प्रबंधन की हरकतों से चर्चा में ‘गुजरात फर्स्ट’ चैनल, संपादक सहित कइयों ने दिया इस्तीफा!

गुजरात में मीडिया वालों के बीच ‘गुजरात फर्स्ट’ चैनल चर्चा का विषय बना हुआ है. हाल ही में शुरू हुआ यह नया चैनल प्रबंधन के रवैये से इन दिनों नकारात्मक कारणों से चर्चा में है.

अहमदाबाद की कंपनी सिद्धि मीडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा धूमधाम से मैदान में आया यह चैनल अब आंतरिक राजनीति का अखाड़ा बन गया है. बताया जाता है कि मालिकों के अनप्रोफेशनल बिहैवियर के कारण एडिटर समेत कई लोगों ने इस्तीफा दे दिया.

अहमदाबाद में गोदरेज गार्डन सिटी के निर्माणकर्ता बिल्डर मुकेशभाई पटेल ने अपने बेटे जैसमिन पटेल को आगे करके ‘गुजरात फर्स्ट’ चैनल को लॉन्च किया. इस चैनल का एडिटर एवं सीईओ पत्रकार दीपक रजनी को बनाया गया. 37 वर्षों से पत्रकारिता के साथ जुड़े हुए दीपक के पास कई न्यूज चैनलों को चलाने का अनुभव रहा है इसलिए उन्हें इस नए चैनल की कमान सौंपी गई.

Deepak Rajni

28 फ़रवरी को लॉन्च हुए गुजरात फर्स्ट चैनल ने चार माह के अंदर ही दर्शकों के बीच अच्छी खासी पैठ बना ली. लेकिन जुलाई माह आते आते इस चैनल में उथल पुथल की शुरुआत हो गई. दीपक रजनीको अचानक ही इस्तीफा देना पड़ा. गुजरात फर्स्ट की सारी टीम अपने कप्तान के इस्तीफा से स्तब्ध थी. दीपक रजनी अपने इस्तीफे के फ़ैसले पर कायम रहे. दुखी दिल से गुजरात फर्स्ट के स्टाफ ने उन्हें विदाई दी.

इसके बाद दीपक रजनी के करीबी लोगों को निशाना बनाया जाने लगा. नये एडिटर विवेक भट्ट बनाए गए जो पहले ‘संदेश’ में हुआ करते थे. चैनल मालिक के पुत्र जैसमिन पटेल और नए एडिटर विवेक ने दीपक रजनी के एक नजदीकी मीडियाकर्मी बंसी राजपूत को बिना नोटिस बिना समय दिए चैनल से हटा दिया. बंसी का कहना है कि न तो नोटिस दिया गया और न ही एक माह का वेतन. इस बर्ताव से दुखी कुछ अन्य कर्मी भी इस्तीफ़ा देकर चले गए.

बंसी राजपूत ने चैनल से निकलते ही फेसबुक पर लाइव करके चैनल मालिकों की नीति का खुलासा कर दिया. फेसबुक लाइव वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें- Bansi Rajput FB live video

बंसी राजपूत की एफबी लाइव का स्क्रीनशॉट
नुपूर की एफबी पोस्ट का स्क्रीनशॉट

नुपुर की उपरोक्त एफबी पोस्ट का लिंक ये है- Noopur FB Post Link

गुजरात फर्स्ट में लगातार हो रहे घटनाक्रम को उजागर करने के लिए कर्मी खुद मैदान में उतरे और अपनी बात जनता के सामने रखी. नए संपादक ने गुजरात फर्स्ट में काम करने वाली महिला पत्रकार नुपुर दाणी की भी छुट्टी कर दी. बंसी राजपूत के फेसबुक लाइव के बाद नुपुर दाणी ने भी अपने फेसबुक पेज पर गुजरात फर्स्ट में चल रहे घटनाक्रम को लिखकर लोगों तक पहुंचाया.

गुजरात फर्स्ट में आंतरिक घमासान से दुखी कई कर्मी इस्तीफ़ा देकर दूसरे चैनलों से जुड़ गए. फिलहाल आंतरिक राजनीति जारी है और नया लांच हुआ चैनल अपनी गलत नीतियों के कारण उपर जाने की बजाय नीचे की तरफ गिर रहा है.



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



One comment on “प्रबंधन की हरकतों से चर्चा में ‘गुजरात फर्स्ट’ चैनल, संपादक सहित कइयों ने दिया इस्तीफा!”

Leave a Reply

Your email address will not be published.