पत्रकार चला रहे जिस्‍मफरोसी का धंधा, एक हिरासत में

बुलंदशहर : शहर में उगाही सहित तमाम गैर कानूनी कामों में लिप्त कथित पत्रकारों का एक और दागदार चेहरा सामने आया है। कोतवाली नगर में दर्ज एक मुकदमे में पुलिस ने जब जांच शुरू की तो सामने आया कि यह फर्जी पत्रकार शहर में जिस्मफरोशी के धंधे में भी लिप्त हैं। फिलहाल पुलिस ने एक फर्जी पत्रकार को हिरासत में ले लिया है। कई और नाम भी प्रकाश में आए हैं।

फर्जी पत्रकार एवं दरोगा पुलिस के हत्‍थे चढ़े

उत्‍तराखंड के विकासनगर के थाना सहसपुर अंतर्गत धूलकोट के जंगल के समीपी बंशीवाला में वाहनों की चेकिंग कर अवैध वसूली कर रहे फर्जी दरोगा, सिपाही व पत्रकार को झाझरा पुलिस ने दबोच लिया। गुरुवार सायं दबोचे गए तीनों फर्जी पुलिस कर्मियों व पत्रकार के खिलाफ स्कूटर चालक की तहरीर पर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

दुर्घटना में वरिष्‍ठ पत्रकार दिलावर सिंह घायल, हालत गंभीर

बिजनौर में हुए एक सड़क हादस में वरिष्‍ठ पत्रकार दिलावर सिंह चौहान गंभीर रूप से घायल हो गए। परिजनों ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से चिकित्सकों ने हालत गंभीर देखते हुए उन्हें मेरठ रेफर कर दिया। वे बिजनौर से अपनी बाइक पर सवार होकर नहटौर जा रहे थे। कलक्ट्रेट के निकट स्थित साकेत कालोनी निवासी वरिष्ठ पत्रकार दिलावर सिंह चौहान बुधवार को किसी काम से बाइक पर सवार होकर जा रहे थे।

स्‍टार प्‍लस इस सप्‍ताह भी नम्‍बर वन, कलर्स ने जी टीवी को पछाड़ा

इंडियन एंटरटेनमेंट टेलीविजन के आठवें सप्‍ताह की रेटिंग आ गई है। इस बार की रेटिंग में बदलाव देखने को मिले हैं. स्‍टार प्‍लस रेटिंग प्‍वाइंट कम होने के बाद भी पहले नम्‍बर पर बना हुआ है, जबकि कलर्स ने जी टीवी को पीछे छोड़कर दूसरे नम्‍बर पर कब्‍जा जमाया है। आइए जानें टैम रेटिंग के आठवें सप्ताह में छोटे परदे पर क्या कुछ बदला और क्या नहीं। स्टार प्लस चैनल पिछले सप्ताह 259 जीआरपी रेटिंग के साथ नंबर वन पर था। बेशक इस सप्ताह इसकी रेटिंग गिर गई है। लेकिन इस सप्ताह भी स्टार प्लस 248 जीआरपी रेटिंग के साथ नंबर वन पर है।

मजीठिया वेज बोर्ड : बेंच के नहीं बैठने से सुनवाई टली, अगली बहस पांच मार्च से

सुप्रीम कोर्ट में पत्रकारों और गैर पत्रकार कर्मचारियों के लिए न्यायमूर्ति मजीठिया वेतन आयोग की सिफारिशों के खिलाफ दायर याचिका पर इस सप्‍ताह बहस नहीं हो सकी. पिछली सुनवाई 14 फरवरी को हुई थी, जिसके बाद अगली तारीख 26, 27 और 28 फरवरी तय की गई थी. परन्‍तु दो सदस्‍यी बेंच के नहीं बैठने के चलते इसे अगले सप्‍ताह तक के लिए टाल दिया गया है. अब अगली सुनवाई 5 से 7 मार्च तक होगी.

गोधरा दंगों के 11 साल बाद मोदी की सद्धभावना या दुर्भावना!

गोधरा दंगों को पूरे 11 साल हो गए हैं, लेकिन अपने मूल से उखड़े हुए आज कितने लोग निर्वासित की जिंदगी जी रहें हैं. अलीफ दरिया खान पठान कभी गुजरात के वीरमगाम में रहते थे, हांलाकि रहने को पतरे वाली झोपड़ी थी लेकिन वीरमगाम के डाय केमिकल फैक्टरी में उन्हें जीविकोपार्जन के लिए कम से कम 2000 रुपए का मासिक वेतन तो मिल जाता था और उनकी पत्नी भी लोगों के कपड़े सिलकर घर की गुजर-बसर कर लेती थी, लेकिन 2002 में हुए गोधरा दंगों की ऐसी मार पड़ी कि ना केवल वह पतरे वाली झोपड़ी आग में भस्मीभूत हो गई बल्कि घर से बेघर हो गए. अब घर से दूर कड़ी के दिल्ला गांव की राहत छावनी में वे निर्वासित सी जिंदगी गुजार रहें हैं, आर्थिक रुप से तो वे टूटे ही क्योंकि कड़ी में उन्हें 50 रु. की मजदूरी करनी पड्ती है और मजदूरी भी रोज नहीं मिलती.

प्रिंट को हराकर इलेक्‍ट्रानिक मीडिया ने जीता कप, कुणाल बने मैन ऑफ द मैच

चाईबासा के एसआर रुंगटा स्टेडियम में खेले गए मीडिया कप क्रिकेट मैच में इलेक्‍ट्रानिक मीडिया की टीम ने प्रिंट मिडिया की टीम को सात विकेट से हरा दिया। सिंहभूम जर्नलिस्ट एशोसिएशन द्वारा आयोजित इस मैच में टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए प्रिंट मीडिया ने निर्धारित सोलह ओवर में सात विकेट पर 115 रन बनाये, जिसमें पवन सिंह ने 42 और मनीष ने 24 रनों का योगदान दिया. इलेक्‍ट्रानिक मीडिया की और से कुणाल ने तीन और आनंद ने दो विकेट लिए.

आठवें हफ्ते की टीआरपी : आजतक यानि नंबर वन, इंडिया न्‍यूज की टीआरपी में उछाल

टैम ने आठवें सप्‍ताह की टीआरपी जारी कर दी है. आजतक लगातार नम्‍बर वन पर बना हुआ है और इंडिया टीवी दूसरे पायदान पर टिके रहने को अभिशप्त-सा लग रहा है.  तीसरे नम्‍बर पर एबीपी न्‍यूज ने अपना कब्‍जा लगातार बरकरार रखा है. चौथे स्‍थान पर जी न्‍यूज है. इस सप्‍ताह कुछ उठापटक भी हुए हैं. आईबीएन7 ने न्‍यूज24 को झटका देते हुए टॉप फाइव से बाहर कर दिया है.

बजट गाथा : जानिए किसने पेश किया पहला बजट और किसने सबसे अधिक बार

वित्‍त वर्ष 2013-14 के लिए आम बजट की उलटी गिनती शुरू हो गई। बजट पूर्व हुए आर्थिक समीक्षा में वित्त वर्ष 2013-14 के दौरान आर्थिक वृद्धि दर 6.1 से 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है। इसी तरह से और भी कई बातें आर्थिक सर्वेक्षण मे सामने आयी है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 112 में भारत के केन्द्रीय बजट को वार्षिक वित्तीय विवरण के रूप में निर्दिष्ट किया गया है। आज मैं देश की बजट को समझने के लिए उसका इतिहास, अवधारणा, बजट की आवश्यकता और इसकी व्यवस्था पर कुछ बातें प्रस्तुत करने जा रहा हूं, जो तीन से चार भाग मे आपके सामने लाने की कोशिश करूंगा।

तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय, मुरादाबाद का मालिक मनीष जैन बहुत घटिया आदमी : सोनू निगम (देखें वीडियो)

मुरादाबाद : तीर्थंकर महावीर विश्वविधालय, मुरादाबाद (Teerthanker Mahaveer University, Moradabad) के पांचवे वार्षिकोत्सव में शनिवार 23 फरवरी को कार्यक्रम प्रस्तुत करने आये मशहूर गायक सोनू निगम ने विश्वविद्यालय के मालिक मनीष जैन (Manish Jain) पर आरोप लगाया है कि उनके सुरक्षा कर्मियों और खुद मनीष जैन ने उन्हें जबरन रोका और उनके साथ दुर्व्‍यवहार किया। सोनू निगम ने ट्विटर और यूट्यूब पर किसी को भी मुरादाबाद के तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय में न जाने की हिदायत तक दे डाली है।

‘कल्‍पतरु एक्‍सप्रेस’ अखबार के मालिक पर निवेशकों से ठगी का आरोप

अपने गोरखधंधे का बचाव करने के लिए मीडिया में आने वाले एक और चिटफंडिया कंपनी ने निवेशकों से करोड़ों रुपये ठग लिए हैं. कल्‍पतरु एक्‍सप्रेस नाम के दैनिक अखबार का प्रकाशन करने वाले कल्‍पतरु समूह पर आरोप लगा है कि उसने अपने निवेशकों के हजारों करोड़ रुपये ठग लिये हैं. यह समूह जल्‍द ही के7 नाम से एक नेशनल न्‍यूज चैनल भी लांच करने की योजना पर काम कर रहा था. इसके पहले खबर भारती न्‍यूज चैनल का संचालन करने वाले साईं प्रकाश कंपनी के चेयरमैन को ठगी के आरोप में कानपुर पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है.

आत्मकथा तैयार, बस दिल्ली से विदाई का इंतजार : एसएन विनोद (देखें वीडियो)

प्रभात खबर के संस्थापक संपादक रह चुके वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद से बतियाना इसलिए भी अच्छा लगता है कि उनके पास दुनिया जहान के ढेर सारे किस्से, घटनाएं, जानकारियां होती हैं और उसे वे बिना किसी हिचक-संकोच अपने प्रिय कनिष्ठों को बांटा करते हैं. एसएन विनोद जी का मुझ पर भी प्रेम रहा है, और है. वे नागपुर रहें या दिल्ली, हफ्ते महीने में एक या दो बार फोन पर लंबी बातचीत जरूर हो जाती है.

साक्षी मीडिया के चेयरमैन जगन मोहन की हिरासत बढ़ी

हैदराबाद : हैदराबाद की एक स्थानीय अदालत ने आज आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति के कथित मामले में साक्षी मीडिया समूह के मालिक एवं वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख वाई एस जगन मोहन रेड्डी और अन्य लोगों की न्यायिक हिरासत 13 मार्च तक बढ़ा दी।

जिंदल मामले में जी न्‍यूज की एक और याचिका खारिज

नई दिल्ली : एक स्थानीय अदालत ने ज़ी न्यूज़ लिमिटेड की ओर से दायर वह याचिका खारिज कर दी है जिसमें जिंदल स्टील एंड पॉवर लिमिटेड (जेएसपीएल) की ओर से चैनल के खिलाफ दायर मानहानि के मुकदमे पर रोक की मांग की गई थी। अदालत ने याचिका को प्रीमच्योर करार देते हुए खारिज कर दिया।

कुंभ मेला में छोटी नदियां बचाने का जुनून

इलाहाबाद। प्रयाग महाकुंभ मेला के समापन काल में विश्व भर के जाने माने चित्रकारों का सम्मेलन सेक्टर छह में शुरू किया गया है। 27 फरवरी को मुम्बई के विख्यात फिल्मकार पंकज मिस्त्री भी पहुंच गए हैं। उन्होंने कुंभ मेला को अपने कैमरे में कैद किया। खासकर गंगा के हाल, तम्बुओं के छोड़े अवशेष, कलश और हवनकुण्डों पर उनकी नजर पडी़।

IIMC में ब्यॉयज हॉस्टल न होना शर्मनाक है

भारतीय जनसंचार संस्थान, यानी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन…प्रचलित संबोधन IIMC. पत्रकारिता प्रशिक्षण में एक गौरवशाली अतीत….जहां, सिर्फ भारत से ही नहीं, बल्कि करीब आधा दर्जन देशों के छात्र पत्रकारिता की पढ़ाई करते हैं. अफगानिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, सेनेगल आदि देशों से आए छात्रों को IIMC की ओर से सुसज्जित छात्रावास मिला हुआ है. उसी तरह यहां पढ़ने वाली छात्राओं को भी IIMC ने हॉस्टल मुहैया करा रखी है, लेकिन दूसरी तरफ संस्थान में पढ़ने वाले लड़कों को छात्रावास से वंचित रखा गया है. 

बरेली में हिंदुस्‍तान ट्रेड फेयर में पुस्‍तक विक्रेता मायूस

झुमका सिटी बरेली में 9 साल बाद हिम्मत जुटाकर आए पुस्तक विक्रेता और प्रकाशक खासे मायूस हैं. दरअसल बरेली में ट्रेड फेयर में आए लोग किताबों को उलट-पुलट कर तो खूब देख रहे हैं, मगर क्रेता बहुत कम हैं. लिहाजा पुस्तक मेला बहुत घाटे में जा रहा है. मगर सबसे ज्यादा हैरानी हिंदुस्तान अख़बार के रवैये को लेकर है जो ट्रेड फेयर की दो-दो पन्नों की खबरें लगा रहा है, मगर बुद्धिजीवियों के इस अख़बार ने पुस्तक मेले पर चंद चार लाइनें लिखने की भी जहमत नहीं उठाई है.

आई नेक्‍स्‍ट, लखनऊ में हलचल : एनई पर खबर बेचने के आरोप में संपादक को भेजा गया मेल

जागरण समूह के आई नेक्‍स्‍ट अखबार में सब कुछ सही नहीं चल रहा है. जागरण समूह के मालिकों तथा आई नेक्‍स्‍ट के संपादकों को भेजे गए एक मेल में आरोप लगाया गया है कि आई नेक्‍स्‍ट, लखनऊ के न्‍यूज एडिटर राधाकृष्‍ण त्रिपाठी संस्‍थान के एक्‍सक्‍लूसिव खबरों को प्रतिद्वंद्वी समूह दैनिक भास्‍कर के पत्रकार अज्‍येंद्र राजन शुक्‍ला को बेच रहे हैं. यह मेल आई नेक्‍स्‍ट के एडिटर आलोक सांवल समेत शैलेश गुप्‍ता, सुनील गुप्‍ता, संजय गुप्‍ता, संदीप गुप्‍ता को भी भेजा गया है.

सुल्‍तानपुर में छायाकार की पिटाई मामले ने पकड़ा तूल, विरोध-पुतला दहन जारी

यूपी के सुल्‍तानपुर जिले में पुलिस द्वारा हिंदी दैनिक हिंदुस्‍तान के छायाकार राज बहादुर यादव की निर्मम पिटाई और उनका कैमरा छीनने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. इसके विरोध में पूरे जिले धरना-प्रदर्शन और पुतला दहन का कार्यक्रम शुरू हो गया है. पिटाई के विरोध में पत्रकारों ने बैठक करके आंदोलन की रुपरेखा तय की. जिले के मीडियाकर्मियों ने मौन जुलूस निकालकर डीएम को ज्ञापन सौंपा.  

नौकरियों का नया ठिकाना होगा सोशल मीडिया

सोशल मीडिया अब सिर्फ लोगों को आपस में जोड़ने और गपशप करने का प्लेटफॉर्म ही नहीं बल्कि नौकरियां देने में भी अहम भूमिका निभाने वाला है। नैसकॉम की एक रिपोर्ट का कहना है कि देश में आईटी इंडस्ट्री को मजबूत करने में सोशल मीडिया खास भूमिका निभाने को तैयार है। रिपोर्ट का कहना है कि बीपीओ सेक्टर में गिरावट की भरपाई अगले साल सोशल मीडिया में होने वाले विकास से होगी।

जेल से रिहा हुए पत्रकार एमआर सिद्दीकी ने कहा- पुलिस ने जबरदस्ती गुनाह कबूल करने का दबाव डाला (देखें वीडियो)

डेक्कन हेराल्ड के क्राइम रिपोर्टर मोतिउर्रहमान सिद्दीकी को कतई उम्मीद नहीं था कि एक दिन उन्हें ही आतंकवादी बताकर जेल के सलाखों के पीछे डाल दिया जाएगा. यही नहीं, पुलिस उन पर जबरदस्ती दबाव बनाती रही कि वे कुबूल कर लें कि वे आतंकवादी हैं. लेकिन उन्होंने पुलिस के दबाव के आगे झुकने से इनकार कर दिया. आखिरकार, छह महीने तक बिना वजह जेल काटने के बाद उन्हें यह कह कर रिहा कर दिया गया कि उनके खिलाफ कोई सुबूत नहीं है. बैंगलोर में राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए की एक विशेष अदालत ने बड़ी हस्तियों के कत्ल और आतंकवादी साज़िश रचने के आरोप में गिरफ्तार एमआर सिद्दीकी उर्फ मोतिउर्रहमान सिद्दीकी को छह महीने बाद रिहा कर दिया है. एजेंसी ने कहा कि उनके पास एमआर सिद्दीकी के खिलाफ कोई सबूत नहीं है.

मुंबई की झुग्‍गी बस्‍ती के निवेशक सहारा से नाराज

मध्य मुंबई स्थित झुग्गी बस्ती बैगनवाड़ी की एक संकरी गली में भारत के बहु-बिलियन-डॉलर वाले सहारा समूह का स्थानीय कार्यालय ढूंढना मुश्किल है। गौरतलब है कि इस कंपनी के न्यूयॉर्क और लंदन में होटल हैं और एक फॉर्मूला1 रेसिंग टीम भी है। बैगनवाड़ी में नगर निगम के कूड़ेदान से महज़ कुछ किलोमीटर दूर सहारा का एक कमरे वाला ऑफिस एक छोटे, रेडीमेड कपड़े के स्टोर के ऊपर स्थित है। यहां तक पहुंचने के लिए, आगंतुक रस्सी थामे, संकरी लोहे की सीढ़ी पर चढ़ते हैं।

मैं सरकारी नौकर नहीं हूं, मुझे बोलने का अधिकार है : काटजू

नई दिल्‍ली : प्रेस काउंसिल के चेयरमैन जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने कहा है कि अक्सर ये बोला जाता है कि वो सरकारी कर्मचारी हैं इसलिए किसी के खिलाफ नहीं बोल सकते. काटजू ने कहा कि प्रेस काउंसिल के चेयरमैन पद पर रहते हुए भी उन्हें बोलने का अधिकार है. अंग्रेजी अखबार 'द हिन्दू' अखबार में लिखे लेख में काटजू ने कहा है कि कुछ लोगों की तरफ से लोगों के बीच ये भ्रम फैलाया जा रहा है इसीलिए उन्होंने ये जवाब दिया है.

करंट लगने से पत्रकार मनजीत सिंह की मौत

पंजाब के कपूरथला के नडाला कस्बे में रहने वाले पत्रकार मनजीत सिंह मिर्जापुरी की बुधवार को सुबह लगभग 11 बजे करंट लगने से मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए कपूरथला सिविल अस्पताल में भेज दिया है। आज ही उनका अंतिम संस्‍कार कर दिया गया।

पत्रकार मुमताज की गोली मारकर हत्‍या

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के अशांत कबाइली इलाके में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक वरिष्ठ पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी। पत्रकार के परिवार ने बताया कि मलिक मुमताज जिओ टीवी और जांग ग्रुप के अखबारों के लिए उत्तरी वजीरिस्तान के कबाइली इलाके में काम करते थे। वह पस्तो भाषा के 'खैबर टीवी' के लिए समाचार भेजते थे।

मनोज तोमर लखनऊ के संपादक, देवकी नंदन बनारस के यूनिट हेड बने

: स्‍नेह रंजन की सहारा में वापसी : प्रदीप सिन्‍हा पटना के यूनिट हेड बनाए गए : राष्‍ट्रीय सहारा में कई बदलाव किए गए हैं. इसके लिए लेटर जारी कर दिया गया है. नए बदलावों में लखनऊ, बनारस तथा पटना यूनिट प्रभावित हुए हैं. बनारस के स्‍थानीय संपादक मनोज तोमर का तबादला लखनऊ के लिए किया गया है. वे लखनऊ में अखबार के स्‍थानीय संपादक होंगे. यहां पर स्‍थानीय संपादक की भूमिका निभा रहे अनिल पांडेय को क्‍या प्रभार दिया जाएगा इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है, परन्‍तु खबर है कि वे सितम्‍बर के बाद एक्‍सटेंशन पर चल रहे हैं, लिहाजा वे रिटायर किए जा सकते हैं. हालांकि उनके रिटायरमेंट की पुष्टि नहीं हो पाई है.

बच्चों के विकास के लिए चिंतित हैं डॉ. कलॉम : प्रो. यशपाल

जाने माने शिक्षाविद प्रो. यशपाल ने कहा है कि बच्चों के जरिये यह बात आनी चाहिए कि उनके शिक्षक कैसे हो? उसी के अनुसार अध्यापकों को प्रशिक्षण देना होगा। जब बच्चों को यह आजादी दी जायेगी तभी उनमें रचनात्मकता का विकास होगा। पूर्व यू.जी.सी. चेयरमैन और जे.एन.यू. के पूर्व चांसलर पदमभूषण प्रो. यशपाल मंगलवार को कुशीनगर आयें और प्रो. यशपाल बुधवार को बुद्ध पीजी कालेज में विज्ञान और प्रौ़द्योगिकी मन्त्रालय के सौजन्य से आयोजित इंस्पायर इंटर्नशिप कैंप में भाग लिये। ग्लोबल साइंस फोरम के लाईफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजे गये।

भास्‍कर में मोंगा से लक्ष्‍मीकांत दुबे का तबादला इंदौर

दैनिक भास्‍कर, मोंगा से खबर है कि लक्ष्‍मीकांत दुबे का तबादला इंदौर के लिए कर दिया गया है. वे यहां पर ब्‍यूरोचीफ की जिम्‍मेदारी निभा रहे थे. संभावना है कि अगले महीने के पहले सप्‍ताह में लक्ष्‍मीकांत इंदौर में अपनी जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे. लक्ष्‍मीकांत इसके पहले हिंदुस्‍तान, दैनिक जागरण और प्रभात खबर में लम्‍बी पारी …

श्रीनगर के लोकल न्‍यूज चैनल के कार्यालय पर पुलिस ने लगाया ताला

श्रीनगर : एक लोकल केबल टीवी चैनल के प्रसारण पर प्रतिबंध और कार्यालय में पुलिस द्वारा ताला लगाए जाने के विरोध में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि ऐसा कर सरकार और प्रशासन ने कर्मचारियों के पेट पर लात मारा है। दो प्रदर्शनकारियों ने आत्मदाह करने की कोशिश की, जिसे पुलिस ने समय रहते नाकाम कर दिया। इस चैनल का प्रसारण साइट इंटरटेनमेंट नेटवर्क (सेन) के बैनर तले किया जा रहा था।

दीप उपाध्‍याय, मोहित शंकर एवं राजीव रंजन इंडिया टीवी से जुड़े

जी न्‍यूज से इस्‍तीफा देने वाले तीन लोगों ने इंडिया टीवी का दामन थाम लिया है. जी न्‍यूज में आउटपुट एडिटर के तौर पर जिम्‍मेदारी निभाने वाले दीप उपाध्‍याय इंडिया टीवी में आउटपुट हेड के पद पर ज्‍वाइन किया है. जी न्‍यूज में इनपुट हेड रहे मोहित शंकर इंडिया टीवी में भी इसी पद पर आए हैं. इन दोनों के साथ राजीव रंजन भी इंडिया टीवी से जुड़ गए हैं. उन्‍हें चैनल में स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट बनाया गया है. राजीव जी न्‍यूज के साथ भी इसी पद पर कार्यरत थे. दीप और मोहित जी न्‍यूज के साथ लंबे समय से जुड़े हुए थे.

कंचन डोगरा सहारा समय पहुंची, सत्‍यजीत श्री न्‍यूज से बाहर

पी7 न्‍यूज से खबर है कि कंचन डोगरा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एंकर कम एसोसिएट प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत थीं. कंचन ने अपनी नई पारी सहारा समय के साथ शुरू की है. उन्‍हें चैनल में एंकर कम प्रोड्यूसर बनाया गया है. वे यहां पर भी एंकरिंग करेंगी.

ओरछा और झांसी से गहरा रिश्‍ता था चंद्रशेखर आजाद का

देश को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्ति दिलाकर अपनी मातृभूमि को स्वाधीन करने के लिए महात्मा गांधी और अन्य सेनानियों द्वारा छेड़े गए आंदोलन में सिर्फ पंद्रह साल की उम्र में ही कूद पडे़ थे। पंद्रह दिन की सशक्त कैद और बेतों की सजा मिली लेकिन हौंसले पर रंचमात्र असर न पड़ा। बेतों का बेरहम प्रहार झेलने के बाद भी जिनके मुंह से भारत माता की जय के स्वर लगातार फूटते रहे। उस दृश्य को देखने वालों की रूह भी कांप उठी लेकिन स्वतंत्रता के उस दीवाने की दीवानगी पर कोई जर्फ नहीं आई। मातृभूमि की आजादी के दिए प्राण न्यौछावर कर देने वाले उस वीर सपूत का नाम था चंद्रशेखर आजाद।

रेलवे स्‍टेशन पर सजा सांसद का मंच, राज एक्‍सप्रेस को छोड़ किसी ने नहीं छापी खबर

मध्‍य प्रदेश से खबर है कि मुरैया-श्‍योपुर के सांसद ने नियम के विपरीत रेलवे स्‍टेशन पर डीएम और एसपी की मौजूदगी में राजनीतिक सभा कर डाली. इस खबर को राज एक्‍सप्रेस के अलावा किसी भी अखबार ने प्रकाशित नहीं किया. एमपी के तमाम प्रतिष्ठित अखबारों ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित करने की बजाय दबा दिया. बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना शुरू की गई है.

फिर मिलने के वादे संग कल्पवासी लौटने लगे घर

इलाहाबाद। संगम की रेती को माथे लगा त्रिवेणी मइया का आशीष मांगा। पड़ोसियों से गले मिले और फिर मिलने का वादा कर लाखों कल्पवासी संगम नगरी से अपने-अपने घरों को विदा हो गए। ना कोई नेवता ना कोई चिट्ठी, बिन बुलाए ही करोड़ों लोगों का हर साल सैकड़ों-हजारों किमी दूर से यहां आना। एक अलौकिक उत्सव… जहां शब्द फीके पड़ जाते हैं। संगम के किनारे बालू की रेती पर आनंद लेना… इसे सिर्फ महसूस ही करके जाना जा सकता है।

उल्‍हास तायडे बने मुंबई में जदयू के मीडिया इंचार्ज

जनता दल महाराष्‍ट्र इकाई की बैठक पुणे में हुई. इसमें जदयू के कई वरिष्‍ठ पदाधिकारी मौजूद रहे. जदयू के राष्‍ट्रीय महासचिव जावेद रजा, मुंबई के अध्‍यक्ष राजकुमार सिंह समेत काफी संख्‍या में पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित हुए. जावेद रजा ने कहा कि राज्‍य में सबसे बड़ी समस्‍या सूखा की है. उससे भी ज्‍यादा ज्‍वलंत मुद्दा है सूखे से प्रभावित इलाकों के किसानों द्वारा आत्‍म हत्‍या किया जाना.

”आखिर फंसा ही दिया पुलिस ने मुझे और मेरे पत्रकार साथियों को”

यशवंतजी, नमस्कार. पिछली बार मैंने आपको बताया था कि किस तरह नरसिंहपुर पुलिस ने पत्रकारों पर फर्जी मामला दर्ज किया है. इस बात को लेकर मैं व मेरे पत्रकार साथी प्रदेश के गृह मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक अपनी बात पंहुचा चुके हैं. स्‍वयं गृहमंत्री एवं मुख्यमंत्री से बात कर चुके हैं और सारे सबूत उन्हें दे चुके हैं, पर कोई हल नहीं निकला. एक दिन पुलिस ने थाना कोतवाली में एक मामले में कवरेज के दौरान धोखे से मुझे इस वजह से गिरफ्तार कर लिया कि मैं जिस मामले में कवरेज कर रहा था यदि वहां मीडिया न होती तो पुलिस के वारे न्यारे हो जाते.

ट्राई का निर्देश – अपने ग्राहकों का ब्‍योरा रखें केबल ऑपरेटर

नई दिल्ली। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) ने दिल्ली, मुंबई व कोलकाता के मल्टी सिस्टम ऑपरेटरों (एमएसओ) तथा स्थानीय केबल ऑपरेटरों से कहा है कि वे अपने ग्राहकों का पूरा ब्योरा रखें जिनमें उनकी इच्छित सेवाओं की जानकारी भी हो। नियामक का कहना है कि डिजिटलीकरण का वास्तविक फायदा आम ग्राहकों तक नहीं पहुंच रहा है।

मीडिया को अभिनेत्रियों के कम कपड़े की चिंता है, उन महिलाओं की फिक्र नहीं जिनके पास तन ढंकने को कपड़े नहीं

अगर मुझसे पूछा जाए कि अमृत और स्याही में से तुम क्या लेना पसंद करोगे तो मैं हर बार स्याही को ही चुनूंगा, ताकि यह कलम के जरिए उजाले की ताकत बन सके। उजाले से मेरा मतलब दुनिया को अच्छाई से रोशन करने वाली सभी कोशिशों से है। मेरा जन्म राजस्थान के झुंझुनूं जिले के एक छोटे-से गांव कोलसिया में हुआ। बुजुर्गों से मालूम हुआ कि वह साल 1987 था। भयंकर अकाल का साल। सही वक्त मुझे याद नहीं, तब मैं बहुत छोटा था और बड़ों ने जानने की कोशिश नहीं कि क्योंकि घड़ी रखने का सौभाग्य तब हर किसी को नहीं मिलता था। तारीख थी 6 अगस्त, हिरोशिमा बम कांड की बरसी।

मोहब्बत से मरहूम रहा 71 अरब का मालिक!

दौलत और शोहरत के पीछे भागती दौड़ती दुनिया में कई तथ्‍य ऐसे भी हैं, जो आश्चर्य होने के साथ-साथ बेनाम सा विस्मय बन जाते हैं। उदाहरण हिंदुस्तान की औद्योगिक हस्ती खुद रतन टाटा हैं, जिन्हें दौलत और शोहरत तो मिली, लेकिन मोहब्बत-चाहत का एक तिनका भी नसीब नहीं हुआ। यह बात खुद उन्होंने एक साक्षात्कार में खोली है। इश्क उन्हें चार बार हुआ, लेकिन टाटा का नसीब ही खराब था। कुल मिलाकर अरबों डॉलर, यूरो, पौंड का मालिक मोहब्बत की गरीबी में जी रहा है। टाटा प्यार, पत्नी, औलाद के सुख से वंचित हैं। आम आदमी की पहुंच में नैनो का पहुंचाकर एक असंभव सपना पूरा करने वाले टाटा का प्यार पाने का सपना आज तक अधूरा है।

हिंदू महासभा के टिकट पर फैजाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे रविन्‍द्र द्विवेदी

अयोध्‍या। अखिल भारत हिन्‍दू महासभा ने लोकसभा चुनाव 2014 में अपने उम्‍मीदवार उतारने की घोषणा की है। उत्‍तर प्रदेश के फैजाबाद (अयोध्‍या) लोकसभा से उत्‍तर भारत के प्रभारी रविन्‍द्र द्विवेदी होंगे। यह जानकारी उत्‍तर भारत के प्रवक्‍ता संजीव माथुर ने आज अपने अयोध्‍या आगमन पर जारी बयान में दी। संजीव माथुर ने कहा कि रविन्‍द्र द्विवेदी श्रीराम जन्‍म भूमि पर भगवान श्री राम का भव्‍य मंदिर का निर्माण, फैजाबाद का नई दिल्‍ली की तर्ज पर विकास और नागरिक सुविधाओं की बहाली, पृथक अवध प्रदेश का गठन और अयोध्‍या को राजधानी का दर्जा, अल्‍पसंख्‍यक समुदाय को भेदभाव रहित समान अधिकार, समान अवसर और समान संसाधनों के साथ शिक्षा, रोजगार और विकास की धारा में शामिल करना, सामाजिक न्‍याय  पर आधारित समरस समाज की संरचना, किसानों की खुशहाली सहित स्‍थानीय मुद्दों पर फैजाबाद से चुनाव लड़ेंगे।

चैनल झऊआ भर मगर खबर कहीं नहीं दिखती

कमोवेश ये स्थिति उत्तर प्रदेश की तो है ही. हर जिले में थोक के भाव से चैनलों के माइक आईडी किसी न किसी कैमरामैन के झोले में मिल जायेंगे. पहले इन्हें स्ट्रिंगर कहते थे, मगर अब तो ज्यादातर इस नाम के लायक भी नहीं. जो हाल जिले स्तर पर कभी साप्ताहिक या संध्या दैनिक अखबारों का हुआ करता था, आज वही हाल टीवी चैनलों का हो चला है.

नोएडा से अलग कलस्‍टर बना मेरठ, भवानी शर्मा को मिली जिम्‍मेदारी

अमर उजाला प्रबंधन मेरठ यूनिट को हर मोर्चे पर मजबूत करने की तैयारी जुट गया है. इस क्रम में मेरठ में बिजनेस मोर्चा को मजबूती देने के लिए अलग कलस्‍टर बना दिया गया है. अब तक अमर उजाला में पांच कलस्‍टर हेड काम कर रहे थे, परन्‍तु मेरठ के कलस्‍टर बनने के बाद से इसकी संख्‍या छह हो गई है. मेरठ और देहरादून यूनिट को एक साथ जोड़ दिया गया है, जो अब तक नोएडा कलस्‍टर के अंतर्गत आता था. मेरठ का कलस्‍टर हेड भवानी शर्मा को बनाया गया है.

भास्‍कर से दैनिक सवेरा पहुंचे सुशील, अमर उजाला में नितिन का तबादला

पंजाब में दैनिक भास्‍कर की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. दैनिक भास्‍कर, रोपड़ के ब्‍यूरोचीफ सुशील पांडेय के बारे में खबर है कि वे दैनिक सवेरा के साथ जुड़ गए हैं. उन्‍होंने भास्‍कर से इस्‍तीफा दे दिया है. दैनिक सवेरा में उन्‍हें रोपड़ का ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. सुशील लंबे समय से दैनिक भास्‍कर को अपनी सेवाएं दे रहे थे.

दिल्‍ली सरकार का हलफनामा – ‘संतुष्टि के बाद दर्ज की जी न्‍यूज के खिलाफ एफआईआर’

दिल्ली सरकार ने सर्वोच्च अदालत से मंगलवार को कहा कि जी न्यूज के पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर समुचित संतुष्टि के बाद दर्ज की गई है। पुलिस की ओर से पहले साक्ष्यों और आरोपों पर विचार किया गया। इसके बाद आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्णय लिया गया।

मेरठ से जल्‍द लांच होगा अमर उजाला का ‘माई सिटी’

अमर उजाला, मेरठ में अब अपनी पकड़ और मजबूत करने की तैयारी कर रहा है. इसकी जिम्‍मेदारी संपादक राजीव सिंह को सौंपी गई है. मेरठ यूनिट के साथ अमर उजाला का भावनात्‍मक रिश्‍ता है. अखबार के निदेशक रहे अतुल माहेश्‍वरी कभी इस यूनिट की जिम्‍मेदारी संभाला करते थे. इसलिए यहां पर अखबार को अन्‍य अखबारों को कड़ा टक्‍कर देने के लिए 'माई सिटी' लांच करने की तैयारी की जा रही है. फिलहाल माई सिटी लखनऊ एवं कानपुर से प्रकाशित हो रहा है.

बीजेपी माने बेटा जमाओ पार्टी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान बसपा से निष्कासित भ्रष्ट नेताओं को कमल थमाकर पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने बीजेपी को भ्रष्टाचारी जुटाओ पार्टी का तमगा दिलाया था। अब जब पार्टी लोकसभा की लड़ाई के लिए तैयारी कर रही है तो यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने प्रदेश कार्यकारिणी में कई वरिष्ठ और कर्मठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को खुड्डे लाइन लगाकर दिग्गज और गुटबाज नेताओं के बेटों को महत्वपूर्ण पदों पर बिठाकर बीजेपी को बेटा जमाओ पार्टी का नया खिताब दिलाया है। यूं तो बीजेपी कांग्रेस और सपा पर वंशवाद की राजनीति करने का आरोप लगाती रही लेकिन खुद उसके आंगन में वंशवाद की बेल खूब मजे से फल फूल रही है।

जांच की जद में फंसा जांबाज हीरो!

वायुसेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी एक जांबाज योद्धा रहे हैं। अपने लंबे करियर में उन्होंने बहादुरी और हुनर के कई कमाल दिखाए हैं। इसके चलते उन्हें कई विशिष्ट सम्मान भी मिल चुके हैं। 2007 में रिटायर होने के बाद वे आराम से अपनी जिंदगी व्यतीत कर रहे थे। लेकिन, इसी बीच उनके जीवन में भारी उथल-पुथल मच गया। क्योंकि एयरचीफ मार्शल (रि.) त्यागी और उनके करीबी परिजन बहुचर्चित हेलीकॉप्टर सौदे की दलाली के आरोप में फंस गए हैं।

सैलरी के लिए नेटवर्क10 चैनल में कर्मचारियों की हड़ताल

देहरादून से संचालित नेटवर्क10 में स्थिति खराब है. सैलरी नहीं मिलने से नाराज कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि दो महीने से लेकर पांच महीने तक की सैलरी कर्मचारियों को नहीं मिली है. जो लोग प्रबंधन के नजदीकी हैं उन्‍हें तो बीच बीच में कभी सैलरी के नाम पर पैसे दे दिए गए, परन्‍तु जिनकी मैनेजमेंट से नजदीकी नहीं रही वे लोग कई महीनों की सैलरी नहीं पा सके हैं. कर्मचारी फिलहाल सांकेतिक हड़ताल पर हैं, पर उनका कहना है कि जल्‍द से प्रबंधन ने उनकी बातों पर ध्‍यान नहीं दिया तो वे चैनल का प्रसारण ठप कर देंगे.

जींद में ब्राह्मण समाज ने पंजाब केसरी के ब्‍यूरोचीफ का किया बहिष्‍कार

जींद : समाचार पत्र पंजाब केसरी में "परशुराम ने की थी पहली आनर किलिंग" की हेडिंग से प्रकाशित हुआ समाचार जींद ब्यूरो चीफ जसमेर मलिक के लिए गले की फांस बन गया है। इस समाचार को लेकर यहाँ के ब्राह्मण समाज में गहरा आक्रोश है। ब्राह्मण समाज इस खबर से बुरी तरह नाराज है जिसके चलते यह मामला ब्राह्मणों के मध्य गहरा तूल पकड़ता जा रहा है तथा एक बड़े विवाद की शक्‍ल लेता जा रहा है।

द ट्रिब्‍यून के स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट रहे डीएन चतुर्वेदी का निधन

वरिष्‍ठ पत्रकार डीएन चतुर्वेदी का फरीदाबाद में हार्ट अटैक से निधन हो गया. वे 70 साल के थे. डीएन चतुर्वेदी द ट्रिब्‍यून के साथ 34 सालों तक जुड़े रहे. वे फरीदाबाद में अखबार के स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट के पद से रिटायर हुए थे. डीएन चतुर्वेदी जम्‍मू में द ट्रिब्‍यून के पहले स्‍टाफ करेस्‍पांडेंट थे. उसके बाद उनका तबादला 1980 में जालंधर के लिए हो गया. उसके बाद वे फरीदाबाद भेज दिए गए तब से यही रह रहे थे. यहीं पर उन्‍होंने अपने परिवार को सेटल कर लिया था. इन्‍होंने कभी भी पत्रकारिता के मूल्‍यों से समझौता नहीं किया.

आपने तो हमारे अर्थशास्त्र की ऐसी की तैसी कर दी सरदारजी!

हमारे देश का बजट आने वाला है। कहने को भले ही सरदार मनमोहन सिंह पीएम हैं और पी चिदंबरम हमारे वित्त मंत्री। लेकिन सरकार बहुत सारे दलों के बावजूद कांग्रेस की है और श्रीमती सोनिया गांधी उसकी वास्तविक मुखिया है। वह जितना कहती है उतना ही होता है। न उससे कम, न ज्यादा। किसी की औकात नहीं है कि सोनिया गांधी जैसा कहें, वैसा न करे। उनकी बात मानना मजबूरी जैसा है। इसीलिए लोग इंतजार कर रहे हैं कि इस बार के बजट में देश के लिए तो होगा ही, महिलाओं के लिए भी बहुत कुछ होगा।

बरखा दत्त की यह तस्वीर एफबी पर खूब की जा रही शेयर

पवन अवस्थी नामक एक फेसबुक यूजर ने बरखा दत्त की नीचे दी गई फोटो अपने वाल पर प्रकाशित की है. फोटो के साथ कैप्शन के रूप में यह लिखा है- ''बरखा मैडम साथ में कांग्रेस के नेता और मंत्री सचिन पायलट पार्टी मूड़ में ..! अब समझिए आपको टीवी पर सही और असली खबरे क्यों नहीं मिलती …!!!'' इस तस्वीर को करीब तीन सौ लोगों ने शेयर किया है. इसे सैकडों लोगों ने लाइक किया है और सैकड़ों कमेंट आ रहे हैं.

अंजुम आरा से पहले कई मुस्लिम महिलाएं आईपीएस हो चुकी हैं

यूपी के सहारनपुर के गंगोह में पली-बढ़ी और इंटर तक की तालीम यहीं से हासिल करने वाली अंजुम आरा ने आईपीएस बनने का गौरव हासिल किया है. उन्हें दूसरी मुस्लिम महिला आईपीएस बताया जा रहा है. देश के कुछ बड़े अखबारों ने यह कहते हुए खबरें प्रकाशित की हैं कि अंजुम आरा दूसरी मुस्लिम महिला आईपीएस हैं. पर यह तथ्य गलत है. उनसे पहले कई मुस्लिम महिलाएं आईपीएस हो चुकी हैं.

घर बैठे उठाइए संगम स्नान का फल

इलाहाबाद। तीर्थराज प्रयाग के महाकुंभ में जो लोग किसी वजह से संगम स्नान का पुण्य नहीं उठा सके हैं, उनके लिए पछताने की जरूरत नहीं। अब पछतावा छोड़िए। खुशखबरी यह है कि महाशिवरात्रि के पर्व पर जहां भी हैं, वहीं से तीर्थराज प्रयाग और त्रिवेणी का मन में ध्यान कर स्नान करें। इससे महाकुंभ स्नान के बराबर पुण्य फल मिलेगा। शास्त्रों में भी इसका जिक्र स्पष्‍ट तौर पर मिलता है।

मंत्री समर्थकों का पत्रकार के घर पर कब्‍जा का प्रयास, ज्ञापन सौंपा

फर्रुखाबाद। प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री नरेन्द्र सिंह यादव के खास समर्थक शिवकुमार यादव आदि की दबंगई से पत्रकार तथा उसका परिवार भयभीत है। सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आदि अधिकारियों को घटना से अवगत कराया गया है। उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अरुण कटियार महामंत्री वेदपाल सिंह, संरक्षक प्रदीप गोस्वामी, प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष आनंद भान शाक्य, महामंत्री अलोक सिंह, आशू पाल, नितिन मिश्रा, ऋषि सेंगर, मोहनलाल गौड़, शफीउलहसन आदि पत्रकारों ने अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह से भेंट कर उन्हें ज्ञापन सौंपा।

बदायूं में भी सहारा के सामने मुश्किल, 8 मार्च को कोर्ट में मामले की सुनवाई

बदायूं में  धनवीर सक्सेना बनाम सहारा इंडिया वाद को लेकर बिसौली के न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय में सोमवार को बहुत सरगर्मी रही। सहारा लीगल सेल के अधिकारियों की नगर में उपस्थिति चर्चा का विषय रही। उल्‍लेखनीय है कि नगर के वरिष्ठ अधिवक्ता धनवीर सक्सेना ने 1978 में सहारा इंडिया की गोल्डन की स्कीम में कुछ धनराशि जमा की थी। सहारा इंडिया द्वारा इस स्कीम को बंद करने पर श्री सक्सेना ने 1979 में न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में वाद दायर कर दिया।

सहारा समूह के निदेशक वंदना भार्गव समेत पांच के विरुद्ध गैर जमानती वारंट

लखनऊ : रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज की ओर से सहारा इंडिया रियल इस्टेट के विरुद्ध दायर लगभग आधा दर्जन मामलों में विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सहारा इंडिया की निदेशक वंदना भार्गव समेत पांच लोगों के विरुद्ध एक मार्च के लिए गैर जमानती वारंट जारी किया है। अदालत के समक्ष सभी सात परिवाद रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज की ओर से सहायक रजिस्ट्रार ने अधिवक्ता विनय कृष्ण पांडेय की तरफ से दायर किए गए हैं। श्री पांडेय ने कंपनीज एक्ट की धारा 56, 56, (3), 60बी, 62, 63, 67, 68 एवं 73 के अंतर्गत इस मामले को कोर्ट लेकर गए हैं। 

कोर्ट ने जी न्‍यूज के मालिक एवं संपादकों की अर्जी खारिज की

नई दिल्ली : कोल ब्लॉक आवंटन मामले में सांसद नवीन जिंदल से संबंधित खबर प्रसारित न करने की एवज में 100 करोड़ रुपये मांगने के आरोप में फंसे जी न्यूज मालिक सुभाष चंद्रा एवं संपादकों सुधीर चौधरी एवं समीर आहलूवालिया की एक अर्जी को पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को खारिज कर दी। जी न्‍यूज के दोनों संपादकों ने कोर्ट में याचिका दायर करके मांग की थी कि उनके खिलाफ की जाने वाली जांच की निगरानी अदालत द्वारा की जाए।

फर्जी मुठभेड़ के आरोपी आईपीएस को जांच की जगह ‘सौगात’

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिला बरेली के मुकुल गुप्ता फर्जी मुठभेड़ मामले में सीबीआई आईपीएस जे रविंद्र गौड़ समेत 11 पुलिसकर्मियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने जा रही है। लखनऊ के मौजूदा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौड़ मुठभेड़ के वक्त बरेली में एएसपी के पद पर  तैनात थे। सीबीआई ने आईपीएस के खिलाफ राज्य सरकार से अभियोजन की स्वीकृति मांगी थी। दो माह से जवाब नहीं मिलने पर सीबीआई तय अवधि के बाद अदालत में चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में है। हालांकि मामले को तूल पकड़ता देख सरकार ने अभियोजन स्वीकृति पर विचार करना शुरू कर दिया हैं और जल्द की उसकी तरफ से हरी झंडी मिल जायेगी।

डिस्‍कवरी चैनल के शो में एंकरिंग करेंगी सोहा अली

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सोहा अली खान एक टीवी चैनल पर होस्ट बनने जा रही हैं। डिस्कवरी चैनल के एक शो 'स्पेल बी-इंडिया स्पेल्स' को होस्ट करेंगी। सोहा इस बारे में कहती हैं कि अभिनय में मजा आना चाहिए, काम मनपसंद और मजेदार होना चाहिए, इसके लिए माध्यम बहुत ज्यादा मायने नहीं रखता।

आतंकी साजिश के आरोप में अरेस्‍ट पत्रकार को एनआईए ने छोड़ा

बैंगलोर : राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए की एक विशेष अदालत ने बड़ी हस्तियों के कत्ल और आतंकवादी साज़िश रचने के आरोप में गिरफ्तार एमआर सिद्दीकी को छह महीने बाद रिहा कर दिया है. एजेंसी ने कहा कि उनके पास एमआर सिद्दीकी के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं. ग़ौरतलब है कि पिछले साल सितंबर में एमआर सिद्दीकी के साथ 12 अन्य लोगों को बड़ी हस्तियों को मारने की साजिश रचने और आतंकवादी संगठन से साठगांठ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

फ्रीलांस फोटोग्राफर का कैमरा छिनवा लिया दीपक चौरसिया ने!

अरविंद केजरीवाल से भिड़ चुके तथा जस्टिस काटजू से गेट आउट सुन चुके इंडिया न्‍यूज के एडिटर इन चीफ दीपक चौ‍रसिया एक बार फिर चर्चा में हैं. दीपक चौरसिया पर फ्रीलांसिंग फोटोग्राफी करने वाले राकेश बंसल ने अपनी टीम के साथ मिलकर कैमरा छीनने का आरोप लगाया है. उन्‍होंने इसकी शिकायत भी पुलिस से की है. पुलिस ने अभी मामला दर्ज नहीं किया है. शिकायत की जांच चल रही है. 

आरबीआई के दिशा निर्देश और नए निजी बैंकों की प्रासंगिकता

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के द्वारा नये निजी बैंक खोलने से संबंधित अंतिम दिशा-निर्देश जारी करने के साथ ही नये निजी बैंकों को खोलने का रास्ता साफ हो गया है। अब कॉरपोरेट्स, सरकारी क्षेत्र की ईकाइयां और ईकाइओं के समूह एवं गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (एनबीएफसी) पूर्ण स्वामित्व वाली गैर-परिचालित वित्तीय होल्डिंग कंपनियों (एनओएफएचसी) के माध्यम से बैंक खोलने के लिए लाइसेंस प्राप्त कर सकेंगे। नये बैंकों के प्रर्वतकों को एनओएफएचसी के पास 40 प्रतिशत इक्विटी पूँजी रखनी होगी, जिसे 10 साल के अंदर 20 प्रतिषत और 20 साल के अंदर घटाकर 15 प्रतिशत करना होगा। साथ ही, इस मामले में एनओएफएचसी को भारतीय रिजर्व बैंक के पास पंजीकृत भी करवाना होगा। इसके संचालन के लिए अलग से निदेशकों को नियुक्त करने का प्रावधान रखा गया है।

मकसद हंगामा करने का नहीं था, पर वह तो हो गया बंसल साहब!

रेल बजट पेश हो गया। अपने जीवन का पहला और इस सरकार का अंतिम रेल बजट पेश करते समय रेल मंत्री पवन बंसल ने लोकसभा में कहा तो था कि हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं,… पर सरकार को बाहर से समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी तथा विपक्षी दलों ने भारी हंगामा किया। हंगामे के कारण रेल मंत्री अपना बजट भाषण भी पूरा नहीं पढ़ पाए। अब चर्चा होगी। बहसबाजी भी होगी। और पास भी हो जाएगा। लेकिन सवाल ये है कि क्या रेलवे की हालत सुधरेगी।

स्‍वामी अग्निवेश पर हमला मामला : सीबीआई ने दर्ज किया मीडियाकर्मियों के बयान

जगदलपुर। सुकमा जिले के ताड़मेटला व दो अन्य गांवों में हुई आगजनी तथा दोरनापाल में स्वामी अग्निवेश के कापिले पर हुए हमले की जांच कर रही सीबीआई ने कुछ मीडियाकर्मियों का बयान दर्ज किया है। रविवार व सोमवार को पुराना सर्किट हाउस में पत्रकारों के बयान दर्ज किए गए।

सुल्‍तानपुर में पुलिस ने हिंदुस्‍तान के फोटोग्राफर को पीटा

उत्तर प्रदेश में आम लोग तथा मीडियाकर्मियों पर पुलिस का कहर जारी है. खबर यूपी के सुल्तानपुर से है. कुछ लोग एक युवक की हत्‍या को लेकर एसपी कार्यालय के पास प्रदर्शन कर रहे थे. पर पुलिस इनकी बात सुनने की बजाय इन पर लाठी चार्ज कर दिया. इसी घटना को तमाम अखबारों के प्रेस फोटोग्राफर कवर करने लगे. इससे नाराज पुलिस वालों ने पत्रकारों को गालियां देते हुए उन पर भी लाठी भांज दिया.

बदमाशों ने किया पत्रकार राजेश पर हमला, मामला दर्ज

राजगढ़। मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले की पचोर थाना पुलिस ने पत्रकार राजेश पालीवाल के उपर हमला करने के आरोप में तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मंगलवार को आपराधिक मामला दर्ज किया है।  पुलिस के अनुसार जिले के पचोर कस्बा में 25 फरवरी की रात आगरा-मुंबई राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर पत्रकार राजेश पालीवाल के साथ तीन अज्ञात बदमाशों ने उनकी मोटर साइकिल रोककर हमला किया। इसके बाद में दो पहिया वाहन पर सवार होकर तीनों बदमाश भाग गए।

पत्रकारिता कोश का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में

मुंबई। भारत की प्रथम मीडिया डायरेक्टरी "पत्रकारिता कोश" का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया है। हाल ही में लिम्का बुक की ओर से कोश के प्रकाशक भारत पब्लिकेशन को इस आशय का एक प्रमाणपत्र भी प्राप्त हुआ है। आफताब आलम द्वारा संपादित इस कोश का प्रकाशन पिछले 13 वर्षों से नियमित रूप से हो रहा है। वर्ष 2001 में पूर्व केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के हाथों इनसार न्यूज मीडिया के राष्ट्रीय सम्मेलन में इसके पहले अंक का विमोचन हुआ था तब से यह पत्रिका हर वर्ष अद्यतन जानकारी व सूचनाओं के साथ प्रकाशित हो रही है। लगभग 900 पृष्ठों वाले इस कोश के अब तक 12 अंक प्रकाशित हो चुके हैं और 13वें अंक का प्रकाशन शीघ्र ही होने वाला है।

भास्‍कर, उदयपुर के सलाहकार धर्मेश जैन ने दिया इस्‍तीफा, ओम गौड़ किया अस्‍वीकार

दैनिक भास्‍कर, उदयपुर में संपादक सुधीर मिश्रा एवं एडवाइजर धर्मेश जैन के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है. संपादक की कार्यप्रणाली से नाराज होकर धर्मेश जैन ने सोमवार को प्रबंधन को अपना इस्‍तीफा दे दिया था, परन्‍तु वरिष्‍ठ लोगों के आग्रह पर उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा वापस ले लिया है. हालांकि संपादक स्‍तर से उनके इस्‍तीफे को स्‍वीकार किए जाने की पूरी तैयारी हो गई थी, परन्‍तु स्‍टेट हेड ओम गौड़ के हस्‍तक्षेप के बाद मामला सलट गया.

बंपर भर्ती : प्रसार भारती ने 1630 पदों के लिए मांगे आवेदन

प्रसार भारती टेक्निकल पदों के लिए बंपर वेकेंसी निकाली है. पूरे देश में 1630 पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं. जिन पदों के लिए भर्ती निकाली गई है उसमें इंजीनियरिंग असिस्‍टेंट और टेक्निशियन पद शामिल है. इं‍जीनियरिंग असिस्‍टेंट के लिए 1290 तथा टेक्निशियंस के लिए 340 पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं.

चीन में बीबीसी की ‘वर्ल्‍ड सर्विस’ की गई बाधित

लंदन: बीबीसी ने सोमवार को कहा कि अंग्रेजी में प्रसारित होने वाली इसकी ‘वर्ल्ड सर्विस’ को चीन में वहां के अधिकारियों ने जानबूझकर बाधित कर दिया है। एक बयान जारी कर बीबीसी ने कहा, ‘‘बीबीसी ऐसी कार्रवाई की कड़ी निंदा करता है जो समाचार एवं सूचना तक दर्शकों की आसान पहुंच को बाधित करती है।’’

संदीप दुबे एवं संजय सिंह अमर उजाला पहुंचे, बबिता आनंद का नेशनल दुनिया से इस्‍तीफा

अमर उजाला, कानपुर से खबर है कि दो लोगों ने अपनी नई पारी शुरू की है. दैनिक भास्‍कर, छत्‍तीसगढ़ से इस्‍तीफा देकर संदीप दु‍बे ने कानपुर में अमर उजाला ज्‍वाइन किया है. उन्‍हें यहां पर सीनियर सब एडिटर बनाया गया है. संदीप कई संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. उनके अलावा संजय सिंह भी राष्‍ट्रीय सहारा, कानपुर से इस्‍तीफा देकर अमर उजाला ज्‍वाइन किया है. उन्‍हें जूनियर सब एडिटर बनाया गया है. दोनों लोग डेस्‍क पर अपनी जिम्‍मेदारी निभाएंगे.

यूपी के कई शहरों में अपना विस्‍तार करेगा काम्‍पैक्‍ट

अमर उजाला समूह का बच्‍चा अखबार काम्‍पैक्‍ट जल्‍द ही यूपी के कई और शहरों में अपना विस्‍तार करने जा रहा है. यूपी में उन शहरों में सर्वे का काम करा लिया गया है, जहां से अमर उजाला का प्रकाशन तो होता है परन्‍तु काम्‍पैक्‍ट अभी तक यहां पर लांच नहीं हो सकता है. फिलहाल इस टैबलाइड अखबार का प्रकाशन दस एडिशन के साथ किया जा रहा है. इन जगहों पर इस बच्‍चा अखबार को मिली सफलता ने प्रबंधन को इसका विस्‍तार करने पर मजबूर किया है.

मई में दिल्‍ली से लांच होगा जी समूह का अंग्रेजी अखबार डीएनए

मुंबई बेस्‍ड ज़ी न्यूज समूह का अंग्रेजी अखबार डीएनए अब अपना विस्‍तार करने जा रहा है. अखबार अब अपने चौथे एडिशन के साथ दिल्‍ली में कदम रखने की तैयारी कर रहा है. संभावना है कि इस साल मई तक इस अखबार की लांचिंग दिल्‍ली में कर दी जाएगी. अब तक इस समूह में दैनिक भास्‍कर एवं जी न्‍यूज की आधी-आधी हिस्‍सेदारी थी, परन्‍तु अब जी समूह ने इस अखबार को भास्‍कर से पूरी तरह खरीद लिया है.

याहू इंडिया के एमडी अरुण टडांकी का इस्तीफा, राष्ट्रीय सहारा में रमेश मिश्रा का इलाहाबाद तबादला

याहू इंडिया के मैनेजिंग डायेरक्टर अरुण टडांकी ने संस्थान से इस्तीफा दे दिया है. वो अभी जून तक संस्थान में बने रहेंगे, जब तक याहू दूसरे एमडी को संस्थान के साथ ना जोड़ ले. अरुण वर्ष 2009 में याहू के साथ बतौर एमडी इंडिया जुड़े थे. उसके बाद उन्हें प्रमोट करके साउथइस्ट एशिया का भी वर्ष 2011 में एमडी बना दिया गया. 21 वर्ष का अनुभव रखने वाले अरुण इससे पहले मोनेस्टर.कॉम के साथ बतौर एशिया पेसिफिक और वेस्ट एशिया के प्रेसिडेंट जुड़े हुए थे.

‘अग्निवेश पहले जासूस के रोल में रहे, अब आंदोलन तोड़क की भूमिका में हैं’

Yashwant Singh : एक चैनल के डिबेट में… मुझे अग्निवेश को कहना पड़ा कि जासूसी करने की जगह अगर आप आंदोलन को मजबूत करते तो शायद देश ज्यादा मजबूत होता… लेकिन आपने तब भी आंदोलन तोड़ा और आज भी घूम घूम कर तोड़ने को राष्ट्रीय कर्तव्य साबित करने में जुटे हैं…

टुच्ची पत्रकारिता से कब तौबा करेंगे भास्कर डाट काम वाले?

Mohammad Anas : पहले वो स्नान करती महिलाओं की तस्वीर उतार कर 'संगम में हो रही मस्ती' जैसी हेडलाइन चिपकातें हैं और जब उन्हें उनकी भूल और गलती जो उन्होंने पूरे होशोहवास में की होती है, उससे वाकिफ़ कराया जाता है तो वो गलती नहीं मानते, और जब प्रशासन उनके किये की उन्हें कड़ी सज़ा देने की बात करता है तब वो महिलाओं की तस्वीर तो हटा लेते हैं पर वो लाइन नहीं हटाते, जिसमें धर्म और अध्यात्म के संगम की गलत छवि बनायी जा रही होती है, और उसकी जगह साधु-महात्मा की तस्वीरें डाल दी जाती हैं… क्या यह मीडिया में कार्यरत दबंग, लम्मट और रसूखदार संपादको की हठधर्मिता की पराकाष्ठा नहीं है? क्या यह सरोकारी पत्रकारिता के साथ अन्याय नहीं है? क्या यह धर्म की सहिषुणता के साथ खेलना नहीं हुआ?

सहारा समूह प्रकरण में बार अध्यक्ष के बयान पर खफा हो गए प्रधान न्यायाधीश

सहारा समूह के मामले की सोमवार को सुनवाई शुरू होते ही उच्चतम न्यायालय बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एम कृष्णामूर्ति ने खड़े होकर प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली खंडपीठ द्वारा इसकी सुनवाई करने पर आपत्ति की. उनका कहना था कि इस पीठ को मामले की सुनवाई नहीं करनी चाहिए क्योंकि निवेशकों को धन लौटाने का आदेश दूसरी खंडपीठ ने दिया था. कृष्णामणि ने कहा, 'बार के नेता के रूप में मुझे यही कहना है कि इस अदालत की परंपरा का निर्वहन करते हुये इस खंडपीठ को इस मामले की सुनवाई नहीं करनी चाहिए और आदेश में सुधार के लिये इसे उसी पीठ के पास भेज देना चाहिए. इस मामले की सुनवाई करने की बजाये उचित यही होगा कि दूसरी खंडपीठ इसकी सुनवाई करे. कई प्रकार की अफवाहें सुनकर मुझे तकलीफ हो रही है.'

Pak TV anchors turn moral police, spark outrage

Late last month, a dentist-turned-anchorperson of Pakistani news TV channel Express News gatecrashed a massage parlour in Lahore with her cameraman and two policemen and “uncovered” an alleged brothel. She is believed to have ransacked the parlour, ordered the police around, threatened arrests, and the policemen seemed to have obeyed dutifully. Express News telecast the incident on February 1.

पिक्‍चर परफेक्‍ट दिल्‍ली के विजेता बने फोटो जर्नलिस्‍ट मानवेंद्र वशिष्‍ठ

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली पर आधारित पहली फोटो प्रतियोगिता पिक्चर परफेक्ट दिल्ली-2012 के विजेताओं को सोमवार को पुरस्कार वितरित किए गए। एक लाख रुपये का पहला पुरस्कार मानवेंद्र वशिष्ठ, तीन द्वितीय पुरस्कार सुभाष पाल, गौरव छाबड़ा व ज्योति कपूर, तीसरा पुरस्कार आशीष रेही, अमरजीत कुमार सिंह, मनीष, अश्विनी कुमार शर्मा और महेश सिंह को मिले। पुरस्‍कार जीतने वाले सभी लोग अखबार और चैनलों से जुड़े हुए हैं। सेंट्रल पार्क में प्रतियोगिता की श्रेष्ठ तस्वीरों की प्रदर्शनी भी लगाई गई।

समीर, लोकेश, हरेराम, जितेंद्र एवं पूजा पहुंचे ‘खबरें अभी तक’

ए1 तहलका' न्‍यूज चैनल से खबर है कि समीर गोयल ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे असाइनमेंट पर शिफ्ट इंचार्ज के पद पर कार्यरत थे. समीर ने अपनी नई पारी 'खबरें अभी तक' के साथ शुरू कर रहे हैं. उन्‍हें यहां भी असाइनमेंट पर लाया गया है. वे एक मार्च से अपनी जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे. समीर इसके पहले भी खबरें अभी तक के साथ ही काम कर रहे थे. ये उनकी दूसरी पारी है. समीर ने अपनी करियर की शुरुआत 2007 में टोटल टीवी से की थी. यहां से इस्‍तीफा देने के बाद खबरें अभी तक गए फिर वहां से इस्‍तीफा देकर कुछ दिन न्‍यूज एक्सप्रेस से भी जुड़े हुए थे. यहां से इस्‍तीफा देकर ए1 तहलका चले गए थे.

प्रेस छायाकार ने दुल्‍हन को गोली मारी, अरेस्‍ट

अमरोहा। उत्तर प्रदेश में अमरोहा जिले के हसनपुर क्षेत्र में रविवार रात एक हिंदी समाचार पत्र में छायाकार युवक ने शादी के लिए तैयार होकर ब्यूटी पार्लर आई दुल्हन को गोली मारकर घायल कर दिया। आरोपी छायाकार को तमंचे के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। जानकारी के अनुसार मनोता मनोता निवासी पुष्पा नामक युवती की रविवार रात शादी होनी थी। जिसके लिए वो तैयार होने ब्‍यूटी पार्लर गई थी।

सोशल मीडिया पर बजट को लाइव कवरेज देगी सरकार

नई दिल्ली : सरकार ने रेल बजट और आम बजट को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया पर लाइव कवरेज देने की योजना बनाई है। इसके तहत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब सहित सोशल मीडिया के दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर इन दोनों बजटों के लाइव अपडेट की योजना बनाई है।

स्याह होती संवेदनाओं में रंग भरती दयानंद पांडेय की कहानियाँ

झूठे रंग रोगन में चमकते चेहरे और मनुष्यता को लीलते हुए बाजार पर पैनी निगाह रखे हुए कथाकार दयानन्द पाण्डेय वस्तुतः स्याह होती संवेदनाओं में रंग भरने वाले अनोखे कथाकार हैं। अनोखापन इसलिए कि एक तरफ तो वे आम आदमी की पक्षधरता ले बैठे हैं। तो दूसरी तरफ ज्वलंत समस्याओं की अग्नि में सीधे हाथ डालते हैं। इस कार्य से उपजे दुख विडम्बना और संत्रास से वे खुद भी पीड़ित होते हैं। इस प्रकार कथाकार दयानन्द पाण्डेय मानवीय पीड़ा को समूची संवेदना के साथ उभारते हैं। उनकी कहानियों में कोई झोल नहीं होता वे सहजबोध के असाधारण लेखक हैं।

बिना सवाल का साक्षात्कार

तमाम कोशिशों और कई दिन के इंतजार के बाद श्रीमती उज्ज्वला शर्मा से इंटरव्यू का दिन, समय और जगह तय हो पाये थे। यह बात रही होगी सन् 2012 के मध्य किसी महीने की। जगह थी दक्षिणी दिल्ली में उज्जवला शर्मा का घर। समय दोपहर बाद यही कोई 3 बजे का रहा होगा। मुझे बात करनी थी डॉ. उज्ज्वला शर्मा से। बातचीत का मुद्दा था उज्ज्वला शर्मा और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एनडी तिवारी के बीच रहे निजी-संबंधों पर।

अतुल माहेश्‍वरी ने कहा- जाकर कानपुर में संपादकीय प्रभार संभालिए

घर से छोड़कर बार-बार बाहर जाने का एक लाभ मिला कि मुझे तमाम चीजों की अनायास जानकारी हो गई जिसके लिए लोगों को सालों किताबों में सिर खपाना पड़ता है। इमरजेंसी खत्म होने के बाद कलकत्ता से आनंदबाजार पत्रिका समूह ने हिंदी में अपना पहला प्रयोग किया साप्ताहिक रविवार निकाल कर। निकलते ही रविवार ने धूम मचा दी। हम लोग पूरा हफ्ता इंतजार करते कि रविवार कब आएगा। सुरेंद्र प्रताप सिंह और उदयन शर्मा स्टार बन चुके थे।

सहारा की आखिरी उम्‍मीद भी खत्‍म, सुप्रीम कोर्ट ने नहीं बढ़ाया समय

नई दिल्ली : अपने निवेशकों को 24 हजार करोड़ रुपए लौटाने के लिए कुछ और मिलने की सहारा समूह की अंतिम उम्मीद उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को खत्म कर दी। प्रधान न्यायाधीश अलतमस कबीर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सहारा समूह को और समय देने से इन्कार करते हुए फरवरी के प्रथम सप्ताह तक निवेशकों का धन लौटाने की न्यायिक आदेश का पालन नहीं करने के लिए उसे आड़े हाथों लिया।

नवीन सिन्‍हा बने लोकमत समाचार, दिल्‍ली में स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट

दैनिक लोकमत से खबर है कि नेशनल एडिटर के रूप में हरीश गुप्‍ता के ज्‍वाइन करने के बाद यहां ब्‍यूरो में एक और ज्‍वाइनिंग हुई है. अब तक ब्‍यूरोचीफ की जिम्‍मेदारी निभा रहे शिलेश शर्मा को पुणे भेजने के बाद ब्‍यूरो में नवीन सिन्‍हा को लाया गया है. माना जा रहा है कि नवीन को …

जमानत रद्द होने पर हाईकोर्ट से फरार हो गया ‘हिमाचल आजकल’ का मालिक

: राजेश्वर सब्रवाल की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की पड़ोसी राज्यों में छापेमारी शुरू : करीब 22 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के आरोपी ‘हिमाचल आजकल’ न्यूज चैनल के मालिक राजेश्वर सब्रवाल की प्रदेश हाईकोर्ट ने सोमवार को अग्रिम जमानत खारिज कर दी। जमानत खारिज होते ही राजेश्वर सब्रवाल अदालत परिसर से शातिर अपराधियों को तर्ज पर फरार हो गया। नतीजन सोलन पुलिस हाथ मलती रह गई। हाईकोर्ट ने राजेश्वर सब्रवाल को 25 फरवरी तक अग्रिम जमानत दी थी, लेकिन पुलिस को उसने छानबीन में सहयोग नहीं दिया। यही कारण है कि हफ्ता भर पहले सोलन पुलिस ने हाईकोर्ट में सब्रवाल की जमानत खारिज करने के लिए अर्जी दाखिल की थी।

आरपार कार्यक्रम के साथ ऑनएयर हुआ ‘विजन वर्ल्‍ड’ चैनल

समाचार चैनलों की भीड़ में एक और नाम शामिल हो गया है. पत्रकार सरफराज सैफी के नेतृत्‍व में 'विजन वर्ल्‍ड' चैनल को ऑन एयर कर दिया गया है. चैनल की लांचिंग एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर की जिम्‍मेदारी निभा रहे सरफराज सैफी की देखरेख में किया गया है.

प्रशिक्षु आईपीएस के इशारे पर रायपुर में प्रेस फोटोग्राफरों से मारपीट

रायपुर। पुलिस द्वार एक हुक्का बार में छापे की कार्रवाई का कवरेज करने पहुंचे प्रेस फोटोग्राफरों के साथ प्रशिक्षु आईपीएस के इशारे पर क्राइम ब्रांच के एक सिपाही ने गाली-ग्‍लौज तथा मारपीट की। अधिकारी प्रेस फोटोग्राफरों पर कैमरे से खिंची गई फोटो डिलिट करने का दबाव बना रहे थे। फोटोग्राफरों में रायपुर प्रेस क्लब के महासचिव भी शामिल थे। घटना से नाराज पत्रकारों ने इसकी लिखित शिकायत सिविल लाइन थाने में करने के साथ ही आईजी जीपी सिंह को भी जानकारी दी।

दुर्घटना में सहारा समय के पत्रकार मनोज भोइर घायल

मुंबई से खबर है कि सहारा समय के वरिष्‍ठ पत्रकार मनोज भोइर एक सड़क हादसे में घायल हो गए, जबकि उनका पुत्र बाल बाल बच गया. उनके बाएं पैर में फैक्‍चर हुआ है. बताया जा रहा है कि मनोज अपने पांच साल के पुत्र को स्‍वीमिंग कराकर घर वापस लौट रहे थे कि वडाला रोड …

इस स्टिंग के कारण आईपीएस नवनीत कुमार राणा पर गिरी गाज! (देखें वीडियो)

: भड़ास पर संपूर्ण स्टिंग : स्टिंग से हुआ खुलासा- सपा सरकार में राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त केसी पांडेय कराता है पशु तस्करी : केसी पांडेय ने अपने आदमी आशुतोष पांडेय के जरिए तत्कालीन एसपी गोंडा नवनीत कुमारा राणा के पास भिजवाई थी रिश्वत की रकम : नवनीत कुमार राणा ने खुफिया कैमरे से पूरी बातचीत कर ली रिकार्ड : दो राउंड की मीटिंग के दौरान पशु तस्कर आशुतोष पांडेय ने उगले कई राज : खुफिया कैमरे में कैद है उन पुलिस अफसरों के नाम जो पशु तस्करी के रैकेट में शामिल हैं : दो राउंड की बातचीत के सारे टेप भड़ास पर अपलोड कर दिया गया है : सबसे नीचे है वीडियो लिंक : उसके पहले जान लें पूरे प्रकरण का ओरछोर, जो इस प्रकार है

‘जागरण पंजाबी’ को हरियाणा तथा दिल्‍ली में लांच करने की तैयारी

जागरण प्रकाशन समूह अपने पंजाबी भाषा के अखबार 'जागरण पंजाबी' का विस्‍तार करने जा रहा है. अब यह अखबार पंजाब के बाहर के राज्‍यों में मौजूद पंजाबी भाषियों को लक्ष्‍य करके हरियाणा और दिल्‍ली में अखबार को लांच करने की योजना पर काम कर रहा है. फिलहाल इस अखबार का प्रकाशन लुधियाना और जालंधर यूनिट से किया जा रहा है. दोनों यूनिटों से 15 एडिशनों का प्रकाशन हो रहा है. फिलहाल प्रबंधन इसे हरिणाया में पहले लांच करने की तैयारी कर रहा है.

जनसंदेश टाइम्‍स में सैलरी लेट, कर्मचारी परेशान

: अपडेट : जनसंदेश टाइम्‍स की हालत फिर खराब है. खबर है कि कर्मचारियों को जनवरी माह का वेतन अब तक नहीं मिल पाया है. पिछले काफी समय से इस अखबार में कर्मचारियों की सैलरी लेट लतीफ आ रही है. जनवरी की सैलरी अब तक कर्मचारियों को नहीं मिली जबकि फरवरी महीना भी खतम होने जा रहा है. सैलरी की अनियमितता के चलते लोग इस अखबार के भविष्‍य को लेकर कयास लगा रहे हैं. इस अखबार के लखनऊ, गोरखपुर, कानपुर, बनारस तथा इलाहाबाद के कर्मचारियों को जनवरी का वेतन नहीं मिला है.

स्‍टाम्‍प पेपर पर एग्रीमेंट बनाकर दी पति के हत्‍या की सुपारी

देहरादून : आपने पहले सुना होगा कि पत्नी ने पति की हत्या करवाई, लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि पत्नी ने अपने पति की हत्या की सुपारी स्टैंप पेपर पर दी, कत्ल की सुपारी का एग्रीमेंट बना. जी हां, ये सच है.

हमारा असल राष्ट्रीय चरित्र!

: बम विस्फोट की लगातार घटनाएं, पसरती अराजकता, बेलगाम भ्रष्टाचार इन सब के मूल में हैं, हमारा गड़बड़ चरित्र. उसूलहीन जीवन. पैसा और भोग के प्रति गुलामी. 1857 या आजादी की लड़ाई के दौर, कभी-कभार हमारे जीवन में रोशनी लेकर आते हैं. पर हम बार-बार अंधकार का ही वरण करते हैं. राष्ट्रीय जीवन का कोई क्षेत्र बचा रहा गया है, जहां चरित्र का तेज हो, आदर्श की आभा हो, देश के लिए कुछ कर गुजरने की जिद हो? :

सीरिया में घायल फ्रांसीसी प्रेस फोटोग्राफर की मौत

फ्रांस के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि सीरिया में पिछले महीने गंभीर रूप से घायल हुए फ्रांसीसी प्रेस फोटोग्राफर ओलीवर वोसिन का निधन हो गया है. मंत्रालय की एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम उनकी मौत की पुष्टि करते हैं.’’ वोसिन के सिर और बाह में चोट लगी थी. वह सीरिया के इदलिब शहर में …

पीजे कुरियन के खिलाफ फेसबुक पर कमेंट करने वाले 111 पर केस

नई दिल्ली : सूर्यनेल्ली गैंगरेप केस में राज्यसभा के उपसभापति पीजे कुरियन के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद फेसबुक पर कुरियन का विरोध बढ़ता जा रहा है. कुरियन के खिलाफ फेसबुक पर आपत्तिजनक कमेंट करने के आरोप में केरल की साइबर पुलिस ने 111 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार की खबर पर कमेंट लिखने पर एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि कमेंट शेयर करने पर 110 लोगों पर केस दर्ज किया गया है.

अब पाकिस्‍तानी अखबार में लेख लिखकर मोदी को घेरा काटजू ने

नई दिल्ली। प्रेस काउंसिसल के चेयरमैन मार्कंडेय काटजू ने अब पाकिस्तान के अखबार में लिखे लेख में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने लेख में मोदी का नाम तो नहीं लिया, लेकिन उनकी तुलना हिटलर से कर दी। काटजू अपने इस लेख से एक बार फिर बीजेपी के निशाने पर हैं। काटूज के इस लेख से आगबबूला बीजेपी ने कहा कि वह अब पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं। बीजेपी ने इसे राष्ट्रविरोधी लेख करार दिया है।

एयरटेल, टाटा एवं एसटेल पर दर्ज हुआ धोखाधड़ी का केस

नई दिल्ली : सीबीआई ने दिल्ली की एक अदालत में भारती एयरटेल, टाटा कम्युनिकेशन और सिंगापुर टेलीकम्युनिकेशंस (एसटेल) के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। वर्ष 2004 से कथित तौर पर अवैध रूप से अंतरराष्ट्रीय लंबी दूरी (आईएलडी) की सेवा उपलब्ध कराते हुए सरकार को करीब 48 करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचाने के लिए इन कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन तीन दूरसंचार कंपनियों पर भारतीय दंड संहिता के तहत आपराधिक षडयंत्र रचने और धोखाधड़ी करने के अलावा भारतीय टेलीग्राफ कानून के तहत दूरसंचार विभाग के लाइसेंस नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया गया है।

सोनौली बार्डर पर एसएसबी की हिरासत में संदिग्‍ध कश्‍मीरी

महराजगंज : रविवार की सुबह लगभग छह बजे नेपाल के भैरहवा के रास्ते भारत आ रहे पाकिस्तानी महिला, उसके दो बच्चे एवं एक कश्मीरी युवक को सुरक्षा एजेंसियों ने पकड़ लिया। उनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक पूछताछ में युवक ने खुद को महिला का शौहर बताया है। पूछताछ में लगे अधिकारियों को अब तक जो बातें पता चली हैं उसके अनुसार पाकिस्तान एयर लाइंस से पाकिस्तानी महिला एलिजा (38) उसके बच्चे सुहेल (12) और नूर (8) एवं कश्मीरी नागरिक मुहम्मद रफी भट्ट (40) काठमांडू पहुंचे।

पत्रिका, ग्‍वालियर बना राजनीतिक का अखाड़ा, रिपोर्टरों में असंतोष

इन दिनों पत्रिका, ग्‍वालियर राजनीति का अखाड़ा बना हुआ है। ग्वालियर में अखबार और संस्थान के लिए काम को छोड़कर बाकी सभी काम हो रहे हैं। हालात देखकर यह कहना भी गलत नहीं होगा कि यदि जयपुर में बैठे वरिष्ठ अधिकारियों ने जल्द ध्यान न दिया तो ग्वालियर में पत्रिका कहीं नवभारत अखबार की राह पर न चला जाए। कार्यकारी रिपोर्टिंग प्रभारी प्रवीण मिश्रा का अहमदाबाद तबादला होने के बाद इंदौर से शैलेश दीक्षित को कार्यकारी चीफ रिपोर्टर बनाकर ग्वालियर पत्रिका भेजा गया है।

दैनिक जागरण के प्रिंट लाइन में बदलाव के बाद भी नहीं चेता उत्‍तराखंड सूचना विभाग

दैनिक जागरण, हल्‍द्वानी से जागरण का अवैध प्रकाशन लंबे समय से कर रहा था. वो देहरादून के रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर पर ही हल्‍द्वानी से अखबार का प्रकाशन कर रहा था. इस तरह वो हल्‍द्वानी को अलग संस्‍करण घोषित करते हुए इसके लिए अलग रेट पर विज्ञापन भी प्राप्‍त कर रहा था. यानी पूरी तरह गलत तरीके से सरकारी खजाने को चूना लगा रहा था. इस बात की जानकारी होते हुए भी राज्‍य का सूचना एवं जनसंपर्क विभाग इस मामले में अंधा और बहरा बना हुआ था.

बिना रजिस्‍ट्रेशन के हल्‍द्वानी से अखबार निकाल रहा था दैनिक जागरण

दैनिक जागरण, हल्‍द्वानी में अखबार का अवैध प्रकाशन कर रहा है. बिना रजिस्‍ट्रेशन के यह अखबार देहरादून के रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर पर अखबार को प्रकाशित कर रहा है, जो पीआरबी एक्‍ट के तहत अवैध तथा गैरकानूनी है. इस बात का खुलासा पत्रकार एवं एक्टिविस्‍ट अयोध्‍या प्रसाद भारती द्वारा आरएनआई से मांगे एक सूचना से हुआ है. आरएनआई ने जानकारी दी है कि जागरण का उत्‍तराखंड में केवल देहरादून से रजिस्‍ट्रेशन है, जबकि हल्‍द्वानी में केवल प्रिंटिंग यूनिट है.

बरेली में हिंदुस्‍तान ने आयोजित किया ट्रेड फेयर

हिंदुस्‍तान अपने ब्रांडिंग के लिए नए-नए तरीके अपना रहा है. बरेली से खबर है कि यहां पर अपना ब्रांड मजबूत करने के लिए हिंदुस्‍तान अखबार 'इवेंट पैराडाइज' नाम के आर्गेनाइज के साथ मिलकर एक ट्रेड फेयर का आयोजन किया है. 24 फरवरी से 4 जनवरी तक चलने वाले इस फेयर को बरेली में राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान पर लगाया गया है. इस ट्रेड फेयर में डेढ़ सौ से ज्‍यादा स्‍टाल लगाए गए हैं, जिसमें बुक से लेकर ऑटोमोबाइल तक के स्‍टाल लगाए गए हैं.

वाह रे सीएम का सुधार, दागियों को मिल गई प्रोन्‍नति, ईमानदार हाशिए पर

मार्च 2012 के विधानसभा चुनाव के पहले जब समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं की राय से इतर दागी सांसद डीपी यादव के मामले पर सख्त रुक अपनाते हुए ये कहा था कि सपा में बाहुबलियों की कोई जगह नहीं है, तो लगा था कि यदि सपा की सरकार आई तो राज्य में सुशासन स्थापित होगा। पर परिणाम इसके ठीक विपरीत निकल रहे है।

प्रेस परिषद की रिपोर्ट, काटजू और बिहार के एडिटर इन चीफ

बिहार में सत्तापक्ष द्वारा मीडिया को नियंत्रित किए जाने को लेकर भारतीय प्रेस परिषद की रिपोर्ट पर जांच समिति के अलावा बाकी सदस्यों की मुहर लगती उसके पहले ही वह मीडिया के हाथ लग गई। इस संबंध में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मानना है कि यह काम खुद परिषद के अध्यक्ष न्यायमूर्ति मार्कंडेय काटजू की मेल आईडी से किया गया। इसका नतीजा यह हुआ कि इस रिपोर्ट पर गंभीरता से बात होने के बजाय पूरा मामला समाचार चैनलों के अखाड़े में होने वाली रोजमर्रा की राजनीतिक बहसों में तब्दील हो गया। उसके बाद इस पूरे प्रकरण पर मीडिया के चरित्र को लेकर बात करने वाला कोई नहीं बचा।

सेना के पीआरओ कर्नल अजय चौधरी 20 करोड़ की ड्रग्स के साथ अरेस्‍ट

: पांच अन्‍य भी पुलिस के हत्‍थे चढ़े : इंफाल : मणिपुर के चंदेल जिले में पुलिस ने आज सेना के कर्नल स्तर के पीआरओ और पांच अन्य व्यक्तियों को कथित रूप से 20 करोड़ रुपए मूल्य का अवैध मादक पदार्थ ले जाते वक्त गिरफ्तार कर लिया जिसकी तस्करी म्यामां की जानी थी। राज्य पुलिस ने यहां बताया कि मादक पदार्थ चंदेल जिले के पालेल में तीन वाहनों में पकड़ा गया। पुलिस ने बताया कि सेना के पीआरओ कर्नल अजय चौधरी, उनके सहायक आर के बाबलू, इंडिगो के सहायक प्रबंधक बृजेंद्र सिंह, हाउपो हाओकिप, मिंथांग बोंगेल और मिलन हाओकिप को हिरासत में ले लिया गया।

मीडिया का एक हिस्‍सा सड़ा हुआ है : नवीन जिंदल

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल ने शनिवार को कहा कि जहां भारतीय मीडिया अत्यंत उज्‍जवल और शक्तिशाली है वहीं इसका कुछ हिस्सा ऐसा भी है जो 'सड़ा' हुआ है। जिंदल की कंपनी ने पिछले दिनों समाचार चैनल 'जी न्यूज' के खिलाफ कथित फिरौती का मामला दायर कराया था।

नरेंद्र मोहन को यह बात जंच गई और जागरण में यह परम्‍परा बंद हो गई

१९८० की जनवरी में जब मैंने पत्रकारिता शुरू की थी तब प्रिंटर पर खबरें आया करती थीं कि अमुक जिले के अमुक गांव में ऊँची जाति के लोगों ने नीची जाति के लोगों के साथ मारपीट की या उनके लिए गांव के रास्ते बाधित कर दिए। ऐसी खबरें देने वाले, लिखने वाले और डेस्क से सही करने वाले पत्रकार यह सोचकर खुश हो जाते कि हमने नीची जातियों की पीड़ा को हाई लाइट कर एक नेक काम किया।

हिंदुस्‍तान से शरीफ नियाजी, नेशनल दुनिया से हरिशचंद्र, मुकेश एवं दुष्‍यंत का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, बरेली से खबर है कि शरीफ नियाजी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे सर्कुलेशन डिपार्टमेंट में डिप्‍टी मैनेजर के पद पर कार्यरत थे. शरीफ ने अपनी नई पारी बरेली में ही दैनिक जागरण के साथ शुरू की है. उन्‍हें मैनेजर बनाया गया है. शरीफ इसके पहले अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे थे. वे हिंदुस्‍तान की लांचिंग के समय इस अखबार से जुड़े थे.

अपडेटेड… ‘राज एक्सप्रेस’ अखबार वाले ला रहे हैं ‘राज टीवी’, भर्ती के लिए निकाला विज्ञापन

: (कुछ लोगों की शिकायत है कि राज टीवी का नीचे दिया गया विज्ञापन जूम नहीं हो रहा. शिकायत का समाधान कर दिया गया है. अब आप नीचे के विज्ञापन की तस्वीर पर क्लिक करेंगे तो विज्ञापन अलग विंडो में खुलेगा और फिर जूम होगा क्लिक करने पर) : अरुण सहलोत जो मध्य प्रदेश के बिल्डर हैं और राज एक्सप्रेस नामक अखबार चलाते हैं, अब एक न्यूज चैनल शुरू करने जा रहे हैं. राज टीवी नामक इस न्यूज चैनल में नियुक्ति के लिए विज्ञापन का प्रकाशन राज एक्सप्रेस अखबार में किया गया है. विज्ञापन देखकर पता चल रहा है कि इस चैनल में सैकड़ों मीडियाकर्मियों को रोजगार मिलेगा.

करन कश्यप आया और बोला कि यशवंत सिंह से सेटिंग हो गई है

आदरणीय, श्री यशवंत  सिंह, भड़ास4मीडिया, महोदय, सादर  अवगत कराना है कि दिनाक 4.2.13 को मैंने करन कश्यप हिंदुस्तान अख़बार मेरठ द्वारा मुझसे 2 लाख रूपये ठगने की शिकायत आपसे की जिसका प्रकाशन दिनांक 14.2.13 को आपने किया था. इसके लिए आपको धन्यवाद. इस बात की जानकारी होते ही करन कश्यप एक लड़के के साथ मेरे घर आ धमके और कहा  क्या उखाड़ लिया. मेरी यशवंत सिंह से सेटिंग हो गयी है.

मेरे लिए यह राहत की बात है कि दिल्ली की उस लड़की की मौत हो गई – सूर्यानेल्ली की लड़की बोली

सूर्यानेल्ली में लगातार चालीस दिनों तक बयालीस वहशी धोखेबाज मर्दों ने बर्बरता की सारी हदें पार कर सूर्यानेल्ली की उस सोलह साल की बच्ची को जैसे चाहा रौंदा था और लगभग मर जाने के बाद उसके घर के आसपास फेंक दिया था। वह किसी तरह बच गई और आज तैंतीस साल की उम्र में भी वह अपने आसपास के अंधेरों का सामना करती हुई अपनी लड़ाई को अंजाम देने के लिए अपने बूते खड़ी है। अरुंधति राय ने नहीं भी कहा होता तो भी मैं ठीक वही कहता- हां, वह मेरी हीरोईन है, वह सबकी नायिका है।

मैनेजर के यहां शादी के मैनेजमेंट में जुटा हिन्दुस्थान समाचार का पूरा स्टाफ

नई दिल्ली। देश की बहुभाषी संवाद समिति हिन्दुस्थान समाचार के दिल्ली कार्यालय के मैनेजर अमित जैन की शादी इन दिनों मीडिया जगत में चर्चा का विषय बनी हुई है। शादी की खास बात यह है कि इसमें दस जनपथ से लेकर अशोका रोड तक के नेताओं को आमंत्रण पत्र देने के लिए सीनियर से लेकर जूनियर पत्रकार तक लगे हुए हैं। बताया जा रहा है कि शादी को खास बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के कानपुर के हिन्दुस्थान समाचार प्रभारी को बतौर इवेंट मैनेजर बनाकर दिल्ली बुलाया गया है। इस शादी की तैयारी पिछले एक महीने से चल रही है जिसमें दिल्ली कार्यालय का पूरा स्टाफ लगा हुआ है जिससे इन दिनों समाचार दफ्तर मैरेज ब्यूरो के रूप में नजर आ रहा है।

स्वामी अग्निवेश सिर्फ सनसनी के लिए ऐसे आरोप न लगाएं : अन्ना हजारे

Dilnawaz Pasha : अभी अन्ना हजारे से मिलकर आ रहा हूं…करीब 40 मिनट तक बात हुई..जब स्वामी अग्निवेश के आरोपों पर अन्ना की प्रतिक्रिया जाननी चाही तो अन्ना ने अपना सिर पकड़ लिया और बोलो- कोई इतनी बड़ी बातें सिर्फ हवा में कैसे कर सकता है…बिना बेहद ठोस सबूतों के सिर्फ सनसनी के लिए ऐसे आरोप नहीं लगाए जाने चाहिए।

Please India dont drink

Lalita Dabas Deswal : In India these days men and women find it more exciting and no fun without alcohol…. This PEE OF DEVIL makes me scared to Hell by God…. what if someone You love n drinks and drives.. or invited something unexpected and unwanted.. may be I am not among those who find it fun..may be because I am not born in a family where people drink And I am not married to a alcoholic man….Though my very best female friends drink.. and males around me as well.. I never objected or hated them And I can't be…. But I never liked it either When people love Boozing…. It is their life.. but a sad fact is drinking needs a manner …

बीटीवी से रवींद्र कैलासिया का इस्‍तीफा, नवदुनिया जाएंगे

दैनिक भास्‍कर के चैनल बीटीवी से खबर है कि रवींद्र कैलासिया ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे इस चैनल के संपादक थे. रवींद्र अपनी नई पारी दैनिक जागरण समूह के अखबार नवदुनिया के साथ करने जा रहे हैं. नईदुनिया का भोपाल में नवदुनिया के नाम से प्रकाशन होता है. रवींद्र को यहां पर न्‍यूज एडिटर बनाया जा रहा है. संभावना है कि वे 1 मार्च को अपनी जिम्‍मेदारी संभाल लेंगे.

सैक्सी सिंघवी की सियासत और कुकर्म के कलंक का दाग

बम फटे हैदराबाद में और दिल्ली में दुकान सजाने लग गए अभिषेक मनु सिंघवी। वैसे, सिंघवी खुद तो किस ‘काम’ के काबिल हैं, यह उनके दफ्तर की दीवारें और वहां के सीसीटीवी कैमरे के अलावा, एक बेबस महिला वकील के साथ मुंह काला करते हुए सिंघवी को देखनेवाला सारा देश अच्छी तरह जानता है। लेकिन फिर भी सिंघवी देश के गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे की काबिलियत पर सवाल उठा रहे है। हैदराबाद में बम फटने के बाद सिंघवी ने कहा कि जब देश के गृह मंत्री का प्रमोशन उनकी कार्यक्षमता के बजाए वफादारी के बूते पर हुआ है तो ऐसे में उनसे क्या अपेक्षा की जा सकती है।

इशरत जहां फर्जी मुठभेड़ में दो और पुलिस अधिकारी अरेस्‍ट

अहमदाबाद : केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुजरात में वर्ष 2004 में इशरत जहां एवं तीन अन्य की फर्जी मुठभेड़ करने वाले दो दलों में शरीक रहे दो पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। दोनों पहले से ही कथित सादिक जमाल फर्जी मुठभेड़ मामले में न्यायिक हिरासत में थे। इसके पहले एक आईपीएस अधिकारी गिरीश सिंघल को अरेस्‍ट किया जा चुका है। सूत्रों ने बताया कि पुलिस उपाधीक्षक के रूप में सेवानिवृत्त होने वाले जेजी परमार को शुक्रवार रात पकड़ा गया, जबकि मेहसाणा के पुलिस उपाधीक्षक तरुण बरोट को शनिवार दोपहर पकड़ा गया।

नेशनल दुनिया में झऊआ भर संपादकों के बीच से गायब था आरई और एनई का पद

आलोक मेहता का नाम ऐसे ही बड़े संपादकों में शुमार नहीं होता है, बल्कि उन्‍होंने इस तरह के काम कर डाले हैं अपने पत्रका‍रीय जीवन में जो बड़े-बड़े संस्‍थान और बड़े-बड़े लोग भी नहीं कर पाए हैं. ये आलोक मेहता ही हैं जो रातों रात इस तरह से अखबार बदल दिया कि नईदुनिया अगले दिन नेशनल दुनिया हो गया और पाठकों को पता नहीं चल पाया. इसके लिए कुछ प्रचार प्रसार भी नहीं करना पड़ा था. बस कहा गया कि नाम बदला है काम कुछ भी नहीं बदला.

सहारा की मुश्किल बढ़ी : धन वापसी के लिए निवेशक पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

सहारा समूह की मुश्किल कम होती नहीं दिख रही है. अभी तक सेबी और सुप्रीम कोर्ट से लगातार झटका खाते जा रहे समूह के खिलाफ अब इनवेस्‍टरों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. पिछले दिनों ही सेबी ने सहारा के सौ से ज्‍यादा खाते सीज करने के साथ कई लोगों की संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश दिया है. दिल्‍ली के रहने वाले रोशन लाल मौर्या और कुछ अन्‍य लोगों ने सुप्रीम कोर्ट में आवेदन देकर सहारा से पूरा धन एवं बकाया वापव दिलाने का निवेदन किया है.

सवाल सुब्रत रॉय के 73,000 करोड़ रुपये की सल्‍तनत का

हाल ही में एक घोषणा की वजह से दुनिया चौंक उठी. सहारा इंडिया फाइनेंशियल कॉर्पोरेशन लि. (एसआइ-एफसीएल) के जारी किए एक अखबारी विज्ञापन में कहा गया था कि कंपनी के पास जून, 2011 तक 73,000 करोड़ रु. की जमा इकट्ठी हो चुकी थीं. किसी गैरबैंकिंग संस्थान के लिए यह असामान्य रूप से बड़ी रकम है, जिससे पता चलता है कि कैसे सहारा सुप्रीमो सुब्रत रॉय बड़े अधिग्रहणों में पैसा लगाते आए हैं.

लोकमत समाचार के नेशनल एडिटर बने हरीश गुप्‍ता

: शिलेश शर्मा का तबादला : लोकमत समाचार में कुछ बदलाव हुए हैं. हालांकि इसकी सूचना थोड़ी देर से मिली है. वरिष्‍ठ पत्रकार हरीश गुप्‍ता ने लोकमत समाचार में नेशनल एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे दिल्‍ली की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. ब्‍यूरोचीफ के पद पर तैनात शिलेश शर्मा का तबादला प्रबंधन ने पुणे यूनिट के लिए कर दिया है. ब्‍यूरो की जिम्‍मेदारी वरिष्‍ठ पत्रकार जयशंकर गुप्‍त संभाल रहे हैं. उनका पद सीनियर ब्‍यूरोचीफ का है. 

हिंदू ग्रुप लांच करेगा तमिल दैनिक एवं अंग्रेजी टैबलाइड

: बीसीसएल भी तमिल अखबार लांच करने की तैयारी में : अंग्रेजी दैनिक 'द हिंदू' प्रकाशित करने वाली कंपनी कस्‍तूरी एंड संस अपने समूह के विस्‍तार की योजना बना रहा है. अंग्रेजी के अलावा यह कंपनी अब तमिल में भी दैनिक अखबार निकालने की तैयारी कर रही है. कंपनी इसके अलावा एक अंग्रेजी टैबलाइड को भी लांच करने वाली है. संभावना है कि इस साल जून तक वह तमिल अखबार की शुरुआत कर दे. कंपनी ने इसके लिए मार्केट सर्वे भी करा लिया है.

संविधान के विपरीत है वीआईपी और वीवीआईपी श्रेणी

विशिष्ट और अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा में लगे जवानों और उन पर किये जा रहे खर्च का मुद्दा उच्चतम न्यायलय तक पहुँच गया है। विशिष्ट और अति विशिष्ट लोगों को सुरक्षा देनी चाहिए या नहीं, इस पर बहस भी छिड़ गई है। कोई कह रहा है कि सुरक्षा देनी चाहिए, तो किसी का मत है कि नहीं देनी चाहिए। कुछ लोग सुरक्षा देने में अपनाए जाने वाले नियमों को और कड़ा करने के पक्ष में हैं, तो कुछ लोगों का मत है कि सुरक्षा पर होने वाला खर्च उसी व्यक्ति से वसूल किया जाना चाहिए, जिसकी सुरक्षा पर धन खर्च हो रहा है, जबकि सबसे पहला सवाल यही है कि सुरक्षा देनी ही क्यूं चाहिए?

राजस्व गांव के लिये बन टांगियों का धरना, सांसद चुनते हैं पर प्रधान नहीं

उत्तर प्रदेश में एक ऐसे भी समुदाय के लोग रहते हैं जो सांसद के लिये वोट देते हैं पर प्रधान के लिये मत देने का अधिकार नहीं है। यह हैं महराजगंज के सोहगी बरवॉ वन्य जीव प्रभाग के अंदर बसे बन टांगियां परिवार के लोग। महराजगंज जनपद में 42 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में फैले जंगल में लगभग 5 हजार बन टांगियां परिवार रहते हैं। यह लोग 1937 से जंगल में टांगियां पद्धति से जंगल लगाते आये हैं।

नेपाल के पूर्व युवराज गम्भीर, देश की जनता को नहीं है संवेदना

हार्ट अटैक के कारण पॉच दिन पूर्व बैंकाक के एक अस्पताल में भर्ती हुए नेपाल के पूर्व युवराज पारस शाह का अवस्था में अभी भी सुधार नहीं हुआ है। उनके शरीर का तापक्रम सामान्य से ज्यादा गर्म है। तथा ओपेन हर्ट सर्जरी करने की तैयारी चल रही है। पारस के उपचार कर रही डाक्टरों के पैनल ने आज यानि रविवार सुबज 10 बजे जानकारी दिये हैं,  कि अभी उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

नेशनल दुनिया से कुलदीप का इस्‍तीफा, तीन का तबादला

नेशनल दुनिया, गाजियाबाद से खबर है कि प्रबंधन ने यहां से कुछ लोगों का तबादला दिल्‍ली ऑफिस के लिए कर दिया है, जबकि एक पेज डिजाइनर को हटा दिया गया है. बताया जा रहा है कि रवि अरोड़ा के खास माने जाने वाले ये लोग अब काम में लापरवाही बरतने लगे थे. प्रबंधन ने काम में लापरवाही करने पर पेज डिजाइनर कुलदीप त्‍यागी से इस्‍तीफा मांग लिया. खबर है कि कुलदीप ने अपना इस्‍तीफा प्रबंधन को दे दिया है.

Network 18 to sell Yellow Pages, ASK Me

Network 18 Media & Investments Ltd today said it has received the Board's approval to divest its stake in business directories – Yellow Pages and ASK Me. "The Board of Directors at its meeting held on February 21, 2013, have accorded its approval to evaluate opportunities and sell/divest its undertaking comprising of Business Directories viz 'Yellow Pages' and 'ASK Me'," Network 18 said in a filing to the BSE.

एनसीटीसी के मुद्दे पर गैर-कांग्रेसी सरकारें फिर ठानेंगी रार!

आतंकवाद से निपटने के तौर-तरीकों पर राजनीतिक खींचतान बढ़ने लगी है। हैदराबाद में हुए आतंकी विस्फोटों के बाद केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने बहुविवादित राष्ट्रीय आतंक निरोधक केंद्र (एनसीटीसी) का सुर्रा एक बार फिर छोड़ दिया है। इसको लेकर कांग्रेस के कई नेताओं ने तेजी से लॉबिंग भी शुरू कर दी है। केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने एक दौर में इस योजना को लागू कराने की खास पहल की थी। लेकिन, गैर-कांग्रेसी राज्यों की सरकारों ने इसका भारी विरोध किया था। इस राजनीतिक पंगे के चलते यह योजना लंबित हो गई थी। अब इसको लेकर फिर नए सिरे से पहल हो रही है। इस पर विपक्षी दलों ने एकबार फिर लामबंदी शुरू की है।

क्‍या अंधा कुंआ बन चुकी है सीबीआई?

बीते दिनों लोकसभा का चालू सत्र देख रहा था। हांलाकि ये सत्र भी अन्‍य सत्रों की तरह साधारण था, किंतु इसकी विशेषता रही सीबीआई की नवनिर्मित व्‍याख्‍या। ये व्‍याख्‍या किसी साधारण व्‍यक्ति ने नहीं बल्कि लोकसभा के सम्‍मानित सदस्‍य एवं जदयू अध्‍यक्ष शरद यादव ने दी। सदन में दिये उद्बोधन में उन्‍होंने कहा कि हमारी सीबीआई अंधा कुंआ बन चुकी है। ऐसा अंधा कुंआ जिसमें सांप और बिच्‍छू पाये जाते हैं। सरकार इस कुंए का इस्‍तेमाल अपने विभिन्‍न भ्रष्‍टाचार एवं घोटालों को छुपाकर निश्चिंत होने में करती है। फिर चाहे वो ट्राटा ट्रक घोटाला हो या २जी स्‍पेक्‍ट्रम, कोल आवंटन ब्‍लाक की अनियमितता का मामला हो या पुरातन बोफोर्स तोप घोटाला हर जगह सीबीआई ने जांच के नाम पर मामले को दबाने की अपनी भूमिका से पूर्णतया न्‍याय किया है।

साधना यूपी-उत्‍तराखंड चैनल की हालत खराब, दर्जनों हो चुके हैं बाहर

साधना यूपी-उत्‍तराखंड चैनल के हालात पिछले कुछ दिनों में बहुत बदतर हुए हैं. पिछले कुछ महीनों में दर्जनों लोग इस चैनल से बाहर चले गए हैं तो कुछ को प्रबंधन ने बाहर कर दिया. सूत्रों का कहना है कि इस चैनल से जाने वालों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है. कुछ लोग इस तरह का माहौल पैदा कर रहे हैं ताकि लोग छोड़कर जाएं तो वे अपने लोगों को चैनल में लेकर आएं. कुल मिलाकर काम कर रहे कर्मचारी तनाव तथा परेशानी से जूझ रहे हैं.

मुरादाबाद में हिंदुस्‍तान के एक साल पूरे

व्यस्तता के कारण पिछले कई दिनों से मैं फेसबुक से दूर था। आज हिंदुस्तान मुरादाबाद के पहले स्थापना दिवस पर सुबह से मिल रहे बधाई संदेशों को देख कर लगा कि फेसबुकिया मित्र मंडली के साथ दिल की बात साझा की जाये। ठीक एक साल पहले हमने "जिगर मुरादाबादी" के शहर में हिंदुस्तान का आगाज करते हुए कहा था कि अख़बार केवल ख़बरों और चित्रों से नहीं बनता। यह हजारों-लाखों लोगों के संग-साथ, उनके सुख-दुःख में शामिल होने से बनता है।

‘स्‍टार प्‍लस’ अब भी नम्‍बर वन, ‘लाइफ ओके’ ने ‘सब टीवी’ को पछाड़ा

इंडियन एंटरटेनमेंट टेलीविजन के सातवें वीक की रेटिंग आ गई है। इस बार की रेटिंग में भी बहुत ज्यादा बदलाव देखने को नहीं मिले। आइए जानें टैम रेटिंग के सातवें सप्ताह 10 फरवरी से 16 फरवरी के बीच छोटे परदे पर क्या कुछ बदला और क्या नहीं। स्टार प्लस चैनल जहां पिछले सप्ताह 264 जीआरपी रेटिंग के साथ नंबर वन पर था। बेशक इस सप्ताह इसकी रेटिंग गिर गई है। लेकिन इस सप्ताह भी स्टार प्लस 259 जीआरपी रेटिंग के साथ नंबर वन पर है।

सेक्स के लिए उकसाने पर टीवी अभिनेत्री ग्रीशमा गिरफ्तार

कन्नूर : एक महिला को सेक्स रैकेट पेशे में लाने का कथित रूप से प्रयास कर रही मलयालम टीवी सीरियल की अदाकारा को आज गिरफ्तार कर लिया गया। उसने टीवी में अभिनय का अवसर देने का वादा किया था।

युवाओं में नई जागृति मीडिया की देन : प्रो सुरेन्द्र प्रताप

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल के जनसंचार विभाग में शनिवार को आयोजित लोकतान्त्रिक देश मे मीडिया की भूमिका विषयक विशेष व्याख्यान मे काशी विद्यापीठ के हिंदी विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि पत्रकारिता से जुड़े लोगों को सच्चाई उजागर करने से परहेज नहीं करना चाहिए। भारत मे लोकतंत्र को मजबूत करने में मीडिया अपना अभिन्न योगदान दे रहा है यह सुखद है। जय प्रकाश के आन्दोलन के लम्बे समय के बाद जो दिल्ली मे आन्दोलन हुए उसमें मीडिया का बहुत बड़ा योगदान था। उसने आम आदमी के भावना को समझते हुए काम किया।

हैदराबाद ब्लास्ट के बाद भारत-नेपाल सीमा पर कड़ी चौकसी

महाराजगंज, ठूठीबारी। हैदराबाद में हुए बम ब्लास्ट की घटना के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस एवं सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने भारत-नेपाल सीमा पर चौकसी और निगरानी बढ़ा दी है और आने-जाने वाले तमाम लोगों पर कड़ी निगाह रखी जा रही है। एसएसबी के कमांडेट के एस बंगकोठी ने बताया कि सीमा पर आतंकवादियों की घुसपैठ को देखते हुए सुरक्षा एजेंसियों से कहा गया है कि वे आने-जाने वाले तमाम लोगों पर कड़ी नजर रखने के साथ ही उनके पहचान पत्रों की भी जांच करें।

मीडिया ट्रायल गंभीर चिंता का विषय : चीफ जस्टिस

पटना। मीडिया ट्रायल पर चिंता व्यक्त करते हुए सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्‍यायाधीश अल्तमस कबीर ने शनिवार को कहा कि इससे अभियुक्त के खिलाफ पूर्वाग्रह से ग्रसित धारणा बनती है। जस्टिस कबीर ने एक कार्यक्रम के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस से बातचीत में कहा कि मीडिया ट्रायल काफी चिंता का विषय है। मेरा कहना है कि यह नहीं होना चाहिए। मीडिया ट्रायल होने से अभियुक्त के प्रति पूर्वाग्रह (प्रीज्यूडिस) से ग्रसित धारणा बनती है। फैसला अदालतों में ही होना चाहिए।

डेन केबल के एमडी के खिलाफ गैर जमानती वारंट, पुलिस ने की छापेमारी

आगरा से बड़ी खबर है कि 'दी केबल' के प्रबंध निदेशक प्रकाश गुप्ता के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गया है. बताया जा रहा है कि प्रकाश गुप्ता ने प्रेस की आड़ में हाथरस के भीतर किसी जमीन पर कब्ज़ा ज़माने का प्रयास किया था, जिसमें दूसरे पक्ष ने न्यायालय की शरण ली. जिसके बाद कोर्ट ने प्रकाश गुप्ता के विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी कर दिया. पत्रकारिता के बूते श्री गुप्ता न्यायालय में हाजिर नही हुए थे तथा आगरा के ब्यूरो चीफ ने उनसे यह कह दिया था कि पुलिस मीडिया का कुछ नहीं बिगाड़ सकती.

मुलायम सिंह यादव ने चंदौली के डीपीआरओ को थप्‍पड़ मारा

यूपी में सपा सरकार बने अभी एक साल भी पूरा नहीं हुआ है, लेकिन सपाइयों का आतंक शुरू हो गया है. आम कार्यकर्ता तो छोडि़ए अब सपा के जनप्रतिनिधि भी मारपीट करने पर उतारू हो गए हैं. कुछ दिन पहले चंदौली के सपा जिलाध्‍यक्ष के सह पर सपाइयों ने एक ट्रक ड्राइवर को बुरी तरह मारा पीटा था अब खबर है कि नियामताबाद ब्‍लाक के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने डीपीआरओ के साथ बदतमीजी करने के साथ उनके ऊपर हाथ भी छोड़ दिया, किन्‍तु किसी भी सरकार में रखैल की तरह काम करने वाली पुलिस उचित धाराओं में मामला दर्ज करने की बजाय हल्‍के फुल्‍के धाराओं में मामला दर्ज करके अपने काम की इतिश्री कर ली. कर्मचारियों में इससे रोष है.

दैनिक सन्मार्ग ने निष्पक्ष पत्रकारिता की, बाकी दैनिक बिके

: छात्र की पिटाई से कान की झिल्‍ली फटी : बिहार शरीफ : नालंदा जिले के निजी स्कूल संचालकों द्वारा खुद सरकारी प्रावधानों का खुल्लम -खुल्ला उल्लंघन किया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर मामूली गलती करने पर स्कूल संचालकों द्वारा छात्रों को बेरहमी से पिटाई की जाती है. बताया जाता है कि सुदूरवर्ती वेन प्रखंड के बडी आट में एक शिक्षक की पिटाई से छात्र को अँधा बनाने का मामला अभी ठंडा नही हुआ था कि पुनः एक बार फिर नया मामला प्रकाश में आया है.

जेपी समूह को 409 करोड़ माफ (भाग-3)

: सुप्रीम कोर्ट के आदेश बाद भी नहीं मिला आदिवासियों का हक : उच्चतम न्यायालय में उत्तर प्रदेश सरकार के राजस्व विभाग के तत्कालीन संयुक्त सचिव बीके सिंह यादव द्वारा पेश दस्तावेजों के अनुसार राज्य सरकार द्वारा गठित महेश्वर प्रसाद कमेटी ने तत्कालीन मिर्जापुर जनपद के कैमूर क्षेत्र के दक्षिण में 433 गांवों को इस मामले से जुड़ा हुआ पाया था, जिनमें शीर्ष अदालत के आदेशों के अनुसार वन बंदोबस्त की प्रक्रिया पूर्ण की जानी थी। इनमें से 299 गांव दुद्धी तहसील में थे जबकि शेष 134 गांव राबर्ट्सगंज तहसील में थे।

जेपी समूह को 409 करोड़ माफ (भाग-2)

: देश आजाद हुआ पर आदिवासी नहीं : उन्नीस सौ सैतालिस में 15 अगस्त को देश अंग्रेजों की गुलामी से भले ही आजाद हो गया हो लेकिन जंगलों और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले आदिवासियों और अन्य परंपरागत वन निवासियों के लिए गुलामी का दौर उसी दिन से शुरू हो गया था। उत्तर प्रदेश के जंगली इलाकों में आजाद आदिवासियों और अन्य परंपरागत वन निवासियों के लिए भी ऐसा ही था। "द पब्लिक लीडर" के पास मौजूद दस्तावेजों के अनुसार उत्तर प्रदेश में वर्ष-1950 में जमींदारी उन्मूलन एवं भूमि सुधार कानून अस्तित्व में आया जो कैमूर वन क्षेत्र के दक्षिण में स्थित मिर्जापुर (अब सोनभद्र) जिले की दुद्धी और राबर्ट्सगंज तहसीलों में दो हिस्सों में लागू हुआ। कुछ हिस्सों में यह कानून 30 जून, 1953 को लागू हुआ तो कुछ हिस्सों में 1 जुलाई, 1954 को।

जेपी समूह को 409 करोड़ माफ (भाग-1)

देश में हर तरफ प्राकृतिक संपदा की लूट मची है। कोई जमीन भेद रहा है तो कोई पाताल। आकाश की धूप और हवा भी अछूती नहीं है। राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, कर्नाटक, ओडिशा, गोवा आदि राज्यों के विभिन्न इलाकों में जिस तरह से कोयला, लौह अयस्क, डोलो स्टोन, लाइम स्टोन (चूना पत्थर), सैंड स्टोन, बालू, मोरम आदि खनिज पदार्थों के अवैध दोहन का मामला बीते सालों में सामने आया है, उससे लोकतंत्र के विभिन्न स्तंभों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो गए हैं। इससे ना केवल भारतीय वन अधिनियम, वन संरक्षण अधिनयम, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, भारतीय खान ब्यूरो आदि के मानकों का उल्लंघन हुआ है, बल्कि इसने आम आदमी के अधिकारों के साथ-साथ उच्चतम न्यायालय के आदेशों और संविधान के मूल्यों पर भी हमला बोला है।

भ्रष्‍ट पत्रकारिता (13) : विधानसभा में चंपूगिरी करके जमाते हैं धाक

विधानसभा के जितनी संख्या विधायकों की है, उससे कुछ ही कम संख्या प्रेस दीर्घा में बैठने वाले मीडिया कर्मियों की है। जिस हिसाब से थोक के भाव में मीडियाकर्मियों को प्रेस दीर्घा के पास निर्गत किए गए उसके चलते अब विधानसभा की ऊपर नीचे दो दीर्घाएं इतनी हाउसफुल है कि अब पत्रकार तीसरी दीर्घा की ओर लोग बढऩे लगे है। प्रेसदीर्घा के पास निर्गत करने का कोई मापदंड नहीं है। जिले से लेकर तहसील और मंडल स्तर तक के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को सत्र कवरेज के पास निर्गत हुए हैं। ऐसे लोगों के पास निर्गत करने की सिफारिश करने वालों में अपने ही बीच के लोग है।

भ्रष्‍ट पत्रकारिता (12) : सरकारी आवास में मजा, निजी आवास में कारोबार

अपने पेशे के प्रति कम और राजनीतिक दलों के साथ अधिक निष्ठा दिखाई है यूपी के कई नामचीन पत्रकारों ने, इस कला को मीडिया और जनता ने भी देखा है। यूएनआई में कभी पत्रकार रहे एक महाशय शुरुआती समय सपा के कई नेताओं के करीबी रहे। लेकिन सपा में इन पत्रकार महोदय का मिशन नहीं पूरा हो पाया। लेकिन गोमती नगर के विराज खण्ड में 1/61 सब्सिडी प्लाट प्राप्त करने में जरूर सफलता हासिल की। इन्होंने बीते एक दशक के अंदर अपनी निष्ठा में बदलाव करते हुए बसपा सुप्रीमो पर एक किताब लिख डाली।

भ्रष्‍ट पत्रकारिता (11) : झूठे हलफनामे के सहारे सरकारी आवासों में जमें हैं कई पत्रकार

लखनऊ। एक अनार सौ बीमार। यह कहावत पत्रकारों पर सटिक साबित हो रही है। सरकारी आवास पाने की आकांक्षा वाले पत्रकारों की लम्बी फेहरिस्त है। लेकिन राज्य सम्पत्ति विभाग की लापरवाही और सफेदपोश क्रीमीलेयर पत्रकारों की सरकारी आवासों पर अघोषित कब्जे की वजह से वास्तविक पत्रकार मारे-मारे घूम रहे हैं। जबकि सफेदपोश क्रीमीलेयर पत्रकारों ने सरकार से गोमती नगर में सब्सिडी प्लाट और आवास लेने के बाद कारोबार कर रहे हैं।

साहित्‍य की नई वेबसाइट लिट्रेचरआफइंडियाडाटओआरजी का उद्घाटन

 

नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में साहित्य की नई वेबसाइट लिट्रेचरआफइंडियाडाटओआरजी (literatureofindia.org) के उद्घाटन पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी ने किया। राजधानी के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में साहित्यकार बाबू गुलाबराय की जयंती के मौके पर इसका उद्घाटन किया गया। वेबसाइट भारतीय साहित्य को संरक्षित करने के उद्देश्य से बनाई गई है। इसके जरिए न केवल बाबू गुलाबराय के साहित्य को इंटरनेट पर उपलब्ध कराना है बल्कि कालिदास से लेकर मुंशी प्रेमचंद तक भारत की सभी साहित्यिक विभूतियों का साहित्य को लोगों तक पहुंचाना है। इसके साथ बाबू गुलाबराय के व्यक्तित्व और कृतित्व पर एक स्मारिका और मनोविज्ञान पर लिखी गयी बाबू गुलाबराय कृत पुस्तक ‘मन की बातें’ का लोकार्पण भी किया गया।

चल रही है वीओएन को रीलांच करने की तैयारी

देहरादून से खबर आ रही है कि वीओएन (वॉयस ऑफ नेशन) को रीलांच करने की तैयारी चल रही है. इसके लिए पुराने लोगों को फिर से एक मंच पर लाने की कोशिश शुरू हो गई है. दरअसल धोखाधड़ी मामले में जेल की हवा खा चुके वीओएन के मालिक मनीष वर्मा जमानत पर छूटकर बाहर आ चुके हैं. इसलिए वे फिर से अपने चैनल को नए सिरे से चलाने की तैयारी शुरू कर दिए हैं. संभावना जताई जा रही है कि इस बार चैनल को उत्‍तराखंड के साथ यूपी में भी लांच किया जाएगा.

लता और जगजीत की आवाज में दो ग़ज़लें, कुमार सानू के हिट्स और हिंदी फिल्मों के रोमांटिक गाने… सुनें

चार गाने, ग़ज़ल, कलेक्शन हैं नीचे.. लता मंगेशकर और जगजीत सिंह की आवाज़ में दो ग़ज़ले हैं तो कुमार सानू के ढेर सारे हिट्स गानों का एक संग्रह है. साथ ही हिंदी फिल्मों के रोमांटिक गानों का एक कलेक्शन भी है. एक एक कर क्लिक करिए सुनिए और संगीतमय हो जाइए….

खुद के अखबार में खुद की बड़ी बड़ी फोटो-खबरें छपवा रहे विनोद शर्मा

यशवंत भाई, नमस्कार, बड़े अरसे के बाद आपको मेल कर रहा हूं। वजहें ही कुछ ऐसी थीं कि बहुत उलझ गया था। लेकिन तूफानों से लड़ते यशवंत की खैरियत की दुआएं तो मैं मांगता ही रहता था, इन घनघोर व्यस्तताओं में भी। आज भाई आपको एक खास मसाला भेज रहा हूं। भाई मामला ये है कि कांग्रस का एक पावरफुल लीडर अपने अखबार के फ्रंट और बैक पेज पर खुद की फोटो का कब्जा करने के बावजूद क्लेम कर रहा है कि वो तो जनहित का कार्य कर रहे हैं। सवाल गजब का है कि खुद के अखबार में खुद की पब्लिसिटी करके ये कौन सी जनसेवा हो रही है।

लड़कियों को आगे कर कारोबारियों को फंसाने व उनसे उगाहने वाला आगरा का यह फोटोग्राफर कौन है?

आगरा से प्रकाशित एक नए अखबार का फोटोग्राफर फंस गया है। अमर उजाला में खबर छपी है लेकिन घटनाक्रम में इस फोटोग्राफर का नाम नहीं है। पर जांच में उसकी भूमिका सामने आ गई है। यह फोटोग्राफर गैंगस्टर है और युवतियों के जाल में धनाड्यों को फंसाकर उनसे लाखों वसूल लेता है। गिरोह में दो दरोगा और दो युवतियां हैं। मामला गर्म है। दरोगागण मथुरा और अलीगढ़ में तैनात हैं। आगरा में तैनात रह चुके हैं।

जागरण में छपी बच्‍चे को बेचने की खबर ने पकड़ा तूल, मामला पुलिस के पास पहुंचा

रायबरेली में दैनिक जागरण द्वारा बच्‍चे को बेचे जाने को लेकर प्रकाशित की गई खबर के मामले ने तूल पकड़ लिया है. ऑल इंडियन मेडिकल ए‍सोसिएशन के विरोध के बाद अब इस मामला पुलिस तक पहुंच गया है, जिसके बाद एसपी राजेश पाण्‍डेय ने इसकी जांच सीओ सिटी को सौंपी है. खबर है कि दैनिक जागरण ने रायबरेली के डाक्‍टर संजय रस्‍तोगी, जो कृष्‍णा नर्सिंग होम का संचालन करते हैं, के बारे में लिखा कि इनके अस्‍पताल में पैदा हुआ बच्‍चा किसी थर्ड आदमी के पास पहुंच गया. 

सातवें हफ्ते की टीआरपी : आजतक चैंपियन, इंडिया टीवी दोयम, इंडिया न्यूज में उछाल

इस साल के सातवें हफ्ते की टीआरपी में भी आजतक न्यूज चैनल चैंपियन है. इंडिया टीवी के लोग पूरी खोपड़ी लगाने के बाद भी नंबर वन के सिंहासन को हिला नहीं पा रहे. हालांकि इस सातवें हफ्ते में इंडिया टीवी को काफी बढ़त मिली है लेकिन आजतक को पीछे करने में कामयाब नहीं हो सका है. सुप्रिय प्रसाद के आजतक का चैनल हेड बनने के बाद चैनल में आंतरिक रूप से ढेर सारे उलटफेर हुए हैं. कई लोग गए और कई लोग आ रहे. कंटेंट और कनसर्न के लेवल पर काफी काम चैनल में हो रहा है.

पायनियर हिंदी का हाल : हर दो माह बाद एक माह की तनख्वाह मिलती है

लखनऊ : यशवंत जी, पायनियर हिन्दी की हालत आप या किसी भी मीडिया घराने से छुपी नहीं हैं। अखबार की लांचिग से ही यहां पर आर्थिक कठिनाइयां पीछा छोड़ने का नाम नहीं ले रही है। शुरुआत के छह माह बाद यहां पर काम करने वाले रिपोर्टरों की स्थिति नाजुक हो गयी है। 2011 की दिवाली क्या बीती, यहां पर तो काम करने वालों को खाने के लाले पड़ गये हैं। दीवाली के बाद दो माह की सेलरी स्थानीय प्रबंधन द्वारा रोक जाने के बाद स्वयं चन्दन मित्रा ने आकर यहां पर स्टाफ को जल्द से जल्द सेलरी दिलाने का वादा किया था। मगर जैसे ही मित्रा जी ने दिल्ली का रुख किया, वैसे ही सेलरी यहां पर बंद हो गयी है।

फेसबुक पर हिंदी-अंग्रेजी को लेकर गर्मागर्म महाबहस

Pushpendra Singh Chandel : कुछ दिन पहले की बात है जब मैं कुम्भ दर्शन हेतु इलाहबाद में था तब मेरे एक करीबी मित्र ने मेरे अधकचरे अंग्रेजी ज्ञान को लेकर लम्बा-चौड़ा भाषण पिलाया, कहने लगे कि आज अगर तुम्हारी अच्छी पकड़ अंग्रेजी भाषा में होती तो आज तुम काफी ऊंचाइयो पे होते…. 'ऊँचाइयाँ' शब्द सुनते ही मैं अपने आपको कभी 'लन्दन ब्रिज' पर पाता, कभी 'टेम्स' के किनारे टहलता पाता, कभी 'बकिंघम पैलेस' के बगीचे में दोनों हाथ पीछे किये हुए सीना बाहर किये हुए अभिमान महसूस करता पाता, एकाएक 'जेम्स बांड' बनकर हसीनाओं को अपने बाहों में पाता…. और ऊंचाइयों के बारे में सोचा तो अपने आपको 'स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी' के सामने सीना ताने च्विंगम चबाते हुए 'यस वी कैन' कहते हुए पाया…

रिपोर्ट देने वाली प्रेस परिषद की कमिटी का अतीत कितना स्‍वच्‍छ रहा है?

 

बेशक बिहार एक अति संवेदनशील राज्य है। वहां के नेता किसी भी मुद्दे पर बोलने का मादा रखते हैं। इस मीडियाकरण के दौर में भी यदि प्रेस परिषद के एक टीम की इस रिपोर्ट पर कि यहां की सरकार मीडिया खास कर प्रिंट मीडिया की अपने पक्ष में गर्दन दबाये है तो विपक्षी नेताओं का खुला शोर-गुल मचाना काबिले तारिफ है। अब स्वतंत्र राज्य विज्ञापन आयोग की बात भी उठने लगी है। ऐसे भी बिहार को लेकर प्रेस परिषद के अध्यक्ष माननीय काटजू जी की कटार शुरू से ही तेज रही है।

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : यह रही हाई कोर्ट को दी गई एसपी की जांच रिपोर्ट

मुंगेर। पटना उच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति माननीय अंजना प्रकाश ने क्रि. मि. नं. 2951/2012 और क्रि.मि.नं.16763/2012 में 17 दिसंबर 2012 के ऐतिहासिक आदेश के पैरा नं.13 में 200 करोड़ के दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला में मुंगेर के वरिष्ठ पुलिस पदाधिकारियों की अनुसंधान रिपोर्ट की भी चर्चा की है। उन्होंने उस पैरा में लिखा है कि -‘‘ जिलाधिकारी (मुंगेर) की भेजी रिपोर्ट में मुंगेर के वरीय पुलिस पदाधिकारियों की अनुसंधान-रिपोर्टों की प्रतियां भी संलग्न की गई हैं। वह अनुसंधान रिपोर्ट घटनास्थल का हिस्सा मुंगेर भी बताती है और रिपोर्ट सुस्पष्ट दर्शाती है कि ‘अनुसंधान‘ पूरी तरह प्रगति की राह पर है।‘‘

‘सर आप डिप्रेशन जैसी बातें न लिखें, इससे डिप्रेशन हम लोगों को होने लगता है’

Shambhunath Shukla : कल अमर उजाला के सीनियर एडिटर हरवीर सिंह मिल गए। भरे गले से बोले- सर आप डिप्रेशन जैसी बातें न लिखा करिए। इससे हम लोगों को भी डिप्रेशन होने लगता है। हमें तो आप पर गर्व है। और आपको कमी किस बात की है? हरवीरजी, कृषि और अर्थ क्षेत्र के नामी पत्रकार हैं। हिंदी बेल्ट में कृषि की समझ रखने वाले ऐसे पत्रकार कम हैं। मुझे उनकी बात से लगा कि नहीं, लोगों को मेरी पीड़ा का अहसास है।

संसद पहुंचने की केसी त्यागी की मुराद आखिरकार पूरी हो गई

Jitendra Dixit : आखिरकार केसी त्यागी राज्यसभा के जरिए संसद पहुंच गए। १९८९ में जनता दल के टिकट पर सांसद चुने गए थे। जनता दल बिखर गया साथ में परिसीमन से उनके गाजियाबाद क्षेत्र का भूगोल भी बदल गया। तब से बहुत पापड़ बेले, पर कामयाबी हाथ नहीं लगी। सपा में गए। मुलायम ने एक बार मुजफ्फरनगर सीट से टिकट भी थमा दिया, पर वहां हरेंद्र मलिक आड़े आ गए। चुनाव भी नहीं लड़ पाए। इस तरह मुलायम का साथ छोड़ दिया।

ईएमएमसी में शोषण : सिफारिश से आए हैं तो ज्यादा तनख्वाह, टैलेंट से इंट्री ली तो कम सेलरी!

सेवा में, मनीष तिवारी जी, सूचना एंव प्रसारण मंत्री, भारत सरकार : विषय :- इलेक्ट्रानिक मीडिया मॉनिटरिंग आईपी इस्टेट (ईएमएमसी) के संबध में शिकायती सूचना। महोदय, निवेदन यह है कि यह शिकायत इलेक्ट्रोनिक मीडिया मॉनिटरिंग आईपी इस्टेट (ईएमएमसी) के संबध में है, जहां काम करने वाले कर्मचारियों का भारी शोषण किया जा रहा है और भारी भ्रष्टाचार यहां विभाग में व्याप्त है। पूरी शिकायत विस्तार से और क्रमबद्ध रूप से नीचे है।

जज साहब के पैनल ने दी रिपोर्ट- लड़कियों की सुरक्षा के लिए फेसबुक और मोबाइल पर पाबंदी जरूरी

मुंबई से खबर है कि महिलाओं की सुरक्षा के उपाय सुझाने के लिए महाराष्ट्र सरकार द्वारा बनाए गए पैनल ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट में फेसबुक और मोबाइल पर पाबंदी लगाने की बात कही गई है। इसके अलावा अखाड़ों और व्यायामशालाओं में प्रशिक्षण देने वाले पहलवानों का भी उपयोग करने का सुझाव दिया गया है। राज्य सरकार ने बांबे हाई कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश चंद्रशेखर धर्माधिकारी के नेतृत्व में एक पैनल का गठन कर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सुझाव मांगे थे।

तिहाड़ जेल से सात मोबाइल फोन बरामद, जांच टीम गठित

तिहाड़ जेल में बंद सौम्या विश्वनाथन की हत्या के आरोपी अमित शुक्ला द्वारा मोबाइल फोन से रंगदारी मांगने के मामले ने जेल प्रशासन की नींद हराम कर दी थी। हर बार जेल प्रशासन जेल के अंदर मोबाइल के उपयोग पर सफाई देता है। साथ ही हर वर्ष जैमर की संख्या भी बढ़ाई जाती है, लेकिन फिर भी कैदियों के पास से मोबाइल बरामद होते हैं। इस बार तिहाड़ जेल की महानिदेशक विमला मेहरा ने सात मोबाइल फोन बरामद होने की पुष्टि की। साथ ही तिहाड़ में मोबाइल फोन पहुंचने के प्रकरण को मानवीय भूल करार दिया। उन्होंने कहा कि जांच के लिए टीम गठित की गई है।

यूपी में कर्ज में डूबे किसान ने नीम के पेड़ से लटक कर जान दी

कर्ज में डूबे किसान की आत्महत्या अब खबर नहीं बना करती. बनती भी है तो उसी जिले के भीतर जहां किसान ने सुसाइड किया है. किसान की खुदकुशी पर कोई पैकेज नहीं दिखाया जाता, कोई साइड स्टोरी नहीं प्रकाशित की जाती. घटना है उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले की. गड़रियन पुरवा इलाके में कर्ज में डूबे एक किसान ने तगादगीरों से परेशान होकर जान दे दी. तीन दिन से लापता किसान का शव खेत में नीम के पेड़ से लटका मिला.

दैनिक जागरण, कानपुर के वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र दुबे का निधन

दैनिक जागरण, कानपुर से खबर आ रही है कि यहां कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र दुबे का निधन हो गया है. उनकी उम्र 65 साल थी. वे दैनिक जागरण में साहित्य संपादक थे.  राजेंद्र दुबे के बारे में वरिष्ठ पत्रकार राजू मिश्रा ने फेसबुक पर श्रद्धांजलि देते हुए ये लिखा है:…

डाक्‍टरों का आरोप – अवैध उगाही के लिए जागरण ने छापी गलत खबर

दैनिक जागरण की पत्रकारिता हमेशा से संदिग्‍ध रही है. जागरण में ऐसे लोग ही लम्‍बे समय तक टिके रह सकते हैं जिन्‍हें दो का पांच करना आता हो. जो कैसे भी करके अपना तथा अपनी कंपनी का जेब भर सकते हों, चाहे इसके लिए उन्‍हें कितना भी गलत सही करना पड़े, नीचे गिरना पड़े. ताजा मामला उत्‍तर प्रदेश के रायबरेली जिले का है. यहां डाक्‍टरों ने दैनिक जागरण द्वारा पैसे के लिए गलत खबर प्रकाशित करने का आरोप लगाते हुए विरोध किया है.

आजतक का आज रात अनोखा शो- ”लेडीज वर्सेज पवन बंसल”

रेल बजट पेश करने से पहले रेल मंत्री पवन बंसल की खबर आजतक पर देश की जानी मानी दस रिपोर्टर लेंगी। इस बार रेल बजट को लेकर आजतक ने जबरदस्त तैयारी की है। आज (शनिवार) रात आठ बजे आजतक पर दो घंटे का प्रोग्राम प्रसारित होगा-लेडीज वर्सेज पवन बंसल। इस शो के लिए देश के अलग अलग हिस्सों में आजतक की महिला रिपोर्टर्स ने ट्रेन में सफर किया और देखा कि रेलवे महिलाओँ को लेकर कितना संवेदनशील है। क्या उनके लिए सारी सुविधाएं मौजूद हैं, क्या महिलाएं सुरक्षित यात्रा कर सकती हैं।

यह हड़ताल नहीं चेतावनी है

यह राष्ट्रीय आम हड़ताल नहीं, ‘महाबंद’ जैसा था। देश के श्रमिक आंदोलन के इतिहास में यह पहला मौका है जब देश के श्रमिकों ने राष्ट्रीय स्तर पर दो दिनों की हड़ताल का आयोजन किया। दस करोड़ से अधिक कामगारों ने इसमें हिस्सा लिया और अपना काम बंद रखा। इसका व्यापक असर देखने में आया। जनजीवन ठहर सा गया। अन्ना हजारे ने समर्थन करते हुए कहा कि ऐसे आंदोलनों से ही इस सोई हुई सरकार को जगाया जा सकता है। पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने भी हड़ताल का समर्थन किया तथा इसके लिए सरकार को जिम्मेदार माना। सरकार ने भी नहीं सोचा होगा, वैसा हुआ। भले ही ग्यारह केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों ने इसका आह्वान किया हो, लेकिन यह बहुत कुछ स्वतः स्फूर्त था। उनके अनुमान से कहीं ज्यादा यह हड़ताल सफल रही।

राजेन के बाद आनंद बल्‍लभ का जाना उत्‍तराखंड की बड़ी क्षति

रुद्रपुर। हल्द्वानी निवासी वरिष्ठ पत्रकार और लेखक आनंद बल्लभ उप्रेती के निधन को पत्रकारों, साहित्यकारों और शिक्षा तथा जनता से जुड़े मुद्दों पर काम करने वाले लोगों ने बड़ी क्षति बताया है। दुर्गा मंदिर स्थित एक प्रतिष्ठान में हुई बैठक में वक्ताओं ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर चर्चा की और उन्हें श्रद्धांजलि दी। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि श्री उप्रेती ने नवभारत टाइम्स, दिनमान, हिंदुस्तान, उत्तर उजाला, सहारा समय, नई दुनिया आदि प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं के लिए रिपोर्टिंग की और पहाड़ तथा मैदान की जनता की समस्याओं को मुखरता से उठाया।

खूब सिगरेट पीने के कारण पत्रकार के फेफड़े की हालत खराब, अस्पताल में भर्ती

ज्यादातर पत्रकार शराब और सिगरेट का जमकर सेवन करते हैं. नई पीढ़ी के पत्रकार भी इससे बाज नहीं आ रहे. इसी कारण 28 साल का एक पत्रकार अस्पताल में भर्ती है. जमकर सिगरेट पीने के कारण उसका फेफड़ा खराब हो गया है. इनफेक्शन से फेफड़ की बुरी स्थिति के कारण पटना में उसे भर्ती कराया गया है. पत्रकार का नाम है जीवन ज्योति जो पटना के मगध हास्पिटल में भर्ती हैं. जीवन ज्योति राष्ट्रीय हिन्दी वीकली हमवतन के बिहार ब्यूरो प्रमुख हैं.

इशरत अंजुम ने श्री न्‍यूज ज्‍वाइन किया

श्री न्‍यूज से खबर है कि आउटपुट हेड अजय सिंह के इस्‍तीफा देने के बाद प्रबंधन ने उनके स्‍थान पर इशरत अंजुम को नया आउटपुट हेड बनाया है. उन्‍होंने पी7 न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर श्री न्‍यूज ज्‍वाइन किया है. इससे पहले वे जी न्‍यूज, इंडिया टीवी और इंडिया न्‍यूज को भी लंबे समय तक अपनी सेवाएं दे चुके हैं. माना जा रहा है कि श्री न्‍यूज में आने वाले समय में कुछ और बदलाव भी देखने को मिलेंगे.

”वीरेंद्र को कानपुर बुला लीजिए वह डेस्क के लायक ही है”

घूमने का शौक कम लोगों को होता है। खासकर रिस्क लेकर घूमने का शौक। बात २००४ की है तब मैं कानपुर में अमर उजाला का संपादक था। हमारे समूह संपादक शशि शेखर कानपुर के दौरे पर आए तो बोले कि मैं कानपुर से कवर होने वाले सारे जिलों के संवाददाताओं, वहां के दफ्तरों को मैं रूबरू देखूंगा। बुंदेलखंड के चार जिले तब कानपुर से ही कवर होते थे। बांदा, हमीरपुर, महोबा, चरखारी, जालौन और चित्रकूट।

कहां है आतंक की ‘साइकिलों’ का रिमोट कंट्रोल!

हैदराबाद के आतंकी विस्फोटों को लेकर राजनीतिक धमाचौकड़ी तेज हो गई है। इस हादसे को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री सुशील शिंदे के तमाम दावे शक के दायरे में आने लगे हैं। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने इस मुद्दे पर एक बार फिर शिंदे पर अपने निशाने तेज कर दिए हैं। शिंदे कल सुबह घटनास्थल का जायजा लेने के लिए हैदराबाद गए थे। वहां से लौटकर उन्होंने संसद में बयान भी दिया। लेकिन, इसको लेकर विपक्षी दलों ने खासी निराशा व्यक्त की है। लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा है कि शिंदे का बयान महज एक रश्म अदायगी जैसा है।

जनसंदेश टाइम्‍स छोड़कर भारत सिंह वायस आफ मूवमेंट पहुंचे, अमर का तबादला

लखनऊ से खबर है कि दैनिक जनसंदेश टाइम्स में कई महत्वपूर्ण बीट कवर कर रहे भारत सिंह अखबार से इस्‍तीफा दे दिय है. वे अब लखनऊ से ही प्रकाशित हिन्दीं दैनिक वायस आफ मूवमेंट से जुड़़ गये हैं. भारत सिंह को इस अखबार के राज्य ब्यूरो में वरिष्ठ संवाददाता का पद सौंपा गया है. भारत सिंह उपजा से सम्बद्ध लखनऊ जर्नलिस्ट एसोसियेशन के महामंत्री भी हैं. भारत सिंह का वायस आफ मूवमेंट अखबार में ज्वाइन करना जनसंदेश टाइम्स के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है.

सीबीएसई ने यू-ट्यूब पर शुरू किया चैनल

स्कूलों और बच्चों की प्रतिभा को विश्‍व पटल पर एक मंच देने के लिए बोर्ड ने यू-ट्यूब पर सीबीएसई चैनल के जरिए एक कदम बढ़ाया है। इसके जरिए स्कूलों के बच्चों की विभिन्न गतिविधियों को यू-ट्यूब पर कहीं भी देखा जा सकेगा। सीबीएसई ने यू-ट्यूब पर www.youtube.com/cbsechannel शुरू किया है। इसके माध्यम से बोर्ड व स्कूलों से जुड़ी गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

माखनलाल पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय में प्रवेश की अंतिम तिथि 28 फरवरी तक बढ़ी

: इस सत्र से फिल्म पत्रकारिता का नया पाठ्यक्रम प्रारम्भ : भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वाविद्यालय द्वारा संचालित सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी 2013 तक बढ़ा दी गई है। विश्वविद्यालय ने शैक्षणिक सत्र 2012-13 में वैब संचार, वीडियो प्रोडक्‍शन, पर्यावरण संचार, भारतीय संचार परम्पराएँ, योगिक स्वास्थ्य प्रबंधन एवं आध्यात्मिक संचार तथा फिल्म पत्रकारिता जैसे विषयों में सांध्यकालीन पी.जी. डिप्लोमा पाठ्यक्रम प्रारम्भ किये गये हैं। इस वर्ष फिल्म पत्रकारिता का नया पाठ्यक्रम प्रारम्भ किया गया है। पाठ्यक्रम विभिन्न विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के साथ-साथ नौकरीपेशा व्यक्तियों, सेवानिवृत्त लोगों, सैन्य अधिकारियों तथा गृहिणियों के लिए भी उपलब्ध होंगे।

अभी नहीं तय हो सका कांडा और अरुणा पर आरोप, सुनवाई टली

दिल्ली : पूर्व एयर होस्टेस गीतिका शर्मा आत्महत्या मामले में अदालत में सुनवाई टल गई। इसमें हरियाणा के पूर्व मंत्री एवं हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल गोयल कांडा तथा उनकी सहयोगी अरुणा चड्ढा आरोपी हैं। इस मामले में रोहिणी कोर्ट स्थित जिला जज एसके सरवरिया की अदालत में आरोपियों के खिलाफ आरोप तय करने पर सुनवाई चल रही है। शुक्रवार को दोनों पक्षों की ओर से आरोप तय करने को लेकर बहस होनी थी, लेकिन विशेष लोक अभियोजक राजीव मोहन के नहीं आने के कारण अदालत ने सुनवाई को अगली तारीख तक के लिए टाल दिया। अब मामले की सुनवाई 2 मार्च को होगी।

सहारा के साथ लेन-देन पर सेबी ने निवेशकों को किया सर्तक

नई दिल्ली : बाजार नियामक सेबी ने सहारा समूह की दो कंपनियों और उसके प्रवर्तक समे0त समूह के प्रमुख सुब्रत राय के साथ किसी भी प्रकार के लेनदेन को लेकर निवेशकों तथा आम लोगों को आगाह किया है। कुछ दिन पहले सेबी ने सहारा समूह की दो कंपनियों सहारा इंडिया रीयल एस्टेट कार्प लि. तथा सहारा हाउसिंग इनवेस्टमेंट कार्प लि.एवं समूह के चेयरमैन सुब्रत राय समेत उसके प्रवर्तकों के बैंक खातों, निवेश तथा अन्य सभी संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया था जिसके बाद यह चेतावनी जारी की गयी है।

श्री न्‍यूज से आठ लोगों का इस्‍तीफा, चैनल में हड़कम्‍प

श्री न्‍यूज चैनल से खबर है कि यहां की परिस्थितियों एंव आंतरिक राजनीति से आजिज आकर आठ लोगों ने चैनल से इस्‍तीफा दे दिया है. ये सभी लोग पहले से चैनल से जुड़े हुए थे. इन्‍हें आरपीएम का नजदीकी माना जाता था. इस्‍तीफा देने वालों में मधुकांत श्रोतिय, अजय सिंह, शैलेश सिंह, उस्‍मान, शैलेंद्र कुमार, शशिकांत, प्रीति और पूजा कुमारी शामिल हैं. माना जा रहा है कि कुछ और लोग इस चैनल से इस्‍तीफा दे सकते हैं.

वरिष्‍ठ पत्रकार आनंद बल्‍लभ उप्रेती एवं अशोक पांधी का निधन

देहरादून : देहरादून में दो जाने माने पत्रकारों के निधन से शोक की लहर है. उत्तराखंड के वरिष्ठ पत्रकारों में से एक आनंद बल्लभ उप्रेती का आज निधन हो गया. नव भारत टाइम्स से सालों से जुड़े रहे श्री उप्रेती अपना अख़बार पिघलता हिमालय भी निकाला थे. उन्होंने उत्तराखंड की सबसे कठिन धार्मिक यात्रा नंदा जात यात्रा पर एक शानदार पुस्तक भी लिखी थी. हाल में उसका दूसरा संस्करण भी निकला है. श्री उप्रेती को कुमायूं के सबसे अनुभवी पत्रकार माना जाता रहा है और पत्रकार बिरादरी में उन्हें काफी सम्मान भी मिला है. श्री उप्रेती के निधन का समाचार मिलते ही लगभग सभी पत्रकार उनके चाहने वाले उनके हल्द्वानी आवास में शोक मनाने के लिए पहुंचे. उनका अंतिम संस्कार कल सुबह रानीबाग चित्रशिला घाट पर किया जायेगा.

खर्राटों से महाभारत : राष्‍ट्रीय सहारा के सीनियर ने रिपोर्टर को पीटा

राष्‍ट्रीय सहारा, पटना में बवाल मचा हुआ है. हालांकि मामला ऑफिस का नहीं बल्कि बाहर का है. खबर है कि खर्राटों से बौखलाए एनई-डीएनई लेबल के पत्रकार ने एक रिपोर्टर को बुरी तरह मारा-‍पीटा तथा घायल कर दिया. पीडि़त पत्रकार ने जब इस बात की शिकायत संपादक से की तो उन्‍होंने मामला अखबार एवं कार्यालय के बाहर होने की बात कहके पल्‍ला झाड़ लिया. हालांकि उन्‍होंने अपने वरिष्‍ठ सहयोगी को समझाने की बात जरूर कही.

दीपक चौरसिया जंतर-मंतर पर दुकान सजाकर अरविंद केजरीवाल का करते रहे इंतजार (देखें वीडियो)

जंतर-मंतर पर दीपक चौरसिया ने लाइव डिबेट के लिए मंच तैयार कर लिया. कई लोगों को बुलाया. अरविंद केजरीवाल को भी जाना था. पर वो नहीं गए. दीपक चौरसिया ने लाइव शो में बार-बार कहा कि जंतर-मंतर या किसी गली-चौराहे पर डिबेट करने का आह्वान आम आदमी पार्टी के संजय सिंह और कुमार विश्वास ने किया और जब डिबेट के लिए मंच तैयार है तो अरविंद केजरीवाल नहीं आए.

खबर भारती के चेयरमैन की कंपनी पर पुलिस ने कसा फिर शिकंजा

खबर भारती का संचालन करने वाली कंपनी साईं प्रकाश पर पुलिस अपना शिकंजा लगातार कसती जा रही है. कानपुर में पुलिस ने किदवईनगर में एक और मामला दर्ज किया है. इसके पहले गोविंद नगर और नौबस्‍ता में पुलिस कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज कर चुकी है. पुलिस ने किदवईनगर निवासी ओम सचान की तहरीर पर साईं प्रकाश कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पीडि़त का आरोप है कि कंपनी के देवदत्‍त, तरुण, एसपी दीक्षित व प्रेम कुमार समेत कई लोगों जमीन की सिक्‍योरिटी देकर लाखों रुपये जमा कराया तथा इस दोगुने से लेकर चार गुना होने का प्रलोभन दिया.

मध्‍य प्रदेश अभिलेख सत्‍यापन के चलते कई प्राध्‍यापकों का भविष्‍य लगा दांव पर!

श्री यशवंत जी, जय जगत, आपकी जानकारी के लिए यह पत्र भेज रहा हूँ. मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग ने वर्ष २००९ में प्राध्यापकों की सीधी भर्ती का विज्ञापन प्रकाशित किया था. उसमे यूजीसी के अनुसार शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गयी थी. स्नातक/स्नातकोत्तर स्तर की कक्षाओं में दस वर्ष अध्यापन अनुभव को भी मान्य किया था. इस विज्ञापन के बाद मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग ने ८ अगस्त २०११ को चयन से से सम्बंधित शुद्धि पत्र प्रकाशित किया. जिसमें अनुभव के सन्दर्भ में शासन के २७ अक्टूबर २००९ और २९ अप्रैल २०११ के पत्र का हवाला देते हुए यह लिखा है कि स्थाई/अस्थाई रूप से शासकीय महाविद्यालय एवं अनुदान प्राप्त स्नातक/स्नातकोत्तर महाविद्यालयों में किये गए अध्यापन कार्य को मान्य किया गया है.

ये आरोप तब और गंभीर हो जाते हैं, जब इसकी कमान नामी टीवी पत्रकार के हाथ में हो

भारतीय मीडिया का मौजूदा के जिस दौर से गुजर रहा हैं, उसमें उसे निश्चित तौर पर मंथन करने की आवश्कता है। प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक, दोनों माध्यमों में बदलाव आ रहे हैं और ये बदलाव, समाचार के प्रस्तुतिकरण, समाचार चयन और पत्रकारिता के आधारभूत सिद्धांतों में आसानी से देखे जा सकते हैं। कुछ दिनों पहले ही राष्ट्रीय स्तर रीलांच हुए चैनल पर भी लगातार एकतरफा खबरों के प्रसारण के आरोप लग रहे हैं। और ये आऱोप उस समय ज्यादा गंभीर प्रतीत होते हैं, जब चैनल की कमान देश के ऐसे नामी वरिष्ठ टीवी पत्रकार के हाथ में हो, जिसे पूरा देश जानता हो, सोशल मीडिया में इस वरिष्ठ पत्रकार पर तमाम आरोप लग रहे हैं, चैनल के मालिकों को भी कटघरे में खड़ा किया जा रहा है।

तीरथ का कुमाऊं दौरा : कब तब जारी रहेगा ”फील गुड”?

नैनीताल। भाजपा के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत को उनका कुमाऊं दौरा "फील गुड" और साथ ही आसन्न संगठन विस्तार से लेकर निकाय, पंचायत व लोक सभा चुनावों में पार्टी प्रत्याशियों की बाबत ''फीड बैक" भी दे गया है। इस "फील गुड" के कारक भी इसी "फीड बैक" में छुपे हुए हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं ने नए अध्यक्ष के समक्ष अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं के लिए अपनी गुटीय निष्ठाओं को दरकिनार कर जिस तरह पलक पांवड़े बिछाए, उससे ''फील गुड इफेक्ट" के साथ ही संगठन विस्तार व आगामी चुनावों के लिए ''फीड बैक" भी लेकर तीरथ कुमाऊं से लौटे हैं।

अरविंद केजरीवाल के खुलासे अब तमाशे बन कर रह गए हैं

आम आदमी पार्टी की घोषणा के साथ ही अरविंद केजरीवाल बार-बार कह रहे हैं कि उनका उद्देश्य सत्ता प्राप्त करना नहीं वरन् व्यवस्था परिवर्तन करना है। केजरीवाल व्यवस्था परिवर्तन की बात ऐसे कर रहे हैं जैसे मानो व्यवस्था कोई घर का बर्तन है, जिसे बदल कर नया बर्तन ले आएंगे। माना सारी बीमारियों की जड़ अंग्रेजों द्वारा दी गई यह व्यवस्था ही है, मगर क्या इसे बदलना इतना आसान है जितना केजरीवाल समझ रहे हैं?

एनई सुनीत निगम ने विराट वैभव से नाता तोड़ा

राजधानी से प्रकाशित हिंदी दैनिक 'विराट वैभव के संस्थापक समाचार संपादक सुनीत निगम ने अचानक संस्थान को अलविदा कहकर प्रबंधन को तगड़ा झटका दिया है। आठ साल पहले अखबार की लॉन्चिंग करने वाले सुनीत निगम ने कटेंट के स्तर पर तो अखबार को दिल्ली की मार्केट में पहचान दिलाई लेकिन प्रबंधन की नीतियों के चलते सात साल बाद भी अखबार की वह पहचान नहीं बन पाई जो आज होनी चाहिए थी।

हैदराबाद में रक्‍तदाताओं की लगी कतार

एक तरफ थीं आतंक से लथपथ लाशें। दहशत और सहमा माहौल। दूसरी तरफ, आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देती भाईचारगी विस्फोट में जख्मी लोगों की जान बचाने में लगी थी। क्या हिन्दू क्या मुस्लिम उस्मानिया हास्पिटल, ओवैसी व गांधी अस्पताल में खून देने वालों की लग गई थीं लंबी कतार। हैदराबाद से प्रो. मोहम्मद फरियाद ने वहां के ताजा हालात का हवाला देते हुए दूरभाष पर यह जानकारी दी।

संघ के इशारे पर संसद में आक्रामक रुख अपनाएगी भाजपा

केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे की माफी के बाद भी संघ परिवार का गुस्सा पूरी तरह से शांत नहीं हुआ है। यह जरूर है कि ‘हिंदू आतंकवाद’ के अपने बहुचर्चित बयान पर शिंदे खेद जता चुके हैं। इसे भाजपा नेतृत्व ने स्वीकार भी कर लिया था, लेकिन संघ नेतृत्व ने इस प्रकरण पर अपनी नाराजगी के संकेत दे दिए हैं। संघ के संकेत को समझकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने संसद सत्र में आक्रामक रणनीति बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। उसकी कोशिश है कि सरकार को महंगाई और हेलीकॉप्टर रिश्वतकांड के मामले में ज्यादा घेरा जाए। अपनी रणनीति में विपक्ष के दूसरे दलों को शामिल करने के लिए भी भाजपा नेता ‘संवाद’ शुरू कर रहे हैं।

जब गलत-सही काम कर ही रहे थे तो भीख मांगने की क्‍या जरूरत थी पत्रकार मित्रों?

ग्रामीण पत्रकार को स्टाफर की तरह मोटी पगार मिले। संपादक जैसी सुविधायें मिले। गाड़ी मिले, घर मिले, तरह तरह के भत्ते मिले। संवादसूत्र और संवाददाता के काम से ही पूरा मीडिया हाउस चलता है, वो ही पत्रकारिता के असली लड़ाकू हैं लेकिन अखबारों के मालिक मोटी रकम खुद रखकर जमीन से जुडे़ ऐसे जुझारू लोगों को कुछ नही देते, यदि उनके साथ ऐसा ही होता रहा तो भारत से पत्रकारिता का नाश हो जायेगा और न जाने क्या-क्या कहा नासमझ पत्रकारों ने कहा। जिन्हें पत्रकारिता की जानकारी थी वो तो बोले ही, वो भी खूब चिल्लाये जिनका लेखनी से कोई लेना देना तक नहीं थी।

Journalist killed in Sukma, ‘Maoists’ flip-flop on role

The murder of a journalist in Sukma district last week has exposed the warped relations between Maoists, scribes and businessmen involved in petty smuggling. While it is not clear whether Nemichand Jain, 42, was killed by Maoists for being a police informer or personal enmity was the cause of the murder, all persons associated with the murder have links with the rebels.

अपने देश में आतंक से दुखी हैं पाकिस्‍तानी पत्रकार

चंडीगढ : सिटी ब्यूटीफुल में चंडीगढ़ प्रेस क्लब द्वारा आयोजित की गई पंज दरिया कांफ्रेंस में भाग लेने आए 32 सदस्यीय पाकिस्तानी जर्नलिस्टों के दल में शामिल कई पत्रकार अपने देश में खराब कानून व्यवस्था की स्थिति से बहुत खिन्न हैं। इस दल में चार पाकिस्तानी महिला जर्नलिस्ट भी शामिल हैं। स्थानीय पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में वह तस्लीम करते हैं कि पाकिस्तान में हालात अब इतने खराब हैं कि किसी को भी किसी पर भरोसा नहीं रहा। कल क्या होगा इस पर लगातार अनिश्चितता बनी रहती है। लोग घरों से निकलने से कतराते हैं और भीड़-भाड़ वाले इलाकों से दूर रहना ही गनीमत समझते हैं।

न्‍यूज नेशन को अलविदा कर आजतक में एसोसिएट एडिटर बनीं चारुल मलिक

अल्‍फा समूह के चैनल न्‍यूज नेशन को बड़ा झटका लगा है. चैनल की प्रमुख एंकर तथा एडिटर कम इंटरटेनमेंट हेड चारुल मलिक ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे एबीपी न्‍यूज को छोड़कर न्‍यूज नेशन पहुंची थीं. चारुल ने अपनी नई पारी आजतक चैनल के साथ शुरू की है. वे कुछ समय पहले ही न्‍यूज नेशन पहुंची थी. चारुल का जाना न्‍यूज नेशन के लिए बड़ा झटका है. चारुल आजतक में एसोसिएट एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे मुंबई में रहकर एंकरिंग करने के साथ इंटरटेनमेंट शोज की जिम्‍मेदा‍री भी संभालेंगी.

साधना न्‍यूज से अवनीश एवं राकेश की पारी खतम

साधना न्‍यूज, देहरादून से खबर है कि यहां छंटनी शुरू हो गई है. प्रबंधन ने यहां से दो लोगों को बाहर का रास्‍ता दिखा दिया है. अवनीश पाल एवं राकेश रावत को चैनल से हटा दिया गया है. अवनीश पाल लम्‍बे समय से साधना के साथ रिपोर्टर के रूप में जुड़े हुए थे. राकेश रावत कैमरामैन के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे. खबर आ रही है कि यूपी-उत्‍तराखंड में कुछ और बदलाव किए जा सकते हैं. इसके पहले लखनऊ में दो लोग साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर समाचार प्‍लस चले गए थे.

राज एक्‍सप्रेस ने प्रकाशित की गलत सूचना, अर्जुन सिंह ने की शिकायत

नरसिंहपुर में राज एक्‍सप्रेस पर गलत सूचना प्रकाशित कर अर्जुन सिंह राजपूत की छवि खराब करने का आरोप लगा है. अर्जुन सिंह राजपूत का कहना है कि उनके खिलाफ राज एक्‍सप्रेस में रंजिशन खबर प्रकाशित करवाया गया. इससे उनकी छवि की गहरा धक्‍का लगा है. अखबार ने बिना तथ्‍यों की जांच किए उनके नाम से ठेकेदारी की खबर प्रकाशित कर दी, जबकि उनका इस मामले से कुछ भी लेना देना नहीं था. अखबार के रिपोर्टर ने उनके विरोधी की शह पर अखबार में यह खबर प्रकाशित की.

कटघरे में काटजू, पद की गरिमा और प्रेस कौंसिल की औकात

जस्टिस मार्कंडेय काटजू एक बार फिर खबरों में हैं। और बीजेपी भड़की हुई है। काटजू ने एक लेख लिखा। उसमें कहा कि गोधरा में क्या हुआ था, अभी भी यह एक रहस्य है। काटजू ने मुसलमानों को निशाना बनाने और लोगों को जान से मारने की कार्रवाई की हिटलर से तुलना की। वे यह मानने के लिए तैयार नहीं हैं कि दंगों में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का कोई हाथ नहीं था। उन्होंने मोदी के विकास के दावों को भी ख़ारिज किया। लेख में उन्होंने अंत में अपील की थी कि लोग अपने वोट डालते समय ख़्याल रखें नहीं तो वे भी वहीं ग़लती करेंगे जो जर्मनी की जनता ने हिटलर को जिताकर की थी। कांग्रेस और उसके समर्थकों ने काटजू की पीठ थपथपाई और जमकर तारीफ की।

जागरण ने इलाहाबाद से भेजा हिसार तो ज्ञानेश्‍वर ने भेजा नोटिस

दैनिक जागरण में फिर एक बार छंटनी जैसा माहौल बनाया जाने लगा है. पिछले दिनों कई यूनिट में एक-एक करके कर्मचारियों से इस्‍तीफे मांगे गए या उनका तबादला दूरदराज इलाकों में कर दिया गया. अब खबर इलाहाबाद से है. यहां पर मोडम यानी कम्‍युनिकेशन में कार्यरत ज्ञानेश्‍वर श्रीवास्‍तव का तबादला हिसार के लिए कर दिया गया. ज्ञानेश्‍वर एक दशक से भी ज्‍यादा समय से अखबार के साथ जुड़े हुए थे. माना जा रहा है कि उनको परेशान करने के लिए प्रबंधन ने ये तबादला किया है.

वरिष्‍ठ पत्रकार शीतला सिंह पर चारसौबीसी का आरोप, कोर्ट ने किया तलब

फैजाबाद के वरिष्‍ठ पत्रकार जनमोर्चा के संपादक एवं भारतीय प्रेस परिषद के सदस्‍य शीतला सिंह, सुश्री सुमन गुप्‍ता एवं ऋषिकेश उपाध्‍याय को आरोपी मानकर कोर्ट ने 29 मार्च को अदालत में तलब किया है. इन लोगों पर आरोप है कि इन लोगों ने पत्रकार प्रशिक्षण के नाम पर लोगों से धोखेबाजी की. फैजाबाद में बंगला नम्‍बर चार में चले वाले पत्रकार प्रशिक्षण संस्‍थान के माध्‍यम से इन लोगों ने लोगों से ठगी और धोखेबाजी की.

उत्‍तराखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार जीएन बलौदी का निधन

देहरादून। उत्तराखण्ड के वरिष्‍ठ पत्रकार व दादा जी के नाम से जाने जाने वाले जीएन बलौदी के निधन से पत्रकार जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। पत्रकारिता जीवन में हमेश अलग करने वाले  व्यक्ति के रूप में हमेशा उन्हें याद किया जाता रहेगा। बीते बुधवार को उनका निधन हो गया। वह पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। उनका अन्तिम संस्कार हरिद्वार में किया गया।

प्रभाष जोशी और राहुल देव अंग्रेजी से हिंदी पत्रकारिता में आए थे

द्विभाषी होना अच्छी बात है। अगर आप हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी में भी समान अधिकार रखते हैं तो यकीनन आपमें संभावनाएं कहीं ज्यादा हैं। प्रभाष जोशी और राहुलदेव अंग्रेजी से हिंदी में आए थे और बेहतर पत्रकार साबित हुए। लेकिन इसे आम नजीर मानकर यह प्रयोग किया जाए तो रिजल्ट हास्यास्पद भी हो सकते हैं। हमें कहीं न कहीं प्रोफेशनलिज्म के साथ ही वोकेशनलिज्म को भी समझना होगा।

अरिंदम चौधरी के IIPM को लेकर तीखा हुआ यूजीसी का रुख

नई दिल्ली। यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमिशन (यूजीसी) ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ प्लानिंग एड मैनेजमेंट (आईआईपीएम) को लेकर रुख कड़ा कर लिया है। यूजीसी ने जुलाई 2012 के नोटिस को एक बार फिर अपनी वेबसाइट पर पोस्ट किया है। इस नोटिस में स्टूडेंट्स को चेताया गया है कि आईआईपीएम को यूजीसी की मान्यता नहीं मिली है। यह इंस्टीट्यूट डिग्री नहीं दे सकता। यूजीसी आईआईपीएम के खिलाफ लीगल ऐक्शन का भी मन बना रहा है।

युवा पत्रकारों को अपने अधिकार का ज्ञान होना चाहिए : केजरीवाल

नई दिल्‍ली : अगर समाज को परिवर्तित करना है तो हमें राजनीति के अंदर जाना होगा, क्योंकि सिस्टम में रहकर ही सिस्टम को बदला जा सकता है सिस्टम से बाहर आकर नहीं। यह बात बीएलएस तकनीकी एवं प्रबंधन संस्थान (गुरु गोबिंद सिंह इन्द्रप्रस्थ विश्वविद्यालय से सम्बद्ध) के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा आयोजित ‘‘मीडिया कन्क्लेव- मीडिया एज ए केटेलिस्ट ऑफ सोसायटी’’ के दौरान बतौर मुख्य अतिथि अरविन्द केजरीवाल, सामाजिक कार्यकर्ता एवं अध्‍यक्ष आम आदमी पार्टी ने सभी संस्थानों से आए हुए पत्रकारिता के शिक्षकगणों व विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कही।

अवनीश ने अमर उजाला एवं आशुतोष ने दैनिक जागरण ज्‍वाइन किया

शाहजहांपुर से खबर है कि स्‍वतंत्र भारत में कार्यरत अवनीश मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे क्राइम रिपोर्टर थे तथा तीन सालों से अखबार के साथ जुड़े हुए थे. अवनीश ने अपनी नई पारी शाहजहांपुर में ही अमर उजाला के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी रिपोर्टर बनाया गया है. अवनीश ने अपने करियर की शुरुआत दस वर्ष पहले स्‍वतंत्र भारत, खुटार से की थी. इसके बाद से राष्‍ट्रीय सहारा, शाहजहांपुर से जुड़ गए. वहां से इस्‍तीफा देने के बाद वापस स्‍वतंत्र भारत से जुड़ गए थे.

उत्‍तराखंड मीडिया सेंटर में विवाद, नारायण परगांई को जान से मारने की धमकी

देहरादून। खबर के खिलाफ बिलबिलाते हुए लोगों को तो देखा होगा लेकिन बिना नाम छपे ही मीडिया सेन्टर में ‘‘पत्रकारों को किया कैद‘‘ नामक खबर से रोजाना चाय की चुस्की लेने वाले ऐसे तथाकथित पत्रकार बिलबिला उठे कि जैसे वह फिल्मी स्टाइल में अपनी गुन्डई दिखा रहे हों। मीडिया सेन्टर सचिवालय में आज जी न्यूज के स्ट्रिंगर नरेश तोमर, न्यूज 24 के अधीर यादव व राजेश वर्मा ने अपना आपा इस कदर खो डाला कि गाली-ग्‍लौज से लेकर जान से मारने तक की धमकी दे दी गई।

क्या अरिंदम चौधरी के मीडियामैन सुतनू गुरु फायर कर दिए गए हैं?

: अरिंदम चौधरी की मीडिया कंपनी के एक इंप्लाई का ये मेल भड़ास के पास आया है… :  Dear, I am working in Planman Media Pvt Ltd. Salary nhe de rhe Oct se abhe tk nhe aye. Samj nhe aa rha , Coffee machine mein dudh nhe hai , Toilet mein soap nhe hai , Security wale Gate bnd kr dete hai A. Sanddep ko b ander nhe ane dete , Bs surity ki mail ate rehte hai.Hum logo ko bhut assure kea jata hai k salary next month aa jaige pr nhe ate.

नीरा राडिया मामला : टेप की जांच के लिए समिति गठित

नई दिल्ली : सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को पूर्व कारपोरेट लॉबिस्ट नीरा राडिया के टेलीफोन रिकार्ड की जांच के लिए छह सदस्यों वाली एक समिति का गठन किया. समिति यह जांच करेगी कि क्या टेप में रिकार्ड बयान कानून का उल्लंघन करता है और क्या अभियोग चलाया जा सकता है. समिति चार महीने में रिपोर्ट दाखिल करेगी. न्यायमूर्ति जी.एस. सिंघवी की पीठ ने कहा, "टीम में पांच सदस्य केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से और एक आयकर विभाग से होंगे."

उस गिरोह में चैनल मालिकान भी शामिल हैं, जिनकी चाकरी हमारे ‘सरोकारी पत्रकार’ बजा रहे हैं

: बनाना चैनलों के मैंगो पिपुल कौन हैं? : अच्छा हुआ कि डेविड कैमरन ने कह दिया कि जलियाँवाला बाग वाली घटना शर्मनाक थी। शर्म  उन्हें सचमुच में आयी या नहीं पता नहीं, पर अपने टीवी एंकरों के कपोलों पर लाली साफ नजर आयी। 'हाय! मैं शर्म से लाल हुई' की तर्ज पर बताने लगे कि हमारे पुराने आका को अपने करतूतों पर शरम आ रही है। जितना कैमरन शर्माये उससे ज्यादा अपने चैनल शर्माये।

बिहार विधान सभा के प्रेस दीर्घा से बाहर किये गये पत्रकार

गुरुवार को बिहार विधान सभा के प्रेस दीर्घा से उन पत्रकारों को बाहर किया गया, जिनके पास विधान सभा सचिवालय द्वारा कवरेज के लिए निर्गत पास नहीं था। बिहार विधान मंडल सत्र के दौरान विधान सभा सचिवालय और विधान परिषद सचिवालय अलग-अलग पास निर्गत करता है। कुछ पत्रकारों के पास दोनों सदनों का पास होता है तो कुछ के पास किसी एक सदन का।

इशरत जहां फर्जी एनकाउंटर में आईपीएस सिंघल अरेस्‍ट

अहमदाबाद। सीबीआई ने गुजरात में इशरत जहां फर्जी एनकाउंटर केस में पहली गिरफ्तारी की है। उसने आईपीएस अधिकारी जीएल सिंघल को गिरफ्तार किया है। सिंघल इस समय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में एसपी के पद पर तैनात हैं। इस मामले में सीबीआई ने धारा 302 तथा 201 के तहत गुजरात पुलिस के 20 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसमें कॉन्स्टेबल से लेकर गुजरात पुलिस के तत्कालीन कमिश्नर तक शामिल हैं। ये मामला सीबीआई की मुंबई स्पेशल क्राइम यूनिट ने दर्ज किया है।

के विक्रमराव फिर बने आईएफडब्‍ल्‍यूजे के अध्‍यक्ष

नई दिल्‍ली। वरिष्‍ठ पत्रकार के विक्रम राव को 'इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्‍ट्स (आईएफडब्‍ल्‍यूजे) का पुन: अध्‍यक्ष चुना गया है. यह घोषणा आज केंद्रीय चुनाव अधिकारी श्री हिमांशु चटर्जी ने की. कई पुस्‍तकों के लेखक, नियमित स्‍तंभकार श्री राव मणिसाना एवं मजीठिया वेतन बोर्ड में पत्रकारों के प्रतिनिधि रह चुके हैं.

दीपक चौरसिया, कार्तिक शर्मा, विनोद शर्मा को आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने ललकारा… है तुममें हिम्मत!

श्री दीपक चौरसिया जी, जबसे आपने अपने नए चैनल में पत्रकारिता शुरू की है, आप अन्ना आन्दोलन और उससे जुड़े लोगो पर विशेषकर अरविन्द केजरीवाल को निशाने पर रखकर तरह-तरह के आरोप लगा रहे हैं। ये आरोप ऐसे लोगों के बयानों पर टिके हैं जिनकी अपनी ही निष्ठा, न सिर्फ सवालों के घेरे में है, बल्कि इनमे से एक तो आन्दोलन के खिलाफ षड्यन्त्र करते हुए ऑन कैमरा पकड़े भी जा चुके हैं। जो थोड़े बहुत लोग आपका यह चैनल देख पा रहे हैं उनकी सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया से आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि जनता सब समझ रही है। सोशल मीडिया पर आपको इस हरकत के लिए जितने अपशब्द कहे जा रहे हैं उतने शायद ही कभी किसी को सुनने पड़े हों। ऐसे में प्रशन यह उठता है कि फिर भी दीपक चौरसिया यह क्यों कर रहे हैं? इंडिया न्यूज़ यह क्यों कर रहा है?

‘जलेबी लेने गया बच्चा’… यह भी न्यूज है, छप चुकी है, पढ़ें-देखें

अमर उजाला के बदायूं संस्करण में प्रकाशित यह खबर आज चर्चा का विषय बनी हुई है, लोग तो यहाँ तक चुटकी ले रहे हैं कि अमर उजाला वाकई आम आदमी का अखबार है, जो बच्चे के जलेबी लेने जाने की खबरें देने लगा है. इससे सर्कुलेशन में बड़ा इजाफा हो सकता है. लोग तो यहाँ तक कहने लगे हैं कि कल किसी के जलेबी लेकर आने या फिर उसे खाने या फिर टॉयलेट जाने की खबर अमर उजाला में दिख जाए, तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए. खैर, यह तो साफ़ हो ही गया कि आजकल अमर उजाला कैसे हाथों में है?

नीटी के दीक्षांत समारोह में 426 विद्यार्थियों को मिला स्नातकोत्तर उपाधि

राष्ट्रीय औद्योगिक इंजीनियरी संस्थान (नीटी) का हरा भरा परिसर दिनांक 18 फरवरी, 2013 को उस समय जीवंत हो उठा, जब संस्थान ने 426 स्नातकोत्तर छात्रों को 18वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में सम्मानित किया। इस समारोह के मुख्य अतिथि थे पद्मभूषण श्री एफ.सी.कोहली, सॉफ्टवेयर उद्योग के पिता व सेवामुक्त सम्मानीय अध्यक्ष, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस।

पुण्‍य प्रसून बाजपेयी, संजीव चौहान, कुमार राकेश, अमिताभ अग्निहोत्री सहित कई पत्रकार सम्‍मानित

: इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर ने दी आजीवन सदस्यता : नोएडा फिल्म सिटी मारवाह स्टूडियो में आयोजित एक समारोह में देश-विदेश के कई मशहूर पत्रकारों को इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर द्वारा सम्मानित किया गया। तीन दिन तक मारवाह स्टूडियो में पत्रकारिता पर एक इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेमीनार भी चला। सेमीनार समापन दिवस की संध्या पर सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में नाइजीरिया और भारत सहित कई अन्य देशों के भी पत्रकार आमंत्रित किये गये।

मध्‍य प्रदेश में प्रेस और पत्रकारों पर है सेंसरशिप

यह महज संयोग नहीं है कि जब भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष जस्टिस मार्कण्डेय काटजू राज्य सरकारों द्वारा प्रेस के साथ किये जा रहे दोहरे व्यवहार की बात करते हैं, उनकी सूची में भाजपा अथवा भाजपा के सहयोगी दलों द्वारा शासित राज्य ही सबसे ऊपर होते हैं। अब चाहे अरुण जेटली या भाजपा के अन्य नेता समेत केन्द्र की राजनीति में विपक्षी दलों की भूमिका अदा कर रहे तमाम राजनीतिक दल भले ही उन्हें कोसने लगे, लेकिन उनकी विद्वता पर किसी प्रकार का कोई ऐतराज नहीं किया जा सकता और यह संदेह जायज भी नहीं है।

पिंकसिटी प्रेस क्‍लब में चुनावी माहौल शुरू, तीस मार्च को मतदान

: वरिष्‍ठ पत्रकार एलएल शर्मा मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी नियुक्‍त : पिंकसिटी प्रेस क्‍लब जयपुर के वार्षिक चुनाव का माहौल शुरू हो गया है। चुनाव तीस मार्च को होंगे। व़र्तमान प्रबंध कार्यकारिणी ने क्‍लब के चार बार अध्‍यक्ष रहे एलएल शर्मा को मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी नियुक्‍त किया है। शर्मा दैनिक नवज्‍योति समाचार पत्र में मुख्‍य संवाददाता …

दो पत्रकारों ने दोरजी खांडू के बहाने की अरुणाचल प्रदेश की बात

देश के आम जनमानस की बात करें, तो पूर्वोत्तर के राज्यों के बारे में लोग कम ही जानते हैं। वहां का समाज, शासन आदि के बारे में कम ही जानकारियां रखते हैं। ऐसे में सुदूर अरुणाचल प्रदेश, जो कि सामरिक दृष्टिकोण से काफी अहम है, के बारे में विस्तार से लिखा है दो पत्रकारों ने। अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू को केंद्र में रखकर पुस्तक लिखी गई है – ‘कर्मवीर खांडू’। करीब पौने दो सौ पन्नों की इस पुस्तक में दोरजी खांडू के बहाने अरुणाचल प्रदेश की राजनीति, कला-संस्कृति, समस्या और विकास की चर्चा की गई है।

साक्षी मीडिया के मालिक जगन की अरबों की सम्‍पत्ति होगी जब्‍त

नई दिल्ली : वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख जगनमोहन रेड्डी और उनके सहयोगियों के खिलाफ धनशोधन की जांच के संबंध में एक प्राधिकरण द्वारा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कुर्की को बुधवार को मंजूरी मिलने के बाद ईडी 122 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त करेगा। धनशोधन रोकथाम कानून के प्राधिकरण ने आज एजेंसी के 51 करोड़ और 71 करोड़ रुपये के दो अलग-अलग कुर्की आदेशों को मंजूरी दी जिसके बाद ईडी द्वारा तत्काल जब्ती का रास्ता साफ हो गया है।

न्‍यूज11 से इस्‍तीफा देकर राकेश कुमार नक्षत्र न्‍यूज से जुड़े

झारखंड के रीजनल चैनल न्‍यूज11 से राकेश कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर ब्‍यूरोचीफ थे. राकेश ने अपनी नई पारी नक्षत्र न्‍यूज के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां पर न्‍यूज कोआर्डिनेटर बनाया गया है. राकेश कुमार पिछले डेढ दशक से पत्रिकारिता में सक्रिय हैं. इनकी प्रिंट एवं इलेक्‍ट्रोनिक दोनों माध्‍यमों पर गहरी पकड़ है. राकेश का इस्‍तीफा न्‍यूज11 के लिए झटका माना जा रहा है.

गहलोत की धार, कटारिया की कटार और वसुंधरा के वार

राजस्थान विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है। सीएम अशोक गहलोत अदम्य साहस के साथ खड़े हैं। सरकार सधी हुई है। बचाव की मुद्रा में नहीं है, लेकिन हाथ में ढाल है। ढाल इसलिए, क्योंकि सरकारें हमारी माई बाप हुआ करती हैं और लोकतंत्र के माई बापों के हाथों में तलवारें शोभा नहीं देती। मगर, विपक्ष के हाथ में तलवार है और वार भी। बहुत सारे लोगों के हाथों में बहुत सारी तलवारें। एक एक के हाथ में अनेक तलवारें। कहीं आपस में ही न लड़ मरें। हमारे देश में और हर प्रदेश में हर बार, संसद और विधान सभाओं में जैसा भी माहौल होता है, वैसा ही जयपुर में भी है। लेकिन थोड़ा सा अलग। वसुंधरा राजे प्रदेश बीजेपी की मुखिया बन गई है और गुलाब चंद कटारिया विपक्ष के नेता। बाहर से सब कुछ ठीक ठाक। लेकिन अंदर घमासान। फुल। कोई किसी का मुंह भी देखना नहीं चाहता।

खुमार बाराबंकवीं की पुण्यतिथि को भूल गयी बाराबंकी की अवाम

बाराबंकी। दुनिया में देश का नाम रोशन करने वाले मशहूर शायर खुमार बाराबंकवी को उनकी पुण्यतिथि पर लोग भूल गये। किसी ने मुशायरा और कवि सम्मेलन तो छोड़िए उनकी कब्र पर जाकर दो फूल डालना भी मुनासिब नहीं समझा। अफसोस तो इस बात का है कि खुमार अकादमी और खुमार एसोसिएशन व खुमार फैन्स क्लब नाम की संस्थाओं ने खुमार साहब के इन्तकाल के बाद उनके नाम को भुनाने के लिए झगड़ा तो खूब किया लेकिन आज पुण्यतिथि पर उनकी याद में कोई छोटा-मोटा कार्यक्रम भी नहीं किया।

‘आपको सिर्फ मसाला चाहिए’, अन्‍ना ने भी दीपक चौरसिया पर उठाया सवाल

नई दिल्ली। दीपक चौरसिया को तो आप जानते ही होंगे। आजतक के जरिए टीवी चैनल की दुनिया में आए। फिर डीडी न्यूज भी गए और अब कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा के इंडिया न्यूज चैनल में मुख्य संपादक की नौकरी कर रहे हैं। यहां से पहले वे एबीपी न्यूज में नौकरी कर रहे थे। वैसे भी चौरसिया इन दिनों खूब चर्चा में हैं। चाहे भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष मारकंडेय काटजू द्वारा उन्हें धमकाने की बात हो या फिर आम आदमी पार्टी से टकराव की बात हो, दीपक चौरसिया ने भी एक तरह से खुद को चर्चित करने के लिए बॉलीवुड का सा फार्मूला ढूंढ लिया लगता है। जहां हर फिल्म को चर्चित करवाने के लिए एक नया विवाद पैदा करना पड़ता है। यही हालत इन महोदय की है।

‘मीडिया केवल नकारात्‍मक खबरों पर ध्‍यान केंद्रित रखती है’

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने  कहा कि अगर मीडिया सिर्फ नकारात्मक खबरों पर ही अपना ध्यान केंद्रित रखती है तो सरकार को लोगों तक पहुंचने के लिए अन्य रास्ते तलाश करने होंगे। सिब्बल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘आप बहुत सी बातें लोगों तक नहीं ले जाते। हम इस पहल के जरिए प्रयास कर रहे हैं कि  क्योंकि अगर बुद्धिजीवी यहां एक साथ हैं, तब वे अपने साथ संदेश ले जाएंगे कांग्रेस पार्टी की नीतियां, उसके विचार और जमीन पर वह क्या कर रही है भारत में अक्सर लोग सिर्फ नकारात्मक खबरें ही पढ़ते हैं लेकिन हम सकारात्मक पहलुओं के बारे में चर्चा कर रहे हैं।’’

पत्रकार आत्महत्या मामले के बाद थाना प्रभारी का तबादला

डबवाली : पत्रकार सतीश मोदी द्वारा आत्महत्या करने के मामले में डबवाली के सिटी थाना प्रभारी रवि खुंडिया का तबादला सिरसा कर दिया गया है। उनके स्थान निरीक्षक दलीप सिंह को डबवाली थाने का प्रभारी नियुक्त किया गया है। पत्रकार सतीश मोदी ने 17 फरवरी को बठिडा में जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या कर ली थी। सतीश मोदी की जेब से मिले सुसाइड नोट में डबवाली के डीएसपी पूर्ण चंद पंवार और तत्कालीन थाना प्रभारी रवि खुंडिया सहित नौ पर कथित तौर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया था।

पत्रकार रवींद्र शाह को इंदौर में सुरमयी श्रद्धांजलि दी गई

इंदौर :  स्व. रवीन्द्र शाह की स्मृति में बुधवार संगीत कार्यक्रम का आयोजन किया गया और उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई। उल्लेखनीय है कि ठीक एक साल पूर्व 20 फरवरी, 2012 को एक सड़क दुर्घटना में श्री शाह का असामयिक निधन हो गया था। 'अस्त न होगा रवि' शीर्षक से आयोजित कार्यक्रम का आयोजन संस्था परितृप्ति और युवा वाग्मी सभा द्वारा किया गया था। इस अवसर पर गौतम काले, राकेश नागर, शिफा अंसारी और साथियों ने कई गीत प्रस्तुत किए।

”हड़ताल से धनपशुओं का नुकसान… होने दीजिए… रोज़ फायदा ही कमाएंगे हरामखोर?”

Abhishek Srivastava : गुरदास दासगुप्‍ता कुछ दिनों से इस बात को लेकर परेशान थे कि हड़ताल सम्‍बन्‍धी बयान कोई नहीं छाप रहा/दिखा रहा है। दस दिन पहले तक स्थिति यह थी कि भाषा के एक रिपोर्टर दीपक रंजन ने जब उनका एक साक्षात्‍कार लिया, तब जाकर खबर चल सकी। प्रधानमंत्री के परसों अपील करते ही हालांकि खबर अचानक बड़ी बन गई। और चैनलों की स्‍वामिभक्ति देखिए कि आज सब जगह लिखा आ रहा है: … हज़ार करोड़ की हड़ताल/देश को नुकसान, आदि।

‘हड़ताल पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का भ्रम आजतक चैनल पर साफ दिखा’

Abhishek Srivastava : ‎'आज तक' चैनल के रिपोर्टर पुण्‍य प्रसून वाजपेयी हमेशा की तरह आज भी पटरी से उतरे हुए हैं। हड़ताल पर उनका भ्रम साफ दिख रहा है, न निगल पा रहे हैं, न उगल पा रहे हैं और जबरन डबल विंडो में बीजेपी की रैली के साथ उसका घालमेल कर के खिचड़ी पकाए दे रहे हैं। अचानक कभी स्‍वदेशी जागरण मंच के किसी नेता का प्रोफाइल बताने लगते हैं, तो कभी अहमदाबाद के बस स्‍टैंड पहुंच जाते हैं। उधर उनकी सहयोगी महिला रिपोर्टराएं नई दिल्‍ली स्‍टेशन पर भारी भीड़ बता रही हैं, लेकिन फ्रेम में सामान्‍य दिनों से कम भीड़ दिख रही है।

दैनिक जागरण का स्टाफ रिपोर्टर तिहाड़ जेल में बंद, डेढ़ करोड़ की ठगी का आरोप

दैनिक जागरण कार्यालय फिरोजपुर में पिछले दस वर्ष से सेवाएं दे रहे विजय शर्मा के बारे में पता चला है कि वे इन दिनों तिहाड़ जेल में बंद हैं.  बताया जाता है कि उन पर दिल्ली में डेढ़ करोड़ रूपए की ठगी का आरोप है. जानकारी के मुताबिक बिहार के सांसद पप्पू यादव के रिश्तेदारों का रोहिणी साऊथ में करीब पांच करोड़ रूपए का एक प्लॉट पड़ा था और विजय शर्मा ने अपने मामा व फिरोजपुर के आढ़तिया धर्मपाल वलायत के साथ मिलकर जॉली पॉवर ऑफ अटार्नी तैयार की और उस प्लॉट को हरियाणा के एक पॉलीटीशियन को बेच डाला.

‘देशभक्त हैं दीपक चौरसिया और जेसिका के हत्यारे मनु शर्मा का परिवार, जिसके चैनल की ये मुहिम है’ (देखें वीडियो)

Dr. Kumar Vishwas : हा हा हा… सही जा रहे हो राष्ट्र-योद्धाओ…कौरव-दल पगला रहा है! चैरैवैती-चैरैवैती! हा हा हा…ओके! देशभक्त हैं कांग्रेसी, भाजपाई, दीपक चौरसिया, अग्निवेश, जेसिका के हत्यारे मनु शर्मा का परिवार जिस के चैनल की ये मुहिम है! देशद्रोही हैं कुमार विश्वास, अरविन्द केजरीवाल, मनीष, संजय सिंह! खत्म हो गया भ्रष्टाचार, हो गया देश खुशहाल? अब खुश? सबका हिसाब होगा भैये समय के सामने! इतने क्यूँ परेशान हो? हा हा हा !

शालिनी ने सुनाई दास्तान- भारत में सोते वक्त वेटर ने की थी रेप की कोशिश

अमेरिका से शालिनी एक डाक्यूमेंट्री बनाने भारत आईं. एक अमेरिकी आर्गेनाइजेशन ने उनकी भारत यात्रा प्रायोजित की थी. वे दक्षिण भारत के एक होटल में रुकी थीं. होटल के वेटर ने रेप की कोशिश की. तब वे सो रही थीं. वेटर ने उनका मुंह दबा लिया. वे घुटन महसूस करने लगीं. मुंह से खून बहने लगा. वो उस दरिंदे से खुद को बचाने में पूरी उर्जा के साथ जुट गईं. आखिर में उस वेटर ने जब यह देखा कि शालिनी के अंत तक भरपूर विरोध के कारण वह अपनी वहशियाना हरकत में कामयाब नहीं हो पाएगा तो उसने यह कहकर शालिनी को छोड़ा कि होटल के मैनेजर से उसकी शिकायत बिलकुल न करे.

भूख से तड़पती कम उम्र की तीन बहनों के साथ बलात्कार और हत्या

महाराष्ट्र के एक गांव की हृदयविदारक घटना है. 11, 9 और 5 साल की तीन बहनें भूख से तड़प रही थीं. उनके पिता मर चुके हैं. मां मजदूरी करती हैं, सो वो घर से दूर थीं. घर पर खाने को कुछ नहीं था. भूख से बेहाल बहनें घर से निकल गईं और पास के सड़क पर चल रहे ढाबे के पास पहुंच गईं. चार दिन बाद उन तीनों की लाश मिली. तीनों के साथ भयानक तरीके से बलात्कार किया गया था. फिर उनकी हत्या करके उन्हें कुआं में फेंक दिया गया.

जूं ने काटा नहीं कि केमिकल लोचा शुरू!

ए जूं पूरे हिंदुस्तान को काट लेकिन जज साहब को मत काट जू। तू काटेगी और जज साहब के उर्वर दिमाग़ में कुछ ना कुछ केमिकल लोचा होगा, केमिकल लोचा होगा तो बयानों के गोले फूटेंगे और यत्र-तत्र सर्वत्र गिरेंगे, कई लोग घायल होंगे। देश भर में खलबली मचेगी, न्यूज़ चैनल सबकुछ छोड़कर इसी गोलाबारी की ख़बर पर लाइव-लाइव खेलने लगेंगे। तेरे काटते ही जज साहब एकदम कटखने हो जाएंगे, इसलिए करबद्ध और कातर प्रार्थना है, और किसी को काट लेकिन जब साहब को मत काट जू।

सपा जिलाध्यक्ष ने खबर छापने के लिए दिए अजमेर के पत्रकारों को मोबाइल फोन

हमेशा की तरह पूरे 36-48 घंटे इंतजार किया कि किसी का तो जमीर जागेगा और शायद 'भड़ास' पर यह खबर पढ़ने को मिलेगी। जब देखा 'भड़ास' पर इस खबर की एक लाइन नहीं है, फिर तय किया, चलो इस बार भी अपन ही खबर भेजें। तो हुआ यूं कि आन-बान-शान के लिए जाने वाले राजस्थान के मेरे शहर 'अजमेर शरीफ' के पत्रकारों ने कल फिर एक गुल खिला दिया।

काटजू को अपने पद की गरिमा का ख्‍याल रखना चाहिए : नीतीश

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने बारे में भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) के अध्यक्ष माकेर्ंडय काटजू द्वारा की गई टिप्पणी पर बुधवार को सख्त ऐतराज जताते हुए कहा कि उन्हें पद की गरिमा का ख्याल रखना चाहिए। बिहार विधानमंडल के संयुक्त सत्र के दौरान परसों दिए गए राज्यपाल के अभिभाषण पर वाद-विवाद के बाद आज सरकार की ओर से जवाब देते हुए नीतीश ने बिहार में प्रेस की आजादी को लेकर पीसीआई दल की रिपोर्ट को पूर्वाग्रह से ग्रसित विचार बताते हुए अपने बारे में काटजू द्वारा की गई टिप्पणी पर आज सख्त ऐतराज जताया और कहा कि उन्हें पद की गरिमा का ख्याल रखना चाहिए।

आसाराम ने कहा – संतों को बदनाम कर रही है मीडिया

आसाराम बापू ने पर आरोप लगाया है कि मीडिया विदेशी एनजीओ के इशारे पर संतों को बदनाम कर रहा है. प्रवचनकर्ता आसाराम बापू ने बुधवार को कहा कि विदेशी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) धन का इस्तेमाल करके मीडिया के जरिये उन्हें तथा देश के अन्य संत-महात्माओं को बदनाम करने की मुहिम चला रहे हैं.

जब काटजू़ ने तुम्हें ज़लील कर निकाला तो दिल को राहत मिली

लम्बे समय अंतराल के बाद आज फिर भड़ास पर कुछ लिखने का मन हुआ। ‘नो वन किल्ड जसिका’ फिल्म रिलीज़ के वक्त मैंने उन पत्रकारों को लानत भेजी थी जो हत्यारों के एक चैनल व अखबार में कार्य कर रहे थे। आज एक बार फिर इस देश में आम आदमी की बात को दबाने के लिए कांग्रेस जिस चैनल का सहारा ले रही है, वह है इन्हीं हत्यारों का चैनल ‘इंडिया न्यूज़’। दरअसल कांग्रेस पार्टी से संबंधित एक नेता के चैनल को इन दिनों अरविंद केज़रीवाल एवं उनकी टीम के पीछे लगा दिया गया है। इस काम के लिए दीपक चौरसिया व उनके जैसे कई बड़े नामों को चैनल से जोड़ा गया है।

जब भी हड़ताल होती है तब सारे चैनल सरकार और पूंजीपतियों के रनिंग डॉग हो जाते हैं

Himanshu Kumar : समाज के अन्याय के मामलों में कानून का बहाना बनाने वालों को ये भी स्वीकार कर लेना चाहिये कि जनरल डायर का गोली चलाना भी कानूनी था. भगत सिंह की फांसी भी कानूनी थी. सुक़रात को ज़हर पिलाना कानूनी था. जीसस की सूली की सज़ा कानूनी थी. गैलीलियो की सज़ा कानूनी थी. भारत का आपातकाल कानूनी था. गरीबों की झोपडियों पर बुलडोजर चलाना कानूनी है. आज की हड़ताल गैरकानूनी है. अंग्रेज़ी राज का विरोध गैरकानूनी था. सुकरात का सच बोलना गैरकानूनी था. कानून और गैरकानूनी तो ताकत से निर्धारित होते हैं महाराज. आज तुम्हारे पास ताकत है इसलिये हम गैर-कानूनी है. कल जब हमारे हाथ में ताकत होगी तब ये मुनाफाखोरी और अमीरी गैरकानूनी मानी जायेगी..

एक और पत्रकार पर क्‍यों फट पड़ी ममता बनर्जी?

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज एक बार फिर अपना आपा खो बैठीं जब एक संवाददाता ने उन्हें बताया कि मजदूर संघों की हड़ताल का राज्य में आंशिक प्रभाव पड़ा है। ममता ने अपना आपा खो दिया और कहा, 'आप किस मीडिया समूह से हैं? आप किसी खास मीडिया समूह से हैं, इसलिये आप इस तरह के सवाल पूछ रहे हैं। कृपया जाकर उन बाजारों को देखिए।'

”कोई भी समाचार चैनल लगाइये और देखि‍ए, कैसे ये चवन्‍नी चोर पत्रकार सपनों की हत्‍या करते हैं”

Jagadishwar Chaturvedi : दो दिन की हड़ताल के बाद मीडिया में जनता बनाम मजदूरवर्ग के हितों के सवाल को खड़ा किया जा रहा है। बार-बार यह दिखाया जा रहा है हड़ताल के कारण बीमार को अस्पताल पहुँचने में तकलीफ हुई, बच्चे स्कूल नहीं जा पाए, आदि सामान्य जीवन के त्रासद दृश्यों को मजदूरों की हड़ताल को जनविरोधी साबित करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। सच यह है कि अपनी मांगों की सुनवाई के लिए मजदूर सालों-साल इंतजार करते रहे हैं, कोई उनकी बात नहीं सुन रहा। औने-पौने मेहनताने पर काम कर रहे हैं। अधिकांश मजदूर अकल्पनीय शारीरिक कष्ट में रहकर काम कर रहे हैं। मीडिया में मजदूरों के कष्टों को न बताना मजदूरों के मानवाधिकारों का उल्लंघन है। यह उल्लंघन हमारा तथाकथित लोकप्रिय मीडिया रोज करता है। वे साल में एक भी दिन मजदूर की बस्ती में नहीं जाते।

भारत बंद की एकतरफा नकरात्मक रिपोर्टिंग हो रही

Mayank Saxena : भारत बंद की एकतरफा नकरात्मक रिपोर्टिंग क्या ये साफ करने के लिए काफी नहीं कि देश और मीडिया को कौन चला रहा है…मीडिया के जन-सरोकारों के दावे सुनते वक़्त आगे से ग़ौर कीजिएगा…आदिवासियों पर बंदूकें तान, गोलियां चला कर और रेप कर के विस्थापन करवाने के नज़ारों को ब्लैक आउट कर देने वाली मीडिया को मजदूरों की हिंसा तो दिखती है…पूंजीपतियों का हज़ारों करोड़ का नुकसान दिखता है…लेकिन सत्ता और पूंजीपतियों की हिंसा से परहेज़ किया जाता है…ज़ाहिर है कुछ तो गड़बड़ है…अगली बार जब कोई बड़ा पत्रकार किसी मंच से कहे कि इस देश में मीडिया ही है जो काफी कुछ बचाए हुए है, तो हंसते हुए उनके मुंह पर निकल जाइएगा…

विजया भारती और ओंकारेश्वर पांडेय एक हुए, विवाद-झगड़ा खत्म

विजया भारती लोकगायिका हैं और वरिष्ठ पत्रकार ओंकारेश्वर पांडेय की पत्नी हैं. पिछले दिनों उन्होंने अपने पति पर कई सारे आरोप लगाए. उन्होंने महुआ चैनल तक पर अपने पति पर खुलेआम कई आरोप लगाए. उन्होंने खुद के जान को खतरा बताया. यहां तक कहा कि उन्हें जबरन पागलखाने में भर्ती कराने की साजिश चल रही है. भड़ास समेत कई वेबसाइटों और शुभचिंतकों ने विजया भारती को मदद दिलाने के लिए उनकी पीड़ा को आवाज दी, मंच प्रदान किया.

रिटायरमेंट के बाद डिप्रेशन के घेरे में आ गया हूं : शंभूनाथ शुक्ला

Shambhunath Shukla : घर में कुल जमा दो लोग हैं। दिल्ली से लेकर कानपुर, कोलकाता, चेन्नई और पुरी तक फैला अपना विस्तार है। जहां चाहूं दौड़कर या अपनी इनोवा गाड़ी खुद ड्राइव करता हुआ जा सकता हूं। समय भी खूब है और बंधन कोई नहीं। उम्र कुल ५८ की है। सरकारी सेवा में रहता तो ६५ साल में रिटायर होता। इस तरह पूरे सात साल मुझे मिल गए हैं सक्रिय रहने के। पत्नी की उम्र मुझसे करीब एक साल ज्यादा है। उनके पैरों में गठिया के कारण चलने फिरने में तकलीफ भी रहती है। लेकिन मैं पाता हूं कि वे मेरी तुलना में अधिक चलखुर हैं।

शर्मनाक : भास्कर वालों ने महाकुंभ में नहा रहीं महिलाओं की तस्वीर छाप दी

Mohammad Anas : कुम्भ के सारे शाही स्नान हो चुके हैं. तब से आज तक इलाहाबाद या फ़िर राष्ट्रीय मीडिया ने स्नान करती हुई महिला श्रद्धालुओं की तस्वीर नहीं छापी, ना तो टेलीविजन पर दिखाई गई. लेकिन दैनिक भास्कर ने ना सिर्फ़ इलाहाबाद प्रशासन के उस आदेश का मखौल उड़ाया जिसमें इस बात की मनाही थी की घाट पर स्नान करती महिलाओं की तस्वीर ना ली जाये, तस्वीर तो ले ही ली और साथ ही में बिना किसी पूर्व सूचना के जिनकी तस्वीरें ली थीं, उन महिलाओं की तस्वीर अपने पोर्टल पर भी डाल दी, जो कि निन्दनीय है! क्या इस बेहुदी हरकत के लिये दैनिक भास्कर वालों को माफ़ी नहीं मांगनी चाहिये और क्या उन्हें तत्काल ही पोर्टल से इन तस्वीरों को नहीं हटाना चहिये, आप तय करें.

आम आदमी पार्टी इस हड़ताल को एतिहासिक मानती है और इसका समर्थन करती है

Aam Aadmi Party : देश के 11 केन्द्रीय मजदूर संगठन हड़ताल पर हैं। साथ ही आटो, टैक्सी बस और कई राज्यों में सरकारी कर्मचारी भी हड़ताल पर हैं। हड़ताली कर्मचारियों की प्रमुख मांगें हैं – 1)महंगाई के लिए जिम्मेदार सरकारी नीतियों में बदलाव 2)महंगाई को देखते हुए न्यूनतम भत्ता बढ़ाया जाए 3)सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी प्राइवेट कंपनियों को न बेची जाए 4)आउटसोर्सिंग के बजाए रेग्युलर कर्मचारियों की भर्तियां हो…

गाजीपुर में हड़ताल के दौरान बवाल, प्रदर्शनकारियों ने सरकारी गाड़ी को किया चकनाचूर

श्रमिक संगठनों की हड़ताल को समर्थन के लिए जुलूस लेकर आ रहे भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने गाजीपुर सदर कोतवाली क्षेत्र मे एक सरकारी कार में ही जमकर तोड़फोड़ कर दी। घटना क्षेत्र के लंका इलाके की है। घटना के बारे मे बताया जा रहा है, कि भाकपा माले कार्यकर्ता आज श्रमिक संगठनों की हड़ताल के समर्थन मे शामिल होने के लिए जुलूस की शक्ल में जिला मुख्यालय आ रहे थे।

जागरण, मेरठ के संपादकीय प्रभारी मनोज झा को प्रदेश गौरव सम्मान

लखनऊ : समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभूतियों को मंगलवार को प्रदेश गौरव सम्मान से नवाजा गया। संगीत नाटक अकादमी में आयोजित समारोह में प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री शाहिद मंजूर ने विभूतियों को सम्मानित किया।

पत्रिका ‘रीडर्स डायजेस्‍ट’ ने कोर्ट में दी दिवालिया घोषित करने की अर्जी

मौजूदा पीढ़ी भले ही जानकारियों और मनोरंजन के लिए इंटरनेट पर जीती हो लेकिन अंग्रेज़ी पढ़ने लिखने वालों की वो पीढ़ी जो कागज़ पर छपने वाली पत्र-पत्रिकाओं की कायल थी ‘रीडर्स डायजेस्ट’ का नाम शायद ही कभी भूलेगी. लेकिन खबरों के मुताबिक ‘रीडर्स डायजेस्ट’ पत्रिका ने अमरीका की एक अदालत के सामने चार साल में दूसरी बार खुद को दिवालिया घोषित किए जाने की अर्ज़ी दी है.

अमर उजाला, बरेली से जेपी शर्मा का इस्‍तीफा, विपुलराज की जिम्‍मेदारी बदली

अमर उजाला, बरेली से खबर है कि जेपी शर्मा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर चीफ सब एडिटर के पद पर कार्यरत थे तथा डेस्‍क इंचार्ज की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. जेपी शर्मा का कुछ समय पहले ही चंडीगढ़ से बरेली के लिए तबादला किया गया था. बीच में वे बीमार पड़ गए थे, जिसके बाद वे छुट्टी पर चल रहे थे. जेपी अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाले हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

चौंकाने वाली है इस पूर्व टीवी एंकर की मौत!

इंदौर। एक साल पहले तक टीवी की चकाचौंध और ग्लैमर में खोई हुई लड़की के अपने अलग ही सपने थे। एक स्थानीय टीवी चैनल में एंकर रहते हुए उसने कई अच्छे शो एंकर किए थे। लेकिन कुछ समय बाद इस फील्ड को छोड़ किसी अन्य क्षेत्र में काम करने के उद्देश्य से उसने एंकरिंग के जॉब को अलविदा कह दिया। वह एक ब्यूटी पार्लर के साथ जुड़ गई और। शनिवार रात उसे एक ऐसी खबर सुनने को मिली, जिसने उसे अंदर तक हिला कर रख दिया। वह उस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पार ही थी।

आजतक से इस्‍तीफा देकर रतिश पहुंचे न्‍यूज नेशन

: गौरी भी देंगी इस्‍तीफा : आजतक से खबर है कि रतिश शिवम त्रिवेदी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे प्रोड्यूसर थे तथा रन डाउन की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. रतिश अपनी नई पारी अल्‍फा समूह के चैनल न्‍यूज नेशन के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर बनाया गया है. वे पिछले पांच सालों से आजतक को अपनी सेवाएं दे रहे थे. रतिश ने करियर की शुरुआत कानपुर में अमर उजाला के साथ की थी. इसके बाद वे स्‍टार न्‍यूज से जुड़ गए. स्‍टार न्‍यूज से इस्‍तीफा देने के बाद आजतक ज्‍वाइन कर लिया था.

साल भर बाद भी नहीं मिली मनरेगा की मजदूरी, कोर्ट ने दिया नोटिस

महराजगंज जिले में एक सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है कि जहां मनरेगा मजदूरों की मजदूरी सप्ताह भर के अंदर ही पेमेंन्ट हो जाने का आदेश है वहीं एक वर्ष बीत जाने के बाद भी अभी मजदूरों की मजदूरी प्राप्त नहीं हुई है। लिहाजा मजदूर जिला न्यायालय में वाद दाखिल किये हैं। जिसमें भूमि संरक्षण अधिकारी एवं अवर अभियन्ता भूमि संरक्षण, परियोजना निदेशक जिला ग्राम्य विकास अभिकरण एवं मुख्य विकास अधिकारी को पार्टी बना न्यायालय ने नोटिस जारी की है।

मीटिंग, मीटिंग मीटिंग और मीटिंग्स में बिज़ी ब्यूरोक्रैट्स!

हमारे देश में डेमोक्रेसी या फिर राजतंत्रीय व्यवस्था लागू है प्रश्न के उत्तर में झट से लोग कहेंगे कि लोकतंत्र (डेमोक्रेसी)। उन्हें हम भी अपनी ही तरह अनुभवहीन कह सकते हैं, क्योंकि हम भी अक्सर अपने व्याख्यानों में अपने को स्वस्थ लोकतंत्रीय प्रणाली वाले देश भारत जो इंडिया है का निवासी बताते हैं। चलिए जो कुछ भी कहा जाए कम ही होगा। हेल्दी डेमोक्रेसी यानि स्वस्थ लोकतंत्र का संचालन आम जनता द्वारा चयनित जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ आई.ए.एस. भी करता है।

FRAUD COMPANY = VODAFONE

Prepaid ( Vodafone ) to Postpaid. (9711043442). MY RECEIPT NO:-83709 dt 06.02.12. I applied for Prepaid (Vodafone) to Postpaid. I would like to lodge a compliant against Vodafone Dealer Sales Excutive Mr.Rohit (8860113413), Mr.Sushil (9873454243) & others c/o M/s.Datasys E Services Private Limited, 8 Rani Jhansi Road, 3rd Floor near Jhandewalan Extn, New Delhi.

हमारी मुखालफत करने के एजेंडे के साथ 6-7 चैनल और आने वाले हैं – केजरीवाल

अन्ना की जान से खेलने के आरोपों पर भावुक हुए अरविंद कहते हैं कि जो लोग अनर्गल आरोप लगा रहे हैं उनके उद्देश्य पर तो मैं कोई टिप्पणी नहीं करूंगा लेकिन इतना जरूर कहूंगा कि अन्ना के लिए अगर सौ बार जीवन कुर्बान करना पड़ा तब भी मैं करूंगा। जनलोकपाल के लिए आंदोलन कर राष्‍ट्रीय पहचान हासिल करने वाले अरविंद केजरीवाल अब स्वराज की बात करते हैं। राजनीति में आने के बाद से ही उनका तरीका और तेवर दोनों बदल गए हैं। वह कहते हैं, 'अभी हमारा उद्देश्य दिल्ली में बहुमत हासिल कर सरकार बनाना है। दिल्ली में कामयाबी के बाद ही हम देश के बाकी हिस्सों में चुनाव लड़ेंगे।' 

वीकली ‘मध्‍यप्रदेश सुधी’ ने खोली उज्‍जैन प्रेस क्‍लब के पदाधिकारियों की पोल

उज्‍जैन प्रेस क्‍लब में मार्च में चुनाव होने वाले हैं. चुनाव को लेकर यहां गहमागहमी है. चुनाव को लेकर आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर भी शुरू हो गया है. प्रेस क्‍लब के पदाधिकारियों के खिलाफ कोई मुंह नहीं खोलता है, परन्‍तु उज्‍जैन से प्रकाशित एक साप्‍ताहिक अखबार मध्‍य प्रदेश सुधी ने प्रेस क्‍लब के पदाधिकारियों के धंधों का खुलासा किया है. अखबार प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष से लगायत सारे पदाधिकारियों के बारे में जानकारी दी है कि सभी पत्रकारिता के आड़ में जमीन का धंधा कर रहे हैं.

जागरण, हल्‍द्वानी के अवैध प्रकाशन का मामला : अयोध्‍या प्रसाद ने अपर निदेशक को लिखा पत्र

उत्‍तराखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार अयोध्‍या प्रसाद भारती ने उत्‍तराखंड के सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के अपर निदेशक डा. अनिल चंदोला को पत्र भेज कर गलत तरीके से सूचना अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी को निस्‍तारित करने की जानकारी दी है. श्री भारती ने हल्‍द्वानी में दैनिक जागरण के अवैध प्रकाशन के संदर्भ में सूचना विभाग से कुछ जानकारियां मांगी थी, परन्‍तु विभाग द्वारा दी गई जानकारी से वे संतुष्‍ट नहीं थे.

सेबी से परेशान सहारा समूह ब्रिटेन में करेगा इंडिया सेंटर की स्थापना

: प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के साथ क्लोज-डोर मीटिंग में ‘सहारा थिंक टैंक’ इनिशियेटिव भी पेश : सहारा इंडिया परिवार ब्रिटेन में ‘इंडिया सेंटर’ की स्थापना करेगा, जो यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट लंदन के साथ ज्वाइंट वेंचर पार्टनरशिप में खोला जाएगा. सहारा इंडिया परिवार के प्रबंध कार्यकर्ता एवं चेयरमैन सहाराश्री सुब्रत रॉय सहारा ने दो इनिशियेटिव्स, ‘सहारा थिंक टैंक’ और ‘इंडिया सेंटर’ के फाइनल हाईलाइट्स ब्रिटेन के प्रधानमंत्री श्री डेविड कैमरन को मुम्बई में हुई क्लोज-डोर राउण्ड टेबल कॉन्फ्रेंस में पेश किए.

अरे कोई इस राहुल भैया को राजनीति सिखाओ भाई… !

हरीश रावत अचानक बहुत खुश हैं। वैसे तो, रावत जितने बड़े आदमी हैं, उत्तराखंड में उससे भी बड़े नेता हैं। केंद्र में मंत्री भी हैं। राहुल गांधी के करीबी हैं और सोनियाजी भी उनको पसंद करती है। कांग्रेस में उनकी चलती है। रावत की जिंदगी में खुश होने के सारे साधन मौजूद हैं। लेकिन फिर भी आजकल अचानक ज्यादा खुश क्यों?

अरिंदम चौधरी के IIPM के फर्जीवाड़ा का पोल खोलने सरकार जाएगी कोर्ट

: ग्‍वालियर कोर्ट के आदेश के खिलाफ अपील करेगी केंद्र सरकार : नई दिल्ली। अरिदंम चौधरी की अगुवाई वाले आईआईपीएम इंस्टीट्यूट के खिलाफ इंटरनेट पर आपत्तिजनक वेबसाइट पेजों को ब्लॉक करने के ग्वालियर जिला अदालत के आदेश के खिलाफ सरकार अपील करेगी। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के एक सूत्र ने कहा, 'मंत्री कपिल सिब्बल ने डेइटी (इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग) को ग्वालियर अदालत के आदेश के खिलाफ अपील करने को कहा है।

राष्‍ट्रीय चैनल पर दो सांसदों ने कर दी लाइव फाइट

जॉर्जिया। भारत में नेताओं के झगड़े तो आपने कई बार देखे हैं। लेकिन विदेशों में भी नेताओं का कुछ ऐसा ही हाल है। ताजा मामला जॉर्जिया का है। वहां के दो एमपी नेशनल टीवी पर लाइव शो में भीड़ गए। हालात कुछ ऐसे हो गए कि चैनल को टेलिकास्ट तक रोकना पड़ा।

नामधारी के समर्थकों ने जागरण के पत्रकार संजय को दी धमकी

मुरादाबाद में दैनिक जागरण के पत्रकार को धमकी मिली है. पोंटी चढ्डा बंधु हत्याकांड में पुलिस द्वारा मुख्य साजिशकर्ता बनाए गए सुखदेव सिंह नामधारी का नाम लेकर कुछ लोग पत्रकार संजय रुस्तगी को को धमकी दे रहे हैं. संजय जागरण से जुड़े हुए हैं. फोन करने वाले खुद को सुखदेव सिंह नामधारी का बेटा, भाई और करीबी बता रहे हैं. धमकी मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लिखित में शिकायत दे दी गई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.