विधवा से शादी की, बेटा पैदा किया और चंपत हो गया सीपीडब्ल्यूडी का एई

36 साल की ज्योति चंद्रा घूम-घूमकर लोगों से फरियाद कर रही है। इंसाफ मांग रही है और लोगो से ये पूछ रही है कि आखिर उसका कसूर क्या है। ज्योति चंद्रा तीन साल के उस बेटे की मां है, जिसका पिता उसे छोड़कर चला गया है। गाजियाबाद की वैशाली कॉलोनी में रहने वाली ज्योति चंद्रा का दावा है कि दिल्ली में कार्यरत सीपीडब्लूडी के एई बाबू राम चंद्रा ने उसे पहली पत्नी के रहते हुए उससे झूठ बोलकर मंदिर में शादी की और साथ में चार साल तक पति-पत्नी की तरह रहा। मूल रूप से नोएडा सेक्टर बाइस का निवासी बाबू राम चंद्रा से ज्योति की मुलाकात 2008 में तब हुई, जब हिंडन एयरफोर्स डिविजन के ठेकेदार के माध्यम से नोएडा में उसे अस्थायी रूप से चपरासी के लिए रखा गया था। ज्योति का आरोप है कि उसी दौरान बाबूराम चंद्रा ने उसे नौकरी से निकालने का डर दिखाकर दुष्कर्म किया। ज्योति के विरोध के बाद उसने शादी का भरोसा दिलाया और बाद में मंदिर में शादी भी की। बाबू राम चंद्र के संपर्क से ज्योति को 23 मई 2011 को एक बेटा हुआ। ज्योति के बेटे विष्णु चंद्रा की उम्र अभी तीन साल है।

बेटे होने के करीब साल भर बाद बाबू राम चंद्रा ने 2012 से बाबू राम चंद्रा ने ज्योति के पास ये कहकर आना बंद कर दिया, कि उसकी पहली पत्नी को पता चल गया है और वो इस रिश्ते का विरोध कर रही है। एसएसपी को दी गई ज्योति की शिकायत में ज्योति ने कहा है कि अब बाबू राम चंद्रा अपनी पहली पत्नी के साथ मिलकर उसे घर से निकलवाने की साजिश रच रहा है और इसके लिए गुंडे तक भेजे जा रहे हैं। ज्योति के बाबू राम चंद्रा के बेटे विष्णु समेत ज्योति के तीन बच्चे हैं और कोई कामकाज नहीं होने का कारण उसका गुजारा बेहद मुश्किल से होता है। ज्योति ने एसएसपी से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है। ज्योति का आरोप है कि पहले से ही विधवा होने की वजह से मुश्किल में थी और बाबू राम चंद्र ने उसे और भी मुश्किल से शुभचिंतकों की मदद से हो पाता है। पूरी तरह बदहाल ज्योति के तीन बच्चे पहले से ही हैं, जिनमें सबसे बड़ी 18 साल की बेटी की टीबी से हाल ही में मौत हो चुकी है।

गाजियाबाद पुलिस ने ज्योति की शिकायत पर धारा 376 के तहत रेप का मामला दर्ज किया है और इंदिरापुरम के एस ओ हरिदलायल सिंह के मुताबिक बाबू राम चंद्र के खिलाफ लिखी गई एफआईआर में दो धाराएं और 420 और 493 की धाराएं भी जोड़ दी गई हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी बाबू राम चंद्र के खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में  बाबू राम चंद्रा का पक्ष जानने के लिए एफआईआर में दर्ज उनके मोबाइल 9999452926 से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन मोबइल स्विच ऑफ बताया गया।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *