शोषण के खिलाफ़ एकजुट हुए जिया न्यूज़ के स्ट्रिंगर, चैनल को भेजेंगे लीगल नोटिस

JIA-News

जिया न्यूज़ के खिलाफ स्ट्रिंगरों का गुस्सा आखिर फूट ही पड़ा। स्ट्रिंगरों ने चैनल द्वारा किए जा रहे शोषण के खिलाफ चैनल को लीगल नोटिस भेजने का मन बना लिया है। करीब दो दर्जन जिलों के स्ट्रिंगरों ने मिलकर एक मिंटिग की और उस मिंटिग में निर्णय लिया की जब चैनल पैसे नहीं दे रहा है तो क्यों न उस के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाए।

जिया न्यूज़ के सभी स्ट्रिंगरों ने सहमति जताते हुऐ कार्यवाही शु़रू कर दी है। सभी ने सामूहिक रूप से एक वकील भी खड़ा कर लिया है ताकि इस लड़ाई को मजबूती के साथ लड़ा जा सके और चैनल को स्ट्रिंगरों की ताकत का ऐहसास हो। ताकी भविष्य में कोई और चैनल स्ट्रिंगरों की मेहनत ना मार सके।

जिया न्यूज़ ने सितंम्बर माह 2013 से स्टोरी का पेमेंट देने का वादा किया था। सितंम्बर और अक्टूबर का पैमेंट तो किसी तरह चैनल ने कर दिया लेकिन उस के बाद तो मानो चैनल ने पैसे ना देने की कसम ही खा ली। 2013 से लेकर 2014 की जुलाई का महीना खत्म हो गया, स्ट्रिंगरों की हालत आऐ दिन बिगड़ती गई लेकिन जिया न्यूज को किसी की कोई परवाह ही नी रही।

पैसे मांगने पर प्रबंधन द्वारा बस तारीख पर तारीख ही दी जा रही है। लेकिन स्ट्रिंगरों का ये संगठन आज चैनल को मुंहतोड़ जवाब देने के लिये तैयार हो गया है।

 

एक स्ट्रिंगर द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित ।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “शोषण के खिलाफ़ एकजुट हुए जिया न्यूज़ के स्ट्रिंगर, चैनल को भेजेंगे लीगल नोटिस

  • Jab inke paas stringro ko dene ke liye paise nahi hote to channel chalana jaruri hai kya in logo ko ya channel ke bahane dlali karni jaruri hai…

    Reply
  • चैनल के मालिक के पास चैनल चलाने की जब औकात नहीं होती तो पता नही क्यों ये चैनल खोल के बैठ जाते है . क्योकि इनको लगता है की स्ट्रिंगर ही सबसे अमिर है ..

    Reply
  • ये चैनल वाले सिर्फ स्ट्रिंगर का ही पैसा मारने का हाल जानते है औकात हो तो ऑफिस के लोगो को मार कर देखे .चैनल को लात मार कर चले जायेगे ..

    Reply
  • अंकित says:

    दोस्तों मै भी एक जिले के जिया न्यूज़ चैनल का स्ट्रिंगर हु .और आज तक इनसभो ने पैसे नहीं दिए .बात करने पर कहते है जल्द आ जायेगा . कम से कम मुखराम जी को तो चाहिए की चैनल प्रबन्धन से बात करके हम स्ट्रिंगरो को पैसे दिलवाए. लेकिन उनको स्ट्रिंगरो के पैसे से क्या मतलब है. उनका तो पैसा समय से मिल ही जा रहा है .अगर नहीं मिलता तो कब के चैनल छोड़ के चले गए होते ..

    Reply
  • ARE BHAAI KOI IN NEWSNATION WALO KE KHILAF BHI LAMBAND HOGA YA NAHI YE LOG BANNA TO CHAHTE HAI NO1 LEKIN PAYMENT KE MAMLE ME HAI FISADDI…..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *