स्टिंग ऑपरेशन करने वाले पत्रकार के साथी पर जानलेवा हमला

Share

Amar Sharma-

पत्रकार के साथी से बातचीत करने के बहाने किया हमला
डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर के मालिक गौरव ने करवाया हमला

मामला पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब का है। यहां डिस्टेंस एजुकेशन के नाम से एक एजुकेशन सेंटर है जहां फर्जी सर्टिफिकेट का कारोबार धडल्ले से चल रहा। एक पत्रकार को इस बारे में सूचना मिली।

पत्रकार पड़ताल करता है तो इसी क्रम में उसकी मुलाकात एक स्कूल टीचर से हुई जिसने बताया कि डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर में बिना कोई परिक्षा दिये १०वीं से लेकर बीए, बीएससी, एमसीए, बीबीए व अन्य कोर्सों के सर्टिफिकेट आसानी से मिल जाते हैं। पत्रकार बिना देरी किए स्कूल टीचर के साथ डिस्टेंस एजुकेशन मुक्तसर पहुंचता है जहां उसकी मुलाकात एक अन्य महिला के साथ होती है।

महिला बताती है यहा यहां १०वीं से लेकर एमबीए का सर्टिफिकेट बिना परीक्षा में बैठे आप को मिल जाऐगा। पत्रकार यकीन दिलाने की बात कहता है तो महिला एक फाइल लेकर आती है और सर्टिफिकेट दिखाने लगती है जिसमें कई छात्र छात्रओं के सर्टिफिकेट मौजूद रहते हैं।

पत्रकार अपने साथ एक खुफिया कैमरा ले जाता है जिसमें महिला की सारी बातें रिकार्ड हो जाती हैं। महिला पत्रकार को एक कमरे में बिठाती है। यहां ऑनलाईन एक बड़े यूनिवर्सिटी का परीक्षा चल रहा था। यहां स्कूल टीचर भी परीक्षा देता हुआ दिखाई देता है। कमरे में परीक्षा ऑनलाईन हो रही थी और एक महिला और स्कूल टीचर परिक्षा दे रहे होते हैं। वही डिस्टेंस एजुकेशन की महिला दोनों को परीक्षा के सारे उत्तर चोरी से बताती हुई भी दिखाई दे रही।

यहां साफ तौर पर ऑनलाईन पेपर भी हल करवाया जा रहा था जिसका वीडियो कैमरे में पत्रकार ने कैद कर लिया। पत्रकार सभी वीडियो खुफिया कैमरे से रिकार्ड कर लेता है। फर्जीवाड़ा यह खेल कई सालों से यहां चल रहा और प्रशासन को कानों कान खबर नहीं। आखिर किसके शह पर इतना बड़ा फर्जीवाड़ा का कारोबार पंजाब के श्री मुक्तसर में चल रहा, यह एक बड़ा सवाल है।

डिस्टेंस एजुकेशन की महिला सेंटर के मालिक गौरव से पत्रकार की बात करवाती है। गौरव नाम का व्यक्ति फर्जीवाड़े का मास्टर माइंड लग रहा था जिसकी ऑडियो क्लिप भी पत्रकार के फोन में रिकार्ड हो जाती है। पैसे लेकर परीक्षा में किसी दूसरे को बिठा कर सर्टिफिकेट देने की वह बात कर रहा। डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर के मालिक गौरव को पत्रकार के पास उसके कालेधंधे की वीडियो होने की बात पता चल जाती है जिसके गौरव बौखला उठता है। पत्रकार को कॉल कर धमकाने लगता है और कहता है कि मै पंजाब एंटी करप्सन का मेम्बर हूं लेकिन पत्रकार नहीं डरता है और खबर को आगे भेज देता है।

डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर के मालिक गौरव श्री मुक्तसर जिले से पंजाब के बठिंडा शहर आ जाता है और पत्रकार से मिलने के लिए कई वाट्सअप कॉल करता है। पत्रकार मिलने से मना कर देता है। किसी बहाने से गौरव एक बार मिलने की पेशकश रखता है। गौरव के नापाक इरादे जानने के लिए पत्रकार खुद न जाकर अपने एक साथी को गौरव से मिलने के लिए भेजता है और खुद दूर खड़े होकर नजर बनाये रहता है।

गौरव एक कार में आता है। पत्रकार के साथी से पूछता है पत्रकार कहां है। इतने में ही दो तीन गाडियां युवक के कार को घेर लेती हैं और उस पर गौरव समेत कई अन्य मिलकर हमला कर देते हैं जिसमें से एक व्यक्ति के पास गन होता है। पत्रकार का साथी किसी तरह अपनी जान बचा कर अपनी कार की तरफ भागता है और कार स्टार्ट कर मौके से भागने लगता है।

गौरव समेत कई अन्य हथियारबंद युवक उसका पीछा करने लगते हैं और पत्रकार के साथी की गाड़ी को अपनी कार से टक्कर मारने लगते हैं। किसी तरह पत्रकार का साथी अपनी जान बचाने में सफल होता है। पत्रकार और उसका साथी एक घर में जाकर छिप जाते हैं ताकि अपनी जान बचा सके। अपनी जान का खतरा समझ पत्रकार और उसका साथी दो घंटे तक घर से बाहर नहीं निकलते हैं।

इस बात का फायदा उठाकर डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर का मालिक गौरव बठिंडा के सिविल लाइन थाने में पत्रकार और उसके साथी के खिलाफ एक शिकायत देकर वहां से चला जाता है। देर रात पत्रकार और उसका साथी जब थाने में अपनी शिकायत दर्ज करवाने जाते हैं तो पता चलता है कि गौरव ने एक शिकायत पत्र दिया है। पत्रकार पूरा घटनाक्रम पुलिस को बताता है और सिविल लाइन थाने में शिकायत देता है।

अब देखना यह है बठिंडा पुलिस क्या कार्रवाई करती है। पिछले महीने ही पंजाब के सीएम भगवंत मान ने एक ट्वीट कहा था कि पंजाब में फर्जी सर्टिफिकेट पर नौकरी कर रहे लोगों पर सख्त कार्रवाई होगी। अब इतने बड़े फर्जीवाड़े के खुलासे पर ‘आम आदमी पार्टी’ की सरकार क्या एक्शन लेती है, वक्त बताएगा।

amar sharma

a.sharma.amar66@gmail.com

Latest 100 भड़ास