सहारा के दिल्ली-एनसीआर के दफ्तरों पर छापा, संपादकजी लोग आफिस जाने से हिचक रहे

सहारा समूह की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. ताजी सूचना है कि आज सुबह आयकर विभाग की टीमों ने सहारा के नोएडा, दिल्ली समेत पूरे एनसीआर के आफिसों पर छापा मारा. नोएडा स्थित सहारा मीडिया से खबर है कि यहां मौजूद लोगों को बाहर नहीं जाने दिया जा रहा. छापेमारी की सूचना के बाद संपादकजी लोगों को आफिस जाने में पसीने छूट रहे हैं. जब आयकर विभाग के अधिकारी सहारा के दि‍ल्ली के ग्रेटर कैलाश और नोएडा स्थित दफ्तरों में पहुंचे तब यह सूचना पूरे मीडिया जगत में आग की तरह फैल गई. लेकिन ज्यादातर चैनलों ने इस खबर को नहीं दिखाया.

निवेशकों के करोड़ों रुपए हजम करने के आरोप में जेल में बंद सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय के दिल्ली-एनसीआर स्थित दफ्तरों में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने छापा मार कर जरूरी दस्तावेजों को अपने कब्जे में ले लिया है.  ये छापेमारी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की तरफ से दर्ज मनी लॉन्डरिंग के मामले में की गई है. ईडी इस मामले में तिहाड़ जेल में बंद सुब्रत राय से पूछताछ करने की तैयारी में है. ईडी ने जमाकर्ताओं के करोड़ों रुपए का भुगतान न करने के मामले में इसी वर्ष सहारा समूह के खिलाफ यह केस दर्ज किया था. इस मामले की छानबीन कर रहे पूंजी बाजार नियामक सेबी से रिपोर्ट मिलने के बाद ईडी के मुंबई जोनल दफ्तर ने आपराधिक केस दर्ज किया था. निवेशकों के करोड़ों रुपए अदा न करने के सिलसिले में सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय मार्च से ही जेल में हैं.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करेंWhatsapp Group

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करने के लिए संपर्क करें- Whatsapp 7678515849



Comments on “सहारा के दिल्ली-एनसीआर के दफ्तरों पर छापा, संपादकजी लोग आफिस जाने से हिचक रहे

  • Bhadas Media, lagta sahara walo ne tumare malik ki badi buri tarhe se mari he jo ko har wakt tumhe sahara ki hi news chapte rahate ho jada dard ho to batao thoda or dale, or haa SAHARA ka tum to kiya tumara bap bhi nahi bigadsakta he.

    Reply
  • ” मुद्दई लाख बूरा चाहे,तो क्या होता है.
    वही होता है जो मंजूरे खुदा होता है “
    कोई भी आंधी – तूफान अथवा ग्रहण सदा के लिए नहीं होता,समय अन्तराल पर सब समाप्त हो जाता है ।
    शनी का ढैया लगा है,सहारा पर जो अब उतरने वाला है और जब उतरता है तब परेशानीयॉ ज्यादा होती है, ऐसा ही वक्त चल रहा है सहारा का ।
    चिन्ता न करें, ” अच्छे दिन बहूत जल्द आने वाले हैं”
    जाको राखे साइंया,मार सके ना कोए ।
    बाल ना बांका कर सके, जो जग बैरी होए ।।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *