सुदर्शन वाला बंदा अपना अलग ही एंगल ठेले रहता है

शीतल पी सिंह-

राष्ट्रवादी पत्रकारिता… सिर्फ़ मूर्खतापूर्ण गढ़ंत पर पनपती है । यदि आप इनसे जानकारी का स्त्रोत पूछ लें तो ये तुरंत गाली बकने लगेंगे !

इनका दावा है कि ये विश्वगुरु समाज हैं पर उस विश्व का अता पता कहां है यह पूछना देशद्रोह है।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

One comment on “सुदर्शन वाला बंदा अपना अलग ही एंगल ठेले रहता है”

  • Faisal khan says:

    बकौल मोदी साहेब ये परजीवी है,यानी दूसरों के टुकड़ों पर पलने वाले

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *