Connect with us

Hi, what are you looking for?

प्रिंट

जिया न्यूज के मालिक रोहन जगदाले और संपादक एसएन विनोद को लेबर कोर्ट का नोटिस

मीडिया कर्मियों का महीनों का पैसा दबाने और अचानक ‘जिया इंडिया’ पत्रिका को बंद कर देने के मामले में नोएडा की लेबर कोर्ट ने जिया न्यूज प्रबंधन, चेयरमैन रोहन जगदाले और संपादक एसएन विनोद को नोटिस जारी कर हर हाल में 17 मार्च को कोर्ट में उपस्थित होने का हुक्म सुनाया है। कोर्ट ने अपने आदेश में साफ तौर पर कहा है कि नोटिस के तालीम होने के बाद रोहन जगदाले, एसएन विनोद कोर्ट में हाजिर हों।

मीडिया कर्मियों का महीनों का पैसा दबाने और अचानक ‘जिया इंडिया’ पत्रिका को बंद कर देने के मामले में नोएडा की लेबर कोर्ट ने जिया न्यूज प्रबंधन, चेयरमैन रोहन जगदाले और संपादक एसएन विनोद को नोटिस जारी कर हर हाल में 17 मार्च को कोर्ट में उपस्थित होने का हुक्म सुनाया है। कोर्ट ने अपने आदेश में साफ तौर पर कहा है कि नोटिस के तालीम होने के बाद रोहन जगदाले, एसएन विनोद कोर्ट में हाजिर हों।

आपको बता दें कि जिया न्यूज को अचानक बंद करके सैकडों मीडिया कर्मियों को नौकरी से निकाल दिया गया था। हालांकि उस दौरान कर्मियों को दो महीने की सैलरी के साथ एक महीने की एडवांस सैलरी देकर निकाला गया था लेकिन जिया न्यूज बंद कर शुरू की गई जिया इंडिया पाक्षिक पत्रिका में काम करने वाले मीडिया कर्मियों को दिसंबर, जनवरी और फरवरी तीन महीने की सैलरी रोक रखने के बाद अचानक जिया इंडिया पत्रिका को बंद कर दिया गया। उसके बाद नोएडा के सेक्टर-20 थाने में तहरीर देने के साथ ही 20 मीडिया कर्मियों ने नोएडा के लेबर कोर्ट में एसएन विनोद, मालिक रोहन जगदाले के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया। 

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

0 Comments

  1. Krishna

    March 16, 2015 at 2:21 pm

    Dear Sir,
    Mr Rohan Jagdale & Mr S.N.Vinod both are always assuring their employees within week salary will be release, despite several request & human prob they always given falls assurence, even then I think there is know better way to precede through labour court, as Mr S N Vinod has challenge on 25th Feb 2015 to their employees that He will not going to release any salary on any cast better all can take salary from labour court.
    All concern human being are requested to kindly look into matter do the proper step towards JIA India ?Jia News Chairman & CEO cum Editor. So that in future no one can be cheated by eployer.
    Regards

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement