तनु ने खुद को हैरेस किए जाने को लेकर जो एसएमएस प्रसाद को भेजा, उसे इंडिया टीवी के एचआर ने इस्तीफा मान लिया

Yashwant Singh : इंडिया टीवी की एंकर तनु शर्मा के खुदकुशी की कोशिश के मामले में कई नई बातें सामने आ रही हैं। पता चला है कि तनु इंडिया टीवी में अपने साथ हुए कुछ घटनाक्रमों के कारण विचलित थीं। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ रोज पहले इंडिया टीवी संपादकीय टीम की अनीता शर्मा ने तनु को बुलाया और डांटते हुए कहा कि तुम ऑन स्क्रीन बिल्कुल भी ग्लैमरस नहीं लगती हो, ऐसा ही चलता रहा तो हम तुम्हें ऑफ एयर कर देंगे। इस पर तनु ने कहा कि मुझे स्पष्ट कारण बताया जाए क्योंकि आपने तो मुझे इसीलिए रखा था कि मैं ठीक लगती हूं। अनीता ने तनु की पैंट की तरफ इशारा करते हुए कहा कि तुम्हारी पैंट बहुत खराब हैं, अच्छी नहीं लगती हैं। तनु ने जवाब दिया कि ये पैंट तो मुझे कंपनी ने दी है अगर आपको अच्छी नहीं लगती तो इसे बदल दीजीए।

लेकिन अनीता तो शायद तनु को हैरेस करने के इरादे से ही बुलाया था। अब वो तनु की टॉप की तरफ इशारा करते हुए बोली कि ये भी बहुत खराब है। तनु को समझ नहीं आ रहा था कि अनीता ऐसा क्यों कह रही है उसने कहा कि ये टॉप तो रितु मैडम ने अप्रूव किया है अगर अपको ये अच्छा नही लगता है तो आप रितु मैडम से कह कर इसे बदलवा दीजिए।

ये सारी बातचीत तीन-चार एंकर्स के सामने हुई। तनु के जवाबों से नाराज़ होकर अनीता ये कह कर गुस्से में उठ कर चली गयी कि मैं तुमसे कपड़ों के बारे बात कर रहीं हूं और तुम मेरे साथ बदतमीज़ी कर रही हो। इसके करीब दो घंटे के बाद अनीता ने तनु को फोन करके कहा कि तुमने मेरे साथ बदतमीज़ी की है, मैं इसकी शिकायत टॉप मैनेजमेंट से करूंगी। तनु ने कहा कि मैंने तो सबके सामने अपनी बात रखी है, मैंने आपसे कोई बदतमीजी नहीं की है। इस पर अनीता ने तनु को धमकी देते हुए कहा कि देखना मैं तुम्हारे साथ क्या करती हूं।

अनीता की बातों से परेशान तनु ने प्रसाद को फोन कर पूरी बात बताई। प्रसाद ने कहा कि अब मैं कुछ नहीं कर सकता, तुम्हें अनीता के साथ ऐसा व्यवहार नहीं करना चाहिए था। इस बातचीत के बाद तनु ने प्रसाद को एक एसएमएस किया। तनु ने लिखा कि सर, अनीता मैडम मुझे बेवजह हैरेस करी रही हैं और अगर ये हालात नहीं सुधरे तो मैं इस्तीफा दे दूंगी।

कल जब तनु ऑफिस पहुंची तो उसे सीधे एचआर ने बुलाया और कहा कि आपने प्रसाद को जो एसएमएस किया है हमने उसे आपका इस्तीफा मानते हुए उसे स्वीकार कर लिया है, हम आपको रिलीव करते हैं और आप जा सकती हैं। आश्चर्यचकित तनु ने एचआर को पूरी बात बताई और कहा कि मैंने तो सिर्फ अपना इंटेंशन जाहिर किया था कि अगर हालात नहीं सुधरे तो मैं इस्तीफा दे दूंगी, आप मेरे एसएमएस को इस्ताफा कैसे मान सकते हैं। लेकिन एचआर ने तनु की एक नहीं सुनी और उसे ऑफिस से बाहर कर दिया गया।

परेशान तनु ने प्रसाद और अनीता को एक एसएमएस किया जिसका जिक्र उसने अपने फेसबुक पर भी किया है। तनु ने मैसेज में लिखा था कि मेरे पिता नहीं हैं, घर में बूढ़ी मां हैं और पूरे घर की जिम्मेदारी मेरे उपर है। मैंने आपको सिर्फ अपनी बात लिखी थी फिर आपने मेरी बात को मेरा इस्तीफा कैसे मान लिया। जब इस इस एसएमएस का प्रसाद और अनीता ने कोई जवाब नहीं दिया तो तनु ने प्रसाद को एक और मैसेज किया कि आप लोगों ने मेरे साथ विश्वासघात किया है, मैंने आप के अपनी परेशानी बताई थी और आपने उसे मेरा इस्तीफा मानते हुए एचआर को भेज दिया। आपकी इस हरकत से मैं बहुत दुखी हूं, मैं आत्महत्या कर लूंगी और इसके लिए आप और अनीता जिम्मेदार होंगे।

इसके बाद भी तनु ऑफिस पहुंची क्योंकि उसका मानना था कि जब उसने कोई इस्तीफा दिया ही नहीं है तो उसे नौकरी से कैसे निकाला जा सकता है। लेकिन गार्ड ने तनु को अन्दर नहीं जाने दिया और बाहर ही गार्ड रूम में ये कह कर बैठा दिया कि हम अभी अन्दर से किसी को बुलाते हैं। जब बहुत देर तक कोई नहीं आया तो तनु ने गार्ड रूम में चूहे मारने की दवा खा ली। बाद में जब उन्हें खून की उल्टियां होने लगी तो गार्डों ने अंदर वरिष्ठों को खबर की। इसके बाद तो चैनल में हड़कंप मच गया और तनु को कैलाश अस्पताल ले जाने का फैसला किया गया। बाद में अस्पताल में रजत शर्मा समेत कई वरिष्ठ लोग पहुंच गए और पूरे मामले को अपने हिसाब से मैनेज करने लगे।

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “तनु ने खुद को हैरेस किए जाने को लेकर जो एसएमएस प्रसाद को भेजा, उसे इंडिया टीवी के एचआर ने इस्तीफा मान लिया

  • Mein samajh sakti hoon Tanu Sharma ke sath kaisa behave kiya hoga inn logon ne. Ye sach Aaj sabke samne aaya hai jab tanu ne ye drastic step liya but, India TV mein ye barson se hota aa raha hai. Ritu and Rajat Sir ko toh iski Khabar bhi nahi hogi ke so called senior and Puraane log kis tarah logon ko harass karte. Kitne hi log inn logon ki harkaton se pareshan ho kar resign Karen pe majbooran ho jaatein hein. Inn logon ki list mein sabse Pehle HR head Puneet Tandon aate hein jo ki Prasad MN ke khaas friend hein. Yahan forcefully logon se resign karwaya jaata hai and ye Puneet apne room mein ke kar Pehle toh insult karta hai and fir threat karta hai agar nahi kiya toh terminate kar denge and aur Kahin naukri Karne layak nahi Rahoge. And fir apne juniors se keh kar guard room Tak nikalwata hai. I can totally empathise Tanu pe Kya beeti hogi and kyon unse majbooran ye kadam uthaya. It is high time that owners realise that what nuisance is happening in their organisation and chuck these culprits out of the company so that the employees can work without any harassment and can have a sigh of relief.

    Reply
  • रजत ये तुमको क्या हो गया है,,
    क्या पूरे चैनल में कोई ऐसा नहीं जो तुम्हें सही रस्ता दिखा सके,, तुम धूर्त चापलूसों से घिरे हो या फिर तु्म्हें किसी संजय की जरूरत है,, इस बात को समझो….. नहीं तो कुछ लाईने मुझसे मुफ्त में सुनो
    निरबल को ना सताइये जा की मोटी हाय मुई खाल के स्वान सो लोह भसम होई जाए
    इसका अर्थ आप समझ सकते हो शर्मा जी,, और एक बात,, तुम्हारे चैनल की trp भी बड़ी है,, अच्छी बात है पर अधिक उड़ो मत चैनल तुम्हारा है पर तुम खुदा नहीं हो अनुशासन लाओ और महिलाओं का संमान करो,,, सुना है तुमको पैसै कमाने का बड़ा शौक है कमाओ पर किसी का खून मत करो यार किसी की रोजी मत छीनो,, यहां तुम्हारे हाथ में पावर है,,, पर खुदा से कमसे कम डरो मत,, तो इज्जत करो,, जिससे उससे नज़रें मिला सको,,
    शर्मा जी,,
    आप को शर्म आनी चाहिए आप के चैनल मैं ऐसी नीच हरकत होती है.. आप पत्रकार कहे जाते हो और आप एक गरीब परिवार से भी आते थे ऐसा मैने सुना था,,, खैर अब तो ऐसा लगता है कि ना तो आप पत्रकार हो और ना ही आप में कोई संवेदना शेष है,, मित्र अगर तुम सच में गरीबी देखे होते तो किसी के पेट पर अनायास लात कभी ना मारते,,,, वो भी एक महिला के शर्म,,करो मित्र जगाओ अपनी ज़मीर को निकालो उन सभी को जिन्होने ऐसा पाप किया,, और सुनो आप जा कर कुछ दिन ndtv में कुछ दिन काम करो और देखो कि वहां लोग कैसे काम करते हैं कैसे काम करवाते हैं,, संमान कैसै लोग पाते हैं और कैसे पाया जाता है सीख कर आओ,, सीख लो सीखने की कोई उम्र नहीं होती.
    शर्मा अहंकार मत करो
    सत्य का साथ दो
    पैसा सबकुछ नहीं है
    दोषी को चैनल से बाहर करो
    भगवान से डरो
    तुम खुदा नहीं हो ध्यान रखो
    कर्मों का फल इसी जनम में मिलता है तैयार रहो
    आप चापलूसों,,से घिरे हो ध्यान रखना
    आप ने एक दर्शक सदा के लिए खो दिया
    मुझे शर्म आ रही है खुद पर की मैं आप को आदर्श मानता था
    अच्छा तब लगेगा जब आप खुद के अदालत में न्याय करोगे समझे

    Reply
  • MANOJ KUMAR SHARMA says:

    जय बजरंगबली की।
    रजत शर्मा जी को सआदर नमस्कार।
    रजत जी आपकी काबलियत को देखते हुए आपको समझाना सूरज को दीपक दिखाने के समान है। लेकिन इंसानियत के नाते आदरनीय हरिओम पँवार जी ने बोला है। कलम सत्य की धर्म पीठ है स्वर्ण सुन्दरम गाती है ,राजा भी अपराधी हो तो सीना ठोक बताती है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *