जानिए, कैसे ब्लैकमेल करते हैं ये दैनिक भास्कर वाले… (सुनें टेप) …रिपोर्टर ने संपादक के लिए प्राचार्य से मांगी LED

दैनिक भास्कर होशंगाबाद के सीनियर रिपोर्टर अभिषेक श्रोती ने यूनिट के संपादक अतुल गुप्ता के लिए रिश्वत में 70 हज़ार रुपये की LED मांगी है. रिपोर्टर ने यह LED ज़िले के शासकीय स्कूल पिपरिया के प्राचार्य से आगे खबर नहीं छापने और अभी तक छापी गई खबर में प्राचार्य सरयाम के विरुद हुई कार्रवाई को कलेक्टेर व जिला शिक्षा अधिकारी से फाड़कर फिकवाने के लिये मांगी है. यह खुलासा प्राचार्य द्वारा की गयी रिकॉर्डिंग में सामने आया है. रिपोर्टर द्वारा रिश्वत मांगने के बाद प्राचार्य ने इस रिकॉर्डिंग को सार्वजानिक की है.

प्राचार्य और रिपोर्टर की मोबाइल पर हुई करीब 12 मिनट की बातों में रिपोर्टर स्पस्ट शब्दों में प्राचार्य से कह रहा है कि मैंने आपकी खबर को 3 दिन से रुकवाकर रखा हुआ है. मैंने सामने वाले (संपादक) से कमिटमेंट कर रखा है और आप इसे पूरा नहीं कर रहे हो. आप अगर कमिटमेंट पूरा नहीं करोगे तो आपकी रिलीविंग कभी नही होंगी. साथ ही आपकी जाँच को कलेक्टर और डीईओ से बोलकर आप पर तत्काल कार्यवाही करवा दूंगा. वहीं बेबस प्राचार्य अपनी बीमारी का हवाला देकर रिपोर्टर से टाइम मांग रहा है. 

प्राचार्य ने इसकी शिकायत भास्कर प्रबंधन, कलेक्टर, स्थानीय मीडिया, डीईओ से भी की है लेकिन संपादक और रिपोर्टर पर कार्यवाही करने की बजाये सब के सब मामले को दबाने में लगे हुए हैं. इस मामले में दैनिक भास्कर होशंगाबाद के लोग यह कहते फिर रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा उपर से फोन ही आयेगा, इससे आगे कुछ नही होगा क्योंकि उगाही का माल तो मालिकों तक भी जाता है. साथ ही भास्कर वालों की पूरी कोशिश है कि सारे मामले को रफा दफा कर दिया जाए.

भास्कर को पलीता लगाने की सोच चुके रिपोर्टर और संपादक की पहले भी कई बार भ्रष्टाचार की शिकायत हुई है लेकिन प्रबन्धन ने सभी पर पर्दा डाल दिया है. कुछ महीने पहले भी शहर के कुछ स्थानीय लोगों ने लिखित में भास्कर प्रबन्धन को शिकायत कर बताया था कि कैसे अखबार से जुड़े लोग पैसे लेकर बड़ी बड़ी खबरों को रोक देता है. नगरपालिका से 2 लाख रुपये महीना बंधा हुआ है जिसका सबूत भी लोगों ने दिया था. इसके अलावा एक खबर रुकवाने के एवज में इनकी कार के चारों टॉयर बदलने की भी खूब चर्चा थी. लेकिन प्रबन्धन ने कार्यवाही नहीं की.

भास्कर की नेशनल HR हेड रचना कामरा ने भास्कर के सभी कर्मचारियों को पर्सनल पोर्टल पर एक नोटिस जारी कर कहा था कि यदि कोई भी रिश्वत लेते पकड़ा जाता है या कंपनी की पालिसी के खिलाफ कोई भी काम करता है तो उसे तत्काल कंपनी से हटा दिया जायेगा. लेकिन होशंगाबाद यूनिट में ऐसा होता दिख नहीं रहा है. यहाँ के संपादक के इशारों पर सारे रिपोर्टर सभी विभाग की खबरों में जमकर तोड़ी करते हैं. ऐसा लगता है कि कंपनी के डायरेक्टरों ने संपादकों और रिपोर्टरों को जमकर उगाही की छूट दे रखी है और उसका हिस्सा मालिकों निदेशकों तक भी जाता है. बहरहाल अब देखना ये है कि प्राचार्य की यह रिश्वत वाली रिकॉर्डिंग कार्यवाही के लिए पर्याप्त सबूत के तौर पर भास्कर प्रबंधन मानता है या नहीं.

ये है टेप…

एक मीडियाकर्मी द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

अगर आप उपरोक्त टेप न सुन पा रहे हों तो इसे डाउनलोड करने के लिए इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं: Bhaskar Audio


इन्हें भी पढ़िए-सुनिए…

अगर इस नए चैनल से जुड़ना चाहते हैं तो ये-ये काम करने होंगे (सुनें टेप)

xxx

सुदर्शन न्यूज में काम कर रही एक लड़की ने पूरे ऑफिस के सामने महेश का भांडा फोड़ दिया (सुनें टेप)

xxx

आपको मैनेज किया था, फिर कैसे छप गई आपके अखबार में खबर (सुनें टेप)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “जानिए, कैसे ब्लैकमेल करते हैं ये दैनिक भास्कर वाले… (सुनें टेप) …रिपोर्टर ने संपादक के लिए प्राचार्य से मांगी LED

  • mamta yadav says:

    bhaskar ke sampadakon ke pas itne paise bhi nhi ki led kharid ssaken had hai repoters ko laga diya blackmailing dalali me

    Reply
  • atul gupta ko m janta hu
    wo ishi type ka lalchi h bhaskar ne usko bhilai bheja toh wahan k karmchariyo ne aadolan kr diya
    hosangabad m bhi sbhi usse pratdit h
    fir bhi aise dadlalo ko bhaskar jhel rha h

    Reply
  • Dosto audio suno sub pata chal jayega.
    Kuch din pehle ek reporter ko bhaskar
    se hataya tha. Jalan gusse k karan Yeh
    aisa kar raha hai. Hoshangabad Mai pure
    media group mai jankare hai ki kaun kar
    raha hai badnaam

    Reply
  • Ha mamla huaa hai par isse editor ka koi
    lena Dena nahe. Aur bhaskar kabhi kise
    ko aisa karne ki permission nahe feta bhai

    Reply
  • ek patarkar says:

    priya mitro, phle Atul gupta ke baare me pata karo, itne kam samya me ish position ko koi yese hasil kr skta h kya, editor voh apni mahnat se bane, aur rahi baat LED magne ki to phle unki history pata kro, unke father gov teacher, mother govt teacher, elder brother hdfc branch manager, younger brother engineer in videocon ltd, youngest one area manager in pharma company, 4 brother and father and mother kisi ki bhi salary 40,000 mahine se kam nhi h, yesi LED unka parivar har mahine kharid skte hai, aur rahi baat car tyre ki to bill atul ji k pass hai, aur jaha se liye hai waha unhone jake kharide h to aap kese kah sakte ho ki riswat se lagwaye h, ye to aap logo ki apne hi media bhai k liye gandgi dikha rahi h, apki jalan dekha rahi h, aur dawa h mera apse ek bhi riswat ka mamla proof krke dekha do, ish audio me bhi kaha par unka naam h, aur jake ush reporter se pucho voh tak unka naam nhi le raha to aap kese le skte ho ki reporter k uper unka hath tha

    Reply
  • ek patarkar says:

    [quote name=”abhi”]atul gupta ko m janta hu
    wo ishi type ka lalchi h bhaskar ne usko bhilai bheja toh wahan k karmchariyo ne aadolan kr diya
    hosangabad m bhi sbhi usse pratdit h
    fir bhi aise dadlalo ko bhaskar jhel rha h[/quote]
    TU SHAYAD VOH ENGINEER REPORTER H JISE KHABAR KI ABCD TAK NHI AATI, TUJHE BHILAI SE RAIPUR BHEJA THA, WAHA TU KAAM NHI KR PAYA AUR TUJHE BAHAR KA RASTA DIKHA DIYA GAYA THA, GUPTA JI KE BAARE MEA JANNA H TO BHILAI K EDITOR RAJ KISHOR BHAGAT SE, MANOJ AGARWAL, AJAY SAHU, NIRMAL SAHU, UMESH NIWAL SE PUCHO HAKKIKAT PATA CHAL JAYEGI

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *