एक गरीब बिटिया फूलवंती की शादी के लिए आर्थिक मदद जुटाने का भड़ासी अभियान हो रहा सफल

भड़ास के एडिटर यशवंत ने फेसबुक पर अपने जिले की एक गरीब बिटिया फूलवंती की शादी के लिए आर्थिक मदद जुटाने का अभियान शुरू किया और देखते ही देखते जो टारगेट था, पचास हजार रुपये इकट्ठा करने का, उसके करीब पहुंच रहे हैं. इसमें बीस हजार रुपये एक ऐसे शख्स ने दिए हैं जो आजकल एक मशहूर निजी विश्वविद्यालय का संचालन करते हैं. वे कभी समाजवादी योद्धा हुआ करते थे और जेल गए. बाद में उन लोगों की एक राज्य में सरकार बनी और उसमें वे मंत्री भी बने. उन्होंने अपने योगदान को गुप्त रखने के लिए कहा है, इसलिए उनका उल्लेख ज्यादा न किया जाएगा. इनके अलावा ढेरों साथियों ने एक सौ एक रुपये से लेकर दो हजार एक रुपये तक डाले हैं. फूलवंती की कहानी और उसके लिए मदद की जो अपील यशवंत ने फेसबुक पर की है, उसे पूरा का पूरा यहां भी पढ़ा जा सकता है…. आप अगर चाहें तो अब भी इस गरीब बिटिया के एकाउंट में एक टोकन एक सौ एक रुपये का धन डालकर ‘न्योता’ का धर्म निभा सकते हैं…

Yashwant Singh : आर्थिक मदद के वास्ते एक बहुत साफ किस्म की अपील है, गरीब बिटिया फूलवंती की शादी है, इसी बीस जून को. फूलवंती के मां-बाप की गरीबी का लंबा चौड़ा-वर्णन यहां नहीं करने जा रहा. बस ये जान लीजिए कि रोज कुआं खोद कर पानी पीने वाला गरीब परिवार है जहां भविष्य के लिए निवेश के बारे में सोचना भी मुश्किल है.

मेरे होम टाउन गाजीपुर शहर में चाची ने फूलवंती की शादी का बीड़ा उठाया है. उन्होंने अपनी बेटियों, बेटा और दामाद से तीस हजार रुपये इकट्ठा कर लिया है. गरीब बिटियाओं को मिलने वाले सरकारी अनुदान के वास्ते तैयारी जोरशोर से चल रही है और इस काम के लिए वकील चाचा को लगा दिया गया है. मेरे लिए चाची का आदेश आया है कि दस हजार रुपया फूलवंती के एकाउंट में जमा करना है. निर्देश यह भी है कि फूलवंती के लिए पचास हजार रुपये का चंदा जुटाने की कोशिश करें.

मैंने अभी अभी ढाई हजार रुपये फूलवंती के एकाउंट में डाल दिए हैं. स्क्रीनशाट अटैच है. ढाई-ढाई के ऐसे तीन किश्त शादी से पहले तक भेज दूंगा, यह वादा है. रही बात पचास हजार चंदा जुटाने का तो इसे कैसे किया जाए? फिर सोचा कि चलो सोशल मीडिया का ही सहारा ले लिया जाए. सो, यह पोस्ट लिख रहा हूं. अगर आप दो सौ, पांच सौ रुपये भी मदद कर देते हैं तो एक गरीब, स्वाभिमानी, संकोची और शर्मीली स्वभाव वाली बिटिया की नई यात्रा को आसान बना देंगे.

अब थोड़ा सा फूलवंती के बारे में…

फूलवंती बचपन से चाची के पास रही हैं. चाची ने फूलवंती को अपनी सगी बेटियों की तरह माना. पूरे अधिकार से फूलवंती को देश-दुनिया समाज के बारे में बताती-सिखाती रहती हैं. फूलवंती को अपने घर से ज्यादा चाची के साथ रहना पसंद आता है.

मैं कभी कभार गाजीपुर चाची के यहां जाता हूं तो ये देखकर अच्छा लगता कि चाची कितने दिल से एक गरीब परिवार की बिटिया को अपने साथ रखे हुए हैं. अपनी बेटियों और बेटा की शादी के बाद से चाची घर में अकेली रह गई हैं. सो, फूलवंती और चाची का साथ होना एक दूसरे को संबल प्रदान करता है.फूलवंती लंबे समय से चाची के साथ किचन के कामकाज में हाथ बंटाती हैं. चाची उन्हें हर महीने तनख्वाह भी देती हैं लेकिन इनका रिश्ता शहरी मेड और मालकिन का कतई नहीं है. एक मां-बेटी सरीखा रिश्ता देखा मैंने. चाची के घर से ज्यादा दूर नहीं है फूलवंती का घर. इसलिए वह उड़ते हुए अपने घर जाती. चाची का फोन की घंटी जब मोबाइल पर बजती तो वह दौड़ते हुए चली आती है.

वह चाची के अलावा किसी दूसरे से न के बराबर बात करती है. शर्मीली इतनी कि कुछ भी खाने को दो तो उसे तुरंत नहीं खा सकती. वह अकेले में, छुप कर कुछ खाती है, ताकि कोई देख न ले. जब भी चाची के यहां गया और फूलवंती दिखीं तो फौरन उनके हाथ पर सौ-पचास जो भी पाकेट में हुआ, रखने की कोशिश की. पर वह पैसे लेने को तैयार न होती, जब तक चाची डांट कर लेने के लिए न कह देतीं. इतनी ‘चाची भक्त’ हैं फूलवंती. चेहरे पर मुस्करहाट ट्वेंटी फोर सेवन. लगता ही नहीं इस बिटिया को किसी किस्म का ग़म, दुख या गरीबी से कभी साबका पड़ा हो.

फूलवंती की शादी की चिंता जितनी फूलवंती के परिवार वालों को न होगी, उससे ज्यादा चाची को है. शादी के लिए क्या क्या सामान खरीदा जाना है, सबका लिस्ट बना चुकी हैं. बेड से लेकर गैस सिलेंडर तक और साड़ी कपड़ा से लेकर टीवी-कूलर तक. ये वो जरूरी सामान हैं जिसे फूलवंती के पास भी होना चाहिए.

गरीब बिटिया बिना दहेज के ब्याही जा रही है, यही क्या कम है. जिनसे शादी हो रही है, वो परिवार भी ऐसा नहीं है कि वह नई गृहस्थी बसाने के लिए पैसे खर्च कर सके. सो, आइए एक गरीब बिटिया के लिए अपना मन-दिल उदार करें और कुछ नेग दें, कुछ दान दें, कुछ आशीर्वाद दें…

शादी का कार्ड अटैच है. ये न्योता है आप सबों के लिए. अगर खुद पहुंच सकें तो इससे बड़ी कोई बात न होगी…फूलवंती के पासबुक की तस्वीर भी डाल रहा हूं… फूलवंती के एकाउंट का डिटेल अलग से भी यहां दे रहा हूं…

Fulvanti Kumari
Punjab National Bank
Saving Account No. 0662001700021034
Nehru Nagar, Ghazipur
IFSC Code : PUNB0066200


भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से. उपरोक्त स्टेटस पर आए कमेंट्स / प्रतिक्रियाएं देखने पढ़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें :

https://www.facebook.com/yashwantbhadas/posts/1753542044730861

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *