सेलरी के लिए राष्ट्रीय सहारा लखनऊ में बवाल, नोएडा में सहारा प्रबंधन को आरसी जारी किए जाने को लेकर नोटिस जारी

लखनऊ से खबर है कि वेतन न मिलने से नाराज सहारा मीडिया कर्मियों ने कल सायं 5.00 बजे यूनिट हेड का घेराव किया. राष्ट्रीय सहारा लखनऊ के जनरल डेस्क और लोकल डेस्क के सब एडिटरों ने यूनिट हेड देवकी नन्दन मिश्र का घेराव करने से पहले सभी एकजुट होकर प्रभारी स्थानीय एडिटर दयाशंकर राय से मुलाकात की और वेतन न मिलने का मुद्दा उठाया था. इस पर श्री राय ने सभी को यूनिट हेड से मिलने की सलाह दी. यह घेराव डेढ़ घंटा चला और 20 अप्रैल तक वेतन मिलने के आश्वासन पर समाप्त हुआ. ज्ञात हो कि मैनेजर से नीचे के कर्मचारियों को जनवरी तक का वेतन मिला है. इसके अलावा 9 माह का वेतन पुराना बकाया है. कनवेन्स और मोबाइल बिल भी बकाया है.

उधर, नोएडा से सूचना है कि सहारा प्रबंधन को डीएलसी ने आरसी जारी करने के संबंध में नोटिस जारी किया है. दरअसल सहारा समय के सैकड़ों पत्रकार अपने बकाया वेतन और पीएफ तथा ग्रेच्युटी की मांग को लेकर परेशान हैं. ये लोग डीएलसी में हरेक तारीख को हाजिरी लगाते हैं लेकिन प्रबंधन हर बार पैसे देने से आनाकानी करता है. यहां तक कि कोई ठोस आश्वासन भी नहीं देता. लिहाजा थक हार कर उप श्रमायुक्त बीके राय ने सहारा प्रबंधन को आरसी जारी करने के संबंध नोटिस जारी किया है. नोटिस की प्रति नीचे संलग्न है.

 

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएंhttps://chat.whatsapp.com/BPpU9Pzs0K4EBxhfdIOldr
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “सेलरी के लिए राष्ट्रीय सहारा लखनऊ में बवाल, नोएडा में सहारा प्रबंधन को आरसी जारी किए जाने को लेकर नोटिस जारी

  • सहारा प्रबंधन को एक सुझाव है. जिस तरह १० वर्षों तक कार्य करने वाले सभी सहराकर्मियों को २ कैडर प्रोनात्ति दी गयी है उन सभी को कैडर के मुताबिक इंटरनल पद देने का भी नीतिगत फैसला किया जाये . कैडर प्रोनात्ति देना क्रांतिकारी कदम है पर बिना इंटरनल पद के अधुरा है. आप दीजिए तो पुरे मन से दीजिए. सहारा कर्मियों में नया उत्साह भरने का तात्कालिक उपाय इससे बेहतर नहीं हो सकता है. इसमें कंपनी को कुछ नहीं लग रहा है. कंपनी को उदार बनना चाहिए. उपेन्द्र सर से यही आशा है. सहारा के व्यापक हित में कैडर के साथ पद अवश्य घोषित होना चाहिए.आखिर एक रिपोर्टर मार्किट में officer, executive or manager लेकर क्या करेगा.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *