फेसबुक यूजर अपने कंटेंट से कैसे कमा सकते हैं पैसे, देखें वीडियो

Yashwant Singh : फेसबुक ने भारत में विज्ञापनों के जरिए कमाई के रास्ते खोल दिए हैं लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि ये कैसे होता है। मुझे भी नहीं पता था। Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

राष्ट्रोत्थान की फेसबुकी टिट्टिभि प्रवृत्ति

-अनेहस शाश्वत-

इस आर्टिकिल की शुरुआत की जाये इससे पहले टिट्टिभि प्रवृत्ति पर चर्चा लाजिमी है। हालांकि यह एक मिथिकीय कथा है। माना जाता है कि टिट्टिभि (टिटिहिरी) नामक बेहद छोटा पक्षी जब सोता है तो पंजे आसमान की तरफ कर लेता है। टिटिहिरी का मानना है कि उसकी निद्रा की दौरान अगर आसमान फट पड़े तो अपने पैरों पर वह उस बोझ को सम्भाल लेगी और धरतीवासियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचने देगी। टिटिहिरी की यह प्रवृत्ति काबिले गौर और काफी हद तक हास्यास्पद है। भले वह गिरते आसमान को रोक पाये या नहीं।

मुलायम कुनबे में झगड़े से जो बड़े खुलासे हुए, उसे आपको जरूर जानना चाहिए….

Nikhil Kumar Dubey : घर के झगड़े में जो बड़े ख़ुलासे हुए…

1: यादव सिंह घोटाले में रामगोपाल और अक्षय फँसे हैं, बक़ौल शिवपाल. 

2: अमर सिंह ने सेटिंग करके मुलायम को जेल जाने से बचाया था: ख़ुद मुलायम ने बताया.

3: शिवपाल रामगोपाल की लड़ाई में थानों के कुछ तबादले अखिलेश को जानबूझकर करने पड़े थे: ख़ुद अखिलेश ने कहा.

4: राम गोपाल नपुंसक है : अमर सिंह ने कहा.

5: प्रतीक काग़ज़ों में पिता का नाम एम एस यादव लिखते हैं लेकिन मुलायम के किसी हलफ़नामे में उनके दूसरे बेटे का नाम नहीं

6: प्रमुख सचिव बनने की योग्यता मुलायम के पैर पकड़ने से तय होती है : अखिलेश.

केरल में सिर्फ ईसाई शराब पी सकता है, बेच सकता है, हिन्दू नहीं!

Shameer Aameen Sheikh : यदि आपको लगता है कि भारत में सिर्फ एक ‘मुस्लिम पर्सनल लॉ’ है तो आप बहुत बड़ी गलतफहमी में हैं। आइये जानते हैं भारत के कुछ अन्य पर्सनल लॉ के बारे में। इनको पढ़कर आप समझ जायेंगे कि भारत जैसे ‘अनेकता में एकता’ वाले देश में ‘कॉमन सिविल कोड’ अगले ढाई साल तो क्या ढाई सौ साल तक लागू नहीं हो सकता, यह सिर्फ राजनीतिक उछल-कूद है और कुछ भी नहीं –

जानो कानून : : सुप्रीम कोर्ट का फैसला- फेसबुक पर किसी की आलोचना करना अपराध नहीं, एफआईआर रद्द करो

Facebook postings against police… criticising police on police’s official facebook page…. F.I.R lodged by police….

HELD – Facebook is a public forum – it facilitates expression of public opinion- posting of one’s grievance against government machinery even on government Facebook page does not by itself amount to criminal offence – F. I.R. Quashed.

(Supreme Court)
Manik Taneja & another – Vs- State of Karnataka & another
2015 (7) SCC 423

पत्रकार रमेश ठाकुर ने ‘कालगर्ल’ होने का आरोप लगाया तो लड़की बोली- ‘अश्लील चैट करता था’

पत्रकार रमेश ठाकुर पर एक लड़की ने बदनाम करने का आरोप लगाया है. उसने वो चैट सार्वजनिक कर दिया है जिसमें रमेश ठाकुर लड़की से अश्लील बातें कर रहे हैं. इससे पहले लड़की पर रमेश ठाकुर ने मदद मांगने के नाम पर पुलिस व पत्रकार को भ्रमित करने, पैसे मांगने, चीटिंग करने समेत कई किस्म के गंभीर आरोप लगाए थे. बाद में जब ये आरोप लड़की तक पहुंचे तो उसने पत्रकार पर अश्लील बातें करने का आरोप लगाया और पूरे चैट को सार्वजनिक कर दिया.

अपने यूजर्स का शोषण करने वाले फेसबुक को छोड़िए, TSU.CO पर आइए और जमकर कमाइए…

फेसबुक जैसी सोशल मीडिया साइट पर यदि आप कोई कंटेंट डालते हैं तो संतोष सिर्फ लाइक या कमेंट से ही होना पड़ता है. कैसा हो कि यदि इस कंटेंट की लोकप्रियता के आधार पर पैसा भी मिल जाए. जब ऐसा फॉर्मूला लेकर आई एक कंपनी TSU.CO तो फेसबुक ने त्‍योरियां चढ़ा लीं. इंस्टाग्राम और व्हाट्सअप जैसे पॉपुलर प्लैटफार्म की मालिक सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक 300 बिलियन डॉलर (दो लाख करोड़ रुपए) से ज्यादा की हो गई है. कमाई का फंडा यही है कि आप जो भी कंटेंट इन प्लेहटफॉर्म पर शेयर करते हैं, उसके आसपास ये एड लगाती हैं. जितना ज्या दा कंटेंट देखा जाएगा, फेसबुक का उतना फायदा. लेकिन, अब एक और सोशल मीडिया प्लेंटफार्म आया है, जिसने फेसबुक की नींद उड़ा दी है. क्यों कि उसे अपनी कमाई खतरे में पड़ती दिख रही है. जानिए क्याे है पूरा मामला…

मुलायम को फेसबुक पर बुड्ढा लिख दिया तो कानपुर में दर्ज हो गई एफआईआर!

इमरोज़ खान युवा पत्रकार हैं. जनता की आवाज़ नामक ऑनलाइन पोर्टल चलाते हैं. उन्होंने फेसबुक पर अपने पोर्टल की एक स्टोरी शेयर करते हुए मुलायम की फोटो के साथ लिख दिया कि ”बुड्ढे का पागलपन बढ़ता हुआ”. बस, इसी पर उनके खिलाफ कानपुर में एफआईआर दर्ज हो चुकी है. इस बारे में इमरोज ने भड़ास को एक मेल भेजकर पूरे मामले की जानकारी दी है, जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

पैसे वाली पत्रकार हैं बरखा दत्त, फेसबुक लाइक तक खरीद लेती हैं!

Yashwant Singh : बरखा दत्त इन दिनों फेसबुक पर खूब सक्रिय हो गई हैं. उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर इस बाबत लिखा भी है. साथ ही कई कहानियां किस्से विचार शेयर करना शुरू कर दिया है. बरखा समेत ज्यादातर अंग्रेजी पत्रकारों की प्रिय जगह ट्विटर है. लेकिन सेलेब्रिटी या बड़ा आदमी होने का जो नशा होता है, वह फेसबुक पर भी ले आता है, यह जताने दिखाने बताने के लिए यहां भी मेरे कम प्रशंसक, फैन, फालोअर, लाइकर नहीं हैं. सो, इसी क्रम में अब ताजा ताजा बरखा दत्त फेसबुक पर अवतरित हुई हैं और अपने पेज पर लाइक बढ़ाने के लिए फेसबुक को बाकायदा पैसा दिया है. यही कारण है कि आजकल फेसबुक यूज करने वाले भारतीयों को बरखा दत्त का पेज बिना लाइक किए दिख रहा है. पेज पर Barkha Dutt नाम के ठीक नीचे Sponsored लिखा है.

दिग्विजय सिंह और अमृता राय की शादी ने समाज को नया रास्ता दिखाया है

Sadhvi Meenu Jain : खबर है कि दिग्विजय सिंह ने अमृता राय से विवाह कर लिया है. खबर सुनकर चुस्की लेने या सिंह की नैतिकता / अनैतिकता से इतर मैं इस बहाने एक दूसरे विषय पर बात करना चाहती हूँ. हमारा समाज विधवा / विधुर / तलाकशुदा वरिष्ठ नागरिकों को दोबारा से एक नया जीवनसाथी चुनने की इजाजत क्यों नहीं देता और जो समाज की धारणा के विपरीत जाकर ऐसा कर भी लेते हैं उनका मखौल उड़ाया जाता है. उन पर ‘चढ़ी जवानी बुढ्ढे नूं’ ‘बुड्ढा जवान हो गया’ ‘तीर कमान हो गया’ ‘बुड्ढी घोड़ी, लाल लगाम’ जैसी फब्तियां कसी जाती हैं.

अपना फेसबुक अकाउंट बंद होने की मार्क से फरियाद कर सकते हैं दिलीप मंडल

वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल का फेसबुक अकाउंट अगर शिकायतों के आधार पर मार्क जकरबर्ग की टीम ने ब्लॉक कर दिया है, तो वे इसकी शिकायत फेसबुक से कर सकते हैं. साथ ही नई मेल आईडी बनाकर अपना एक दूसरा फेसबुक अकाउंट भी बना सकते हैं. जहां तक मेरी जानकारी है, इसके पहले (इंडिया टुडे ग्रुप जॉइन करते वक्त) एक बार वे खुद ही अपना अकाउंट डिलीट कर चुके हैं. तब उन्होंने फेसबुक पर अपना नया अकाउंट बनाया था या पुराने अकाउंट को ही restore किया था, पक्के तौर पर मुझे पता नहीं.

फेसबुक पर आतंकी बनने की इच्छा जताने वाला पत्रकार गिरफ्तार

सोशल साइट फेसबुक पर याकूब मेमन को शहीद बताने वाले पत्रकार जुबैर अहमद खान को वसंत बिहार (दिल्ली) की पुलिस ने मुंबई में गिरफ्तार कर लिया है। जुबेर अहमद खान ने अपनी पोस्ट में इस्लामिक स्टेट में शामिल होने की मंशा भी व्यक्त की थी। 

बड़ी बात : फेसबुक फ्रेंड्स के स्टेटस पर मिल जाएगा कर्ज!

सोशल नेटवर्किंग के बादशाह फेसबुक ने एक नया पेटेंट हासिल किया है, जिसमें फेसबुक फ्रेंड्स के स्टेटस के आधार पर ऋण मिल जाया करेगा। 

फेसबुक पर ‘ट्रोजन’ पोर्न वायरस का अटैक, शर्मिंदा हो रहे लोग

फेसबुक यूजर्स के लिये चेतावनी है। पिछले कुछ दिनों से फेसबुक ‘पोर्न वायरस’ के हमले से जूझ रहा है । इन्टरनेट के जरिये तेजी से फैलता यह वायरस फेसबुक जैसी लोकप्रिय सोशल मंच के एकाउन्ट यूजर्स के वाल पर अश्लील वीडियो के लिंक भेज रहा है । इस लिंक को क्लिक करते ही यह यूजर्स के 20 से 25 फेसबुक मित्रों को टैग कर देता है और इसके साथ ही कई हजार फैसबुक एकाउन्टस पर अश्लील वीडियो के दृश्य दिखायी देने लगते हैं । 

सोशल मीडिया का राजा फेसबुक, 380 करोड़ लोग हुए इसके दीवाने

फेसबुक सोशल मीडिया का नया राजा बन गया है. वर्चुअल वर्ल्ड में फेसबुक की लोकप्रियता ने दिन दूनी और रात चौगुनी तरक्की की है. ऐसी कामयाबी सोशल मीडिया में दुनिया में किसी को अब तक हासिल नहीं हुई. फेसबुक स्मार्टफोन पर अपने सभी प्रतिद्वंद्वी ऐप्स में बढ़ते यूज़र्स के कारण अव्वल दर्जे का हीरो बन गया है. फेसबुक के यूज़र्स की संख्या 3.8 बिलियन यानी 380 करोड़ तक पहुंच गई है, जो कि दुनिया की जनसंख्या का 50 फीसदी है.

फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल, कई बेतुके और फूहड़ मित्र

दरियादिली जागी और अनब्लॉक करने लगा, तब पूछा गया कि ब्लॉक करते ही क्यों हैं। इसका एक जवाब तो यह कि गरिमाहीनता या फूहड़ता को किसी सीमा तक ही बरदाश्त किया जा सकता है। दूसरे, मित्रों की तादाद फेसबुक ने खुद पांच हजार पर लॉक कर रखी है। तो ईमानदार संवाद के ख्वाहिशमंद मित्रों को क्यों न जोड़ा जाय।

भूमिका ने फेसबुक मित्रों से पूछा, ऐसे पति को आप क्या कहेंगे..?

किसी भी पति के द्वारा अपनी धर्मपत्नी को पीटना एक जघन्य अपराध है. ये अपराध यदि कोई चोर-उचक्का, गुंडा-मवाली या फिर डाकू-हत्यारा करता है, तो एक बार माफ किया जा सकता है, लेकिन यदि अपने आप को “कवि”, “साहित्यकार” या फिर बार बार ख़ुद को “सर्जक” कहने वाला करता है तो ये अपराध कहीं ज़्यादा संगीन और वीभत्स बन जाता है.

फेसबुक का बीबीसी और न्यूयार्क टाइम्स समेत नौ मीडिया कंपनियों से करार

बेंगलुरु : फेसबुक इंक ने नौ प्रकाशकों के साथ करार किया है जिसके तहत उन प्रकाशनों के  ‘त्वरित लेख’ छापे जाएंगे. ये लेख सीधे सोशल मीडिया के फीड के माध्यम से पाठकों तक उपलब्ध होंगे. इस तरह के त्वरित लेख साधारण मोबाइल के नेटवर्क से 10 गुना तेज गति से काम पहुंचेंगे. फेसबुक के इस करार में न्यूयार्क टाइम्स, बज फीड और नेशनल ज्योग्राफिक जैसे प्रकाशक शामिल हैं.

हर सात में से एक तलाक फेसबुक की वजह से

लंदन : किसी समय में फेसबुक का उद्देश्य लोगों के बीच मित्र-संबंधों को विकसित करना था। साथ ही मित्र परिवार के अनुभवों और जानकारियों को एक दूसरे से साझा करना था लेकिन अब सोशल नेटवर्किंग तलाक की सबसे बड़ी वजह बनता जा रहा है। ब्रिटेन के आंकड़े के अनुसार तलाक लेने वाले हर सातवें सदस्य व्यक्ति की तलाक की वजह सोशल नेटवर्किंग साइट बन रही है। 

धमकी या धौंस की जरूरत नहीं, सामने आइए

फेसबुक ब्लॉक करवा देने से सचाई की आत्मा नहीं मरती। फेसबुक पर अपनी उपस्थिति क्या कुछेक नीम पागलों की मर्जी से रहेगी ? लगातार धमकियां मिल रहीं हैं, सीधे और किसी के मार्फ़त- भड़ास वाले अपने यशवंत भाई की मेहरबानी से मामला संज्ञान में आया और कुछ संपादकों की मेहरबानी से आपके सामने फिर से उपस्थित हूँ– खुलकर बोलें ये नीम पागल कि उन्हें मेरे किस बात पर ऐतराज है ? हाँ इतना जान लें कि ज़िंदगी में खुरहुरी रास्तों को चुना है, अपना समाज बनाया तो रोटी और बेटी की कीमत पर नहीं। न किसी का खाया न किसी को खिलाया– यदि परदेस में किसी ने दो रोटियां और सालन मेरे लिए – परोसा भी तो इनकी कीमत नहीं होती। पीपल जड़ में समर्पित जल की कीमत मत मांगिये। अंडे लेकर जा रही चींटियों केलिए बिखेरे गए चीनी के दाने की कीमत मत मांगिये। आपकी श्रद्धा थी तो रोटी-पानी और शक्कर दिया या परोसा। कहीं तो सुसभ्य नागरिक और साहित्यकार वाला संस्कार दिखाईये। 

फ़ेसबुक पर अब दिखेंगी बेहतर सूचनाएं, शेयर, टिप्पणी गैरजरूरी

फेसबुक ने कहा कि वह अपने ‘न्यूज फीड’ को नया स्वरूप दे रही है ताकि लोगों को अपने दोस्तों के बारे में ज्यादा बेहतर सूचना मिल सके। विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्क साइट ने नया बदलाव पेश किया और समाचार लेख और अन्य सामग्री शेयर करने पर निर्भरता कम की।

फेसबुकिया मित्रों को किया आगाह, कदम जरा फूंक-फूंक के

फ़ेसबुक पर ऐसे मित्रता-अनुरोध स्वीकार न करें तो बेहतर- मित्रता अनुरोध आने पर पहले संबंधित व्यक्ति के फ़ेसबुक प्रोफाइल पर जाकर एक नज़र ज़रूर डालें। ऐसे व्यक्तियों के मित्रता अनुरोध स्वीकार करने से बचें-

फेसबुक की आड़ में छह लड़कियों से शादी रचाने का खेल कर साउद दुबई भागा

भोपाल : फेसबुक को माध्यम बनाकर मोहम्मद साउद ने छह लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। वह सभी लड़कियों को उनसे शादी रचाने का झांसा दे चुका है। लड़कियों पर प्रभाव डालने के लिए वह खुद को फिल्म डायरेक्टर बताता है। पुलिस जांच में पता चला है कि वह दुबई भाग गया। वह सिर्फ अमीर लड़कियों को अपना निशाना बनाता था। अभी तक आरोपी पेशे से टीचर रही युवती, अमेरिकन कंपनी की एक एचआर हेड, मुंबई की मेकअप आर्टिस्ट और दिल्ली में पढ़ने वाली छात्रा से शादी कर चुका है।

फेसबुक पर पोस्ट इसी कार्टून पर गिरफ्तार हुए थे असीम त्रिवेदी

अन्ना आंदोलन से जुड़े असीम त्रिवेदी को फेसबुक पर यूपीए सरकार के घोटालों को लेकर एक कार्टून पोस्ट करने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। ‘भ्रष्टमेव जयते’ शीर्षक वाले इस कार्टून में संसद और राष्ट्रीय प्रतीक का मजाक उड़ाया गया था। असीम के खिलाफ पुलिस ने देशद्रोह का मामला भी दर्ज किया था। इस धारा के तहत गिरफ्तारी पर सबसे पहले विवाद 2012 में हुआ था, जब महाराष्ट्र के पालघर की रहने वाली शाहीन नाम की एक फेसबुक यूजर्स ने बाला साहेब ठाकरे की अंतिम यात्रा पर कमेंट किया था और उसे उसकी सहेली रीनू ने इसे लाइक किया था। दोनों को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में दोनों को जमानत मिल गई।

असीम त्रिवेदी का विवादित कार्टून

भारत के कथित स्‍वतंत्र मीडिया के लिए दो शब्‍द

माफ करेंगे । लोकशाही ,जनसत्‍ता और जनसरोकारों के कथित पहरुवे चौथा खंभा शायद अब लोकतंत्र को बचाने के लिए जरूरी अपने को पांचवां खंभा भी घोषित करने वाले मीडिया और मीडिया वाले राज्‍य सभा टीवी में मजठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों और माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बहस चलाने के बाद आप भी जागोगे कि अभी भी मालिकों के डंडे से डरते ही रहोगे। 

फेसबुक पर हुआ मनचलों को सबक सिखाने का इंतजाम

तिरुअनंतपुरम : फेसबुक पर महिलाओं को अभद्र ट्रॉल और आपत्तिजनक प्राइवेट मेसेज भेजने वाले अब सावधान हो जाएं। इस तरह का कारनामा आप पर उल्टा पड़ सकता है। केरल का एक फेसबुक पेज ‘सेक्सुअली फ्रस्ट्रेटेड मल्लू’ या SFM अभद्रता का शिकार हुई महिलाओं को एक मौका दे रहा है, ऐसे लोगों को लाइन पर लाने का। 

रवीश कुमार, ओम थानवी और वीरेंद्र यादव ने फेसबुक को अलविदा कहा!

Shambhunath Shukla : नया साल सोशल मीडिया के सबसे बड़े मंच फेस बुक के लिए लगता है अच्छा नहीं रहेगा। कई हस्तियां यहाँ से विदा ले रही हैं। दक्षिणपंथी उदारवादी पत्रकारों-लेखकों से लेकर वाम मार्गी बौद्धिकों तक। यह दुखद है। सत्ता पर जब कट्टर दक्षिणपंथी ताकतों की दखल बढ़ रही हो तब उदारवादी दक्षिणपंथियों और वामपंथियों का मिलकर सत्ता की कट्टर नीतियों से लड़ना जरूरी होता है। अगर ऐसे दिग्गज अपनी निजी व्यस्तताओं के चलते फेस बुक जैसे सहज उपलब्ध सामाजिक मंच से दूरी बनाने लगें तो मानना चाहिए कि या तो ये अपने सामाजिक सरोकारों से दूर हो रहे हैं अथवा कट्टरपंथियों से लड़ने की अपनी धार ये खो चुके हैं। इस सन्दर्भ में नए साल का आगाज़ अच्छा नहीं रहा। खैर 2015 में हमें फेस बुक में खूब सक्रिय साथियों- रवीश कुमार, ओम थानवी और वीरेंद्र यादव की कमी खलेगी।

अपने निजी फेसबुक और ट्विटर एकाउंट का विज्ञापन करने में जनता का पैसा लुटा रहे हैं अखिलेश यादव

सेवा में, श्री अखिलेश यादव,

मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश शासन, लखनऊ

विषय- सरकारी विज्ञापनों में आपके व्यक्तिगत फेसबुक और ट्विटर एकाउंट के प्रचार विषयक

महोदय,

कृपया दिनांक 04/11/2014 को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न समाचारपत्रों में प्रकाशित तीन विज्ञापनों का सन्दर्भ ग्रहण करें जो दिनांक 04/11/2014 को 100 पुलिस भवन तथा 2 उपरिगामी सेतुओं तथा दिनांक 05/11/2014 को समाजवादी पेंशन योजना के उद्घाटन से सम्बंधित हैं.  इन सभी विज्ञापनों में अन्य तथ्यों के अलावा एक ट्विटर एकाउंट twitter.com/yadavakhilesh, एक फेसबुक एकाउंट facebook.com/yadavakhilesh तथा एक यू-ट्यूब एकाउंट youtube.com/user/upgovtofficial भी अंकित है. ये फेसबुक और ट्विटर एकाउंट आपके अर्थात श्री अखिलेश यादव के व्यक्तिगत एकाउंट हैं जिसके भारी संख्या में फौलोवर हैं. इन दोनों एकाउंट में आपका वेबसाइट samajwadiparty.in  अंकित है जो समाजवादी पार्टी का आधिकारिक वेबसाइट है.