अनुरंजन झा नामक पत्रकार बोला- तनु शर्मा का फेवर नहीं किया जा सकता

Anuranjan Jha : मैं नहीं जानता कि यह तनु शर्मा कौन है … खबर पढ़ी कि उसने आत्महत्या की कोशिश की… उसके बाद से सोशल साइट्स, ब्लॉग्स और ऐसे तमाम माध्यमों पर लगतार इंडिया टीवी और वहां की टीम को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है …. लेकिन मैं जानता हूं कि इंडिया टीवी क्या है… शायद इंडिया टीवी आज के दौर में उन चंद संस्थानों में है जहां महिलाएं सबसे ज्यादा सुरक्षित हैं… मैं अनीता शर्मा को भी जानता हूं … एक अच्छी दोस्त और बड़ी बहन सा स्नेह मिलता है उनसे …. एम एन प्रसाद कंपनी के वफादार जिनके लिए सब बराबर हैं …

 

और हां रितु जी और रजत जी मौका देने से पीछे नहीं हटते … लेकिन तनु शर्मा को आत्महत्या के लिए उकसाने जैसी घटना पर हमें भरोसा नहीं होता… सच सामने आना चाहिए, लोगों को मालूम होना चाहिए कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि चंद महीने पहले आई इस एंकर ने ऐसा आरोप गढ़ा और ऐसी हरकत की जबकि पिछले एक दशक पुराने इस चैनल और तकरीबन २० साल पुराने इस संस्थान में कभी ऐसा नहीं सुनने को नहीं मिला… ऐसा क्या हुआ कि यह एंकर आत्महत्या की कोशिश पर मजबूर हुई साथ ही सोशल मीडिया पर मैसेज छोड़ जहर लेकर वो दफ्तर क्यों आई…. बहुत सवाल हैं …. सिर्फ इसलिए तनु शर्मा को फेवर नहीं किया जा सकता क्यूंकि उसने आत्महत्या की कोशिश की है… और सिर्फ इसलिए यह संस्थान और यहां के लोग गलत हैं हमारे गले नहीं उतरता ….

कई चैनलों में काम कर चुके पत्रकार अनुरंजन झा के फेसबुक वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “अनुरंजन झा नामक पत्रकार बोला- तनु शर्मा का फेवर नहीं किया जा सकता

  • अनुरंजन झा की बुद्धी खराब हो गई है…ये सोचते है कि कुछ भी कह सकते है…इनकी एक करतूत बताता हूं..एक बार तनु शर्मा इसके तथाकथित आप आदमी पार्टी के खिलाफ स्टिंग पर इसका लाइव ले रही थीी..और तनु ने कुछ ऐसे करारे सवाल किए कि साहब खिसिया गए..और माइक उतारते हुए तनु पर भद्दी टिप्पणी कर बैठे..उस चैनल के सारे पीसीआर ने सुना कैमरामैन भी गवाह था..और ये बोलते है कि ये तनु को जानते भी नहीं..इनके मुंह पर इंडिया न्यूज में इंटर्न ने थूक दिया था…(ऐसा कहा जाता है) फिर भी चैन नहीं…शगुन के पैसे भी खा गए साहब और अब नौकरी ढूंढ रहे हैं..हद है शर्म आनी चाहुिए ऐसे लोगों को

    Reply
  • आखिरी लाइन भूल गए . रजत शर्मा भगवान की तरह महान हेैं. मैं एक बार नहीं हजार बार इंडिया टीवी में काम करना चाहूंगा . रजत जी कृपया ध्यान दें।

    Reply
  • अजय कुमार says:

    अनुरंजन झा कभी पत्रकार रहा होता तब तो उसे पत्रकार और पत्रकारिता का दर्द पता होता…यह तो शुद्ध रूप से दलाल है…शिकार खोजता है और शिकार करके निकल लेता है नए ठिकाने पर…मोटे आसामियों से लंबा चौड़ा वादा करता है और बकरा बनाकर निकल लेता है…पत्रकार तो ये कभी था ही नहीं…अभी बेरोजगार है तो रजत शर्मा को मक्‍खन लगाने की कोशिश कर रही है…

    Reply
  • क्या किसी को जानकारी है कि अनुरंजन को इंडया टीवी क्यों छोड़ना पड़ा था…और फिर इंडिया न्यूज़ और फिर सीएनईबी और काफी पहले एस वन भी?

    Reply
  • nisha mishra says:

    Aap Anuranjan ji ke khilaaf ho sakte hai , mai aapke khilaaf ho sakti hu…lekin baat unki , meri ya aap ki nahi hai….Ye Mamla vyaktigat opinions se uper ka hai…Ye Maamla kai Sangeen Sawaal uthata hai….
    Sawaal-
    1.Tanu Sharma ne Turant resign kyu nahi de mara ?

    2.Kya wahi pe naukari karna uski majboori thi ? kyunki wo apne maa-baap , bhai behnon ka iklauta sahara hai ? Aisa lagta nahi hai..

    3.Agar aisa ho bhi to phir wo atnahatya ki koshish kyu karti hai ?

    4.Atmahatya jaise mansik haalat me pahunchnewali, ko ye idea hai, ke aisa karne se pehle, wo social media ya sms dwara ye bata de ke wo atmahatya karnewali hai ?

    5. Aur atmahatya ka jo melodrama kiya gaya, kya usse ye sawaal nahi uthta ke isse badi khabar banane ke liye channel ke saamne scene banaya gaya ?

    6.Kya ye un peedit aur soshit mahilaon ke sath ek ghinouna mazak nahi hai ?

    7.Tanu Sharma me aisa kya tha, jo sirf use hi pratadit kiya gaya ?

    8. Agar aap sochte hai, ke kai aur hongi jinhone awaaz nahi uthai, to ye baat gale nahi utarti.
    Kyunki aajkal ki sari reporters tez-tarrar aur apne haqk se wakif hai….20 saal is sansthan me sab chup-chap- torture seh rahein hai…kya aisa ho sakta hai ?

    9.Kya Rajat Sharma ji ke khilaaf koi saazish ho hi nahi sakti ?

    10.Agar Tanu Sharma ko bina jaane, aap aakhon pe patti bandhkar uska bharosa kar rahe hai…to zara patti kholkar dobara Saazish ke piche ka sach tatolne ki koshish kajiye…bajay iske ke sach jaane bina social media ka durupyog karein.

    Reply
  • Ashish Kumar says:

    [quote name=”Raj”]आखिरी लाइन भूल गए . रजत शर्मा भगवान की तरह महान हेैं. मैं एक बार नहीं हजार बार इंडिया टीवी में काम करना चाहूंगा . रजत जी कृपया ध्यान दें।[/quote]

    Bilkul sahi pakda hai..last line ko!

    Reply

Leave a Reply to अजय कुमार Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *