Categories: प्रिंट

खुद के पत्रकारों को 2.50 रुपये प्रति सेंटीमीटर देने वाला भास्कर नए पत्रकारों को देगा 30 हजार प्रति महीना!

Share

दैनिक भास्कर राजस्थान की फैलोशिप स्कीम का विज्ञापन…

जयपुर। शनिवार, 13 नवम्बर के अंक में दैनिक भास्कर ने एक विज्ञापन छापा है। दैनिक भास्कर जर्नलिज़म फैलोशिप का.. जिसमे चयनित लोगो को 15 महीने तक 30 हजार रुपये प्रतिमाह देने के वादा किया गया है। फैलोशिप के बाद भास्कर समूह में नौकरी करने का मौका देने जैसी सामान्य लुभावनी बाते भी हैं ही।

खैर, मुद्दा इस फैलोशिप में ऑफर की गई स्टाइपेंड राशि का.. इस विज्ञापन के बाद खुद भास्कर के ही हजारो स्ट्रिंगर्स और ब्यूरो चीफ, स्टाफ रिपोर्टर आदि मेंटल कोमा में चले गए है। दरअसल मजीठिया बोर्ड और उससे जुड़े केसेज में भास्कर की हरामखोरी को जाने भी दे, तो भी भास्कर द्वारा नए नवेले पत्रकारों को इतनी रकम देने की बात किसी के गले नही उतर रही है।

वर्तमान में भास्कर में ब्यूरो चीफ की शुरुआती पगार 12 हजार प्रतिमाह व रिपोर्टर की 10 हजार प्रति महीना है। इसी तरह अपने स्ट्रिंगर्स को भास्कर साल 2006 से 2.50 रुपये प्रति सेंटीमीटर की दर से ही भुगतान कर रहा है। ऐसे में भास्कर को फैलोशिप के नाम पर इतने महंगे मजूर जुटाने की क्या जरूरत आन पड़ी.. ये सबकी समझ से बाहर हो चला है

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

View Comments

  • This great work doing by Bhaskar is not a matter Rajasthan Patrika also doing the same . Dr. Gaddar Gulab Kothari gives every year only lakh dollar price in the name of his father but not given Majethiya Wage Board till now. Apart from this world greatest writer philosopher Kothari do so many works like this.

Latest 100 भड़ास