ठुमके लगाते डीआईजी : सोशल मीडिया पर फोटो हुई वायरल, अफसरों ने भेजा खंडन

फैजाबाद से सूचना है कि एक नाबालिग लड़की के गैंगरेप और हत्‍या के बाद जब जिले में सांप्रदायिक तनाव चरम पर था, तब पुलिस अधिकारी एक रंगारंग कार्यक्रम में ठुमके लगा रहे थे. फैजाबाद रेंज के डीआईजी नीलाभजा चौधरी और फैजाबाद के पूर्व सीडीओ अखंड प्रताप सिंह की डांस करती हुई तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं. बताया जा रहा है कि ये तस्‍वीरें 17-18 अगस्‍त की रात की हैं. इस तस्वीर के बारे में डीआईजी का कहना है कि वह सीआरपीएफ की 63वीं बटालियन के स्‍थापना दिवस समारोह में बतौर अतिथि गए थे. इसी मामले में पूर्व सीडीओ कहते हैं कि उनका कुछ दिन पहले ही तबादला हो गया था और उन्‍हें बतौर मेहमान कार्यक्रम में बुलाया गया था.  नीचे तस्वीर पर कुछ कमेंट्स हैं और अफसरों की तरफ से जारी खंडन है. दोनों पक्षों को देखिए, पढ़िए तब अपनी राय बनाइए. -एडिटर, भड़ास4मीडिया

डांस करते डीआईजी नीलाभजा चौधरी (नीली जींस में) और पूर्व सीडीओ अखंड प्रताप सिंह। डांस करते डीआईजी नीलाभजा चौधरी (नीली जींस में) और पूर्व सीडीओ अखंड प्रताप सिंह।

Nutan Thakur : मैंने फैजाबाद के डीआईजी नीलाब्जा चौधरी और सीडीओ अखंड प्रताप सिंह द्वारा फैजाबाद में सीआरपीएफ के कैम्प राइजिंग डे (17 अगस्त 2014) के कार्यक्रम में अभद्र तरीके से सार्वजनिक स्थान पर ठुमके लगाने की घटना के सम्बन्ध में कार्यवाही किये जाने की मांग की है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भेजे अपने पत्र में मैंने कहा है कि आईपीएस तथा पीसीएस अफसरों से जुड़े आचरण नियमावलियों के नियम 3 में यह अपेक्षा की जाती है कि हर अफसर कर्तव्यपरायणता से अपना कार्य करेगा और सभी समयों पर उचित व्यवहार और आचरण का प्रदर्शन करेगा पर जिस प्रकार ये अफसर महिला बने एक पुरुष के साथ भौंडा डांस करते नज़र आ रहे हैं, वह पूरी तरह से अनुचित है. आईपीएस अथवा पीसीएस वरिष्ठ शासकीय सेवाएँ हैं और इनकी अपनी मर्यादा और सामाजिक प्रतिष्ठा है जिनसे इस प्रकार के फूहड़ भावभाव की उम्मीद नहीं की जा सकती है. अतः मैंनेने इन अफसरों द्वारा अपने सम्बंधित आचरण नियमावली का उल्लंघन करने पर कार्यवाही की मांग की है. Action sought against DIG’s improper public dance… I have sought action against DIG Faizabad Nilabja Chaudhary and CDO Faizabad Akhand Pratap Singh for their dowdy and cheap dancing in a public function on occasion of Raising Day of CRPF Camp on 17 August 2014. In the letter to CM Akhilesh Yadav, I said that the Conduct Rules for IPS and PCS officers expects them to maintain absolute devotion to duty at all times and to do nothing which is unbecoming of a member of the Service, but the way these officers have danced with a male dressed as a female is extremely uncouth and filthy. IPS and PCS are senior government services and they have their own social responsibility and dignity where such improper gestures are not permissible. Hence I have sought action against the two officers for violation of Rule 3 of their respective Service Conduct Rules. (लखनऊ की सोशल एक्टिविस्ट नतून ठाकुर के फेसबुक वॉल से)

Kumar Sauvir : चाहे यह फैजाबाद के डीआईजी हों, या फिर वहीं के सीडीओ। यूपी की नौकरशाही या तो ऐसे नचनियों की डांस-पार्टी बनती जा रही है जिन्‍हें ना तो कानून-व्‍यवस्‍था से कोई मतलब है और न ही जन-पीड़ा से कोई सरोकार। ऐसे अफसर कमर-मटक्‍का तो खूब कर सकते हैं, लेकिन काम नहीं। हां, भ्रष्‍टाचार तो इनके खून में समा चुका है। कैसे भी हो सके, नोट छापो और ऐसी हराम की कमाई को कमर-मटक्‍का में लुटाओ। अरे जश्‍न मनाये रहो अफसरों, यह सपा सरकार है। बस, यूं ही जुटे रहो। आंखों में पानी भले न हो, कम से कम टोपी तो उछाल सकते हो। है कि नहीं। (लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार कुमार सौवीर के फेसबुक वॉल से.)

Amitabh Thakur : जब फैजाबाद में एक 17 वर्षीया लड़की के कथित गैंगरेप और हत्या के बाद फैजाबाद में सांप्रदायिक तनाव का माहौल बना हुआ था उसी समय डीआईजी फैजाबाद (बाएं, टी शर्त जीन्स में) औरत बने एक पुरुष के साथ डांस में गहरे डूबे हुए थे। DIG Faizabad (on the left) completely engrossed dancing with a male impersonating as female at the time when communal tension was simmering there over the gangrape and murder of a 17-year-old girl. (यूपी कैडर के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर के फेसबुक वॉल से.)



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code