कोरोना वैक्सीन लगने के बाद बीबीसी के पूर्व संवाददाता के पिताजी का निधन

Ambrish Kumar-

मेरे पड़ोसी बीबीसी के पूर्व संवाददाता रामदत्त त्रिपाठी के पिताजी श्री रामनाथ त्रिपाठी को कल गांव में कोरोना वैक्सीन लगी.

उनकी उम्र नब्बे वर्ष थी.

सांस लेने में दिक्कत हुई. उल्टी हुई.

आज सुबह उनका निधन हो गया.

विनम्र श्रद्धाजंलि.

Pradeep Srivastava अंबरीश इसे क्या माने…vaccine effect? आपने लगवाई है या नही?

Ambrish Kumar मैंने, शरद प्रधान और रामदत्त त्रिपाठी ने भी कल ही लोहिया में लगवाई थी पर वह अस्पताल था ,निदेशक साथ थे ।गांव में नब्बे वर्ष के बीमार लोगों को वैक्सीन नही देना चाहिए था ,फौरन रिएक्शन हुआ ,अस्पताल ले जाना सम्भव नही था ।

Pradeep Srivastava एकदम सही। उन्हे कौन सी लगी थी, कोवैक्सीन या कोविशील्ड?

Ambrish Kumar हमें कोविड शील्ड लगी

Ravi Shankar Sharma वैक्सीन की डोज काफी हैवी है

Praveen Kumar Khariwal बहाना खोज ही लेती है मौत

Virendra Yadav टीका बनाने के बाद कम से कम दो साल के सघन परीक्षण के बाद ही टीकाकरण की प्रकिया कायदे से शुरू की जाती रही है। लेकिन यहां तो बिना उस अवधि का ख्याल रखे ‘बनाओ और ठोको’ का खेल चल रहा है। कुछ ज्यादा ही जल्दबाजी दिखा रही हैं सरकारें। जानकार मूर्ख हैं जो दो साल परीक्षण अवधि पर जोर देते रहे। दुःखद। नमन।

fb

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *