झारखण्ड सरकार का यह विज्ञापन किस भाषा में छपा है?

विजय सिंह-

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के फोटो के साथ झारखण्ड सरकार का यह विज्ञापन झारखण्ड में आज के अख़बारों में छपा है। भाषा समझ से परे है।

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग झारखण्ड सरकार द्वारा जारी इस विज्ञापन को सही रूप में जारी करने की जिम्मेदारी किसकी है? क्या कोई अधिकारी इसकी भाषा बता पायेंगें?

अख़बारों में प्रकाशन के लिए भेजे गए विज्ञापन में यदि इस तरह की त्रुटि है तो क्या सम्बंधित प्रकाशन को विज्ञापन जारी करने वाली संस्था या एजेंसी को सूचित नहीं करना चाहिए? संसाधनों का ऐसा दुरुपयोग?

अब इसी विज्ञापन को कल पुनः सुधार के साथ प्रकाशित किया जा सकता है यानि अख़बारों को एक ही विज्ञापन के दो बार भुगतान किये जायेंगे। हद है गैर जिम्मेदारी की। क्या सम्बंधित अधिकारियों पर कार्यवाई होगी? कहीं यह जानबूझ कर खेला गया खेल तो नहीं?

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “झारखण्ड सरकार का यह विज्ञापन किस भाषा में छपा है?

  • Dinesh Gupta says:

    यह संथाली भाषा का ओलचिकी लिपी है। यह कोई भूल नहीं है। संथाली भाषा में यह विज्ञापन संथाल परगना के स्थानीय लोगों की सुविधा के लिए छपा है।

    Reply
  • विजय सिंह says:

    संथाली राइटर्स एसोसिएशन ने भी विज्ञापन में भाषायी त्रुटि की बात कही है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *