Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश मिश्र और चर्चित पुलिस अफसर अमिताभ ठाकुर ने सीएम योगी से की मुलाकात

लखनऊ से खबर आ रही है कि वरिष्ठ पत्रकार और नेशनल वायस चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. दोनों के बीच देर तक प्रदेश की समस्याओं और पत्रकारिता को लेकर बातचीत हुई. योगी के सीएम बनने के बाद ब्रजेश मिश्र पहले पत्रकार हैं जिन्हें मुख्यमंत्री योगी ने मिलने के लिए बुलाया. ईटीवी को यूपी में चमकाने वाले ब्रजेश मिश्र इन दिनों नेशनल वायस न्यूज चैनल का संचालन कर रहे हैं. चुनाव के दौरान ब्रजेश मिश्र ने पूरे राजनीतिक हालात का सटीक ब्योरा चैनल पर दिया और पहले ही भविष्यवाणी कर दी थी कि बीजेपी बहुत ज्यादा सीटों से बहुमत हासिल कर रही है.

लखनऊ से खबर आ रही है कि वरिष्ठ पत्रकार और नेशनल वायस चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. दोनों के बीच देर तक प्रदेश की समस्याओं और पत्रकारिता को लेकर बातचीत हुई. योगी के सीएम बनने के बाद ब्रजेश मिश्र पहले पत्रकार हैं जिन्हें मुख्यमंत्री योगी ने मिलने के लिए बुलाया. ईटीवी को यूपी में चमकाने वाले ब्रजेश मिश्र इन दिनों नेशनल वायस न्यूज चैनल का संचालन कर रहे हैं. चुनाव के दौरान ब्रजेश मिश्र ने पूरे राजनीतिक हालात का सटीक ब्योरा चैनल पर दिया और पहले ही भविष्यवाणी कर दी थी कि बीजेपी बहुत ज्यादा सीटों से बहुमत हासिल कर रही है.

जिन दिनों नेशनल वायस चैनल पर प्रचंड बहुमत पाकर बीजेपी द्वारा प्रदेश में सरकार बनाने भविष्यवाणी की गई उन दिनों गैर-भाजपा पार्टियों के नेता इस चुनावी सर्वे पर सवाल उठाने लगे थे. लेकिन चुनाव बाद मतगणना से साफ हो गया कि ब्रजेश मिश्र की भविष्यवाणी बिलकुल सटीक थी. सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ चुनिंदा नेताओं और अफसरों से मिले. पत्रकारिता जगत की बात करें तो यूपी में सबसे पहले उन्होंने ब्रजेश मिश्र से मुलाकात की.

Advertisement. Scroll to continue reading.

उधर, चर्चित पुलिस अफसर अमिताभ ठाकुर ने भी सीएम योगी से मुलाकात की. सपा और बसपा दोनों शासनकाल में बेबाक वक्तव्य देने और करप्शन के कई मामलों का खुलासा करने के कारण आईजी अमिताभ ठाकुर सत्ता के निशाने पर रहे. उन्हें पूरे दस साल तक किनारे कर उपेक्षित रखा गया. खासकर अखिलेश यादव के कार्यकाल में भ्रष्ट मंत्री गायत्री प्रजापति के मामले का खुलासा करने पर उन्हें इतने तरह से प्रताड़ित किया गया कि उन्होंने यूपी से बाहर ट्रांसफर करने के लिए केंद्र सरकार से अपील कर दी थी.

बाद में योगी राज आने पर उन्होंने यूपी से बाहर जाने की अपनी अपील को वापस ले लिया था. माना जा रहा है कि भाजपा शासनकाल में अमिताभ ठाकुर को कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी. योगी और अमिताभ के बीच शासन संचालन व ब्यूरोक्रेसी को लेकर लंबी बातचीत हुई है. चर्चा है कि अमिताभ ठाकुर ने भ्रष्ट अफसरों से योगी को आगाह किया. साथ ही उन्होंने कई भ्रष्ट अफसरों के बारे में योगी को जानकारी भी दी जिनके कारण प्रदेश में शासन व्यवस्था पिछली सरकारों में लचर हुई और लूट का राज रहा.

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

0 Comments

  1. mk

    March 31, 2017 at 6:37 pm

    Amitabh sir, maine to bhadas aur fb ke madhyam se pahle hi kaha tha “Satya-mev-jayate”, jab SaPa raj me apke sath nainsafi ho rahi thhi.
    Regards

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement