गाजीपुर के पत्रकारों ने सरकार को ललकारा, हत्यारों को गिरफ्तार करो

गाजीपुर : शाहजहांपुर के पत्रकार जगेन्द्र सिंह की हत्या एवं हत्यारों की गिरफ्तारी न होने तथा प्रदेश भर में पत्रकारो के ऊपर हो रहे हमलों के विरोध में गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के तत्वाधान में पत्रकारों ने मिश्रबाजार चौराहे से सरयू पाण्डेय पार्क तक मौन जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। 

पत्रकार की हत्या के दो सप्ताह बाद भी आरोपी मंत्री एवं पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी न होने व कानपुर, बस्ती, बहराईच, गोण्डा, मथुरा के पत्रकारों के साथ हुई घटनाओं से नाराज पत्रकारों ने संस्था के अध्यक्ष अनिल कुमार उपाध्याय के नेतृत्व में मौन जुलूस निकालकर कचहरी परिसर में धरना दिया। सैकड़ो की संख्या में आकोषित पत्रकार मिश्रबाजार चौराहे पर एकत्रित होकर अपने बांहों पर काली पट्टी बांधकर मौन जुलूस के रूप में सरयू पाण्डेय पार्क के लिए कूच किये। पत्रकारों के हाथो में अपनी मांगों से सम्बन्धित तख्तियां थीं। मौन जुलूस में नगर के आमजन सहित नगर पालिका अध्यक्ष विनोद अग्रवाल, मानवाधिकार संगठन, संयुक्त राज्य कर्मचारी परिषद, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन, ग्रामीण पत्रकार यूनियन, उपजा, जिला पत्रकार समिति, नगर पत्रकार एसोसिएशन दिलदारनगर, अधिवक्ता एवं साहित्यकार सहित कांग्रेस, भाजपा, आप, बसपा सहित अन्य राजनैतिक दलों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। 

सरयू पाण्डेय पार्क में धरने को सम्बोधित करते हुए मानवाधिकार संगठन के अध्यक्ष मदन मोहन सिंह राजू ने कहा कि प्रदेश में अराजकता का माहौल है। कोई भी सुरक्षित नहीं है, पत्रकारों के साथ जो अन्याय हो रहा, उसके लिए मानवाधिकार संगठन आंख नहीं बन्द कर सकता। आज हमारा संगठन पत्रकारों के साथ सड़क पर उतरने को मजबूर हुआ है। 

पीजी कालेज छात्रनेता नीरज ने लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर हो रहे हमले को शर्मनाक बताया। पत्रकार डा. ए. के. राय ने कहा कि सरकार में गुण्डों को पूरी तरह समर्थन मिल रहा है। सरकार का कोई न कोई मंत्री अनैतिक एवं असामाजिक कार्यो में लिप्त पाया जाता है लेकिन सरकार कोई कार्यवाही नही करती है। सरकार द्वारा पत्रकार जगेन्द्र हत्याकाण्ड में कोई कार्यवाही न करना इसका स्पष्ट प्रमाण है। कांग्रेस पार्टी के नगर अध्यक्ष शफीक भाई ने पत्रकार के मृत्यु पुर्व बयान दिये जाने के बाद भी हत्यारों की गिरफ्तारी न होने पर सरकार की घोर निन्दा की और कहा कि प्रदेश सरकार आरोपियों को पूरी तरह बचाने मे लगी हुई है। 

पत्रकार कमलेश राय ने कहा कि पत्रकार को जिन्दा जलाने वाले लोगो ने राक्षसों से भी बढ़कर कुकृत्य किया है। समय किसी को छोड़ता नहीं है। ग्रामीण पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष हरिनरायण यादव ने पत्रकारों की इस लड़ाई में सतत संघर्ष करने का एलान किया। बसपा के नाहिद खां ने पत्रकारों के महत्व पर जोर देते हुए जगेन्द्र हत्याकाण्ड की निन्दा की। भाजपा अध्यक्ष श्री कृष्ण बिहारी राय ने कहा कि जब समाज में लोग पीडि़त होते हैं तो लोग पत्रकार की तरफ देखते हैं, जो उनकी मदद कर सके। किन्तु आज मीडिया उपेक्षित हो गया है। मीडिया पर हमले हो रहे हैं, पत्रकारों को मारा जा रहा है, सत्य को दबाया जा रहा है लेकिन आज लोकतंत्र का चौथास्तम्भ पत्रकार एकजुट हो गया है। जिसका परिणाम आने वाले दिनो में दिखायी देगा। 

समाजसेवी विवेक सिंह शम्मी ने कहा कि पत्रकार समाज का आईना होता है लेकिन इस आईने को सत्ता के मद में चूर लोग चूर-चूर कर देना चाहते हैं। जब लोगों का विश्वास उठ जाता है तो वो पत्रकारों की ओर मुड़ते हैं लेकिन आज इन पत्रकारों पर ही हमला हो रहे हैं। भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले मीडिया की आवाज को दबाना चाहते हैं। नगर पालिका अध्यक्ष विनोद कुमार अग्रवाल ने कहा कि पत्रकार पर हमला कर उसे जलाने वाले लेागों ने बहुत ही वीभत्स कर्म किया है। इन हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। कोई भी व्यक्ति हो कानून सबके लिए एक बराबर होना चाहिए, सरकार हत्यारोपियों को बचाकर ठीक नहीं कर रही है। जनता इसका हिसाब जरूर मांगेगी, यह सरकार बाहुबलियों की सरकार हो गयी है। कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है। भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले मीडियाकर्मियो की आवाज को भी दबाया जा रहा है। सरकार को हत्यारोपियो की गिरफ्तारी तुरन्त करनी चाहिए।

सभा में मारकण्डे सिंह, उमेश श्रीवास्तव, विनय कुमार सिंह, दुर्गेश श्रीवास्तव, मीरा राय, कृष्ण मुरारी पाण्डेय, सुनील दूबे, दयाशंकर दूबे, मयंक तिवारी आदि ने विचार व्यक्त किया। सभा में जखनियां से सुनील कुमार सिंह, प्रदीप दूबे, अखण्ड गहमरी, दिलदारनगर से इन्द्रासन यादव, एनामुददीन, वेद प्रकाश, जमानियां से कृष्णकान्त तिवारी, अनिल तिवारी, शेषनाथ, मुहम्मदाबाद से जयशंकर राय,, अच्छन मिंया, रितेश राय, सुनील सिंह, दयाशंकर दूबे, अजीत कुमार सिंह, कमलेश राय, सैदपुर से गोपाल पाण्डेय, अजय मिश्रा, जितेन्द्र यादव, डा0 विजय, रामसेवक यादव, वेद प्रकाश, रजनीश कुमार, कासिमाबाद से रामआधार मिश्रा, शैलेन्द्रमणि त्रिपाठी, विनोद मिश्रा, दानिश, रत्नाकर दिक्षित, सत्येद्र शुक्ला, आशिष सिंह मंटू, अभिनव चतुर्वेदी, वेद प्रकाश वेदू, अजय राय बबलू, कमलेश यादव, अवधेश यादव, अशोक श्रीवास्तव, अखिलेश यादव, मनोज गुप्ता, आलोक त्रिपाठी, सूर्यबीर सिंह, शशिकान्त यादव, बबलू खरवार, संजय यादव, राजेन्द्र प्रसाद, गुडडू अंसारी, आरिफ, सोनू, अनिल कश्यप, देवब्रत विश्वकर्मा, आर सी खरवार, दूर्ग विजय सिंह, अनिल अनिलाभ, आशिष राय, विनय तिवारी, सुशील उपाध्याय, रविशेखर सिंह  उर्फ रमन, अनुराग त्रिपाठी, आशुतोष त्रिपाठी, रविकान्त पाण्डेय, प्रमोद कश्यप, अजय शंकर तिवारी, अनुप श्रीवास्तव, हेमन्त राय, कृपाशंकर राय, अर्चना राय, विपिन, अभिषेक राय, सुनिल गुप्ता, नितेश सिंह, राजेश उपाध्याय, राजेश सिंह, विनोद गुप्ता, आशिष शुक्ला, अभिषेक सिंह, आशुतोष पाण्डेय, ललित मोहन, राधेश्याम पाण्डेय, रविन्द्र श्रीवास्तव, कृष्ण बिहारी त्रिवेदी, विनोद पाण्डेय, उदय नरायण पाण्डेय, आदि पत्रकार उपस्थित थे। कार्यक्रम के अन्त में पत्रकारो ने महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित आठ सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि ए के सिंह उपजिलाधिकारी सदर को सौपा। कार्यक्रम का संचालन ब्रजभूषण दूबे आगन्तुको का धन्यवाद संस्था के महासचिव चन्द्र कुमार तिवारी ने दिया।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें-  https://chat.whatsapp.com/JYYJjZdtLQbDSzhajsOCsG

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code