उद्यान के लिए आरक्षित जमीन पर न्यूज चैनल वालों ने कब्जा जमाया (देखें तस्वीरें)

भूमि माफिया के तर्ज पर लिखी गई यह चेतावनी देती इबारत साधारण इबारत नहीं है. छत्तीसगढ की राजधानी रायपुर की पॉश कालोनी में उद्यान के लिए आरक्षित यह जमीन विवादित रही है… विगत 14 वर्षोँ से उद्यान तो था नहीं सो यूं ही खाली पड़ी थी जमीन. पिछले महीने रातोंरात इसे घेर कर गोलमाल भाषा में मीडिया से संबद्ध बताने का प्रयास किया जा रहा है… जमीन लगभग 2 दो एकड़ है… कीमत 15 से 20 करोड़ रुपये की है.

रायपुर में जहां यह जमीन है और अब जिस चैनल आईबीसी24 का इस पर कब्जा दिखाया जा रहा है, इनके खिलाफ छत्तीसगढ में शायद ही कोई बोलने की हिम्मत करे. मुख्यमंत्री, अन्य मंत्री, नेता, अफसर सभी इनके या तो सहयोगी हैं, या इनसे उपकृत हैं या फिर इनसे डरते हैं. कालोनी में उद्यान और हरियाली के लिए आरक्षित भूमि का प्रयोजन परिवर्तित किया नहीं जा सकता.. फिर यह कमाल इन्होंने कैसे कर दिखाया… यह खोज का विषय है….

कुछ लोगों ने आपत्ति की तो कुछ दिनों तक बाउंड्री बनाने का काम बंद कर दिया… फिर एक रात अचानक बाउंड्री बनाकर जमीन घेर कर मीडिया वाली चेतावनी लिख दी गई… जो इस अवैध कब्जे के खिलाफ बोलता है, उसके खिलाफ इस चैनल के गुर्गे पत्रकार कुत्तों की तरह पीछे पड़ जाते हैं.

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह ने इस मामले में फेसबुक पर कुछ यूं लिखा है…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *