बिहार में वर्दी वालों के संरक्षण में गो-वंश की तस्करी, समाजसेवियों को फंसाने की धमकी

सीनियर एडवोकेट मदन तिवारी

कल देवकुंड में चार गाय और बछड़े को पुलिस के हवाले किया गया. साथ ही दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कंप्लेन दी गई. ताजा डेवलपमेंट ये है कि अब संबंधित अपराधियों के पक्ष में उस क्षेत्र के राजद, बीजेपी सहित विभिन्न दलों के नेता दबाव बना रहे हैं. यह दबाव गौशाला के मैनेजर पर बनाया जा रहा है. हकीकत ये है कि गायों को गौशाला में नहीं रखा गया है. ये नेता लोग स्थानीय होने का रौब दिखा रहे हैं. चूंकि इस तरह का अपराध पुलिस के संरक्षण में होता है, इसलिए देवकुंड थाना प्रभारी पर भी उंगलियां उठ रही हैं. लेकिन हम लोग केस उठाने नहीं जा रहे हैं, चाहे जितनी लड़ाई लड़नी पड़े, सामने चाहे जो भी हो.

एक नया काम गौवंश की रक्षा : आप नहीं जानते भविष्य की गर्त में क्या छुपा हुआ है. मगध यूनिवर्सिटी थाना ने 45 भैंस, भैंसा, गाय, बैल बरामद किए थे जिनमें से 5 मर गए. इसे एक व्यक्ति को रखने का जिम्मा दिया गया था. बाद में कोर्ट ने जानवरों को देवकुंड गौशाला में रखने का आदेश पारित किया. पुलिस उन्हें लेकर गौशाला के लिए गई. हम लोग शशांकधर मिश्रा अधिवक्ता पटना उच्च न्यायालय, विमलेंदु चैतन्य, मेरी पत्नी नीलम तिवारी और मैं, अपनी कार से गौशाला के लिए निकले. शिवगंज होकर जाना था. तकरीबन 150 किलोमीटर दूरी थी. वहां पहुंचने पर जानवरों को उतारा गया. जानवर इतने कमजोर हो गए थे कि रास्ते में ही दो बैल और एक भैंस की मौत ट्रक में हो गई थी. वहां जानवरों को रखने के बाद लौटते समय देखा कि एक पिकअप वैन में 4 गाय और 4 बछड़े जबरदस्ती नाक से नत्थी करके तस्कर ले जा रहे हैं. गाय बेचैन होकर सिर ऊपर निकाल रही थी. शक हुआ तो तुरन्त पूछताछ की. बिहार पुलिस हेल्प लाइन को फोन किया गया. देवकुंड थाने की पुलिस तुरन्त पहुंच गई. तस्कर देवकुमार यादव, शिवमणि यादव ने बताया कि उसका खटाल है, कतरास गढ़ हटिया में. जब उससे पूछा गया कि वहाँ कौन रहता है तो बताया कि उसका भाई रहता है. परंतु फोन नम्बर नहीं बतायाय. एक अन्य व्यक्ति का नाम बताया तो उसको फोन किया गया ताकि तस्कर की बात की सत्यता परख सकें. पर दूसरे व्यक्ति का भी फोन काम नहीं कर रहा था.

फिर शशांकधर मिश्रा ने देवकुंड थाने में ड्रायवर नागेंद्र यादव, पिता सुरेंद्र सिंह, गांव मंगवल, पोस्ट बिलावर, थाना जगदीशपुर, जिला आरा, तस्कर देवकुमार यादव, पिता-रौशन यादव, गांव मेहदौरा, पोस्ट किरकिरी, थाना अजीमाबाद जिला आरा, एंव शिवमणि यादव पिता शिवपूजन यादव, ग्राम बराहरपुर, पोस्ट किरकिरी, थाना अजीमाबाद, जिला आरा पर एफआईआर दर्ज करा दिया. यह अजीब संयोग है. न जाने ईश्वर मुझे किस निमित्त उपयोग करना चाहते हैं. कभी सोचा भी नहीं था कि मैं गौवंश के रक्षक की भूमिका भी निभाउंगा. नियति के इस अनूठे सर्वथा अकल्पनीय कार्य हेतु स्वयं का ईश्वर द्वारा उपयोग होते देखकर बरबस लगता है कि वाकई वही सबकुछ करवाता है, हम तो बस निमित मात्र हैं.

एक नया मामला ये है कि थाना प्रभारी बजाय तस्करों को पकड़ने के और गो वंश की तस्करी रोकने के, वह हम लोगों के खिलाफ ही मुकदमा लिखने पर आमादा है. जाहिर है, गो वंश की तस्करी में बड़ी भूमिका पुलिस की होती है. अगर थाना प्रभारी ने कानून अपने हाथ में लिया तो फिर यह धर्म युद्ध अगले मुकाम पर पहुंचेगा और कोर्ट ही तय करेगा कि कौन सही है कौन गलत. न्याय की लड़ाई लड़ते लड़ते इतना तो तजुर्बा हो ही चुका है कि भारतीय न्याय व्यवस्था में भले देर हो जाए, पर अंधेर नहीं है. जो कानून के रखवाले हैं, वे भी न्याय की चौखट पर आकर भीगी बिल्ली बन जाते हैं. उम्मीद करते हैं कि थाना प्रभारी को ईश्वर सदबुद्धि देगा और वह अपने पद व वर्दी का उपयोग गोमाता के तस्करों को पकड़ने व दंडित कराने में करेगा, न कि गो माता की रक्षा में जुटे लोगों को फंसाने की साजिश करेगा.

लेखक मदन तिवारी बिहार के गया जिले के जाने-माने वकील हैं. एडवोकेट मदन तिवारी रांची हाईकोर्ट, पटना हाईकोर्ट, कोलकाता हाईकोर्ट समेत सुप्रीम कोर्ट तक में भी अपने क्लाइंट्स के लिए बहस हेतु जाते रहते हैं. मीडियाकर्मियों को मजीठिया वेतन बोर्ड दिलाने की लड़ाई भी मदन तिवारी लड़े हैं.


मदन तिवारी ने अपनी बात फेसबुक लाइव के जरिए भी कही है जिसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर सुन सकते हैं-

Madan FB Live

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “बिहार में वर्दी वालों के संरक्षण में गो-वंश की तस्करी, समाजसेवियों को फंसाने की धमकी

  • The cops & administration need to be honest & sincere towards their duty, then only the illegal cattle smuggling /slaughtering can be derooted completely.

    Reply
  • Pinky Gaba says:

    Madan Tivari ji aapko iss ladai ko aage leker jana hai ! Bhagwan Shiv aapke sath hai ! Aapko in Gou taskaron or Gautaskari mei shamil Police and Politicians ki pol kholni chahiye ! Shivji ka ashirvad aapke va aapke saathiyo ke saath hai ! Go ahead

    Reply
  • Shakun Kumar says:

    HI,

    This is very sad that how police is working in Bihar. They are hand in hand with cow smuggler and instead of taking action against criminals, they are tortuting activist by registering an illegal case. How can they act like this?

    The action must be taken against these corrupt policemen. They cannot take law in their hand and they must be punished for their illegal actions. It’s high time we must all together save the cattles of our country.

    Thanks,
    Shakun kumar
    Canada.

    Reply
  • People still have hope that they are and will be protected by police and justice of India. Don’t let that hope go away. Police should be honest and responsible for the work they are doing. Strict action against this should be taken.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *