फेसबुक पर ‘ट्रोजन’ पोर्न वायरस का अटैक, शर्मिंदा हो रहे लोग

फेसबुक यूजर्स के लिये चेतावनी है। पिछले कुछ दिनों से फेसबुक ‘पोर्न वायरस’ के हमले से जूझ रहा है । इन्टरनेट के जरिये तेजी से फैलता यह वायरस फेसबुक जैसी लोकप्रिय सोशल मंच के एकाउन्ट यूजर्स के वाल पर अश्लील वीडियो के लिंक भेज रहा है । इस लिंक को क्लिक करते ही यह यूजर्स के 20 से 25 फेसबुक मित्रों को टैग कर देता है और इसके साथ ही कई हजार फैसबुक एकाउन्टस पर अश्लील वीडियो के दृश्य दिखायी देने लगते हैं । 

इससे ना केवल फेसबुक यूजर्स को शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है बल्कि लोगों के बारे में एक दूसरे के प्रति गलत धारणा बन जाती है । इस वायरस के चक्कर में कई लोग अपने दोस्तों को अनफ्रेण्ड कर चुके हैं । कुछ ही दिनों में 1 लाख से ज्यादा फेसबुक एकाउन्ट इसकी चपेट में आ चुके हैं । अंग्रेजी पोर्न फिल्मों के चित्र का अटैक होते ही इसमें किसी मित्र द्वारा एक साथ 20 से अधिक लोगों को टैग दिखाया जा रहा था । कई यूजर्स ने एक दूसरे को मैसेज करके एवं फोन करके अपनी नाराजगी जाहिर की तो कई यूजर्स यह सोचकर परेशान होते रहे कि उनके एकाउन्ट से पोर्न फिल्में किसने टैग कर दीं । कोई माफी मांगता नजर आया तो कोई डांट पिला रहा था । 

शाम होते-होते पता चला कि फेसबुक पर ‘ट्रोजन’ नामक पोर्न वायरस का ‘अटैक’ हुआ है । गौरतलब है कि फेसबुक जैसे शोसल प्लेटफार्म पर किशोरवय से लेकर उम्रदराज लोगों के साथ बच्चे तक सक्रीय रहते हैं । उक्त वायरस से ना केवल एक दूसरे के सामने शर्मीन्दा हो रहे हैं बल्कि ना चाहते हुये भी अश्लीलता के शिकार हो रहे हैं । 

कैसे फैलता है ‘पोर्न वायरस’- फेसबुक की वाल पर किसी फ्रैण्ड द्वारा पोर्न वीडियो का लिंक दिखायी देता है । जैसे ही यूजर्स उस लिंक पर क्लिक करता है दूसरे विंडों में वह वीडियो चलने लगता है । कुछ देर चलने के बाद वीडियो रूक जाता है और नया फ्लैश प्लैयर इन्सटाल करने के लिये सन्देश आता है । जैसे ही यूजर इसे इन्स्टाल करने के लिये क्लिक करता है, ‘ट्रोजन’ नामक वायरस कम्पयूटर पर अटैक कर देता है । असल में यह नकली फ्लैश प्लेयर इन्सटाल का लिंक वायरस को आपके कम्पयूटर पर नियंत्रण की सुविधा देता है। 

कैसे करता है कार्य- सबसे पहले यह वायरस पोर्न वीडियो को आपके किन्हीं भी 20 से ज्यादा फ्रैण्डों को टैग करके पोस्ट कर देता है । वहां से यह उन फ्रैण्डों के अन्य मित्रों को दिखायी देने लगता है । जिससे यह बहुत तैजी से फैलता जाता है । इसके साथ ही यह की बोर्ड-माउस खराब कर सकता है । हैकर इस वायरस की सहायता से कम्पयूटर की किसी ड्राईव से डाटा तक शेयर कर सकते हैं । कम्पयूटर के साथ यह मोबायल सैट्स पर भी प्रभाव डालता है । 

कैसे करें बचाव- किसी अच्छे एन्टीवायरस के उपयोग से ऐसे वायरस से बचा जा सकता है । पोर्न साईट्स के लिंक दिखायी देने पर उन्हें क्लिक ना करें बल्कि इसके लिये फेसबुक पर रिर्पाट कर दें । इसके लिये फेसबुक पर ऑप्शन दिये गये हैं ।

लेखक जगदीश वर्मा ‘समन्दर’ से संपर्क : metromedia123@gmail.com 



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें-  https://chat.whatsapp.com/JYYJjZdtLQbDSzhajsOCsG

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code