झूठ निकली गाजियाबाद के सिपाही की पत्नी के आईएएस बनने की कहानी

आजकल ऐसा अंधायुग है कि कोई किसी बात को जांचना परखना चाहता ही नहीं. किसी ने भी कोई अफवाह हवा में उड़ा दी तो लोग उसी बात को चिल्लाते बताते हुए उड़ लिए. बिना परखे पड़ताले कि ये बात सच है या झूठ. गाजियाबाद में एसएसपी ऑफिस में तैनात एक कॉन्सटेबल संदीप की पत्नी पूनम के आईएएस बनने की कहानी जो बड़े छोटे चैनलों और बड़े छोटे अखबारों में दिखी-छपी है, वह नितांत झूठी है.

सच्चाई तब पता चली जब यूपीएससी का रिजल्ट लिस्ट चेक करने के बाद पता चला कि ऐसी कोई महिला आईएएस नहीं बनी है. दैनिक जागरण से लेकर नवभारत टाइम्स, अमर उजाला जैसे राष्ट्रीय अखबारों और समाचार प्लस समेत कई रीजनल न्यूज चैनलों ने सिपाही की पत्नी के आईएएस बनने की कहानी प्रसारित प्रकाशित की. पर अब जाकर सच्चाई सामने आई है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ.

किसी ने मजा लेने के इरादे से सिपाही को फोन कर दिया और उसने फोन को सच मानते हुए अपने कप्तान को मिठाई खिला दी. कप्तान ने मीडिया वालों को ब्रीफ कर दिया और मीडिया वाले बिना कुछ जांचे परखे खबर को सुर्खियां बनाने लग गए. जिस सिपाही की पत्नी पूनम के आईएएस बनने की बात फैलाई गई वह अपने सिपाही पति संदीप के साथ शादी के बंधन में 1999 में बंधी. पूनम तब 10वीं पास थी. फिर 2 बच्चे हुए. पूनम ने इस दौरान मैथ्स में MSc. किया. पूनम ने आईएएस बनने के लिए परीक्षा दी. पर वह सफल नहीं हुई. उसके बच्चे अब 12 और 14 साल के हैं.

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “झूठ निकली गाजियाबाद के सिपाही की पत्नी के आईएएस बनने की कहानी

  • umesh shukla says:

    kaua kan lekar uda jaisi khabar failaane ka hi kaam kar rahe hani aaj ke adhkaansh media karmi. bhagwaan unko sadbuddhi deven.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code