रामनगर के वरिष्ठ पत्रकार घनश्याम सती का लीवर की बीमारी के चलते हुआ निधन

रामनगर (उत्तराखंड) : नगर के प्रख्यात व वरिष्ठ पत्रकार घनश्याम सती बीते कुछ समय से लीवर की बीमारी से पीड़ित थे। उनका बीती रात निधन हो गया। शुक्रवार की सुबह उनका अन्तिम संस्कार किया गया जिसमें बड़ी संख्या में नगर के गणमान्य लोगों व पत्रकारों ने हिस्सा लिया। स्व. सती अपने पीछे अपने दो पुत्रों गिरीश सती, उमेश सती, पत्नी व पुत्री को रोता बिलखता छोड़ गये।

साठ वर्षीय रेलवे रोड निवासी पत्रकार घनश्याम सती बीते कुछ समय से लीवर से जुड़ी परेशानियो से ग्रसित चल रहे थे। रात करीब ग्यारह बजे उनका निधन हो गया। अपने पूरे जीवन में साहसिक व निर्भीक पत्रकारिता के लिये विख्यात घनश्याम सती नब्बे के दशक में सिख आतंकवाद के दौरान उस समय चर्चा में आये थे जब दुर्दांत आतंकवादी स्वर्ण सिंह व उसके साथियों का पुलिस की नाकेबंदी को भेदने के बाद छोई के जंगलो में जाकर साक्षात्कार लेकर आये थे।

इसके अलावा तत्कालीन व वर्तमान पालिकाध्यक्ष मौ. अकरम के पहली बार पालिकाध्यक्ष बनने पर उनकी चर्चित टिप्पणी ‘हथोड़े से कलम तक का सफर’ रामनगर की पत्रकारिता के लिये आज भी मील का पत्थर समझी जाती है। दैनिक पत्र से पत्रकारिता आरम्भ करने वाले स्व. सती राज्य निर्माण के बाद राज्य की ख्यातिनाम पत्रिकाओं से जुड़े थे। साहित्य से लगाव रखने वाले घनश्याम का रिश्ता ‘कथा साहित्य’ से अधिक नजदीक का रहा।

पत्रकारिता के अलावा उनका रिश्ता रंगमच से भी था। पर्वतीय रामलीला अभिनय समिति पैंठपड़ाव के रंगमंच पर उनके सधे हुये अभिनय को आज भी याद किया जाता है। उनके निधन की सूचना मिलने पर नगर के तमाम गणमान्य लोगो का उनके आवास पर श्रद्धान्जलि अर्पित करने के लिये तांता लगा रहा।

शुक्रवार की सुबह उनकी अन्तिम यात्रा उनके आवास से विश्राम घाट के लिये रवाना हुई। स्व.सती का आज प्रातः विश्राम घाट में अंतिम संस्कार किया गया जहां उनके ज्येष्ठ पुत्र गिरीश सती ने उनकी चिता को अग्नि दी। उनकी अन्तिम यात्रा में तथा शोक प्रकट करने वालो में ब्लाक प्रमुख संजय नेगी, नरेंद्र शर्मा, हेम भट्ट, पूर्व पालिकाध्यक्ष भगीरथ लाल चैधरी, राजीव अग्रवाल, पवन अग्रवाल, वरिष्ठ पत्रकार अनिरुद्ध निझावन, लक्ष्मीदत्त मन्दोलिया, कमल हीरा, अनिल अग्रवाल खुलासा, शमीम दुर्रानी, जितेंद्र पपनै, विनोद पपनै, गणेश रावत, खुशाल रावत, गोविन्द पाटनी, दानिश खान, गिरीश पांडे, श्यामलाल, चंचल गोला, जफर सैफी, राजीव अग्रवाल, चंद्रसेन कश्यप, नसीम खान, रोहित गोस्वामी, जीवन कुमार, नाजिम सलमान, दीप बेलवाल, रागिब खान, सलीम मलिक, त्रिलोक रावत, राजू वर्मा, चन्दन बंगारी, प्र्रभात ध्यानी, मुनीष अग्रवाल, मनमोहन अग्रवाल आदि शामिल रहे।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *