ये झल्ली-सी दिखनेवाली गरीब और अधेड़ औरत इस एक गाने से हुई अमीर और मशहूर! सुनें

Nitin Thakur

आज सपने देखने की ही एक कहानी आप सबको सुनाना चाहता हूं। कहानी ज़रा सी लंबी भले ही हो लेकिन आंखें खोल देनेवाली है। साल 2008 का वो अगस्त महीना था। स्कॉटलैंड के ग्लासगो में एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के तीन दिग्गज ब्रिटेन का सबसे बड़ा टैलेंट ढूंढने निकले थे। लगातार कई प्रतियोगियों ने स्टेज पर अपना हुनर दिखाया।

घंटों से ऑडिटोरियम में मौजूद 3 हजार दर्शक कुछ प्रतियोगियों के प्रदर्शन से खुश थे तो ज़्यादातर से बेहद चिढ़े हुए। तभी कंटेस्टेंट नंबर 43212 के तौर पर एकदम झल्ली सी दिखनेवाली मोटी और छोटी-सी 47 साल की अधेड़ औरत स्टेज की तरफ बढ़ी। उसके रंग-ढंग और बात करने के तरीके से साफ ज़ाहिर था कि वो सिर्फ दो मिनट की मशहूरी के लिए चली आई है। उसके बेढंगे अंदाज़ और बेढब जवाबों से ऑडिटोरियम में मौजूद दर्शक पहले ही उसके खिलाफ हो गए।

शुरुआती सवाल-जवाब में उसने जजों को बताया कि वो गांव के चर्च में गाती है और उसका सपना है कि वो एक दिन प्रोफेशनल सिंगर बने ताकि एलेन पेज की तरह मशहूर हो जाए। इतना सुनना था कि चिढ़े हुए दर्शकों ने उसकी हूटिंग शुरु कर दी। उस महिला के लिए हूटिंग नई बात नही थी। बचपन से लर्निंग डिसएबिलिटी और समाज से ना घुलमिल पाने की बीमारी झेल रही वो औरत बस मुस्कुराती रही और बिना थमे जवाब देती रही। इसके बाद उसे गाने के लिए कहा गया। उसने गाना चुना था- I Dreamed A Dream….

गाना शुरु हुए महज़ 5 सैकेंड बीते कि जजों का मुंह खुला रह गया। उस महिला की ऊंची आवाज़ स्टेडियम में ऐसे गूंज रही थी मानो आसमान से बरस रही हो। दसवें सैकेंड के बीतते-बीतते हैरत और सम्मोहन में डूबे सारे दर्शक तालियां बजाते हुए अपने पांवों पर खड़े हो चुके थे। कुछ देर पहले मखौल उड़ाने के अंदाज़ में बात करनेवाले जजों के चेहरे पर शर्मिंदगी साफ थी। इधर गाना खत्म हुआ और उधर वो बेपरवाह महिला बिना जजों का फैसला सुने स्टेज से चल भी दी।पहले ही हैरत और शर्म में पड़े जजों ने उसे टोका और बुलाया।

एक जज पीयर्स मॉर्गन ने गदगद होकर कहा कि जब तुमने गाने से पहले कहा था कि एलेन पेज जैसा बनना चाहती हो तो यहां हर कोई हंस रहा था.. अब देखो ज़रा, यहां कोई नहीं हंस रहा।

दूसरी जज अमांडा ने मॉर्गन की बातों को आगे बढ़ाते हुए हल्की भीगी आंखों के साथ कहा कि किसी की सूरत देखकर राय बनाने वालों के लिए ये एक वेक अप कॉल है। दरअसल आपको सुन पाना हमारा सौभाग्य रहा।

मुस्कुराते हुए ये सब कमेंट सुन रही वो महिला उस शो के फाइनल तक पहुंची और दूसरे नंबर पर रही.. नाम है- सूज़ेन बॉयल। उस दिन के बाद सूज़ेन किसी परिचय की मोहताज़ नहीं रही। अपने भाई-बहनों में सबसे छोटी सूज़ेन को बूढ़ी मां का सहारा बनना था इसलिए 47 की उम्र तक शादी नहीं की।

टैलेंट शो में जाने के लिए भी मां ने ही ज़िद की। उसे नहीं मालूम था कि उस एक एपिसोड के बाद उसकी ज़िंदगी बदल जानेवाली है। यूट्यूब पर ऑडिशन का वीडियो (कमेंट बॉक्स में) आया और 3 दिनों के अंदर उसे 25 लाख लोगों ने देखा। 7 दिनों में आंकड़ा 66 लाख था। 9 दिनों में 20 अलग-अलग वेबसाइट्स पर सूज़ेन का ऑडिशन करोड़ दर्शकों के आंकड़े को पार कर गया। इसके बाद सूज़ेन बॉयल के कंपटीशन में बढ़ते सफर पर अमेरिका, ब्रिटेन के अलावा चीन, ब्राज़ील, मध्य एशिया तक के अखबारों ने नज़र रखना शुरू कर दिया। अमेरिका से लेकर ब्रिटेन तक वो न्यूज़ इंडस्ट्री की सुर्खियों में थी।

शो के ही दौरान उनकी मशहूरी का आलम ये था कि शायद ही किसी बड़े चैनल ने उनका इंटरव्यू ना लिया हो। ओपेरा विनफ्रे के मशहूर शो में भी उन्हें पूरे सम्मान से बुलाया गया। सुज़ेन की कामयाबी की कहानियां जापान के सबसे बड़े चैनल तक पहुंचीं। पूरब से पश्चिम तक सब सूज़ेन बॉयल को बेइंतहां पसंद करने लगे। सूज़ेन के ऑडिशन के दौरान उनको देख बुरा सा मुंह बनानेवाली एक लड़की को तो सूज़ेन के चाहनेवालों की तरफ से धमकियां तक मिलीं। रातों रात सूज़ेन के पक्ष में लिखने बोलनेवाले मीडिया पर उमड़- घुमड़ आए। वो चारों ओर चर्चा का विषय थी।

मीडिया में सूज़ेन के असामान्य व्यवहार और दिमागी हालत की भी चर्चा ज़ोरों पर थी। प्रेस शिकायत आयोग ने कार्यक्रम संचालकों को खत लिखा। शो के फाइनल मुकाबले के अगले ही दिन सूज़ेन को लंदन के साइकेट्रिक क्लीनिक में भर्ती कराया गया। ये खबर भी तेज़ी से फैली और तत्कालीन पीएम गोर्डोन ब्राउन तक ने उसकी अच्छी सेहत की कामना की।कार्यक्रम संचालकों ने उसकी हालत देखकर प्रस्ताव दिया कि अगर वो चाहे तो उनके ब्रिटेन गॉट टैलेंट टूर से कानूनी तौर पर अलग हो सकती है, लेकिन सूज़ेन कहां हार माननेवाली थी। उसे व्हाइट हाउस तक में स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए ससम्मान आमंत्रित किया गया। तीन दिन के भीतर सूज़ेन ने क्लीनिक छोड़ा और टूर में शामिल हो गईं। स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद वो टूर में अधिकांश जगह दिखाई दीं। कितने ही शहर उनके स्वागत में बिछ गए थे।

सूज़ेन की पहली एलबम 2009 में ‘I Dreamed A Dream’ ने ब्रिटेन में बिक्री के सब रिकॉर्ड ध्वस्त कर डाले। किसी नए गायक का पहला एलबम हाथों हाथ इतनी बड़ी तादाद में नहीं बिका था। अमेरिका में ये एलबम उस साल बिक्री के मामले में दूसरे नंबर पर रहा। सुज़ेन ने उस एलबम से ही करीब 57 करोड़ रुपए कमा लिए। इसके बाद सूज़ेन की दूसरी एलबम साल 2010 में द गिफ्ट बाजार में आई जिसने एक बार फिर ब्रिटेन और अमेरिका में एलबम चार्ट्स को टॉप किया। जादू 2011 में आई तीसरी एलबम में भी जारी रहा।

2012 में Standing Ovation नाम से आए एल्बम के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत से पियानो सीखा। उसे मशहूर ओपेरा स्टार डोमिंगो ने रिलीज़ किया जिसमें उनके साथ प्रसिद्ध गायिका शानिया ट्वेन भी थीं। सूज़ेन का सफर गायिकी से होता हुआ एक्टिंग पर भी पहुंचा। 2013–2014 में The Christmas Candle नाम की फिल्म में वो नज़र आईं। वहां भी उन्होंने “Miracle Hymn” नाम का गाना गाया। बताने की ज़रूरत नहीं कि इस बीच वो बेशुमार डॉक्यूमेंट्री फिल्मों में देखी गईं। उनकी एक आत्मकथा भी बाज़ार में पहुंची। 2014 में सूज़ेन की छठी एल्बम आई Hope । 2016–2018 में उन्होंने A Wonderful World नाम की एल्बम निकाली (जिसका एक गाना मैं कमेंट बॉक्स में लगा रहा हूं)। बताया जा रहा है कि जल्द ही वो America’s Got Talent: The Champions में प्रतियोगी के तौर पर दिखनेवाली हैं।

सूज़न की कामयाबी का सिलसिला लगातार चल रहा है। दुनिया भर में सुज़ेन के फैन हैं और वो लगातार कॉन्सर्ट करती हैं। ब्रिटेन के शाही कार्यक्रम में गाने से लेकर अपनी आदर्श एलेन पेज (जिन्होंने बाद में खुद सूज़ेन के साथ गाने का प्रस्ताव रखा, कमेंट बॉक्स में) के साथ तक सुज़ेन एक ही सहजता से गाती हैं। साल 2012 में ही सुज़ेन अरबपति बन गई थीं। सुज़ेन का दो बार ग्रैमी अवॉर्ड्स के लिए भी नॉमिनेशन हुआ। 2014 के कॉमनवेल्थ खेलों में सुज़ेन को मशाल थामने का सम्मान भी हासिल हुआ। पागल कर देने वाली प्रसिद्धि और रातों रात हासिल हुई अकूत दौलत के बाद सुज़ेन ने आलीशान घर तो खरीदा मगर पुराना घर बेचने को तैयार नहीं हुईं।

देखें सुजेन को वो एतिहासिक आडिशन…

अपनी आदर्श एलेन पेज के साथ सूज़ेन जिसकी तरह वो बनना चाहती थी, लेकिन लोगों ने जैसे ही उसकी हसरत सुनी वो हंस पड़े थे…

व्हाट ए वंडरफुल वर्ल्ड तक बदल गईं सूज़ेन….

नितिन ठाकुर टीवी टुडे समूह में पदस्थ हैं. वे सोशल मीडिया के चर्चित लेखक भी हैं.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *