फर्जी IAS ट्रेनी केस: नौकरी नहीं, परस्पर सम्बन्ध दिखते हैं कारण

लखनऊ : आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने आईजी गढ़वाल रेंज संजय गुंज्याल से रूबी चौधरी केस में गहराई से जांच करने का अनुरोध किया है.

उन्होंने कहा है कि यह केस मात्र रूबी और गार्ड के वश का नहीं है. यहाँ तक कि सौरभ जैन भी अकेले इसे बिना आईएएस एकेडेमी के निदेशक के संज्ञान में आये नहीं कर सकते थे. उन्होंने इसे प्रथमद्रष्ट्या नौकरी के लिए पैसे लेने की जगह परस्पर संबंधों के जोड़ कर देखे जाने का अनुरोध किया है. साथ ही उन्होंने संस्थान की छवि के दृष्टिगत सचिव, डीओपीटी, भारत सरकार से इस प्रकरण की खुली जांच कराते हुए उसकी रिपोर्ट सार्वजनिक करने का अनुरोध किया है.

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें –  

Fake IAS trainee case:  related with mutual relations, not job

IPS officer Amitabh Thakur and social activist Dr Nutan Thakur have requested IG Garhwal Range Sanjay Gunjyal to get the Ruby Chaudhary fake IAS case enquired deeply.

They said this case could not have been committed solely by Ruby or the Guard. Even Saurabh Jain could not have done this without the matter coming in the knowledge of Academy Director. They suggested to look the matter as being related to mutual relations between Saurabh and Ruby, instead of Ruby’s allegations of taking money for job.

They have also requested Secretary, DOPT, Government of India to constitute an open enquiry in the matter and make its report public, in the interest of the Academy’s prestige.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *