न्‍यूज टाइम पहुंचे सईद हफीज

  इंडिया न्‍यूज में एंटरटेनमेंट हेड रह चुके सईद हफीज ने न्‍यूज टाइम के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍होंने यहां पर सीनियर एंकर के पद पर ज्‍वाइन किया है. यहां पर उन्‍हें एंकरिंग के साथ बॉलीवुड से जुड़े स्‍पेशल प्रोग्राम की जिम्‍मेदारी भी सौंपी गई है. एंटरटेनमेंट की खबरों के माहिर माने …

डीई शा से मुक्ति के लिए 18 फीसदी शेयर बेचेगा अमर उजाला

अमर उजाला, प्रबंधन अखबार बेचने नहीं जा रहा है. पहले खबर आई थी कि अमर उजाला बिकने वाला है, पर बात में यह बात सामने आई कि अमर उजाला अपने कुछ प्रतिशत शेयर बेचकर डीई शा से मुक्ति चाहता है. डीई शा से लिया गया कर्ज कम्‍पनी के लिए भस्‍मासुर जैसा बन गया है. डीई शा भी अपने कर्ज की वापसी के लिए प्रबंधन को कोर्ट में घसीटने की धमकी दे रहा है. लिहाजा प्रबंधन अखबार के कुछ प्रतिशत शेयर बेचकर डीई शा से लिए गए 117 करोड़ के कर्ज को वापस करना चाहता है. 

ये है अरुण पुरी को लिखा रुक्मिनी सेन का ओरिजिनल मेल

टीवी टुडे ग्रुप की इंटरटेनमेंट एडीटर रुक्मिनी सेन ने शनिवार यानी 3 नवंबर को इस्तीफा दिया था। सोमवार को उनकी मुंबई दफ्तर के कान्फ्रेंस रूम में सुप्रिय प्रसाद से बातचीत हुई थी। इसके बाद रुक्मिनी ने अरुण पुरी को मेल भेजा था, जिसकी कॉपी भड़ास 4 मीडिया के पास है। हम हूबहू ये मेल छाप रहे हैं।

सहारा मामला : सेबी शुरू करेगा निवेशकों के पहचान की कवायद

बाजार नियामक संस्था, भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) सहारा समूह के बहुचर्चित मामले में सभी निवेशकों की 'पहचान' के काम (आईपीवी) का ठेका लेने के इच्छुक सरकारी बैंकों और केवाईसी पंजीकरण एजेंसियों (केआरए) के अधिकारियों के साथ कल मुंबई में बैठक करेगा। चयनित एजेंसी को यह काम निपटाने के लिए निवेशकों के सामने जाकर उनका सत्यापन करना होगा। उच्चतम न्यायालय ने सेबी को निर्देश दिया है कि वह सहारा समूह की दो कंपनियों के बॉन्डधारकों को 24,000 करोड़ रुपये का रिफंड 15 फीसदी सालाना ब्याज के साथ कराए। 

आजतक की इंटरटेनमेंट एडीटर रुकमिनी सेन ने छोड़ी नौकरी, अरुण पुरी और सुप्रिय पर निकाली भड़ास

आजतक की (और पूरे टीवी टुडे नेटवर्क की भी) इंटरटेनमेंट एडीटर रुकमिनी सेन ने अपने पद से एक महीने का नोटिस देते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है. टीवी टुडे नेटवर्क मैनेजमेंट ने इस्तीफे को आज ही स्वीकार भी कर लिया.. रुकमिनी ने अपने फेसबुक वाल पर मैनेजमेंट की इस हड़बड़ी और गड़बड़ी के कारणों पर 'प्रकाश' डाला है।

नहीं बिकेगा अमर उजाला, जी समूह से बातचीत खत्‍म

 

अभी-अभी एक बड़ी और अच्‍छी खबर आ रही है कि प्रबंधन अब अमर उजाला को नहीं बेचेगा. जी समूह के साथ बातचीत बेनतीजा रहा. बताया जा रहा है कि अमर उजाला प्रबंधन और जी समूह में कुछ शर्तों पर बात नहीं बन पाई. एक बार फिर अमर उजाला के बिकने की खबर निराधार सा‍बित हुई. हालांकि इनवेस्‍टमेंट को लेकर बातचीत लगभग आखिरी दौर में था, पर कुछ शर्तों ने सारी प्रक्रिया को समाप्‍त कर दिया. 

प्रतीक मिश्रा बने साधना एमपी-सीजी में इनपुट हेड

  साधना न्‍यूज से प्रतीक मिश्रा ने अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍होंने ने साधना एमपी-सीजी चैनल में इनपुट हेड के रूप में ज्‍वाइन किया है. प्रतीक ने अपने करियर की शुरुआत मध्‍य प्रदेश में दैनिक राष्‍ट्रीय हिंदी मेल के साथ शुरू की थी. इसके बाद वे एसवन चैनल से जुड़े. वॉयस ऑफ इंडिया …

अमर उजाला को लेकर कयासों का दौर जारी

 

अमर उजाला के बिकने के बारे में जो सूचना कल आ रही थी उसमें आज कुछ अलग जानकारी सामने आई है. खबर है कि जी न्‍यूज के साथ अभी पूरी बात फाइनल नहीं हुई है. इसका निर्णय अंतिम दौर में है. सूचना आ रही है कि अमर उजाला प्रबंधन समूह को पूरा बेचने की बजाय जी समूह को कुछ प्रतिशत शेयर बेचने पर राजी हुआ है. यह निर्णय समूह के ऊपर पड़ रहे चौतरफा दबाव की वजह लिये जाने की सूचना है. 

वरिष्‍ठ पत्रकार प्रवीण खारीवाल बने डीजी न्‍यूज के कोआर्डिनेटर

 

वरिष्‍ठ पत्रकार एवं इंदौर प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष प्रवीण खारीवाल ने अब इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. प्रवीण अभी तक इंदौर में पीपुल्‍स समाचार के स्‍थानीय संपादक की भूमिका निभा रहे थे. जहां से उन्‍होंने एक सप्‍ताह पूर्व इस्‍तीफा दे दिया था. प्रवीण अब डीजी न्‍यूज से जुड़ गए हैं. उन्‍हें चैनल में न्‍यूज कोआर्डिनेटर बनाया गया है. डीजी के साथ यह उनकी दूसरी पारी है. 

भविष्‍य को लेकर अमर उजाला के कर्मचारी परेशान

 

अमर उजाला के बिक जाने की खबर के बाद से अखबार के कर्मचारी परेशान हैं. उन्‍हें अपने भविष्‍य के साथ नए मीडिया समूह के कार्य प्रणाली को लेकर भी चिंता हो रही है. कम से कम अमर उजाला में काम करने को लेकर कर्मचारियों में कभी बहुत ज्‍यादा परेशानी नहीं रही. अमर उजाला में काम करना पत्रकारों के लिए गौरव की बात रही है क्‍योंकि अन्‍य दूसरे अखबारों में गाली-ग्‍लौज और चम्‍मचागिरी का बोलबाला रहा है तो अमर उजाला में यह माहौल बहुत कम या कह सकते हैं कि ना के बराबर रहा है. 

झांसी में पत्रकार को पीटने वाले न्‍यूज24 के रिपोर्टर के खिलाफ मामला दर्ज

झांसी। न्यूज 24 के रिपोर्टर असद खान के खिलाफ एक बार फिर मामला दर्ज हुआ है. तीन दिन पहले असद खान, अपने साथी तथाकथित पत्रकार तौसीफ कुरैशी के साथ मिलकर झांसी में हमवतन समाचार पत्र के पत्रकार तारिक इकबाल को इलाईट चौराहे पर जमकर पीटा, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। तारिक की गलती बस इतनी थी कि उन्‍होंने स्क्रिप्‍ट नहीं लिखी। इस पूरे मामले में नवाबाद पुलिस ने असद खान समेत फर्जी पत्रकार तौसीफ कुरैशी के विरूद्ध मामला दर्ज कर लिया है। असद पर इसके पहले भी कई मामले दर्ज हैं। 

दैनिक जागरण, मुजफ्फरपुर में दो सीनियरों के बीच उठी कुर्सियां

 

दैनिक जागरण, मुजफ्फरपुर में रविवार का दिन काफी तनाव भरा रहा. साप्‍ताहिक मीटिंग में दो वरिष्‍ठों के भिड़ने से पूरा रिपोर्टिंग स्‍टाफ हक्‍का बक्‍का रह गया. यहां तक कि कुर्सियां चलने की नौबत आ गई, पर बीच बचाव कर मामले को किसी तरह सुलझाया गया. इसके बावजूद माहौल में गरमी बनी हुई है. और अगर मौसम विज्ञान की भाषा में बात करें तो किसी भी समय गरज के साथ छींटे पड़ने या बूंदाबांदी होने की संभावना यूनिट में बराबर बनी हुई है. 

न्‍यूज टाइम की हालत खराब, लखनऊ ब्‍यूरो में छंटनी

 

उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की बयार के साथ ही जन्संदेश चैनल से न्यूज टाइम के नाम चोला ओढ़ने वाले चैनल की हालत अब बद से बदतर हो चुकी है। उत्तर प्रदेश की पिछली सरकार के चुनिन्दा नेताओं के रहमोकरम पर संचालित होने वाले इस न्यूज चैनल को अब ग्रहण लग चुका है। बहुजन समाज पार्टी का तमगा लिए यह चैनल नाम परिवर्तन के बावजूद अपने कर्मों को छुपा न सका। नतीजा यह रहा कि समाजवादी सरकार के सत्ता में आने के बाद से इस चैनल को अब तक एक भी सरकारी विज्ञापन नहीं जारी किया गया।

वरिष्‍ठ पत्रकार कुमार नरेंद्र सिंह के साथ पूर्व विधायक के गुर्गों ने की मारपीट

: मामला राजस्‍थान के चुरू जिले का : मीडियाकर्मियों ने रोष : हमलावरों के गिरफ्तारी की मांग : पूरे देश में मीडिया पर लगातार हमले हो रहे हैं. अभिव्‍यक्ति की स्‍वतंत्रता को लगातार बाधित किया जा रहा है. ताजा मामला वरिष्‍ठ पत्रकार तथा कई मीडिया संस्‍थानों को अपनी सेवा दे चुके कुमार नरेंद्र सिंह के साथ जुड़ा है. कुमार नरेंद्र सिंह के साथ राजस्‍थान के चुरू जिले के सरदार शहर में कांग्रेस के पूर्व एमएलए के गुर्गों ने मारपीट की तथा जान से मारने की धमकी दी. पूर्व विधायक के गुर्गे लोकस्‍वामी मैगजीन में प्रकाशित एक लेख से खफा थे. स्‍थानीय पुलिस ने भी कुमार नरेंद्र सिंह की मदद करने की बजाय पूर्व विधायक के गुर्गों की तरह व्‍यवहार करती रही. 

पत्रकार नवीन जोशी समेत कई छायाकार पुरस्‍कृत

 

नैनीताल शरदोत्सव के तहत आयोजित फोटो प्रतियोगिता में पत्रकार नवीन जोशी के चित्र को भी पुरस्कृत किया गया है। उन्हें प्रतियोगिता के तहत कुमाऊं के मेले एवं त्योहार वर्ग में उनके द्वारा कुमाऊं में घुघुतिया के रूप में अनूठे तरह से मनाये जाने वाले उत्तरायणी पर्व पर खींचे गये चित्र के लिये सांत्वना पुरस्कार दिया गया है। कुमाऊं मंडल विकास निगम एवं फ्लोरिस्ट लीग ऑफ इंडिया के तत्वावधान में आयोजित प्रतियोगिता के इस वर्ग में 60 से अधिक छायाकारों ने अपनी प्रविष्ठियां दी थीं। जोशी नैनीताल में राष्‍ट्रीय सहारा समाचार पत्र में ब्यूरो प्रभारी के रूप में कार्यरत हैं।

हिंदुस्‍तान, बरेली में दो रिपोर्टरों के पर कतरे गए

 

हिंदुस्‍तान, बरेली में हलचल शुरू हो गई है. खबर है कि नए संपादक कुमार अभिमन्‍यु ने यूनिट को सुधारने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. उन्‍होंने पूर्व संपादक आशीष व्‍यास को अस्थिर करने में चिन्हित किए गए लोगों के पर कतरना शुरू कर दिया है. माना जा रहा है कि यह कार्रवाई सुधांशु श्रीवास्‍तव के निर्देशन में हो रही है. सूत्रों का कहना है कि बरेली में सुधांशु श्रीवास्‍तव ने भरी मीटिंग में ऐसे तत्‍वों को चेतावनी देते हुए कहा था कि अब यह यूनिट बरेली से संचालित होगा ना कि पटना और दिल्‍ली से. इसके बाद से ही ऐसे लोगों के पर कतरे जा रहे हैं.

डिम्‍पल यादव के चुनाव के मामले में नोटिस नहीं छापने वाले दैनिक जागरण को हाई कोर्ट ने लताड़ा

 

धन्‍य है दैनिक जागरण की पत्रकारिता. गलत-सही काम करने, कर्मचारियों के शोषण करने के आरोप तो इस अखबार पर बराबर लगते रहते हैं लेकिन अब लग रहा है कि इस अखबार ने अपना गांडीव ही सपा सरकार के बैठक में टांग दिया है. अखबार सरकार की गड़बडि़यों की खबर तो प्रकाशित नहीं ही करता है अब मुख्‍यमंत्री या उनके परिवार से जुड़े अदालती नोटिस को भी प्रकाशित करने में दैनिक जागरण को शरम आने लगी है. 

अमर उजाला ने इजाद की एक नई बीमारी!

 

आगरा शहर के अखबारों में शायद ये होड़ लगी हुई है कि कौन अपनी खबर में कितनी गलतियाँ कर सकता है। "दैनिक जागरण", "हिन्दुस्तान" के बाद अब ताजा खबर है "अमरउजाला" से। इन्होंने एक नयी बीमारी इजाद की है जिसका नाम रखा है "माइग्रेशन"। जी हाँ, सर दर्द की बीमारी "माइग्रेन" का नाम तो सबने सुना ही होगा लेकिन अमरउजाला ने "माइग्रेशन" नामक सरदर्द की बीमारी के बारे में खबर में लिखा है। 

जम्‍मू में हॉकरों ने किया टाइम्‍स ऑफ इंडिया का बहिष्‍कार

 

जम्मू में 4 नवम्बर से कमीशन एवं अन्य मुद्दों को लेकर हाकरों द्वारा टाइम्स आफ इंडिया का बहिष्कार किया जा रहा है. जम्मू कश्मीर प्राविन्स वेंडर एसोशियेशन (JKPVA) के आह्वान पर किया जा रहा यह बहिष्कार आज दूसरे दिन भी जारी रहा. एसोसिएशन के प्रधान आनंद शर्मा 'काके' के अनुसार स्थानीय एजेंट द्वारा हाकरों को केवल 15 प्रतिशत कमीशन बांटा जाता है जबकि अख़बार द्वारा हाकरों के लिए 25 प्रतिशत कमीशन निर्धारित है. 

सहारा मीडिया के सर्वेसर्वा बने संदीप वाधवा, उपेंद्र राय का कद होगा छोटा

सहारा मीडिया समूह से एक बड़ी खबर ये आ रही है कि उसके सभी मीडिया वेंचरों की रिपोर्टिंग समूह के एक वरिष्ठ अधिकारी संदीप वाधवा को सौंप दी गई है। संदीप वाधवा सहारा के कई वेंचरों में अलग अलग वरीय भूमिकाओं में एक अर्से से हैं, लेकिन उन्हें अब सहारा के तीनों मीडिया का सर्वेसर्वा …

अमर उजाला का बिकना जनसरोकारी पत्रकारिता के लिए घातक

अमर उजाला का बिकना जनसरोकारी पत्रकारिता के लिए बहुत ही बुरी खबर है. इस बड़े टेकओवर के बाद तय हो गया है कि मीडिया की मंडी में वहीं टिक पाएगा जो अपने कर्मचारियों का खून चूसेगा, जो दलाली से पैसे बनाएगा, जो पत्रकारिता के जरिए दूसरे गोरे-काले धंधे करेगा. अगर तकनीकी तौर पर देखे तो अमर उजाला के मुश्किलों की शुरुआत उसी समय हो गई थी जब अग्रवाल और माहेश्‍वरी परिवार अलग हो गए थे. पर इस पर सबसे बड़ा वज्र तब गिरा जब कंपनी के तेज तर्रार डाइरेक्‍टर अतुल माहेश्‍वरी का असमय निधन हो गया. 

जी समूह के हाथों बिक गया अमर उजाला !

 

मीडिया इंडस्‍ट्री से बहुत बड़ी खबर आ रही है. चर्चा है कि अमर उजाला समूह बिक रहा है. सुभाष चंद्रा के जी समूह अमर उजाला को खरीदने जा रहा है. जल्‍द ही इसकी आधिकारिक घोषणा दोनों समूह कर सकते हैं. हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है कि बातचीत किस दौर में है. चर्चाओं के अनुसार यह सौदा 1200 से 2500 करोड़ के बीच तय होने की संभावना है. अगर यह खबर पक्‍की है तो हाल के समय में यह सबसे बड़ा मीडिया टेकओवर होगा. इसके साथ ही यह भी तय हो जाएगा कि जनसरोकारी पत्रकारिता करने वाले संस्‍थानों का भविष्‍य मुश्किल है. 

वरिष्‍ठ पत्रकार एसएन विनोद बने साधना समूह के चीफ एडिटर

 

वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद आधिकारित रूप से साधना ग्रुप ज्वाइन कर लिया है. भड़ास ने पहले ही सूचना दी थी कि एसएन विनोद साधना समूह से जुड़ने वाले हैं. यह खबर सही साबित हुई. आज उन्‍होंने चीफ एडिटर के रूप में अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली. देश के दिग्‍गज पत्रकारों में शामिल एसएन विनोद ने कई अखबारों एवं चैनलों की लांचिंग कराई. उनके नाम सबसे कम उम्र का संपादक होने का भी रिकार्ड है. अपनी पढ़ाई के दौरान मात्र 20 साल में ही वे स्‍वतंत्रता नामक साप्‍ताहिक के संपादक हो गए थे. 

रजत उन्‍नाव एवं विनय फतेहपुर के ब्‍यूरोचीफ बने, पंकज मिश्र ने जागरण ज्‍वाइन किया

दैनिक जागरण, कानपुर में वर्षों से जमे लोगों को इधर-उधर करने का काम शुरू कर दिया गया है. अब तक बिना परफार्मेंस के सिर्फ यस बॉस करके जमे लोगों की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. संपादक राघवेंद्र चड्ढा ने अब ऐसे लोगों को इधर उधर करके रिजल्‍ट देने वाले लोगों को जिम्‍मेदारियां देनी शुरू कर दी हैं. इसी क्रम में खबर है कि कानपुर में डेस्‍क पर तैनात रजत पाण्‍डेय को उन्‍नाव भेजा गया है. वे उन्‍नाव के ब्‍यूरोचीफ बनाए गए हैं. उन्‍हें  राजेश शुक्‍ला के स्‍थान पर यह जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. राजेश शुक्‍ला को प्रबंधन ने मैनेजर बना दिया है. 

आजतक को 12वीं बार बेस्‍ट न्‍यूज चैनल का आईटीए अवार्ड

इंडियन टेलीविजन अकादमी (आईटीए) ने एक बार फिर आजतक को न्यूज चैनलों में सर्वश्रेष्ठ घोषित किया है। आजतक को लगातार 12वीं बार आईटीए के बेस्ट न्यूज चैनल अवार्ड से सम्मानित किया गया है। समाचार देखने वाले लोगों के बीच अपनी बेमिसाल पकड़ और गंभीर खबरों को पेश करने का खास तेवर आजतक ने एक बार बरकरार रखा है। आजतक की तरफ से चैनल के मैनेजिंग एडिटर सुप्रिय प्रसाद ने बेस्ट न्यूज चैनल का प्रतिष्ठित सम्मान हासिल किया।

बहराइच में मीडियाकर्मियों से भेदभाव कर रहा है जिला प्रशासन

 

सुशासन की चाहत रखने वाली सरकारें मीडिया से या तो भागती नजर आती हैं, या फिर वे अघोषित प्रतिबंध कायम करने की कोशिश करती हैं। कन्याओं को चेक के जरिए विद्या धन बांटने बहराइच आ रहे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समारोह को कवर करने के लिए जारी होने वाले एंट्री पास में भेदभाव बरता जा रहा है। स्वयंभू नियम के तहत कहा जा रहा है कि केवल डेली न्यूज पेपर व चैनल के पत्रकारों को पत्रकार दीर्घा तक पहुंचने की इजाजत होगी। जबकि साप्ताहिक, पाक्षित व मासिक आधार पर प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों की अच्छी खासी संख्या है। जिनका अपना प्रभाव क्षेत्र है।

पेड न्‍यूज के चलते हिमाचल प्रदेश के 73 उम्‍मीदवारों को नोटिस जारी

 

नई दिल्ली : निर्वाचन आयोग ने पेडन्यूज के कारण हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के 73 उम्मीदवारों को नोटिस जारी किया, जिनमें से आयोग की समिति 19 मामलों की पहले ही पुष्टि कर चुकी है। निर्वाचन आयोग के महानिदेशक अक्षय राउत ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हमने इस बार राज्य में पेडन्यूज के लिए 73 नोटिस भेजे हैं और हमारी समिति ने उनमें से 19 मामलों की पेड न्यूज के तौर पर पुष्टि भी की है।’ उन्होंने बताया कि बाकी के मामलों की जांच की जा रही है और 73 में से 21 मामले सोलन एवं 20 मामले मंडी के हैं।

सहारा मामले में सेबी ने बैंकों से मांगी मदद

नई दिल्ली। मार्केट रेग्युलेटर सेबी सहारा मामले में करीब 3 करोड़ निवेशकों के वेरिफिकेशन के लिए सरकारी बैंकों और केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसियों (केआरए) से मदद लेगा। सेबी पहले ही सहारा ग्रुप की 2 कंपनियों से जुड़े मामले की जांच के लिए बाहर की जांच एजेंसियों को नियुक्त करने की तैयारी में है। सुप्रीम कोर्ट ने लोगों से पैसा जुटाने के मामले में नियमों का उल्लंघन करने पर ग्रुप की कंपनियों को निवेशकों को 15 फीसदी ब्याज के साथ 24,000 करोड़ रुपए लौटाने का आदेश दिया है।

बिजली विभाग में व्‍याप्‍त भ्रष्‍टाचार के विरोध में अनशन पर बैठे मुगलसराय के दो पत्रकार

मुगलसराय नगर में लगातार हो रही अघोषित बिजली कटौती व बिजली विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार, गलत बिलिंग व कटौती का समय निर्धारित न करने के विरोध में दो पत्रकार अनशन पर बैठे हुए हैं। कई राजनीतिक संगठनों के माध्यम इन परेशानियों से अवगत कराए जाने के बाद भी विद्युत विभाग को कानों पर जूं नहीं रेंगी, जिससे क्षुब्‍ध होकर पत्रकार व समाजसेवी राजीव कुमार एवं पत्रकार कमलजीत सिंह विद्युत विभाग के खिलाफ अनशन पर बैठ गये। 

सी न्‍यूज छोड़कर न्‍यूज एक्‍सप्रेस पर सवार हुए प्रभाकर

  सी न्यूज़ आगरा में चैनल की शुरुआत से जुड़े रहने वाले एसोसिएट प्रोड्यूसर कम एंकर प्रभाकर कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने अपनी नई पारी न्‍यूज एक्‍सप्रेस के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी एसोसिए प्रोड्यूसर बनाया गया है. इससे पहले प्रभाकर ने वीओआई और एनडीटीवी जैसे संस्थान में काम कर चुके …

बुलंदशहर में दैनिक डीएलए के कार्यालय का उद्घाटन हुआ

 

बुलंदशहर। नगर के अंसारी रोड चौराहा स्थित भक्त पूजा भंडार पर रविवार की सुबह करीब 11 बजे दैनिक डीएलए समाचार पत्र के कार्यालय का शुभारंभ मुख्य अतिथि एसएसपी बुलंदशहर गुलाब सिंह ने विधि विधान से पूजा अर्चना कर फीता काटकर किया। इस मौके पर उनके साथ विशिष्ठ अतिथि जनपद इटावा के अपर जिला जज अमरपाल सिंह रहे। 

वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद बनेंगे साधना ग्रुप के चीफ एडिटर!

ऐसी चर्चा है कि वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद साधना ग्रुप ज्वाइन करने वाले हैं. बताया जा रहा है कि वे एडिटर इन चीफ के रूप में इस ग्रुप को जल्द ज्वाइन कर सकते हैं. हालांकि आधिकारिक तौर पर इस डेवलपमेंट की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है परंतु सूत्र बताते हैं कि एसएन विनोद की साधना ग्रुप के कर्ताधर्ताओं के साथ बातचीत लगभग फाइनल हो चुकी है. उनकी ज्वायनिंग की घोषणा कभी भी की जा सकती है.

सौरभ कुणाल न्यूज24 से नवभारत टाइम्स पहुंचे

न्यूज24 में एसोसिएट प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत सौरभ कुणाल के बारे में सूचना है कि उन्होंने यहां से इस्तीफा दे दिया है. वे नई पारी की शुरुआत नवभारत टाइम्स डाट काम के साथ करने जा रहे हैं. उनका नभाटा में पद सीनियर कापी एडिटर का होगा. सौरभ न्यूज24 के पहले जनसंदेश न्यूज चैनल और ए2जेड न्यूज चैनल के साथ काम कर चुके हैं.

सारी गड़बड़ी बैलेंसशीट देखकर पत्रकारिता करने का परिणाम है : एनके सिंह

: ज़ी न्यूज़ और नवीन जिंदल विवाद पर संगोष्ठी : दिल्ली. मीडिया इंडस्ट्री में चारों तरफ ब्लैकमेलिंग ही हो रहा है. ऐसा बिलकुल नहीं है. सीईओ इज ए डर्टी एनिमल. ऐसा समझना भी ठीक नहीं. खराब माहौल के बावजूद बहुत सारे लोग बेहतर तरीके से अपना काम कर रहे हैं. यह बात अलग है कि जो बिजनेस ला सकता है उसे कमियों के बावजूद भी चुन लिया जाता है.

अपने जैसा सबको क्‍यों बता रहा है जी न्यूज!

 

जिस दिन बीईए (ब्रॉडकास्टर्स एडिटर एसोसिएशन) की जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट जारी की उसी दिन से जी न्यूज चैनल पर फिर अभियान छेड़ा गया। रिपोर्ट सुधीर चौधरी और समीर के विरूद्ध है। उन पर संपादकीय मर्यादा के उल्लंघन का दोष सिद्ध हो गया है। वह रिपोर्ट आंतरिक है। हर चैनल के संपादक के पास है। जी न्यूज जो अभियान चला रहा है वह है तो अपने बचाव में, लेकिन उससे चैनल ही गंभीर सवालों से बुरी तरह उलझता जा रहा है। 

जागरण के पत्रकार ने मंत्री ओम प्रकाश सिंह से रक्षा की गुहार की

उत्‍तर प्रदेश के गाजीपुर में दैनिक जागरण के पत्रकार नरेंद्र नाथ पाण्‍डेय पर 26 अक्‍टूबर को हुए जानलेवा हमला और लूटपाट के मामले में पत्रकारों का एक समूह प्रदेश के जल संसाधन एव परती भूमि विकास मंत्री ओमप्रकाश से जमानियां स्थित सिंचाई विभाग के डाक बंगले में मुलाकात की। पत्रकारों ने नरेंद्र नाथ पर हुए हमले और उसके बाद सुहवल एसओ राम स्‍वरूप वर्मा द्वारा पत्रकार को जान से मरवाने की धमकी की शिकायत की। 

निलंबित डिप्टी एसपी शर्मा के आरोप आधारहीन और मिथ्या कैसे?

 

निलंबित डिप्टी एसपी विजय कुमार शर्मा के निलंबन आदेश दिनांक 29 अक्टूबर 2012  में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा साफ़ तौर पर दोहरे मापदंड अपनाए गए दिखते हैं. निलंबन आदेश में लिखा है कि “आज श्री विजय कुमार शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुला कर इलेक्ट्रोनिक मीडिया के समक्ष कैमरे के सामने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों पर वेतन नहीं देने के सम्बन्ध में भ्रष्टाचार सम्बंधित कतिपय आधारहीन, मनगढंत, मिथ्या आरोप लगाए हैं.”

आईएएस अशोक खेमका को धमकी देने का आरोपी उमेद सिंह गिरफ्तार

 

हरियाणा पुलिस ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एवं हरियाणा बीज निगम के प्रबन्ध निदेशक श्री अशोक खेमका को उनके कार्यालय के टेलीफोन पर धमकी देने के आरोपी उमेद सिंह को जुर्म कबूलने के आधार पर गिरफ्तार किया तथा आज उसे पंचकूला के न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री अतुल मारिया की अदालत में पेश किया। जहां से उसे मंगलवार तक न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए गए हैं।

शैलेश शर्मा ने न्‍यूज24 के रिपोर्टर की शिकायत चैनल हेड तथा पीसीआई से की

कानपुर के रहने वाले शैलेश शर्मा ने न्‍यूज24 के रिपोर्टर विकास बाजपेयी पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कई लोगों को शिकायती पत्र भेजा है. चैनल के हेड, यूपी के ब्‍यूरोचीफ एवं प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया को भेजे गए पत्र में शैलेश ने आरोप लगाया है कि विकास पत्रकारिता की आड़ में जमीनों पर कब्‍जा कर रहे हैं तथा उन्‍हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. उन्‍होंने यह भी आरोप लगाया है कि विकास पुलिस की सहायता से उन्‍हें फर्जी मामलों में फंसाने का कोशिश भी कर रहे हैं. नीचे उनके द्वारा भेजे गए शिकायती पत्र. 

पेट्रोलियम मंत्रालय में मुकेश अंबानी का दखल : मणिशंकर

 

कांग्रेस के पूर्व पेट्रोलियम मंत्री मणिशंकर अय्यर ने आजतक से बातचीत में माना कि पेट्रोलियम मंत्रालय में मुकेश अंबानी का दखल होता है. हालांकि उन्होंने मुकेश अंबानी के दबाव में मंत्रालय से हटाए जाने की बातों का खंडन किया है लेकिन इतना जरूर कहा कि मुकेश अंबानी चाहते थे कि उन्होंने जो टैक्स लगाए थे उसमें बदलाव किए जाए. इस मांग को मणिशंकर अय्यर ने खारिज कर दिया था.

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : हाई कोर्ट में काउंटर एफिडेविट दाखिल, अगली सुनवाई 26 नवम्‍बर को

 

पटना। विश्वस्तरीय दैनिक हिन्दुस्तान के लगभग 200 करोड़ के सरकारी विज्ञापन घोटाले के मामले में मुंगेर कोतवाली में दर्ज प्राथमिकी, जिसकी कांड संख्या-445।2011 है, को रद्द करने की प्रार्थना को लेकर प्रमुख अभियुक्त व मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड की अध्यक्ष शोभना भरतिया की ओर से दर्ज याचिका, जिसका नं0- क्रिमिनल मिससेलीनियस केस नं0-2951/2012 है, पर अब पटना उच्च न्यायालय आगामी 26 नवंबर, 12 को सुनवाई करेगा।

मुरादाबाद में सिटी चीफ के व्‍यवहार से परेशान है महिला रिपोर्टर

हिंदुस्‍तान, मुरादाबाद के सिटी इंचार्ज से रिपोर्टर परेशान हैं. सबसे ज्‍यादा मुश्किल उनके व्‍यवहार के चलते हो रही है. दो-तीन पहले एक महिला रिपोर्टर उनकी बदसलूकी से नाराज होकर अगले दिन ऑफिस नहीं आई. सिटी इंचार्ज ने रिपोर्टरों की मीटिंग में महिला रिपोर्टर को कोई खबर मिस हो जाने पर जमकर डांटा. यहां तक तो बात सही थी, लेकिन जब महिला रिपोर्टर ने अपना पक्ष रखा तो इंचार्ज महोदय आपे से बाहर हो गए और जितना सुना सकते थे, जैसे सुना सकते थे, सब सुना डाला. 

‘सिर्फ सुधीर और समीर पकड़े गए जबकि ऐसे सफेदपोश चोरों की भरमार है’

ज़ी-जिंदल प्रकरण पर जब सीएमएस-मीडिया ख़बर ने सेमिनार आयोजित करने के लिए फेसबुक पर इवेंट बनाया तो संयोगवश मैं भी ऑन लाइन था। मैंने फौरन उसे ऐक्सेप्ट कर लिया। मुझे लगा, इस मुद्दे पर बहस बेहद जरूरी है। ये भी देखने की इच्छा हुई कि आख़िर कौन-कौन ऐसा दूध का धुला है जो सुधीर चौधरी पर पत्थर फेंकने की दावेदारी रखता है?

9 महीने 10 दंगे, क्या कर रही अखिलेश सरकार?

 

एक दशक के बाद उत्‍तर प्रदेश में इतने खतरनाक हालात बन रहे हैं। प्रदेश के नौजवान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव हैरान और परेशान हैं। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा कि इन हालातों से किस तरह निपटें। प्रदेश में साम्‍प्रदायिक आधार पर उन्माद और प्रशासन की लापरवाही ने सरकार के सामने प्रश्नचिन्ह लगा दिया हैं। बसपा सुप्रीमों मायावती ने मौके की नजाकत को देखते हुए सरकार पर जोरदार हमला बोल दिया है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बने यह हालात समाजवादी पार्टी के लिए बेहद चिंता का विषय बने हुए हैं। मगर हालात काबू हो पायेंगे ऐसी कोई ठोस रणनीति सरकार के पास दिख नहीं रही है।

सोनिया-राहुल के खिलाफ खबर प्रकाशित करने पर नप गए आज समाज, अंबाला के संपादक

: संजीव शुक्‍ला की जगह बलवंत तक्षक बने नए संपादक : आज समाज, अंबाला से खबर है कि स्‍थानीय संपादक एवं एसोसिएट एडिटर के रूप में कार्यरत संजीव शुक्‍ला को प्रबंधन ने छुट्टी पर भेज दिया है. बलवंत जनसत्‍ता तथा दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ को भी अपनी सेवाएं दी हैं. उन्‍होंने हरियाणा में भास्‍कर को जमाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई. अलवर के रहने वाले बलवंत पिछले बीस सालों से हरियाणा की प‍त्रकारिता में सक्रिय हैं. 

आरके अरोड़ा बने इंडिया न्‍यूज के सीईओ, राकेश शर्मा के पर कतरे

आईटीवी समूह (इंडिया न्‍यूज का संचालन करने वाली कंपनी) से खबर है कि आरके अरोड़ा ने ज्‍वाइन किया है. उन्‍हें समूह का सीईओ बनाया गया है. अरोड़ा मीडिया फील्‍ड में लम्‍बे समय से सक्रिय हैं. उन्‍होंने ही रजत शर्मा के साथ मिलकर इंडिया टीवी की लांचिंग कराई थी. इनके विजन के चलते इंडिया टीवी ने तेजी से अपने पांव जमाएं.

निर्मल बाबा मुकदमें में जानबूझकर की गई गलत विवेचना, डीएसपी से विवेचना की मांग

 

मेरे बच्चों तनया और आदित्य ठाकुर ने थाना गोमतीनगर, जनपद लखनऊ में निर्मलजीत सिंह नरूला उर्फ निर्मल बाबा के विरुद्ध अत्यंत सरलीकृत बातें और समाधान प्रस्तुत कर ईश्वरीय नाराजगी का भय दिखा कर पूरे देश की गरीब, अनपढ़ जनता को ठगने के सम्बन्ध में एक एफआईआर दिया था. थाने पर एफआईआर दर्ज नहीं होने पर उन्होंने सीजेएम, लखनऊ के पास प्रार्थना पत्र दिया, जिसके आधार पर 12 मई 2012 को गोमतीनगर थाने में मु०अ०स० 202/12 धारा 417/419/420/508 आईपीसी दर्ज हुआ. 

व्‍यवस्‍था की बलि चढ़े कर्मियों को लेकर भीतर से सुलग रहा है दैनिक जागरण, पटना

 

: कानाफूसी : खोल सकते हैं जबरिया हस्‍ताक्षर के खिलाफ मुंह : न्‍याय नहीं मिला तो पीडि़त कर्मचारी भी कोर्ट जाने को तैयार : गत 29 अक्‍टूबर (सोमवार) को दैनिक जागरण (पटना) के ‘पाठकनामा’ स्‍तंभ में गांधी परिवार के संबंध में प्रकाशित आपत्तिजनक पत्र का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अखबार के खिलाफ प्रदर्शन व पुतला दहन के बाद कांग्रेस ने तो चुप्‍पी साध ली है, लेकिन जिन कर्मचारियों पर गाज गिरी है, वे इसके लिए अपने को निर्दोष बताया है। अनेक जागरण कर्मी व्‍यवस्‍था बनाने वाले वरीय लोगों को दोषी करार दे रहे हैं। वे इस मामले को जागरण के शीर्ष प्रबंधन से लेकर अदालत तक में ले जा रहे हैं। साथ ही कांग्रेस आलाकमान को भी पत्र लिखकर यह बताया जा रहा है कि किस तरह वरीय लोगों ने खुद को बचाने के लिए निर्दोष लोगों की बलि ली है।

कृष्‍ण कुमार अष्ठाना और ममता कालिया सम्‍मानित

 

इंदौर। पं. रामानंद तिवारी स्मृति प्रतिष्ठा सम्मान समारोह में वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण कुमार अष्ठाना और सुप्रसिद्ध साहित्यकार ममता कालिया को सम्मानित किया गया। तिवारी परिवार धार प्रतिवर्ष पत्रकारिता और साहित्य जगत की बड़ी हस्ती को शाल-श्रीफल, प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह और ११ हजार रुपए से सम्मानित करता है। वर्ष २००९ के लिए श्री अष्ठाना और २०१० के लिए श्रीमती कालिया को सम्मानित किया गया। 

सहारा मीडिया के हेड उपेंद्र राय के खिलाफ जारी ‘टेप’ फुस्स हुआ

: कानाफूसी : सहारा मीडिया से खबर है कि इसके हेड उपेंद्र राय के खिलाफ कुछ लोगों ने एक टेप जारी करके उसे सहारा प्रबंधन के पास भेज दिया है. इस टेप में उपेंद्र राय सहारा के ही किसी शीर्ष अधिकारी से बातचीत कर रहे हैं और बातचीत के दौरान कई बातें कहतें सुनाई पड़ रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि उपेंद्र राय से खार खाए कुछ लोगों ने एक पुराने टेप के कई अंशों को काटपीट जोड़ कर स्टिंग टाइप का दिखाते बताते हुए सहारा के अंदर कई बड़े लोगों के पास मेल कर दिया है.

दैनिक जागरण के मालिक-संपादक को नहीं, पत्र लेखक को तलाश रही पुलिस

सोनिया और उनके परिजनों को लेकर अश्लील पत्र दैनिक जागरण में छापने वाले अखबार के मालिक, संपादक और प्रबंधक बेखौफ हैं क्योंकि पुलिस तो उसे पत्र लेखक को तलाश रही है जिसके पत्र को दैनिक जागरण ने छाप दिया. कांग्रेस के लोगों ने बिहार और पश्चिम बंगाल में अश्लील पत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. पश्चिम बंगाल में इसलिए कि वही पत्र सिलीगुड़ी में भी प्रकाशित हो गया. बस फर्क इतना था कि बिहार में जो पत्र छपा, उसमें लेखक का पता मधुबनी दिया गया और सिलिगुड़ी (वेस्ट बंगाल) में जो पत्र छपा उसमें उसी लेखक का पता सिलीगुड़ी दे दिया गया.

दैनिक जागरण ने जो छापा, वह मीडिया के व्यवसायीकरण का नतीजा

पटना से प्रकाशित प्रमुख हिन्दी दैनिक समाचार पत्र दैनिक जागरण के पाठकनामा कॉलम में बीते 29 अक्टूबर को छपा एक पत्र वर्तमान पत्रकारिता पर कई सवाल खड़ा कर गया। जिस तरह बिना संपादन के कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां छाप दी गईं वह पत्रकारिता के इतिहास को शर्मशार करने वाली तो है ही साथ ही साथ बेशर्म पत्रकारिता का चेहरा उजागर करने वाला भी। मेरा मानना है कि इसमें दोष संबंधित अखबार के संपादीय विभाग का नहीं वरन वैसे प्रबंधनों का है जिसने समाचार पत्रों का व्यवसायीकरण कर दिया।

दिल्ली में चलती ट्रेन से किसी ने धक्का दिया, वो गिरा, और शांत पड़ गया… (देखें तस्वीर)

पत्रकार अमित द्विवेदी जो मुबंई में ओवरड्राइव मैग्जीन में आटो जर्नलिस्ट हैं, इन दिनों दिल्ली आए हुए हैं. वे किसी काम से आश्रम फ्लाईओवर से गुजर रहे थे. वहां देखा कि लोग नीचे देख रहे हैं और हल्ला मचा रहे हैं. उन्होंने खुद देखा तो नीचे रेलवे ट्रैक पर एक आदमी का पड़ा दिखा. उन्होंने लोगों की बातचीत और शोरगुल को सुना. लोग कह रहे थे कि फेंक दिया, फेंक दिया…

”नेशनल हेराल्‍ड के सात सौ कर्मचारियों की मदद के लिए दिया गया पैसा”

कांग्रेस ने स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान शुरू किए गए समाचार पत्र नेशनल हेराल्ड की प्रकाशन संस्था एसोसिएटेड जर्नल्स को 90 करोड़ रुपए का ऋण देने को सही ठहराते हुए कहा कि ऐसा सात सौ कर्मचारियों की मदद करने और नेहरू-गांधी के विचारों के प्रचार प्रसार के लिए किया गया है। जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी द्वारा किए गए इस खुलासे पर कांग्रेस महासचिव और मीडिया विभाग के अध्यक्ष जनार्दन द्विवेदी ने सफाई देते हुए कहा कि पार्टी ने यह राशि मुनाफा कमाने या व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं दी, बल्कि पंडित जवाहर लाल नेहरू द्वारा स्थापित एसोसिएटेड जर्नल्स को पुनर्जीवित करने तथा उसे आगे बढ़ाने के लिए दिया। 

अरुण फरेरा की जेल डायरी (2)

हर बैरक का अपना एक भाई होता था, कमज़ोर लोग जिसके क़रीब होने का दावा करते या या चाहत रखते थे। जो लोग सफल हो जाते वे, एक जोड़ी बिस्तर या सफ़ाई के सामान मिल जाने के रूप में, कुछ परेशानियों से निजात पाने की उम्मीद करते थे। यद्यपि, जेल की नियमावली कहती है कि दिए गए बिस्तर में एक दरी, एक चादर, सर्दियों में सूत-ऊन के दो कंबल और खोली के साथ एक तकिया शामिल रहना चाहिए। लेकिन नए अहमद अगर मैला-कुचैला एक कंबल भी पा जाते हैं तो ख़ुद को भाग्यशाली मानते हैं।

अरुण फरेरा की जेल डायरी (1)

: जेल ऊँची दीवारों के भीतर की सिर्फ एक जगह का नाम नहीं है. उसके कई संस्करण हैं. दीवारों के बाहर और भीतर होना एक अलग अहसास से भर देता है. अरुण फरेरा को मई 2007 में माओवादी होने के आरोप में नागपुर से गिरफ्तार किया गया था. अखबारों में उनके गिरफ्तारी, नार्को टेस्ट के दौरान दिए गए बयान की सच्ची-झूठी कहानियां पिछले 4 वर्षों तक आती रही. अदालती फैसलों के तहत जेल से उनका छूटना और फिर जेल की सलाखों में धकेल दिया जाना. पिछले माह ओपेन पत्रिका में उनकी लम्बी जेल डायरी प्रकाशित हुई. जिसका हिन्दी अनुवाद अनिल मिश्रा ने किया है. डायरी के साथ प्रकाशित जेल की स्थिति दर्शाते चित्र भी अरुण फरेरा ने खुद बनाए हैं… :


ब्लागिंग के प्रति समर्पित दंपति को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

जीवन में कुछ करने की चाह हो तो रास्ते खुद-ब-खुद बन जाते हैं। हिन्दी-ब्लागिंग के क्षेत्र में ऐसा ही रास्ता अख्तियार किया दम्पति कृष्ण कुमार यादव व आकांक्षा यादव ने. उनके इस जुनून के कारण ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 1 नवम्बर, 2012 को इलाहाबाद परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं कृष्ण कुमार यादव और उनकी पत्नी आकांक्षा यादव को ‘न्यू मीडिया एवं ब्लागिंग’ में उत्कृष्टता के लिए एक भव्य कार्यक्रम में ‘अवध सम्मान’ से सम्मानित किया.

नेटवर्क18 की हिन्‍दी न्‍यूज साइट पर इतना अश्लील विज्ञापन! शेम, शेम!!

नेटवर्क18 समूह काफी लंबा चौड़ा ग्रुप है. सीएनएन-आईबीएन, आईबीएन7, सीएनबीसी आवाज जैसे चैनलों को संचालित करने वाला यह समूह इतना घटिया विज्ञापन अपनी न्यूज वेबसाइट पर चलाएगा, इसकी किसी को उम्मीद न होगी. भड़ास के पास एक पाठक ने इस समूह की हिंदी न्यूज वेबसाइट पर चल रहे एक पोर्न वीडियो विज्ञापन का स्नैपशाट भेजा है. इसे देखकर हर कोई पढ़ा लिखा नेटवर्क18 ग्रुप को शेम शेम कहेगा.

खबर मंत्र से मधुकर, संदीप कमल, फैजल समेत कई जुड़े

: दूसरे अखबारों में हलचल : झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह के नेतृत्‍व में रांची निकलने वाले अखबार खबर मंत्र ने धमाका करना शुरू कर दिया है. जनवरी माह में लांच होने जा रहे इस अखबार से कई लोग अपनी नई पारी शुरू कर रहे हैं। खबर मंत्र ने सभी अखबारों को झटका देने का काम शुरू कर दिया है। पहले दौर में रांची और झारखंड के नामी और अनुभवी पत्रकार इस अखबार से जुड़ गये हैं। प्रभात खबर के विशेष संवाददाता मधुकर, जो कि 30 वर्षों से पत्रकारिता कर रहे हैं, ने सलाहकार संपादक के रूप में ज्वाइन किया है। इसी कड़ी में फैसल अनुराग ने एडिटर (व्यूज एंड स्पेशल प्रोजेक्ट) के पद पर ज्वाइन किया है। 

प्रदीप श्रीवास्‍तव ने शुरू की दिव्‍यता पब्लिकेशन, लांच करेंगे मैगजीन

 

दिव्यता पब्लिकेशन, लखनऊ समसामयिक मुद्दों पर आधारित एक मासिक पत्रिका जल्द ही शुरू करने जा रहा है। इस पब्लिकेशन की शुरुआत वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप श्रीवास्तव ने की है। प्रदीप श्रीवास्तव ने इस इस बाबत बताया कि हम लोग सबसे पहले समसामयिक मुद्दों पर आधारित मैगजीन प्रकाशित की जाएगी उसके बाद टुरिज्म परहिंदी में एक और मैगजीन की शुरुआत की जायेगी। साथ ही उन्होंने बताया कि जल्द ही लखनऊ से एक साप्ताहिक अखबार के प्रकाशन की योजना पर भी काम चल रहा है।

गंगेश मिश्र नईदुनिया इंदौर में आरई, कई और बदलाव

   इंदौर। गंगेश मिश्र ने नईदुनिया के स्थानीय संपादक के पद पर कार्यभार ग्रहण किया। मिश्र दैनिक भास्कर के नई दिल्ली संस्करण में सीनियर डिप्टी एडीटर थे। इधर पीपुल्स समाचार इंदौर संस्करण के स्थानीय संपादक प्रवीण कुमार खारीवाल ने अपने पद से त्याग-पत्र दे दिया है। इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष खारीवाल अब डीजी केबलनेट …

कांग्रेस की मान्‍यता रद्द कराने ईसी के पास अर्जी देंगे स्‍वामी

 

जनता पार्टी के अध्‍यक्ष सुब्रमण्यम स्वामी अब कांग्रेस की मान्‍यता रद्द करवाने के लिए चुनाव आयोग को अर्जी देंगे। स्वामी ने ट्विट कर कहा है कि कांग्रेस द्वारा लोन दिए जाने की बात स्वीकारने के बाद अब वह इस संबंध में चुनाव आयोग में कांग्रेस की मान्यता खत्म करने को याचिका दायर करेंगे। स्वामी ने आरोप लगाए थे कि कांग्रेस ने एसोसिएट जर्नल नाम की कंपनी को 90 करोड़ रुपए का लोन दिया। कांग्रेस की तरफ से शुक्रवार को कहा गया कि पार्टी ने ऐसे अखबार की मदद की जिसने आजादी की लड़ाई में अहम भूमिका निभाई। कांग्रेस का कहना है कि जिसे इसमें कुछ भी गलत लगता है वो कोर्ट जा सकता है।

आत्‍ममुग्‍धता से कैसे चलेगा इंडिया न्‍यूज?

इंडिया न्यूज नेशनल में कार्यरत मीडियाकर्मियों के लिए एक अच्छी खबर है. चैनल के रीलांचिंग की तैयारी चल रही है. चैनल का अपना लोगो टिकर वापस दिखने लगा है और उम्मीद जतायी जा रही है कि चैनल दोबारा शुरू होगा. लेकिन चैनल के मालिक कार्तिकेय शर्मा और प्रबंधन चैनल की रीलांचिंग के लिए उन्हीं लोगों पर भरोसा कर रहा है, जिन्होंने चैनल को डुबोया है यानी असाइनमेंट वाले राम कौशिक और आउटपुट के धर्मेंद्र त्रिपाठी. 

”मेरी मौत के जिम्‍मेदार एमडी कार्तिक शर्मा और रामकुमार कौशिक होंगे”

 

आदरणीय कार्तिकेय शर्मा जी मैं मदन मोहन तंवर आपके इंडिया न्यूज़ में रिपोर्टर हूँ. मैंने आपसे अपनी बात पहले भी कही थी कि मैंने चैनल के लिए अपनी जान तक की परवाह नहीं की मगर चैनल के लोग सिर्फ अपनी ही गलतियों की वजह से टीआरपी को शून्य पर ले आये हैं और किसी भी फील्ड रिपोर्टर को तीन साल से पैसा भी नहीं दिया गया है. पांच लाख दस हजार तो मेरा ही बनता है, अगर मैं अपनी भेजी गयी हर एक खबर का पैसा जोड़ता हूं. 

रोशनलाल, राहुल, टीकम एवं देवेंद्र ने शुरू की नई पारी

 

जयपुर से खबर है कि तीन पत्रकारों ने जागरुक टाइम्‍स के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. वरिष्‍ठ पत्रकार रोशनलाल शर्मा ने आरई के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे इसके पहले वे खुद का अखबार बढ़ता राजस्‍थान का संपादन कर रहे थे. वे लम्‍बे समय से पत्रकारिता कर रहे हैं. वे दैनिक नवज्‍योति, महका भारत, राजस्‍थान पत्रिका, करंट ज्‍वाला को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. वे पत्रकार परिषद के उपाध्‍यक्ष भी हैं. 

टीवी9 के रिपोर्टर, कैमरामैन और चालक पर लगा मुकदमा वापस

आरपीआई द्वारा असीम त्रिवेदी को बिग बॉस के घर सो बाहर करने के लिए किए गए पत्‍थरबाजी में साजिशकर्ता बनाए गए टीवी9 के तीन लोगों के खिलाफ लिखा गया मामला वापस ले लिया गया है. कलर्स चैनल की ओर से टीवी9 के रिपोर्टर पी रामदास, कैमरामैन सचिन चिंदेरकर तथा कार चालक को आईपीसी की धारा 120 बी के तहत नामजद किया गया था. कलर्स का आरोप था कि इन लोगों को कार्यालय पर हमले की पहले से जानकारी थी.  

”कांग्रेस ने नेशनल हेराल्‍ड को फिर से शुरू करने के लिए ब्याज मुक्त ऋण दिया है”

 

नई दिल्ली : अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कांग्रेस ने आज जनता पार्टी अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी के लगाए आरोपों को खारिज किया और कहा कि नेशनल हेराल्ड अखबार को उसका सहयोग ब्याज मुक्त ऋण के तौर पर था जिससे पार्टी को कोई व्यावसायिक लाभ नहीं मिलना है। पार्टी के प्रवक्ता और अन्य शीर्ष नेता दिन भर स्वामी के आरोपों पर बोलने से इंकार करते रहे और देर रात पार्टी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर अपनी स्थिति साफ की। 

आईजी ने तो अपनी गलती मान ली, क्या भास्कर भी मानेगा?

 

एबीपी न्यूज़ के प्रोमो में करीब एक पखवाड़े से छाई गुमशुदा गौरी भोसले की कहानी एक तरफ जहां यूपी पुलिस के लिए किरकिरी बना वहीं मीडिया भी अपनी सीमाएं भूलने में पीछे नहीं रहा। एक तरफ जहां एबीपी न्यूज़ मामले से पल्ला झाड़ने में जुटा है वहीं दूसरी तरफ खुद को राष्ट्रीय बताने वाले कुछ अखबार भी एक बलात्कार पीड़ित महिला की तस्वीर और पहचान छापने से परहेज़ नहीं कर रहे। 

कंवल भारती को भारतीय भाषा पत्रकारिता पुरस्कार

जाने माने साहित्यकार कंवल भारती को दिल्ली प्रेस और भारतीय भाषा समन्वय समूह की ओर से वर्ष 2012 के भारतीय भाषा पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित किया है। इसके लिए उनको 51 हजार रुपये और ताम्र पत्र भेंट किया गया है। उनको यह सम्मान नई दिल्ली स्थित इंडियन हेबिटेज सेंटर में शुक्रवार को आयोजित समारोह में भारतीय भाषा पत्रकारिता पुरस्कार दिया गया।

सेबी ने सहारा समूह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने सहारा समूह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना की याचिका दायर कर दी है। समूह की दो कंपनियों द्वारा निवेशकों के 24,000 करोड़ रुपये वापस लौटाने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश से संबंधित निर्देशों का पालन न करने के चलते यह याचिका दायर की गई है। अपनी याचिका में सेबी ने कहा है कि सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉरपोरेशन और सहारा हाउसिंग इनवेस्टमेंट कॉरपोरेशन ने सुप्रीम कोर्ट के उस निर्देश का पालन नहीं किया, जिसमें उन्हें 10 दिनों के भीतर निवेशकों के बारे में तमाम जानकारी मुहैया कराने के लिए कहा गया था। सेबी ने अपनी याचिका में सहारा समूह पर सुप्रीम कोर्ट के 31 अगस्त के आदेश का उचित अनुपालन न करने का भी आरोप लगाया है।

पत्रकार स्व. शैलेंद्र के परिजनों को 1.98 करोड़ का मुआवजा देने का आदेश

गाजियाबाद से खबर है कि अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी को आदेश दिया है कि वह पत्रकार शैलेंद्र सिंह के परिजनों को एक करोड़ 98 लाख रुपये का मुआवजा दे। शैलेंद्र सिंह की 2009 में सड़क दुघर्टना में मौत हो गई थी। शैलेंद्र सिंह की पत्‍‌नी मेहदी वरदान, नाबालिग पुत्री आस्था और पुत्र आयाम की ओर से अदालत में मोटर दुर्घटना प्रतिकर (मुआवजा) याचिका दायर की गई थी।

”धीरेंद्र उर्फ मीतू और सीतू उर्फ सिंटू से कल्पतरु एक्सप्रेस का कोई संबंध नहीं है”

श्रीमान संपादक महोदय, भडास4मीडिया, महोदय, भड़ास पर प्रकाशित ''कोटेदार से अवैध धन उगाही करते तीन पत्रकार फंसे, जेल भेजे गए'' शीर्षक से प्रकाशित खबर का संज्ञान लें. आपको अवगत कराना है कि धीरन्द्र यादव उर्फ मीतू यादव पुत्र अब्बल सिंह एवं सीतू उर्फ सिंटू हमारे समाचार पत्र कल्पतरु एक्सप्रेस के संवाददाता नहीं हैं और ना ही जिला सूचना कार्यालय, कासगंज में हमारी ओर से इन्हें अधिकृत किया गया है।

बिग बास से बाहर हो गए कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी

अभी अभी सूचना मिली है कि कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी को बिग बास से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. कार्टूनिस्ट असीम को बाहर किए जाने को लेकर महाराष्ट्र में कुछ नेता अभियान भी चला रहे थे और इसी के तहत कलर्स चैनल पर आज हमला भी किया गया.

अपनी मांगों के लिए बनारस शहर में सड़कों पर उतरे समाचार वितरक (देखें तस्वीर)

बनारस में समाचार वितरकों ने भारी संख्या में सड़क पर उतरकर अपने दुख दर्द को बयान किया. वितरकों ने अपने नेता और 'वितरक आवाज'के संपादक राकेश पांडेय की अगुवाई में मुख्यमंत्री को संबोधित बारह सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी कार्यालय को रिसीव कराया. इससे पहले वितरकों ने जुलूस निकाल और जोरदार प्रदर्शन किया.

कांडा को जमानत मिल ही जाएगी अबकी, देखिए ये तस्वीर

हरियाणा के सिरसा जिले में एक पोस्टर चर्चा में है. इस पोस्टर में चौदह नवंबर को विश्वकर्मा दिवस मनाए जाने के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गोपाल कांडा को बनाया गया है. पोस्टर में गोपाल कांडा की बड़ी सी तस्वीर भी लगी है. इसे लेकर लोग चर्चा कर रहे हैं कि गोपाल कांडा को हर हाल में जमानत मिल जाएगी, तभी तो वे चौदह नवंबर के प्रोग्राम में मुख्य अतिथि बन जाएंगे.

देवरिया में डीएम ने पत्रकारों को कमरे में बद करा दिया ताकि वे सीएम से न मिल पाएं

देवरिया । उत्तर प्रदेश के खेल मंत्री कामेश्वर उपाध्याय तथा समाजवादी के पूर्व सांसद हरि केवल प्रसाद की मृत्यु पर जिले में बुधवार को शोक संवेदना व्यक्त करने आए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आगमन पर जिला प्रशासन द्वारा पत्रकारों के साथ भाटपाररानी में किए गए दुर्व्यवहार तथा सलेमपुर के महथापार में पत्रकारों को कुछ देर तक बन्दी बनाए जाने की घटना को लेकर जिले के पत्रकारों में जिला प्रशासन के खिलाफ काफी आक्रोश व्याप्त है।

पीसीआई दंगा जांच समिति के सामने तथ्य रखने के लिए तीन दिन तय

प्रेस काउंसिल आफ इंडिया की तरफ से फैजाबाद में दंगे के दौरान अखबारों की भूमिका को लेकर शीतला सिंह के नेतृत्व में बनाई गई एकल जांच समिति के सामने कोई भी पक्ष 5, 6 और 7 नवंबर को तथ्य रख सकता है. इसके लिए स्थान सर्किट हाउस, फैजाबाद नियत किया गया है. इस बाबत एक विज्ञापन का प्रकाशन किया गया है, जो इस प्रकार है.

भड़ास के पास कैसे कैसे मेल : स्ट्रिंगरों को उपदेश और चैनल का विज्ञापन रेट

भड़ास के पास कई तरह के मेल आते हैं. उनमें से कई तो काम के होते हैं. कई बेकाम के. जैसे एक चैनल की तरफ से स्ट्रिंगरों को भेजा गया उपदेश- क्या करें, क्या ना करें, भड़ास के पास भी आ पहुंचा है. एक चैनल की तरफ से जारी दिवाली व उत्तराखंड स्थापना दिवस के विज्ञापन रेट का मेल भड़ास के पास आ गया है. लीजिए, इन दोनों को आनंद लीजिए. हो सकता है, इसमें भी कोई न्यूज वैल्यू दिख जाए. -एडिटर, भड़ास4मीडिया

सोशल मीडिया पर स्वामी ने राहुल गांधी को बुद्धू बताया

: स्वामी के तीर और कांग्रेस की पीर : मौसम भी अपने आप में बहुत अजीब चीज हुआ करती है। वह जब आता है तो अपने साथ मस्ती भी लेकर आता है। सभी को मस्त कर देता है। पर, मौसम अपने साथ मार भी लेकर आता है। उसकी मार जिन पर पड़ती है, वे बेचारे पस्त हो जाते हैं। आजकल हमारे हिंदुस्तान में घोटालों का मौसम है। घोटाले भी लाखों और करोड़ों के छोटे मोटे नहीं। लाखों करोड़ रुपए के घोटालों का मौसम है।

लखनऊ में इन्हें पत्रकार नहीं, लैमार कहकर बुलाया जाता है

कुछ दिन पूर्व मैं एक न्यूजपेपर छापने वाले प्रिटिंग प्रेस में बैठा था कि तभी कुछ युवक अंदर आये. उनके चेहरे एवं कपड़ों को देख कर आप उन्हें शोहदों (महिलाओ एंव लडकियों पर छींटा कसी व छेड़- छाड़ करने वाले) की श्रेणी में कह सकते हैं। कछ समय बाद जैसे ही उन्होंने बोलना शुरू किया, तो मैं अवाक रह गया। इतनी गंदी भाषा मैंने अपने जीवन में नहीं सुनी। मेरे मुंह से तुरंत निकला कि आप लोग करते क्या हैं? वो बोले कि हम पत्रकार हैं। मैं यह सुन कर पत्रकारिता एवं पत्रकार के इस बदल रहे रूप को देख कर अचंभित रह गया और अनायास ही मस्तिष्क में ये प्रश्न आया कि क्या ये है आज की पत्रकारिता और भावी पत्रकार?

अपनी ही अदालत में मुकदमा हारते खडे़ अटल बिहारी वाजपेयी

भारतीय राजनीति क्या विश्व राजनीति में भी अगर कोई एक नाम बिना किसी विवाद के कभी लिया जाएगा तो वह नाम होगा अटल बिहारी वाजपेयी का। यह एक ऐसा नाम है जिस के पीछे काम तो कई जुड़े हुए हैं पर विवाद शून्य हैं। राजनीति काजल की कोठरी है, इस में से बिना कोई कालिख का निशान लिए निकलना टेढ़ी खीर है। लेकिन अटल जी निकले हैं। सार्वजनिक जीवन में अगर किसी को शुचिता और मर्यादा का पाठ पढ़ना हो तो वह अटल बिहारी वाजपेयी से सीखे।

ब्रेन हैमरेज से पीड़ित पत्रकार राम मोहन पांडेय की मौत, अमर उजाला की उपेक्षा पीड़ादायी

श्री यशवन्त जी, नमस्कार. आपको अवगत कराना है कि अमर उजाला, गोंडा के पत्रकार राम मोहन पांडेय, जिनको ब्रेन हैमरेज हो गया था, का निधन हो चुका है. उनका लखनऊ में इलाज चल रहा था. अमर उजाला, गोंडा में रिपोर्टर के रूप में काम कर रहे इस पत्रकार का बीमारी के चलते देहान्त होने के बाद एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन गोंडा में किया गया. इसमें उ.प्र. श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने स्वर्गीय पत्रकार के परिजनों को पचास हजार रूपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की. लेकिन अमर उजाला की तरफ से स्वर्गवासी पत्रकार के परिजनों के लिए एक भी पैसे की मदद नहीं दी गई.

अमर सिंह के खिलाफ चल रहे मनी लांड्रिंग के मामले को सपा सरकार ने वापस लिया

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने अमर सिंह के खिलाफ फर्जी कंपनियां बनाने और इसके जरिए मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा वापस ले लिया गया है। सपा सरकार के इस मुलायम रुख के सत्‍ता के गलियारों में कई मायने निकाले जा रहे हैं। साल 2009 में मायावती सरकार ने समाजवादी पार्टी के तत्‍कालीन महासचिव रहे अमर सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया था। अखिलेश सरकार के इस कदम को अमर सिंह और मुलायम सिंह के बीच बढ़ती नजदीकी का संकेत माना जा रहा है। हालांकि अंदरखाने से जो खबर आ रही है उसके अनुसार अखिलेश यादव इस कदम के खिलाफ हैं। 

अपराधी-पुलिस गठजोड़ से जागरण के पत्रकार को जान का खतरा

 

उत्‍तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में 26 अक्‍टूबर को दैनिक जागरण के पत्रकार नरेंद्र नाथ पाण्‍डेय पर जानलेवा हमला और लूटपाट मामले में पत्रकार की जान को खतरा है। पहले सुहवल थाना के एसओ राम स्‍वरूप वर्मा ने जान से मरवाने की धमकी दी थी, अब मारपीट और लूटपाट का आरोपी सुहवल निवासी संत कुमार राय ने पत्रकार के आवास पर पहुंचकर समझौता न करने की स्थिति में जान से मारने की धमकी दी है। ऊंची पहुंच रखने वाले संत कुमार राय के खिलाफ आइपीसी की धारा 394, 504, 506 और 323 में प्राथमिकी दर्ज है।

कलर्स चैनल पर पत्‍थरबाजी मामले में पुलिस ने टीवी9 के तीन लोगों को फंसाया

: रिपोर्टर, कैमरामैन तथा कार चालक के खिलाफ दर्ज किया साजिश रचने का मामला : पूरे देश में पत्रकारों का पुलिसिया उत्‍पीड़न जारी है. मुंबई में टीवी9 के तीन लोगों को पुलिस ने षणयंत्र रचने के आरोप में मामला दर्ज किया है. मामला कलर्स चैनल के ऑफिस पर हुई पत्‍थरबाजी से जुड़ा हुआ है. गुरुवार को आरपीआई के कार्यकर्ता कलर्स चैनल पर प्रसारित बिग बॉस कार्यक्रम से विवादित कार्टूनिस्‍ट असीम त्रिवेदी को बाहर निकालने की मांग को लेकर चैनल के कार्यालय पर हमला किया था. इसमें किसी को चोट नहीं आई थी. हमलावर कार्यालय पर पत्‍थर फेंकने के बाद भाग खड़े हुए थे. 

मराठी भाषी हो चुके चैनल टीवी9 के हिंदी पत्रकार अश्‍वनी शर्मा का पत्र

महाराष्‍ट्र से संचालित टीवी9 हिंदी न्‍यूज चैनल को अब मराठी भाषी बना दिया गया है. अब इस चैनल पर मराठी भाषा में ही खबरों का संचा‍लन किया जाएगा. प्रबंधन ने यह निर्णय किस कारण से लिया है ये पता नहीं चला है. इसके चलते तमाम हिंदी भाषी पत्रकार भी प्रभावित हुए हैं. उसमें से एक हैं अश्विनी शर्मा. 

हाई कोर्ट के जज पीके भसीन ने गोपाल कांडा की जमानत पर सुनवाई से खुद को अलग किया

 

हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा ने गुरूवार को जमानत के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है। कांडा ने यह जमानत याचिका पुलिस के आरोप पत्र दाखिल करने के करीब एक महीने बाद की है। इससे पहले उनकी जमानत याचिका निचली अदालत ने खारिज कर दी थी। इस याचिका पर सुनवाई न्यायमूर्ति पी के भसीन की अदालत में होनी थी। पर खबर है कि न्‍यायाधीश न्यायमूर्ति पीके भसीन ने शुक्रवार को हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल काडा की जमानत याचिका की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है। काडा पर पूर्व विमान परिचायिका गीतिका शर्मा को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है।

अनूप गुप्‍ता एवं अमित ने दैनिक जागरण ज्‍वाइन किया

 

अमर उजाला, बदायूं से खबर है कि अनूप गुप्‍ता ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर रिपोर्टर थे. अनूप ने अपनी नई पारी बदायूं में ही दैनिक जागरण के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी रिपोर्टिंग का दायित्‍व सौंपा गया है. अनूप काफी समय से अमर उजाला से जुड़े हुए थे. 

उत्‍तराखंड में पॉलीथिन बंद करने के नाम पर हिंदुस्‍तान का कैटवाक

 

आजकल हिन्दुस्तान अखबार ने उत्तराखंड में एक नया ड्रामा पॉलिथिन हटाओ का शुरू किया है। पहले हिन्दुस्तान ने हिमालय बचाओं का ड्रामा किया जो कि फ्लाप रहा। अब हिन्दुस्तान का ये नया ड्रामा भी कुछ हजम नहीं हो पा रहा है। इसके तहत हर जिलों के तथाकथित ब्यूरों चीफों को एक बैनर दिया गया है। नगर के नेता, अधिकारियों व गणमान्य नागरिकों से नारियल फुड़वा उनके हाथ में नया झाडू पकड़ा फोटो खिंचवा उसे हिन्दुस्तान अखबार में जोर-शोर से छाप अखबार के संपादक दिनेश गुरूरानी अपना सीना चौड़ा करने में लगे हैं। 

खबर भारती में हाई वोल्‍टेज ड्रामा के बाद कर्मचारियों को मिला दो महीने की सैलरी का चेक

 

खबर भारती चैनल के सेक्‍टर 63 स्थित कार्यालय में रात को जमकर हंगामा हुआ. सैलरी को लेकर हंगामा कर रहे कर्मचारियों से मिलने के लिए सीएमडी पुष्‍पेंद्र सिंह बघेल पहुंचे तो उनके साथ तीन-चार गाडि़यों में गुंडानुमा लोग थे. उन लोगों ने कर्मचारियों को अपने अर्दब में लेने की कोशिश की परन्‍तु कर्मचारी अपनी मांग से पीछे हटने को तैयार नहीं हुए. मामला गंभीर होते देख कर्मचारियों ने पुलिस को बुला लिया. रात ढाई बजे तक ड्रामा चलता रहा. बाद में दो महीने का एडवांस चेक देकर समस्‍या का 

जी न्‍यूज, मुंबई के ब्‍यूरोचीफ विजय शेखर ने दिया इस्‍तीफा

 

मुंबई से खबर है कि जी न्‍यूज के ब्‍यूरोचीफ विजय शेखर ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे लम्‍बे समय से जी न्‍यूज को अपनी सेवाएं दे रहे थे. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करेंगे इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. विजय के इस्‍तीफे के वास्‍तविक कारणों का भी पता नहीं चल पाया है. पर मुंबई में ऐसी चर्चा है कि विजय को नवीन जिंदल द्वारा किये गए स्टिंग ऑपरेशन को ना रुकवा पाने के चलते इस्‍तीफा देना पड़ा है. 

एबीपी न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर चारुल मलिक नेशन टुडे में एडिटर बनीं

 

एबीपी न्‍यूज को बड़ा झटका लगा है. चैनल की प्रमुख एंकर चारुल मलिक ने इस्‍तीफा दे दिया है. चारुल ने अपनी नई पारी अल्‍फा मीडिया के अपकमिंग न्‍यूज चैनल नेशन टुडे से की है. चारुल ने नेशन टुडे में एडिटर कम इंटरटेनमेंट हेड के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे लगभग सात सालों से स्‍टार न्‍यूज/ एबीपी न्‍यूज को अपनी सेवाएं दे रही थीं. वे राजनीति के साथ खेल समेत कई मुद्दों पर जोरदार तरीके से एंकरिंग करती रही हैं. दर्शकों के बीच उनकी एक अच्‍छी पहचान है. 

नैशनल हेराल्ड मामले में राहुल करेंगे कानूनी कार्रवाई

  राहुल गांधी ने जनता पार्टी के प्रमुख सुब्रमण्यम स्वामी के खिलाफ ‘सभी कानूनी कार्रवाई’ करने की धमकी दी है। स्वामी ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में नेशनल हेराल्ड का प्रकाशन करने वाली कंपनी के अधिग्रहण को लेकर सवाल उठाए थे और उनको एवं सोनिया गांधी पर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाए कि कम्पनी …

अब भारत में नहीं दिखेगा ‘बीबीसी एंटरटेनमेंट’ और ‘सीबीबीज’

बीबीसी ने भारत में अपने दो बड़े चैनल 'बीबीसी एंटरटेनमेंट' और 'सीबीबीज़' को बंद करने का फैसला किया है यानी नवंबर 2012 के बाद भारतीय दर्शक ये दोनों चैनल नहीं देख पाएंगे. हालांकि अंतरराष्ट्रीय खबरों से जुड़ा 'बीबीसी वर्ल्ड न्यूज़' चैनल भारत में जारी रहेगा. गौरतलब है ई टीवी पर दिखाए जाने वाले ‘ग्लोबल इंडिया’ नामक कार्यक्रम के ज़रिए शुक्रवार से बीबीसी हिंदी भारतीय टेलीविज़न पर नई पारी की शुरुआत कर रहा है.

स्वामी का धमाका- नेशनल हेराल्ड और हेराल्ड हाउस को लेकर सोनिया और राहुल गांधी ने किया करोड़ों का फर्जीवाड़ा

सुब्रमण्यम स्वामी ने कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर सनसनीखेज खुलासा किया है. जनता पार्टी के अध्यक्ष स्वामी ने आरोप मढ़ा है कि राहुल के पास करोड़ों की बेनामी संपत्ति है. सुब्रमण्यम स्वामी ने एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर कहा कि यंग इंडिया नामक कंपनी में राहुल, सोनिया गांधी के 76 फीसदी शेयर हैं. इन दोनों का इस कंपनी पर मालिकाना हक है. लेकिन राहुल गांधी ने इस कंपनी और इन शेयरों से संबंधित कोई भी जानकारी अमेठी से चुनाव में पर्चा भरते समय चुनाव आयोग को नहीं दी.

सपा और बसपा राज में पोंटी चड्ढा का शराब राज : दस हजार करोड़ का बाल पुष्टाहार शराब की बोतल में

लखनऊ। देश के करोड़ों बच्चों को जिनकी उम्र 0-6 साल के बीच है, उनके पुष्टाहार और गुणवत्तापूर्ण आहार देने के लिए भारत सरकार ने वर्ष 1975 में बाल विकास योज़ना की शुरुवात की थी, जो आज दुनिया में अपनी तरह की अलग और अनोखी योजना है जो करोड़ों भारतीय बच्चों के पुष्टाहार के लिए बनाई गई थी । सरकार ने गरीब और कुपोषण के शिकार बच्चों की बढती संख्या को देखते हुए इस योजना को लागू किया था ।

देश में पहली बार हुआ है, संपादकजी का पुतला फुंका है (देखें तस्वीरें)

ये तस्वीरें सिलीगुड़ी की हैं. साफ साफ दिख रहा है कि संपादक नामक जीव को आग लगाया जा रहा है. पहले कार्यकर्ता दूसरी पार्टियों के नेताओं या सीएम, पीएम का पुतला फूंकते थे. अब कार्यकर्ताओं को संपादकों का पुतला फूंकना पड़ रहा है. और, ऐसा देश में पहली बार हुआ है कि किसी संपादक का विधिवत पुतला फूंका गया हो. इन कांग्रेसियों को भी पता है कि अखबार के संपादक का पुतला फूंकने की घटना को अखबार वाले नहीं छापेंगे, फिर भी इन्होंने ये काम किया क्योंकि संपादक महोदय ने जो किया है, उसका कोई बचाव नहीं है, उसका दंड संपादक और मालिक को दिया ही जाना चाहिए.

फ्री इंटरनेट के लिए ‘सेव योर वाइस’ ने ब्लागरों की बैठक बुलाई, आप भी पहुंचें

Save Your Voice is organizing a bloggers meet on Nov 3 and 4. Selected bloggers from across the country are participating in the 2 days 24×7 camp where a final plan will be discussed to fight from the censorship practiced by the state and the central governments. This meet is a continuation of Save Your Voice’s effort to bring a free web in the country. You are invited to attend and express your suggestions and ideas. In case you can’t reach to the venue please email us your valuable inputs regarding the current situation on the internet in India. Free net is important. Please Save Your Voice because your voice is making a difference. For registration click here: – http://www.saveyourvoice.in/p/bloggers-meet.html

”श्री न्‍यूज में मारपीट, जूतम-पैजार नहीं, गर्मा-गर्मी हुई थी ”

यशवंत भाई नमस्कार, आप मीडिया से जुड़े चंद लोगों में हैं, जिनका मैं सम्मान करता हूं। आप भड़ास के सर्वेसर्वा हैं, उसपर कुछ भी लिख और छाप सकते हैं। लेकिन झूठी और हवाई बातों पर आधारित किसी ख़बर को छापने से पहले दूसरा पक्ष जानना आपकी पेशेवर जिम्मेदारी है। कुछ दिन पहले भड़ास पर श्री न्यूज चैनल के ऑफिस में जूतम-पैजार की खबर पढ़ी। खबर सच्चाई से परे थी। मेरे समेत तीस-चालीस लोग उस वक्त न्यूजरूम में उपस्थित थे। 

प्रकाश को आर्यन टीवी ने दिया बेस्‍ट परफारमेंस ऑफ द इयर अवार्ड

 

पटना से प्रसारित रीजनल हिंदी न्‍यूज चैनल आर्यन टीवी प्रबंधन ने बेहतर रिपोर्टिंग के लिए समस्‍तीपुर के स्ट्रिंगर प्रकाश कुमार को सम्‍मानित किया है. प्रकाश कुमार शुरुआत से ही चैनल से जुड़े हुए हैं. उन्‍होंने चैनल के लिए कई अच्‍छी स्‍टो‍री कवर की है. प्रकाश के लगन और मेहनत को देखते हुए आर्यन टीवी प्रबंधन ने उन्‍हें बेस्‍ट परफारमेंस ऑफ द इयर 2012 अवार्ड दिया है. चैनल ये अवार्ड अपने सबसे अच्‍छे कर्मचारियों को प्रदान करता है. प्रकाश को यह पुरस्‍कार मिलने से उनके दोस्‍तों में खुशी है.  

हरियाणा में दैनिक जागरण के संपादक अवधेश बच्‍चन के खिलाफ चार सौ बीसी का मामला दर्ज

 

दैनिक जागरण और इसमें कार्यरत वरिष्‍ठों की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं. पत्रकारिता को छोड़कर कोर्ट-कचहरी और पुलिस का इस्‍तेमाल करने वाला जागरण प्रबंधन अब अपने बोये को काटने को मजबूर है. बिहार में अवैध संस्‍करणों का मामला अभी कोर्ट में चल ही रहा था कि पानीपत में भी मालिकों और निशिकांत ठाकुर के खास सीनियर न्‍यूज एडिटर एवं हरियाणा प्रभारी अवधेश बच्‍चन के खिलाफ थाने में धोखाधड़ी और जालसाजी का मुकदमा जागरण के ही एक सब एडिटर ने दर्ज करा दिया है.  

बुरी खबर (तीन) : हमार टीवी का पटना कार्यालय बंद, चैनल अब भी ऑफएयर

: तीन महीनों से नहीं मिली सैलरी : पूर्व केंद्रीय मंत्री मंतग सिंह का चैनल हमार टीवी तथा फोकस टीवी के दुर्दिन खतम नहीं हुए हैं. चैनल ऑफ एयर चल रहा है. पटना ऑफिस पर ताला लगा दिया गया है. कर्मचारियों को भी समझ में नहीं आ रहा है कि ऑफ एयर चैनल में वे काम क्‍यों कर रहे हैं और प्रबंधन देर सबेर पैसा क्‍यों दे रहा है. यहां भी कर्मचारियों का तीन महीने की सैलरी नहीं मिली है. दो महीने पहले काफी संख्‍या में हमार टीवी और फोकस टीवी के कर्मचारी इस्‍तीफा देकर चले गए थे. 

बुरी खबर (दो) : खबर भारती में सैलरी को लेकर हड़ताल, चैनल होगा बंद

 

टीवी न्‍यूज इंडस्‍ट्री से एक और बुरी खबर आ रही है कि लगभग एक साल पहले लांच हुआ सांई प्रकाश मीडिया समूह का चैनल खबर भारती बंद होने की कतार में खड़ा हो गया है. चैनल में कार्यरत लगभग तीन सौ कर्मचारियों को उनकी दो महीने की सैलरी अब तक नहीं मिली है. सैलरी की मांग को लेकर गुरुवार को कर्मचारियों ने चैनल में हड़ताल कर दिया है. इसके चलते चैनल पर समाचारों का प्रसारण ठप है. चैनल के स्‍क्रीन पर केवल आईडी ही दिख रही है. 

बुरी खबर (एक) : बंसल न्‍यूज में सैलरी लेट, चैनल के बंद होने की भी चर्चा

 

बुरी खबर मध्य प्रदेश से आ रही हैं… यहां से दो साल पहले लांच हुआ न्यूज चैनल बंसल न्यूज बंद होने की कगार पर आ गया है.. चैनल में देर से सैलरी मिलने से कर्मचारी परेशान हैं… कर्मचारियों ने प्रबंधन से लिखित में दीपावली के पहले पैसा देने को कहा है… वहीं चैनल के टेक्निकल हेड संजीव पाटिल समेत कई लोगों ने इस्तीफा भी दे दिया है… कर्मचारियों की नाराजगी इस बात को लेकर भी है कि चैनल के अंदर भाई भतीजावाद जोरों पर चल रहा है…. व्यक्ति विशेष के सारे रिश्तेदारों को चैनल में मोटी सैलरी पर रखा जा रहा है…. और बाकी दो साल से काम कर रहे कर्मचारियों को न तो समय पर पैसा मिल रहा है न ही इंक्रीमेंट… 

केजरीवाल पर जूता उछालने वाले जगदीश शर्मा की हकीकत बयां करती एक तस्वीर

Ashish Maharishi : कांग्रेसी इतना अधिक गिर गए हैं कि अपने आलाकमान को खुश करने के लिए‍ किसी भी हद तक जा सकते हैं। जगदीश शर्मा भी इनमें से एक हैं। जिस प्रकार से जगदीश शर्मा ने अरविंद केजरीवाल की प्रेस वार्ता में गुंडई मचाई, वह वाकई लोकतंत्र के लिए खतरनाक और देश के लिए शर्मनाक है। फोटो में जगदीश शर्मा को देखिए, सोनिया के दामाद के साथ हैं।

राष्‍ट्रीय सहारा, पटना से पलायन जारी, सुमित भी गए

  राष्‍ट्रीय सहारा, पटना से लोगों का पलायन लगातार जारी है. ताजा सूचना है कि सुमित कुमार सिन्‍हा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर रिपोर्टर थे. सुमित ने अपनी नई पारी पटना में ही प्रभात खबर के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी रिपोर्टर बनाया गया है. गौरतलब है कि इसके पहले …

मिथिलांचल में हिंदुस्‍तान की पत्रकारिता पर थू-थू, सर्कुलेशन भी प्रभावित

 

उत्तर बिहार के मधुबनी में प्रीति-निशांत प्रेम प्रकरण और उनके फरार होने के बाद हिन्दुस्तान की पक्षपातपूर्ण रिपोर्ट को लेकर सम्पूर्ण मिथिलांचल में हिन्दुस्तान की थू-थू हो रही है। जिला स्तरीय सरकारी अधिकारी जगपत चौधरी की पुत्री प्रीति अपने प्रेमी निशांत के साथ फरार हो गयी थी। निशांत के परिजनों का आरोप था कि उनके बेटे का अपहरण कर लिया गया है और इसके लिए प्रीति के पिता पर आरोप लग रहे थे। इसी बीच एक युवक की सिर कटी लाश बरामद होने और परिवार के सदस्यों द्वारा उसे निशांत का शव बताने के बाद पूरा मधुबनी शहर उबल पड़ा।

स्टेट हेड शैलेंद्र दीक्षित और न्यूज एडिटर कमलेश त्रिपाठी से संजय गुप्ता ने मांगा इस्तीफा

: सोनिया गांधी के खिलाफ अश्लील लेटर छापने का मामला : ताजी सूचना दिल्ली से है कि दैनिक जागरण के मालिक और संपादक संजय गुप्ता ने पत्र लिखकर बिहार स्टेट हेड और पटना के संपादक शैलेंद्र दीक्षित से इस्तीफा मांगा है. साथ ही पटना एडिशन के समाचार संपादक कमलेश त्रिपाठी से भी इस्तीफा देने को कहा है. संजय गुप्ता द्वारा दो वरिष्ठों से इस्तीफा मांगे जाने से खलबली मच गई है.

दैनिक जागरण, पटना से रवींद्र पांडेय समेत चार लोग बर्खास्त नहीं किए गए, इनसे सिर्फ स्पष्टीकरण मांगा गया है

सोनिया गांधी और उनके पुत्र-पुत्री के खिलाफ अश्लील मैटर प्रकाशित करने के मामले में दैनिक जागरण, पटना के चार कर्मियों को बर्खास्त किए जाने वाली सूचना गलत है. ताजी सूचना के मुताबिक चारों कर्मियों से सिर्फ स्पष्टीकरण मांगा गया है कि यह गल्ती किन हालात में हुई और क्यों न आपके खिलाफ कार्रवाई की जाए. सूत्रों के मुताबिक पाठनामा में प्रकाशित जिस पत्र पर बवाल हो रहा है उसकी जिम्मेदारी अमित आलोक के पास थी और अमित आलोक ने बिना पढ़ पत्र को प्रकाशित होने के लिए दे दिया था.

फिल्‍मकार अनुराग कश्‍यप बने हिंदुस्‍तान के अतिथि संपादक

 

युवा फिल्मकार अनुराग कश्यप को बतौर अतिथि संपादक हिन्दुस्तान के न्यूजरूम में देखना एक सुखद अनुभव था। संपादकीय टीम के साथ उन्होंने लंबा वक्त बिताया। न्यूजलिस्ट को बारीकी से देखा और देश-दुनिया की खबरों पर चर्चा की। कुछ खबरों के साथ हम आपको अनुराग द्वारा उन्हें चुनने का कारण भी बता रहे हैं।