Connect with us

Hi, what are you looking for?

सुख-दुख

स्व. सुनील शाह को श्रद्धा सुमन

अमर उजाला हल्द्वानी के संपादक रहे स्व.सुनील शाह का पीपलपानी शुक्रवार को हुआ। स्व.शाह के जज फार्म स्थित आवास पर पहुंचे बड़ी संख्या में लोगों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए, साथ ही उनके व्यक्तित्व और कृतित्व का भावपूर्ण स्मरण किया। 

<p>अमर उजाला हल्द्वानी के संपादक रहे स्व.सुनील शाह का पीपलपानी शुक्रवार को हुआ। स्व.शाह के जज फार्म स्थित आवास पर पहुंचे बड़ी संख्या में लोगों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए, साथ ही उनके व्यक्तित्व और कृतित्व का भावपूर्ण स्मरण किया। </p>

अमर उजाला हल्द्वानी के संपादक रहे स्व.सुनील शाह का पीपलपानी शुक्रवार को हुआ। स्व.शाह के जज फार्म स्थित आवास पर पहुंचे बड़ी संख्या में लोगों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए, साथ ही उनके व्यक्तित्व और कृतित्व का भावपूर्ण स्मरण किया। 

गौरतलब है कि 18 अप्रैल को नैनीताल से लौटते समय सड़क दुर्घटना में सुनील शाह घायल हो गए थे, बाद में दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। उनके साथ पूर्व में अमर उजाला बरेली में काम करने वाले वरिष्ठ पत्रकार पवन सक्सेना ने कहा कि स्व. शाह ने हमेशा जन सरोकार की पत्रकारिता की, उन्होंने हमेशा अपने साथ काम करने वाले अधीनस्थ पत्रकारों को आगे बढ़ाया। उनका असमय जाना एक अपूरणीय क्षति है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

कमान सिंह धामी ने कहा कि उनका सहज होना और सरल संवाद व्यक्तित्व को और धनी बनाता था। उन्होंने अखबार के जरिए जनहितों को लेकर संघर्ष किया। पब्लिक स्कूल एसोसिएशन अध्यक्ष प्रवींद्र रौतेला ने कहा कि स्व. शाह के केंद्र में हमेशा आम व्यक्ति रहा, जिसकी समस्या, पीड़ा को दूर करने की कोशिश की। स्व. शाह के साथ काम कर चुके या लंबे समय से जुड़े लोगों ने भी उनके साथ बिताए क्षणों को याद करने के साथ ही अनुभव साझा किए। सभी ने कामना की उनके परिवार को इस दुख से जल्द उबरने की ईश्वर शक्ति प्रदान करें। साथ ही उनकी पत्नी और बेटों को ढांढस बंधाया। 

श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य, मेयर डा. जोगेंद्र सिंह रौतेला, उत्तराखंड मुक्त विवि के कुलपति सुधांशु धूलिया, विभागाध्यक्ष गोविंद सिंह, मंडी चेयरमैन सुमित हृदयेश, डा. जेएस खुराना, डा. नीलांबर भट्ट, वरिष्ठ पत्रकार चंद्रशेखर बेंजवाल, ताराचंद गुरुरानी, अरविंद मलिक, अशोक पांडे, राम सिंह कैड़ा, ललित जोशी, दीपक बल्यूटिया, नवीन वर्मा आदि थे। 

Advertisement. Scroll to continue reading.

अमर उजाला से साभार

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

0 Comments

  1. purushottam asnora

    May 17, 2015 at 1:38 am

    kya unka yah swanamdhany akhabar sah ji ki smriti ya pariwar k liye kuchh kar raha hai?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement