असम सरकार ने खुद का अखबार निकाला!

ये बिलकुल नए किस्म का प्रयोग है. एक राज्य सरकार द्वारा खुद का अखबार निकालना नई शुरुआत है जिसको दूसरे राज्य भी फालो कर सकते हैं. इससे कुछ हो न हो, कई मीडिया वालों को नौकरी जरूर मिल जाएगी जो अच्छी बात है.

बुरी बात ये है कि पब्लिसिटी पर खूब पैसा फूंकने वाली सरकारें अब अपना अखबार निकालकर भी जनता का पैसा पानी की तरह बहाएंगी. दूसरे अखबारों चैनलों को करोड़ों का विज्ञापन देने के साथ साथ खुद के अखबार पर भी करोड़ों का खर्चा होगा.

असम सरकार के अखबार का नाम ‘असोम बार्ता’ है. इसे एनीवर्सरी स्पेशल और मंथली न्यूज लेटर के नाम से निकाला गया है. सोलह पेज के इस अखबार का प्रकाशक असम सरकार का डायरेक्टोरेट आफ इनफारमेशन एंड पब्लिक रिलेशन है.

मतलब ये अखबार अभी मंथली है. मई का पहला अंक आ चुका है. अगर प्रयोग सफल रहा तो इसे दैनिक भी बनाए जाने पर विचार किया जा सकता है, ऐसा सूत्रों का कहना है.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “असम सरकार ने खुद का अखबार निकाला!

  • प्रमोद पाल सिंह मेघवाल says:

    राजस्थान में बरसों से सुजस मासिक व अब प्रतिदिन सुजस बुलेटिन निकल ही रहा हैं।

    Reply
    • Pramod Pandey says:

      जी। बिहार में बिहार समाचार भी निकलता है। हिंदी के साथ उर्दू में भी। अन्यत्र भी सरकारों के जनसम्पर्क विभाग के बुलेटिन दशकों से निकल रहे लेकिन लेखक महोदय को जानकारी हो तब न…! हर प्रयास पर कोसना ही जहां कि फितरत हो वहां तथ्य का पता करने की जरूरत किसे है?

      Reply
  • Rajasthan me SUJAS daily and monthly newsletter nikalta hai, DIPR Rajasthan ke dvara, daily video bulletin bhi nikal raha h

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code