हिंदी में गूगल एडसेंस आ गया, हिंदी ब्लागरों के लिए खुशखबरी

अगर आप ब्लॉगर हैं और ब्लॉग और वेबसाइट से पैसा कमाना चाहते हैं तो इंटरनेट पर कमाई के कई तरीके मौजूद है। इन तरीकों को अपनाकर आप आराम से कुछ रूपल्ली से हजारों रुपए तक की कमाई कर सकते हैं। लेकिन निःसन्देह विभिन्न देशों के ब्लॉगर के बीच कमाई को सबसे लोकप्रिय तरीका है गूगल एडसेंस। लेकिन अब तक गूगल द्वारा हिन्दी भाषा को एडसेंस पर समर्थन ना देने से हिन्दी पट्टी के ब्लॉगर अपने इंटरनेट का खर्च भी नहीं निकाल पा रहे थे जोकि लेखन के आगे के चरण में उदासीनता का सबसे बड़ा कारण बना हुआ था।

सबसे खुशी की बात यह है कि अब हिन्दी भी गूगल एडसेंस की समर्थित भाषा में शामिल कर ली गई है। आज से गूगल की एडसेंस समर्थित भाषाओं में हिन्दी को भी देखा जा रहा है।  आप स्वयं यहाँ जाकर इसकी पुष्टि कर सकते हैं। मतलब कि अब हिन्दी ब्लॉगर भी अपनी रचनाधर्मिता के चलते अपने खर्चे निकाल सकेंगे, ऐसी उम्मीद की जा सकती है।

गूगल एडसेंस- अपने ब्लॉग पर गूगल एडसेंस का विज्ञापन लगाकर आप हर महीने हजारों कमा सकते हैं। गूगल एडसेंस का विज्ञापन टेक्स्ट, इमेज और वीडियो के रूप में होता है। इसके कोड को ब्लॉग पर डालने के बाद विज्ञापन दिखने लगता है। जब भी कोई पाठक आपके ब्लॉग पर डाले गए गूगल एडसेंस के विज्ञापन को क्लिक करेगा। उस क्लिक के बदले आपको पैसा मिलेगा. लेकिन आपको यह ध्यान रखना होगा कि खुद के कंप्यूटर, आईपी से विज्ञापन क्लिक ना हो।

आपको अपने जिस हिन्दी ब्लॉग पर एडसेंस को चालू करना हो उस ब्लॉग को ब्लॉगर डैशबोर्ड पर जाकर खोलें।  उसके बाद बाएँ ओर दिख रहे Earning टैब पर क्लिक करके  क्लिक करें और एडसेंस को चालू करने का ऑप्शन स्वीकार कर लें। उसके बाद लेआउट मे जाकर विभिन्न जगह add a gadget क्लिक करके एडसेंस की यूनिट ब्लॉग पर लगा दें।

एक बात ध्यान रखें कि विज्ञापन का प्लेसिंग सही हो। विज्ञापन वहां लगाएं जहां लोगों की नजर जरूर जाए और लोग उसे क्लिक करने से खुद को रोक ना पाए। अगर आपके ब्लॉग में फोटो और वीडियो नहीं के बराबर है या कम है तो सिर्फ टेक्स्ट एड लगाना आपके लिए बेहतर होगा।

एक बात ध्यान रखिएगा कि Google Adsense जैसे साधन आपको क्लिक के हिसाब से भुगतान करते हैं. इसे PPC यानी Pay Per Click कहते है। जबकि कुछ साइट आपके ट्रैफिक के अनुसार आपको पैसा देते हैं। जितना ज्यादा हिट उतना ज्यादा भुगतान। इसे CPM कहते हैं यानी Cost Per Mille (Thousand)। इसलिए आपकी कोशिश ये होनी चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोग आपके ब्लॉग पर आए।

इसके लिए आपको रोज पाठकों के लिए ऑरिजीनल पोस्ट लिखने होंगे। इससे लोगों को प्रतिदिन कुछ ना कुछ नया पढ़ने के लिए मिलेगा। जब नया मिलेगा तो वह रोज आएंगे और आपके ब्लॉग, साइट का ट्रैफिक, रैंकिंग बढ़ेगा. जितना ट्रैफिक बढ़ेगा आपके पास उतना पैसा आएगा।

क्या करें और क्या ना करें?

    स्वयं अपने Google विज्ञापनों पर क्लिक न करें।
    किसी अन्य व्यक्ति को अपने Google विज्ञापनों पर क्लिक करने के लिए न कहें।
    अपने विज्ञापनों के लिए स्थान का चयन सावधानी से करें।
    इस बात के प्रति सावधान रहें कि आपकी साइट का प्रचार कैसे किया जा रहा है।
    Google Analytics  का उपयोग करें। 
    Google विज्ञापन प्रदर्शित करने वाले पृष्ठों/साइटों पर सामग्री प्रतिबंध लागू होते हैं।
     अद्वितीय और प्रासंगिक सामग्री युक्त साइटें बनाएं।
    AdSense कोड के साथ छेड़छाड़ न करें.
    पॉप-अप संकेतों या स्वचालित सॉफ़्टवेयर इंस्टॉलेशन का उपयोग न करें।
    Google ट्रेडमार्क का सम्मान करे।

आपकी वेबसाइट पर दिख रहे विज्ञापनों पर यदि  किसी पाठक ने क्लिक किया तो इस क्लिक के लिए गूगल विज्ञापन देने वाली कम्पनी से पैसे लेगा और इस आय का एक हिस्सा आपको भी देगा। आप यदि यह जानना चाहें  कि आपको कितना हिस्सा मिलता है तो इसका जवाब कोई नहीं बता सकता। गूगल यह जानकारी किसी से साझा नहीं करता है। किसी विज्ञापनकर्ता से गूगल खुद कितने पैसे लेता है, आपकी कमाई भी इसी बात पर निर्भर करती है। ज़ाहिर है कि गूगल सभी कम्पनियों से एक जैसे पैसे नहीं लेता। इसलिए किसी विज्ञापन पर क्लिक होने की स्थिति में आपको जहां अधिकतम 4 डॉलर भी मिल सकते हैं और किसी अन्य क्लिक पर 0.006 डॉलर भी!

प्रवीण त्रिवेदी के ब्लाग प्राइमरी का मास्टर का हिंदी ब्लाग से साभार.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “हिंदी में गूगल एडसेंस आ गया, हिंदी ब्लागरों के लिए खुशखबरी

  • 😀 मेरा Confusion दूर करने के लिए आपका धन्यवाद …….

    नमस्कार दोस्तों यदी आप हिन्दी में कम्प्यूटर सीखना चाहते हैं तो इस ब्लॉग का रुख अवश्य करें studyportal4all.blogspot.com

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *