अमर उजाला ने बना ली ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’, बरेली में छपने लगी खबरें

उत्तर प्रदेश के प्रमुख हिंदी दैनिक अमर उजाला ने फिलहाल बरेली यूनिट के 90 फ़ीसदी कर्मचारियों से किनारा कर लिया है। अब ये कर्मचारी ‘अमर उजाला प्रकाशन’ के नहीं बल्कि ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’ के कर्मचारी माने जाएंगे। इनके द्वारा लिखी जा रही खबरों का प्रकाशन भी ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’ से किया जा रहा है। खबर पर अब ‘अमर उजाला ब्यूरो’ सिर्फ बरेली सिटी के ऑनरोल कर्मचारियों की लिखी खबरों पर ही लिखा जा रहा है।

इस बदलाव के पीछे निश्चित रूप से कोई बड़ी वजह है। हालांकि जानकार लोगों का मानना है कि मजीठिया वेज बोर्ड के कंपनी पर बढ़ते दबाव के चलते ऐसा निर्णय लिया गया है।

बरेली यूनिट से अमर उजाला के 5 संस्करणों का प्रकाशन होता है। सोमवार 14 अक्टूबर को जब बदायूं, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, पीलीभीत व बरेली देहात क्षेत्र में अखबार का वितरण हुआ तो न सिर्फ कर्मचारियों में हड़कंप मचा बल्कि पाठकों के बीच भी कानाफूसी होने लगी।

प्रत्येक पृष्ठ पर छपी स्थानीय खबरों पर ‘अमर उजाला ब्यूरो’ की जगह पर ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’ लिखा देखा गया। मंगलवार को भी जब खबरों पर यही दोहराया गया तो कर्मचारियों को समझ में आ गया कि ‘अमर उजाला प्रकाशन’ ने उनसे किनारा कर लिया है और वे लोग अब ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’ के न्यूज़ सप्लायर बना दिए गए हैं।

गोरखपुर यूनिट के अंतर्गत कुशीनगर संस्करण में भी संवाद न्यूज़ एजेंसी से खबरों का प्रकाशन हो गया है जबकि अन्य सभी यूनिटों पर ‘अमर उजाला ब्यूरो’ से ही खबरें छप रही हैं।

दरअसल अमर उजाला प्रबंधन सभी यूनिटों में इसे अभी लागू नहीं कर रहा है। अभी वह कुछ संस्करणों में इसे लागू कर स्थिति को भांप रहा है। दरअसल मजीठिया वेज बोर्ड को लागू किए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मीडिया घरानों पर दबाव बढ़ता जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में भी प्रमुख हिंदी दैनिक अमर उजाला, जागरण व हिंदुस्तान पर बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने मजीठिया वेज बोर्ड के बकाया वेतन भत्ते व एरियर की मांग को लेकर श्रम न्यायालय, इलाहाबाद उच्च न्यायालय, लखनऊ उच्च न्यायालय में केस कर रखे हैं। मजीठिया क्लेम के केसों की तादाद बढ़ने से रोकने के लिए मीडिया घराने लगातार कवायद कर रहे हैं ताकि आगे आने वाले समय में वो कर्मचारी मजीठिया का क्लेम ना कर सके, जो अभी संस्थानों में कार्यरत हैं।

जानिए किसकी है संवाद न्यूज़ एजेंसी

संवाद न्यूज़ एजेंसी को कंपनी के रूप में 15 अक्टूबर 2018 को पंजीकृत कराया गया। कंपनी का पंजीकृत कार्यालय 5 सिविल लाइंस रोहिल्ला होटल के सामने बरेली है। इस कंपनी के दो ही डायरेक्टर हैं जिनमें पहला नाम मीडिया से जुड़ा हुआ है। प्रथम डायरेक्टर प्रभात कुमार सिंह हैं। दूसरे डायरेक्टर के रूप में उनकी पत्नी श्वेता सिंह हैं जिनका आवासीय पता खुश्बू एनक्लेव बरेली है। कंपनी की अधिकृत पूंजी मात्र एक लाख रुपए है। ज्ञात हो कि प्रभात सिंह अमर उजाला के कई संस्करणों के संपादक रह चुके हैं और अमर उजाला के मालिक राजुल माहेश्वरी के काफी करीबी माने जाते हैं।

बरेली से मजीठिया क्रांतिकारी निर्मलकांत शुक्ला की रिपोर्ट.


कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “अमर उजाला ने बना ली ‘संवाद न्यूज़ एजेंसी’, बरेली में छपने लगी खबरें”

  • बहुत बुरी स्थिति में फंसा है हिंदी अखबार जगत। हिंदी पत्रकारों का शोषण उन्हीं के बीच के कुछ लोग करवा रहे हैं अखबार मालिकों के चंपू बनकर। वे पेटी ठेकेदार की तरह काम कर रहे।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *