ठग कंपनी ‘कैनविज’ से सावधान : 36 महीने बीत गए, मैजिक इनकम की कोई राशि नहीं आई!

लालच के चक्कर में आदमी बर्बाद हो जाता है. चिटफंड कंपनियों ने अच्छा रिटर्न देने का वादा कर लोगों से खूब पैसे लूटे. पढ़िए इन महाशय का शिकायती पत्र. कैनविज वालों ने किस तरह इन्हें लूटा है. पर माह मैजिक इनकम पाने के चक्कर में इन्होंने अपनी सात लाख रुपये की गाढ़ी कमाई गंवा दी. ये अब भी मैजिक इनकम का इंतजार करत रहते हैं पर उसे कब आना था जो अब आए.

रिजर्व बैंक की तरफ से टीवी अखबार हर माध्यम के जरिए आम जन को ये जानकारी दी जाती रहती है कि ज्यादा प्राफिट देने का वाद कर अगर कोई आपसे धन ले तो तुरंत सावधान हो जाएं, ये ठगी का एक तरीका हो सकता है.

पढ़ें कैनविज वालों द्वारा ठगी के शिकार एक शख्स की कहानी….

कई अन्य भी हो चुके हैं ठगी के शिकार

ज्ञात हो कि कैनविज के एमडी कन्हैया गुलाटी हैं. इसके खिलाफ ठगी के कई केस दर्ज किए जा चुके हैं. ये शख्स अपने गैंग के माध्यम से मोटे मुनाफे का झांसा देकर निवेशकों की रकम हड़प लेता है. वाराणसी में थाना आदमपुर के हसनपुर निवासी शमशाद अहमद ने कैनविज इंडस्ट्रीज लिमिटेड के एमडी कन्हैया गुलाटी के खिलाफ बरेली में धोखाधड़ी और रुपये हड़पने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई है.

रिपोर्ट में शमशाद ने कहा है कि कन्हैया गुलाटी की कंपनी ने एक स्कीम शुरू की थी। इसमें एकमुश्त 24 हजार रुपये जमा करने पर 30 महीने तक हर माह दो से तीन हजार रुपये देने का वादा किया गया था. 24 अक्तूबर, 2019 को उन्होंने कंपनी के खाते में 23,998 रुपये जमा किए. मगर उन्हें 2200 रुपये की दर से सिर्फ पांच किस्तें ही दी गईं, जबकि वह इसके बाद भी कंपनी में कई बार में 2.16 लाख रुपये जमा कर चुके थे.

आरोप है कि जब शमशाद ने कन्हैया गुलाटी से संपर्क किया तो उन्होंने जनवरी, 2019 तक धनराशि लौटाने का वादा किया. शमशाद ने इस मामले में कन्हैया गुलाटी पर अन्य लोगों के साथ भी धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है. कहा है कि उन लोगों ने अपने रुपये वापस मांगे तो लंबी अवधि का चेक दे दिया गया. जब उन्होंने तुरंत रुपये देने को कहा तो फर्जी मुकदमे में फंसाने और जान से मारने की धमकी दी गई.

किसके साथ कितनी ठगी

  • आफरीन अशरफी, निवासी बल्लोच टोला, सदर जौनपुर – चार लाख रुपये
  • शहनबाज सिद्दीकी, निवासी ख्वाजगी टोला, सदर जौनपुर – 1.71 लाख रुपये
  • मोहम्मद तौफीक, निवासी बल्लोच टोला, सदर जौनपुर – तीन लाख रुपये
  • वसीम अहमद, मदनपुरा, वाराणसी – 1.32 लाख रुपये
  • बदरे आलम, निवासी नकी घाट, वाराणसी – 58,553 रुपये
  • शरद टंडन, निवासी बल्लोच टोला, सदर जौनपुर – 1.61 लाख रुपये
  • इरशाद अहमद, निवासी हसनपुर, वाराणसी – 37,933 रुपये

Kanwhizz Company Fraud Complaint



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code