नोटिस से डरें नहीं क्योंकि ये सिर्फ डराने के लिए ही होता है

Legal Notice

कुछ साथी वकील के नोटिस को कोर्ट का नोटिस बोल देते है लेकिन यह अधूरा सच है। दरअसल नोटिस कुछ मामलों को आपस में सुलझाने का एक जरिया है। कोर्ट में हजारों मामले पेंडिंग है ऐसे में न्यायालय चाहता है कि अधिकांश मामले आपसी सहमति से सुलझे। नोटिस भेजने को लेकर जितना अधिकार एक वकील को है उतना ही अधिकार एक सामान्य आदमी को है। कुछ लोग समय में व्यस्तता के कारण वकील का सहारा लेते है या पार्टी को डराने के लिए नोटिस का सहारा लेते है।

कुछ भ्रांतियां

कुछ भ्रांतियां और है जैसे नोटिस मत लेना। यदि रजिस्टर्ड डाक से नोटिस भेजा गया है तो चाहे वह वकील भेजे या कोर्ट। सामने वाला व्यक्ति नोटिस ले या ना ले कोई फर्क नहीं पड़ता यही माना जाता है कि सामने वाले व्यक्ति तक सूचना पहुंच चुकी है। ऐसे में कोर्ट 15 दिन या एक माह का और समय देकर एक तरफ फैसला दे देती है और यदि वकील भेजा है तो 15 दिन 30 दिन या 45 दिन में कोर्ट में परिवाद दायर कर सकता है। उक्त समय का उल्लेख इसलिए अलग-अलग किया जा रहा है क्योंकि अलग-अलग मामलों के लिए अलग-अलग समय निर्धारित है। फिर कोर्ट नोटिस भेजता है इसे कोर्ट का नोटिस कहते है। दरअसल कुछ मामलों पर सीधे कोर्ट सुनवाई नहीं करता। और परिवादी से पूछता है कि आपने सामने वाले को समय दिया या नहीं। इस आधार पर परिवाद रद्द हो सकता है। कोर्ट भी पहले नोटिस भेजकर आपसी सुलह के लिए समय देता है। रजिस्टर्ड डाक से नोटिस भेजते है इसलिए इसे रजिस्टर्ड नोटिस कहते है। हो सकता है सामने वाला नोटिस के बदले नोटिस भेज दे या सवाल पूछे ऐसे में नोटिस नोटिस का खेल चलता है।

लेबर कोर्ट में

लेबर कोर्ट से सभी डरते इसलिए है क्योंकि इसमें कोई किंतु परंतु कर कोर्ट को भरमाने की गुंजाइश नहीं होती। कुछ कंपनियों के मालिक विदेश में होते है ऐसे में नियोक्ता या मैनेजर दोषी माना जाता है। यदि फैसले के उपरांत पैसे जमा नहीं हुए तो एक माह में कुर्की की कार्यवाही होती है जिसे आरआरसी कहते है। जर्नलिस्ट एक्ट 1955 में भी प्रशासनिक कर्मचारियों की परिभाषा है इस दायरे में आने वाले किसी भी व्यक्ति को आसानी से पार्टी बनाया जा सकता है। जिसमें संपादक, मैनेजर, ब्यूरोचीफ, मालिक कोई भी हो सकता है। सामान्यत: जिन कंपनियों के मालिक ऊंची पहुंच के होते है ऐसे में नियोक्ता को पार्टी बनाया जाता है। अब ऐसे संस्थान में काम कौन करना चाहेगा जहां घर, द्वार बिकने या दिवालिया होने की समस्या बनी रहती हो. फैसले के बाद यदि नियोक्ता पक्ष अपील में जाना चाहता है तो उसे फैसले की आधी या पूरी राशि निचली अदालत में जमा करनी होती है। ऊपर से जितनी देरी हुई है उसका ब्याज और खर्च अलग से देना पड़ता है। जो वादी के मांगने व अपना अधिकार जाने पर निर्भर करता है।

नौकरी से निकालने पर

धमेन्द्र मिश्रा जी ने नौकरी से निकाले जाने पर जोश से काम लिया और वकील से नोटिस भेजवा दी दरअसल यह प्रक्रिया समय नष्ट करने वाली है. नियमानुसार उन्हें श्रम विभाग जाना चाहिए. चूंकि कुछ लेबर इस्पेक्टर व अधिकारी प्रेस से डरते है इसलिए धमेन्द्र के लिए बेहतर होगा कि वे सीधे औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 की धारा 2 के तहत लेबर कोर्ट जाए और नियोक्ता के खिलाफ या नौकरी से निकालने में जिसकी महत्वपूर्ण भूमिका है उसके खिलाफ इस एक्ट की धारा 25 एफ के तहत परिवाद दायर करना चाहिए. साथ ही उन्हें सुनवाई अवधि तक जीवन निर्वाह के लिए वेतन की आधी राशि की मांग करनी चाहिए. इतना ही नहीं अवैधानिक तरीके से नौकरी से निकालने के एवज में आर्थिक और मानसिक क्षतिपूर्ति की मांग अलग से करनी चाहिए. चूंकि गलत तरीके से नौकरी से निकाला गया है इसलिए दावे में पुन: नौकरी देने व निकाले गए अवधि का पूरा वेतन देने की मांग करनी चाहिए. इस केस के तहत कई फैसले हो चुके है इसलिए वकील इससे भली-भांत परिचित है.

महेश्वरी प्रसाद मिश्र
पत्रकार 

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/Bo65FK29FH48mCiiVHbYWi

Comments on “नोटिस से डरें नहीं क्योंकि ये सिर्फ डराने के लिए ही होता है

    • Anil Kumar Singh says:

      Maine Ek lorry loan me Lita tha jo accident Ho haha driver ko chot lagkar uska Ek ankh Chal gaiya bad driver Harare upper case Lita hai job ki lorry ka full insurance hai Ab court ke Samara Harare ko notice show cause aya hai isle Mai Kata kar Santa hu

      Reply
  • Time to time Maheshwar Pd Mishra ji ke Lekh aur Jaankariyan Manoval ko kafi Ooncha karti hain… Mishra ji se Anurodh hai ki issi tarah ki Jankariyon se humsabon ko Awgat karaatey rahein…regards.

    Reply
    • Maine ek home base job apply Kiya that jisme form filling work tha or uske liye limited time tha mai use time pr submit nii kr pai to unhone mujhe Kisi advocate k through call krwane shuru kr diye or money demand v krne shuru kr diye jbki Maine unke dwara bnae gye agreement papers pr sign nii Kiya tha…mere name se sign Kiya gya h Kisi or ne Kiya h…or ab s s v aa rhe h k Aapka case file ho chuka h or ek number v Diya gya h jispe call krne ko Kaha jaa rha h

      Reply
  • Jaypal Singh Yadav says:

    Sir me pinnacle market investment finance company me job karta tha Waha hmse 1 agreement sign karaya tha Jo ki 9mahine ka tha Lekin mene job 45 din me hi chod di Ab 9 mahine baad mere ghr pr notice aaya h usme Kha gaya h Mujhe 1mahine ki salary or 2000 rupe notice kharcha Jama karna hoga pr sir me na hi itne pese jama kr sakta hu or na hi Mujhe law ki koi jankari h mene job apni health ki vajah se chodi thi jiska mere pass koi sabut bhi Nhi h me kya karu please sir Aap hi sahi margdarshan Kare Mera contact no. 9826588765 h

    Reply
    • Yadi kisi ko company se nikala gaya hai ya fir kuch galat vayvhar hua hai to mujhse contact kare.
      Kisi ko kisi prakar ki consumer complaint hai to veh bhi contact kar sakte hai

      Adv. Himanshu- 7597624947

      Reply
  • Vikash kumar gupta says:

    Sir mai ek company me job karta tha waha mai area sales manager tha mera kam waha par dealer aur distributor banana tha ,us time pe bhi maine company k liye dealer aur distributor banaye..maine ek dealer se 25000 ka cheqe leke use company k account me lagaya tha par amount company k pas Jane ke bad dealer ne kaha ki wo kam nahi Karna chahta use uske paise wapas chahiye par company paise dene k liye ready nahi thi aur unne dealer ko mal bill kar diya..ab dealer mujhe notise Bhejne ke liye bol raha hai hai mai Kya karu..please bataiye mujhe

    Reply
  • Sir University me nikli bharti me Mai pass hu aur joining letter bhejne me utd kabhi deri kar raha hai utd ko legal notice bhejne to unhone koi jawab ni diya sath hi ek saal se chakkar Kat raha hu lekun koi sahi jankari nahi mil pa rahi hai. Utd baale kebal time kill kar rahe Hain Kya mughe high court me case file karna chahiye

    Reply
  • Vikas kumar says:

    Sir g me abhi mujhy company me four month hua job kerty hua ab sahi km chl raha tha per abhi ya kah rahy ha 15 din me km shod do ab app he bato itni jaldhi nokeri kesay mil jati ha aur meri family ka kya hoga ha to rasety me ah jayegy g pls mujhy bato me kru to lya keru pls sir help me.

    Reply
  • Cat Delhi me mera case fill kiya hua h For Appointment bt court ka notice 6 bar bheja ja chuka h bt respondent ki side se koi reply nhi a rha h Aisi situation me court ka kya decision ho skta h….

    Reply
  • Wife 6 7 mahine se nahi aa rahi v mera 2 saal ka ladka bhi hai jisse mujhe milane nahi diya jaata hai meri khuch bhi galti nahi phir bhi mujhe sis taal vaale jabarjasti pareshan karte hai qya karna chahiye.

    Reply
  • Maine cort se samne wale ko summons bheja hai but samne wale ka door loekd hai ab use summon kaise milega please guide kare

    Reply
  • Vinay Mishra says:

    Maine cort se samne wale ko summons bheja hai but samne wale ka door loekd hai ab use summon kaise milega please guide kare

    Reply
  • Maine 2 phle dmrc me contract basis per as a ticket vendor join kiya tha but mujhe 31 may 2019 me ye keh kar nikal diya kiya ki tum recall ho gaye ho or mujhe iske bare me koi jankari nahi di but jab maine salary ke liye pucha to kuch nahi btaya. Mai 13 sep 2019 ko office gya to unhone bola ki phle tumhe yha resign dena tha tab join krna tha khi or phir mai aaj gya 18 sep fir office gya to unhone mujhse ek letter likhwaya ki maine apni marji se ye job 10 june ko chodhi hai. Ye to saaf dhokha dhadi hai. Please help mujhe btaye is situation me mujhe kya karna chaiye.

    Reply
  • vandana rajput says:

    Sir muje na ek school ki compelent karna hai meri sister us school me padti hai us school ke jo principal hai wo sarkari school chala rahe hai lekin uske sath sath privet sachool bhi or jab sarkr ki taraf se koi sir waha checking ke liye aate hai to privet wale baccho ko ghr bhej dete hai .. Or jo checking wale sir aate hai na to unko yahi pata hai ki ye bus sarkari school hai unhe ye nhi pata ki ye eske sath sath privet school bhi chala rahe hai or hum log se itni fess lete hi or na hi privet wale baccho ko padate hai school ka staf bhi principal ka sath deta hai jese principal bolte h wo wese hi karte hai

    Or mene tc nikalne ka bola apni sister ka ki hme tc de do to wo school ke principal bhi tc nahi de rahe hai or fess ke liye force karte hai ki fess bharo es taraf se to jo bhi privet wale bacche hai unka feuture kharw ho raha hai

    Me eske liye kuch karna chati hu pr me middile class se hu or agr meri baato pr kisi se yakin nahi to ,, kya hoga phir

    Or wo principal accha admi bhi nahi hai

    Pls bataiye ki me kya karu ab

    Reply
  • महतलाल सिंह मुण्डा says:

    गाँव का एक वकील दिनेश कोईरी हमेसा हमको कैंस करेगें बोल के जमीन से संबंधित बेदखल कर देगे बोल केपैसे रूपये की मांग करता है नौकरी से हाथ धौना पड़ेगा पैसा रूपया नही देगा तो हमको धमकी देता है? क्या करुं कोई उपाय बताया जाए मै बहुत परेशान हूँ

    Reply
  • Megha Jenekar says:

    Sir mene bhi yek campany see agriment Kiya tha or me wo pura nahi Kar Pai aap so kah rahe he ki case ho Gaya he or court me see wo case hadwane ke liye muze 700000 iatna amount court me Tena hoga to aab me Kay Karu please sir jaldi bataiye

    Reply
  • sir maine online work kiya tha or company ne mujse achanak block kar diya maine koi responsse ni kiya or achanak ek mahine baad ek loyer ka ph ata h k tume noc k liye phele 5000 rupe dene or baad m 13000 rup dene hai ,court m ek din phele h hajir hone ke liye bhi kha gya paiso k sath ye mere samj m ni aya sir plz tell me

    Reply
  • mera 1 banda 2 lakh rupees kha gaya , mere pass uska cheque h , vo cheque uski firm k nam pe h, mane use court s notice bheja , kya vo mere paise vapis dega ,, cheque current account ka h and bounce hone p legal notice bheja .

    mane use apni wife k gullak se paise deiye , electric panels ka kam karne k liye, ab vo mukar rha hai.

    Kya notice ki value nahi hai koi . jo use darna nahi chye
    sunil kapoor – 9540648242

    Reply
  • Rajkumar Pal says:

    Mere medical store ke liye drugs inspector dwara anniymittae bta kr notice bheja hai and Uska jabab 7 days mai dakhil karne ko bola hai abhi eska jabab kaise dakhil kre plz help me

    Reply
  • Uttam kumar sharma says:

    Sir ainey mobile app kay dware ek, loan lya tha wo suit file kar chukey hai kya karu sir main loan dena chata hoon. Main delhijaney mai asamarth hoon kya karu

    Reply
  • sir mene ek compny join ki thi sirf do din kam kiya aur mei apne family issue ki wajah se wo job continue nhi kar payi aur company ko proper inform bhi nhi kar payi thi . company ne muje show case notice beja .muje kya reply karna chaiye

    Reply
  • Suraj aarya says:

    Mere Ghar per ek सिचाई विभाग से एक notice आया है तो मै कया करू

    Reply
  • Jabed Akhtar says:

    Hello
    maine 1 case counter keya hai abhi notice ho gaya hai abhi uska 1 dost ASI hai woh dhamki de raha hai ab keya kare ?case wapas le le ya phir continue kare
    Ya phir ASI ke khelaf kuchh kare
    Please reply
    Thanx

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *