ट्रेन में जीआरपी के दस्ते पर हमला, दबंगों ने घेरकर बेल्ट और डंडों से पीटा, देखें तस्वीरें-वीडियो

निर्मल कांत शुक्ल-

उत्तरप्रदेश के जनपद पीलीभीत से बरेली जा रही मेमू ट्रेन के अंदर बैठकर नशा रहे युवकों को टोकना जीआरपी को भारी पड़ गया। इन दबंग युवकों ने पुलिस से गाली गलौज करते हुए हमला कर दिया। ना सिर्फ इतना बल्कि जीआरपी को सबक सिखाने के लिए आरोपियों ने ट्रेन के सेंथल स्टेशन पर पहुंचते ही अपने अन्य साथियों को बुला लिया। इसके बाद उन सभी ने मिलकर दो पुलिस कांस्टेबलों को बेल्टों और लाठी-डंडों से जमकर पीटा, जिसमें दोनों पुलिस वाले गंभीर रूप से घायल हो गए।

पीलीभीत से बरेली जा रही मेमू ट्रेन में जीआरपी के सुरक्षा दस्ते से मारपीट करते दबंग।

हमलावरों ने कांस्टेबल से सरकारी पिस्टल छीनने का भी प्रयास किया। झगड़ा होते देख सेंथल रेलवे स्टेशन का रेलवे का स्टाफ आ गया। हमलावर पुलिस वालों से लगातार गाली गलौज करते रहे, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो आला अफसरों में हड़कंप मच गया। कांस्टेबल ने घटना की तहरीर थाने में दी।

पीलीभीत से बरेली रात 9:30 बजे जाने वाली ट्रेन में जीआरपी के दो कांस्टेबल सुरक्षा की दृष्टि से साथ में जाते हैं। बताया गया कि पीलीभीत से चढ़े तीन युवकों ने ट्रेन के चलते ही नशा पार्टी शुरू कर दी। तभी जीआरपी के कांस्टेबल जसवंत सिंह व कांस्टेबल आदेश कुमार ने इन युवकों को ट्रेन में नशा करने से मना किया। टोकते ही युवक भड़क गए। तीनों युवकों ने पहले तो पुलिस वालों से गाली गलौज किया। विरोध करने पर तीनों युवक पुलिस पर हमलावर हो गए। जैसे ही सेंथल स्टेशन आया, तभी इन युवकों ने अपने कुछ और साथियों को बुला लिया

करीब आधा दर्जन से अधिक उपद्रवियों ने मिलकर दोनों पुलिस कांस्टेबलों को सेंथल स्टेशन पर लाठी-डंडों और बेल्टों से जमकर पीटा। हमले में दोनों कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गए। दबंग हमलावरों ने कांस्टेबल जसवंत सिंह के पास कमर में लगी सरकारी पिस्टल को छीनने का प्रयास किया। छीना-झपटी में पिस्टल में लगी डोरी टूट गई। सेंथल रेलवे स्टेशन पर झगड़ा होते देख रेलवे का स्टाफ भी मौके पर आ पहुंचा। उपद्रवी लोग शराब के नशे में कांस्टेबलों से लगातार गाली गलौज करते रहे। जीआरपी के सिपाहियों पर हमले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो में साफ तौर पर देखा और सुना जा रहा है कि हमलावर पुलिस को गालियां दे रहे हैं। सभी हमलावर घटना को अंजाम देकर भाग गए। घायल पुलिस कर्मियों का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया है। कांस्टेबल जसवंत सिंह ने घटना की तहरीर दी ।

ट्रेन में दबंगों के हमले में घायल जीआरपी का सिपाही जसवंत सिंह।

छह से ज्यादा थे हमलावर : जसवंत

घायल कांस्टेबल जसवंत ने बताया कि उपद्रवी युवक पीलीभीत से ट्रेन में सवार हुए थे। वह और उनका साथी ट्रेन एस्कॉर्ट में 9:30 वाली ट्रेन से बरेली जा रहे थे। इसी दौरान ट्रेन में कुछ लोग गुटखा आदि नशे का सामान रखे बैठे थे। नशा करके इधर उधर थूक कर अन्य पैसेंजर को परेशान कर रहे थे। पैसेंजरों की शिकायत पर जब उनसे ट्रेन में शराब पीने से मना किया तो तीनों लोग गाली गलौज पर उतर आए और सेंथल में अपने आधा दर्जन से अधिक साथियों को बुलाकर बेल्टों व लाठी डंडों से हमला कर दिया। यही नहीं हमलावरों ने सरकारी पिस्टल भी छीनने का प्रयास किया, जिससे उसकी डोरी टूट गई।

पीलीभीत पहुंचे सीओ, घटनास्थल देखा

जीआरपी के दस्ते पर हमले की सूचना पर लखनऊ से पीलीभीत पहुंचे सीओ ने सेंथल रेलवे स्टेशन पर पहुंच कर घटना के बारे में जानकारी की।

जीआरपी पुलिस पर हमले की सूचना मिलते ही लखनऊ से पीलीभीत पहुंचे सीओ ने पीलीभीत जीआरपी थाने में पीड़ित सिपाहियों से बातचीत की उसके बाद सीओ सेंथल रेलवे स्टेशन स्थित घटनास्थल पर गए, जहां घटना की रात मौजूद रेलवे पुलिस स्टाफ से बातचीत की और उनके बयान दर्ज किये। इस मामले में जिन दो लोगों को नामजद किया गया है। उनके संभावित ठिकानों पर जीआरपी पुलिस ने शनिवार को दबिश दी मगर फरार हमलावर उनके हत्थे नहीं चढ़े।

हमलावरों में एक बैंक कर्मचारी भी शामिल

घटना के दौरान जीआरपी दस्ते के मोबाइल कैमरे में कैद हुआ हमलावर अर्बन कोऑपरेटिव बैंक का कर्मचारी रामसेवक।

गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने पीड़ित की तहरीर पर दो नामजद रामसेवक और कमलजीत सहित कुछ अन्य अज्ञात व्यक्तियों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने सहित लूट व अन्य गंभीर धाराओं में दर्ज कर ली है। पुलिस आरोपियों की धरपकड़ को लेकर दबिश दे रही है। नामजद हमलावर रामसेवक अर्बन कोऑपरेटिव बैंक का कर्मचारी बताया गया है।

कांस्टेबल ने यह दर्ज कराई रिपोर्ट

थाना जीआरपी पीलीभीत अनुभाग लखनऊ को कांस्टेबल जसवंत सिंह ने दर्ज रिपोर्ट में कहा कि ट्रेन संख्या 05312 में एस्कॉर्ट ड्यूटी पीलीभीत स्टेशन से बरेली सिटी स्टेशन तक लगी थी। जिसको लेकर बावर्दी जरब पिस्टल व कारतूस के समय 9:30 बजे रेलवे स्टेशन पीलीभीत से रवाना हुए। ट्रेन के लगभग 10 से 15 किलोमीटर चलने पर जब एस्कॉर्ट कर्मी ट्रेन में कोचों की चेकिंग कर रहे थे। तभी कुछ यात्रियों ने आकर बताया कि आगे वाले कोच में दो व्यक्ति बैठे हैं, जो गुटका खाकर कोच में थूक रहे हैं, तथा आपस में अश्लील शब्दों का प्रयोग कर शोरगुल मचा रहे हैं। पुलिस कर्मियों द्वारा जाकर दोनों व्यक्तियों को ट्रेन में गुटखा थूकने व शोरगुल करने से मना किया तो कहने लगे कि मैं अभी तुम लोगों को बता रहा हूं। तब तक समय करीब 10:05 बजे ट्रेन रेलवे स्टेशन सेंथल पहुंची, तभी दबंग व्यक्तियों के अन्य साथी रेलवे स्टेशन सेंथल पर आ गए। जिनमें से एक ने कहा कि रामसेवक और कमलजीत बताओ तुम्हें कौन परेशान कर रहा है। तभी रामसेवक और कमलजीत ट्रेन से उतरे और गाली देते हुए कहा- यही पुलिस वाले हैं। तब रामसेवक व कमलजीत दोनों लोग हमलावर होकर मारने लगे, तब उनके साथी भी मिलकर गालियां देते हुए बेल्ट व डंडों से हम एस्कॉर्ट कर्मियों को मारने लगे। मारपीट में दोनों कांस्टेबल ट्रेन के अंदर फर्श पर गिर गए। आरोप है कि हमलावरों ने कॉन्स्टेबल के खोस में लगी पिस्टल छीनने की कोशिश की जिससे खोस्टा फट गया और डोरी भी टूट गई। बमुश्किल दबंगों से अपनी पिस्टल को छीनने से बचाया। जनता के कुछ लोगों के वहां आ जाने पर सभी हमलावर गाली देते हुए वहां से भाग गए।

देखें वीडियो- https://www.facebook.com/100002252487400/posts/5046607418757624/?d=n



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code