पूरे गांव के सामने प्रेमी को स्तनपान कराने के आदेश!

Bhumika Rai : एक शादीशुदा औरत अपने पति और दो बच्चों को छोड़कर अपने प्रेमी के साथ भाग जाती है…उसका पति और गांव वाले उसे पागलों की तरह तलाश करते हैं…कुछ महीनों बाद जब वो मिल जाती है, तो उसे कुछ ऐसी सज़ा देते हैं, जो इस सामान्य से दिखने वाले समाज की असलियत बयां करने के लिए काफी है.

(पीड़ित महिला)

गांव के वरिष्ठ लोग उसके और उसके प्रेमी के बाल काटने का आदेश देते हैं…औरत भागी है, इसलिए वो ज़्यादा दोषी है…इसलिए उसे एक और सज़ा देते हैं कि वो पूरे गांव के सामने प्रेमी को स्तनपान कराएगी. माफ़ कीजिएगा, अंग्रेजी की ख़बर में तो ब्रेस्टफीड हर लवर लिख दिया गया लेकिन हिंदी में इस शब्द को उस भावना के साथ कैसे लिखें ये नहीं मालूम. क्योंकि जहां तक स्तनपान की बात है, वो मां और बच्चे के बीच का वो संबंध है, जो हर रिश्ते से श्रेष्ठ है… घटना मध्य प्रदेश के वर्धा की है… उस औरत को ऐसी सज़ा देने वालों के लिए कौन सी सज़ा सुनाई जानी चाहिए….?

दूरदर्शन में कार्यरत युवा पत्रकार भूमिका राय के फेसबुक वॉल से.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “पूरे गांव के सामने प्रेमी को स्तनपान कराने के आदेश!

  • prem verma. says:

    घटना मध्यप्रदेश के वर्धा की नहीं है वर्धा महारास्ट्र में है.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code