अजीत सिंह, ममता यादव, प्रवीण दुबे समेत कई पत्रकारों का नाम पुरस्कार के लिए चयनित

भोपाल : देश में पत्रकारिता शोध एवं संदर्भ के अग्रणी संस्थान माधवराव सप्रे स्मृति समाचारपत्र संग्रहालय ने वर्ष 2017 के लिए राज्य स्तरीय पत्रकारिता पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों का उद्देश्य बेहतर पत्रकारिता कर रहे पत्रकारों का सार्वजनिक सम्मान करना है। साथ ही यह भी अपेक्षा रहती है कि विशेषकर युवा पत्रकारों को बेहतर पत्रकारिता करने के लिए प्रेरणा मिले और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा भी हो। पुरस्कार स्वरूप प्रशस्ति पत्र, शाल एवं लेखनी भेंट किए जाते हैं।

इस वर्ष मल्हार मीडिया समाचार वेबसाईट की संस्थापक ममता यादव को लाल बलदेव सिंह पुरस्कार के लिये चयनित किया गया है। मूर्धन्य पत्रकार लाल बलदेव को पत्रकारिता में गणेश शंकर विद्यार्थी, माखनलाल चतुर्वेदी, पराड़कर जी जैसे ऐतिहासिक पत्रकारिता पुरूषों का पुरखा माना जाता है। सन् 1887 में अपनी ब्रिटिश शासन के खिलाफ अपनी लेखनी चलाने वाले और कंधार से प्रिंटिंग प्रेस लाने वाले लाल बलदेव सिंह जी के नाम का यह पुरूस्कार युवा पत्रकारों की हौसला अफजाई के लिए संग्रहालय द्वारा दिया जाता है।

संग्रहालय की निदेशक डा. मंगला अनुजा ने बताया कि ‘संतोष कुमार शुक्ल लोक संप्रेषण पुरस्कार’ अपर संचालक जनसंपर्क मंगलाप्रसाद मिश्र को दिया जाएगा। ‘हुक्मचंद नारद पुरस्कार’ जयलोक जबलपुर के संपादक अजित वर्मा और नवलय अनुबोध के संपादक राकेश दुबे को ‘माखनलाल चतुर्वेदी पुरस्कार’ नईदुनिया ग्वालियर के संपादक अजीत सिंह, ‘जगदीश प्रसाद पुरस्कार’ दैनिक भास्कर भोपाल के राजेश शर्मा को राजेश चतुर्वेदी पुरस्कार और ‘झाबरमल्ल शर्मा पुरस्कार’ के लिए जी न्यूज के प्रवीण दुबे का चयन किया गया है। ‘रामेश्वर गुरु पुरस्कार’ हिन्दी की स्तरीय पत्रिका अक्षर शिल्पी (प्रधान संपादक आर.एस. तिवारी) को दिया जाएगा।

अन्य पुरस्कारों के लिए श्रद्धा देसाई, वेद कुमार मौर्य, ऋचा नेमा राय फोटो जर्नलिस्ट पृथ्वीराज सिंह को आदेशप्रताप सिंह भदौरिया, शाहिद कामिल, हर्ष पचौरी, शशिकांत तिवारी का चयन किया गया है। चयन समिति में डा. शिवकुमार अवस्थी, डा. आर. रत्नेश, श्री राकेश दीक्षित, डा. राकेश पाठक एवं निदेशक डा. मंगला अनुजा सम्मिलित थे।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code