में स्थित है। जिस दिन से लैपटॉप वितरण योजना शुरू हुई है उस दिन से बस यही सुनता आया हूँ कि मुझे भी लैपटॉप मिलेगा, पर कब मिलेगा यह कोई नहीं जानता। कॉलेज वालों से पूछो तो उनका हमेशा एक ही जवाब रहता है सरकार ने अभी आपके नाम के लैपटॉप भेजे नहीं हैं, सरकारी दफ्तरों में लैपटॉप के लिए जाए तो कैसे जाएं। वहाँ के आला अधिकारी कॉलेज का नाम सुनते ही बरस पड़ते हैं । लैपटॉप कैसे दे दें आपको, आपके कॉलेज पर तो मान्यता ही नहीं है। इस बात को मैं मान भी लेता अगर मैं बी. ए. सेकण्ड ईयर का छात्र न होता। लैपटॉप कब मिलेगा ये जानने के लिए मैं अकेला नहीं भटक रहा। लगभग 200 मेरे कॉलेज के साथी इस भटकने के अभियान में शामिल हैं।

तो दोस्तों ये थी उन छात्रों की कहानी जिन्हें सन् 2012 में इंटर करने के बावजूद लैपटॉप नहीं मिला। जो लोग समाजवादी पार्टी से संबंध रखते होंगे और वो इस लेख को पढ़ रहे होंगे तो उन्हें ये सब पढ़ के ज़रा भी अच्छा नहीं लगेगा । Samajwadi Party के लिए ऐसे शब्द लिखकर मैंने जरूर कुछ लोगों का दिल दुखाया है जिसके लिए मैं उनसे हाथ जोड़कर माफ़ी मांगता हूँ पर क्या करूँ अपने जज़्बातों पर क़ाबू न सका और ये सब लिखने पर मजबूर हो गया।

ऐसा नहीं है कि मैंने Samajwadi Party के लिए कुछ अच्छा नहीं लिखा। प्रदेश के मुख्य मंत्री मान्यनीय श्री अखिलेश यादव जी ने जब घोषणा की थी कि जिन छात्र-छात्राओं ने सन् 2012-2013 में इंटर पास किया है उन्हें लैपटॉप दिए जायेंगे । उसी वक़्त मैं प्रदेश सरकार के लिए बहुत कुछ लिखा था। मैंने सोचा था कि जब मुझे लैपटॉप मिलेगा तब मैं अपनी लिखी रचना उन्हें बतौर तोहफा दूँगा जो मुझे अपने हाथों से लैपटॉप देंगे पर शायद वक़्त को ये मंजूर नहीं था न मुझे लैपटॉप मिला न मेरी रचना सरकार तक पहुँची. जिसमें मैंने प्रदेश सरकार का शुक्रिया-अदा एक कहानी के रूप में किया था। उस कहानी में मैंने बताया था कि लैपटॉप पाकर एक गरीब बच्चा भी दुनिया से बराबरी कर सकता है।

Note- अगर आप समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता हैं और आप चाहते हैं कि हम यानि मैं और मेरे साथी जिन्हें लैपटॉप नहीं मिला, उन्हें लैपटॉप मिल जाए तो कृपया करके हमें लैपटॉप दिलाने का कष्ट करें।

शुक्रिया

Dev kumar
dk3217821@gmail.com



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code