वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट खत्म करने जा रही मोदी सरकार, अपना विरोध दर्ज कराएं

वेज बोर्ड बचाने के लिए सभी पत्रकार-गैर पत्रकार संगठन एकजुट होकर आपत्ति दर्ज कराएं

सभी पत्रकार-गैर पत्रकार एवं अखबार कर्मचारियों के संगठनों से सादर अनुरोध है कि वे वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट एण्ड मिसलिनियस प्रोविजन एक्ट-1955 को “द इंडस्ट्रियल रिलेशन केड-2019”, “द कोड ऑफ सोशल सिक्योरिटी 2019″ और ”वेज कोड-2019” में शामिल किए जाने का विरोध करें.

लोकसभा सचिवालय द्वारा गठित “डिपार्टमेंटली रिलेटड स्टैंडिंग कमेटी ऑन लेबर” के यहां सभी संगठन अपने-अपने स्तर पर नियमानुसार आपत्ति दर्ज करवाकर वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट बचाने का कष्ट करें.

हालांकि कुछ साथी श्री भर्त्रूहरि मेहताब (सांसद, कमेटी अध्यक्ष) के पास अपना विरोध दर्ज करवा चुके हैं लेकिन अब लोकसभा सचिवालय ने अखबारों में विज्ञापन देकर एक बार पुन: सुझाव मांगे हैं. ऐसे में पत्रकार संगठन अपनी आपत्ति अवश्य दर्ज कराएं अन्यथा मोदी सरकार पत्रकारों और गैर पत्रकारों के लिए वेज बोर्ड समाप्त करने का प्रावधान कर चुकी है. इसे रोकने के लिए सभी को एकजुट होना चाहिए.

विजय शर्मा

vijaysharmaht@gmail.com



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट खत्म करने जा रही मोदी सरकार, अपना विरोध दर्ज कराएं

    • स्वतंत्र महंत, एडिटोरियल हेड नवभारत, रायगढ़ छत्तीसगढ़ says:

      पत्रकारों के अधिकारों का हनन नही करेंगे सहन हम,,, में इसका पुरजोर विरोध करता हु।

      Reply
  • स्वतंत्र महंत, रायगढ़ छत्तीसगढ़ says:

    पत्रकारों के अधिकारों का हनन नही करेंगे सहन हम,,, में इसका पुरजोर विरोध करता हु।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code