अमर उजाला के गोरखपुर ऑफिस में भी घुसा कोरोना, हड़कंप

अमर उजाला, गोरखपुर के पत्रकार ज्ञान प्रकाश गिरि कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अखबार प्रबंधन ने इसे छिपा कर चुपचाप गीडा स्थित दफ्तर सेनेटाइज करा दिया. अन्य कर्मचारियों को बताया तक नहीं. 28 लोगों को उसी दफ्तर में बैठा कर काम कराया गया, जहाँ उनके कोरोना पॉजिटिव साथी ने एक दिन पहले काम किया था.

इसी बीच सेवा विस्तार पाए एनई कौशल किशोर ने फरमान सुनाया कि कल सबकी कोरोना जांच होगी. इसके बाद लोगों को सुबह हुई और ज्ञान प्रकाश अचानक गायब मिले तो उनसे फोन से बात की. उन्होंने ही अपने संक्रमित होने की जानकारी दी. इस पर घबराए अधीनस्थों से कहा गया कि, “जिसकी लंका लगनी थी लग गई, तुम लोग चुपचाप काम करो.”

ज्ञात हो कि दफ्तर खुला है जबकि ऐसी स्थिति में गोरखपुर के कमिश्नर, डीएम और कई तहसील कार्यालय कम से कम तीन दिन सील कर दिए गए थे. वहीं अमर उजाला ने ऐसा नहीं किया. फिलहाल कर्मचारियों के होश फाख्ता हैं. आज सबकी निपाल क्लब में जांच चल रही है.

सवाल यह है कि फर्श वगैरह तो सेनेटाइज कर देंगे लेकिन सेंट्रल एसी वाले कार्यालय की हवा को अमर उजाला प्रबंधन भला कैसे सेनेटाइज कर सकता है. बता दें कि गोरखपुर कमिश्नर के पीए संजय शर्मा की बीती रात कोरोना से मौत हो गई इसके बाद स्थानीय प्रशासन में हड़कंप की स्थिति है. वहीं अमर उजाला प्रबंधन अपने कर्मचारियों की “लंका लगाने” में मगन है.

उधर एक अन्य सूचना के मुताबिक अमर उजाला के आईटी विभाग के संदीप मिश्रा और सफाई कर्मचारी रईस भी गीडा दफ्तर में काम करते हैं और ये दोनों भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.



 

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक करें- BWG-1

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “अमर उजाला के गोरखपुर ऑफिस में भी घुसा कोरोना, हड़कंप

  • अमर उजाला के लखनऊ ऑफिस में भी कम से कम 2 पत्रकार कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. प्रबंधन ने इन लोगों को सख्त हिदायत दी है इसकी चर्चा किसी से ना करें. इस बुरे वक्त में अमर उजाला का प्रबंधन अपने कुप्रबंधन के लिए चर्चाएं बटोर रहा है. बाकी यशवंत जी इसे अपने स्तर से दिखवा लीजिए संक्रमित साथियों की संख्या बढ़ने की पूरी आशंका है

    Reply
  • अमर उजाला के लखनऊ ऑफिस में भी कम से कम 2 पत्रकार कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. प्रबंधन ने इन लोगों को सख्त हिदायत दी है इसकी चर्चा किसी से ना करें. इस बुरे वक्त में अमर उजाला का प्रबंधन अपने कुप्रबंधन के लिए चर्चाएं बटोर रहा है. बाकी यशवंत जी इसे अपने स्तर से दिखवा लीजिए संक्रमित साथियों की संख्या बढ़ने की पूरी आशंका है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code