प्रेस क्लब आफ इंडिया में दो अक्टूबर को छुट्टी के दिन नदीम के पहुंचने पर कइयों ने की आपत्ति

एक अक्टूबर को चुनाव हुआ. दो अक्टूबर को सरकारी छुट्टी है, इसलिए आज यानि तीन अक्टूबर को मतगणना है. लेकिन दो अक्टूबर को सरकारी छुट्टी के दिन प्रेस क्लब आफ इंडिया के सेक्रेट्री जनरल नदीम अहमद काजमी क्लब के भीतर पहुंचे तो कई लोगों ने इस पर आपत्ति जताई. प्रेस क्लब आफ इंडिया के पूर्व सदस्य राजीव यादव ने इस बाबत भड़ास को एक मेल भेजा. मेल में उन्होंने क्या लिखा है और नदीम अहमद काजमी ने मेल के जवाब में क्या कहा, नीचे पढ़िए….

Dear members of PRESS CLUB OF INDIA,

It is shocking to know that PRESS CLUB’S outgoing Secretary-General Nadeem Kazmi is sitting inside the Press Club today i.e. OCT. 2 which is an official government holiday, along with his manfriday and office manager JITENDER Singh.

The Club is shut with no staff and BALLOT BOXES containing votes cast yesterday are kept inside the Club with no proper security except one private security guard.
I am sure this crook has changed ballot boxes in an attempt to ensure his panel’s victory.

WHAT BUSINESS HE HAD TO ENTER THE CLUB TODAY WHEN IT IS OFFICIALLY SHUT FOR A PUBLIC HOLIDAY AND BALLOT BOXES KEPT INSIDE.
(1) WITH WHOSE PERMISSION DID HE ENTER THE CLUB..?
(2) DID HE INFORM THE ELECTION OFFICIALS..?? Or, (3) THE ELECTION OFFICIALS ARE ALSO HANDS-IN-GLOVES WITH HIM…???

I smell a conspiracy….

Thanks
Pankaj yadav
Senior journalist.
pkjyadav@gmail.com


ये है सेक्रेट्री जनरल नदीम अहमद काजमी का जवाब…

Election ho gaya, kal counting bhi ho jaayegee. Jab tak new committee naheen banti, main SG hoon. Mujhe kuchh zarooree check sign Karne they, kal chunaav mein busy rahne ke chalte naheen kar paya.. office se pahle main daily club Jata hoon. Candidates aur unke sahyogee wahan dera Dale huye hain, unke sasth hee main bhi security dekhne gaya. Pankaj yadav ke mitra aur mc ke ummeedwar chandan aur doosre ummeedwar bhi saath they. Unhone sealed lock kee photo bhi kheenchi aur apne signature bhi check kiye. To Bhai in logon ne EC se anumati Lee thee kya? Bina elect huye log club jaa sakte hain lekin elected SG naheen ja Sakta, kyon Bhai? Aur shikayatkarta club ka sadasya bhi naheen hai.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “प्रेस क्लब आफ इंडिया में दो अक्टूबर को छुट्टी के दिन नदीम के पहुंचने पर कइयों ने की आपत्ति

  • nadeem ka sach says:

    Quite possible… He can do fo it… Nd jitendra helps him bcz both r leftist. इन लोगों ने private security के लिए 42000 रुपये खर्च किए. कायदे से इन्हें चुनाव के लिए दिल्ली पुलिस की सुरक्षा लेनी चाहिए थी. जहां तक रही बात सील देखने की तो उसे केवल चुनाव लड़ने वाले ही देख सकते हैं, सेक्रेट्री जनरल नहीं. Jis din election committee banti hai uss din se hamara yaani elected members ka right khatam ho jata hai. वैसे भी नदीम is not SG now, The day we form election committee. चेक साइन करना महत्वपूर्ण काम क्यों नहीं लगा नदीम को कि वह छुट्टी के दिन यह काम करने गया. Kya club ke chk priority nhi hai. Election se jyada responsibility imp hai. सारा खेल एक साजिश की तरफ इशारा कर रहा है.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *